बेलपत्र के फायदे क्या हैं बताये?...


user

Arjun Vaidya

CEO of Dr Vaidya’s

1:05
Play

Likes  107  Dislikes    views  761
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिवजी को अर्पित किया जाने वाला बेलपत्र सिर्फ पूजा मात्र ही एक साधन नहीं है बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है बुखार आने पर बेल के पत्तों के काढ़े का सेवन बहुत ही लाभप्रद होता है यदि मधुमक्खी पर रतिया के काटने पर जलन होती है ऐसी स्थिति में भी बेलपत्र का रस लगाने से काफी लाभ होता है ह्रदय रोगियों के लिए भी बेलपत्र का प्रयोग बता दे मन होता है शरीर में गर्मी बढ़ने पर या मुंह में गर्मी के गाने दिखा लेना तो बेल की पत्तियों को मुंह में रखकर चबाने से लाभ मिलता है और छाले समाप्त हो जाते हैं बवासीर आजकल एक आम बीमारी हो गई खून के वासियों को बहुत ही तकलीफ देने वाला रोग है बेल की जड़ का गूदा पीसकर बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर उसे चूर्ण बना लें इस चूर्ण को सुबह-शाम ठंडे पानी के साथ नदी पीना दिखे तो दिन में तीन बार ले सकते हैं यदि किसी कहां से बेल की जड़ उपलब्ध हो सके तो कच्चे में फल का गूदा सांप और सौंफ मिलाकर उसका काढ़ा बनाकर सेवन मिला पहला प्यार को 17 साथ में अक्सर सर्दी जुकाम बुखार की समस्या अधिक होती है ऐसे बेलपत्र के रस में शहद मिलाकर पीना फायदेमंद होता है पीड़ितों की आंतों में कीड़े होना क्या सर बच्चे में दस्त लगने की संस्थाओं बेलपत्र का रस का धन्यवाद

shivaji ko arpit kiya jaane vala bailpatra sirf puja matra hi ek sadhan nahi hai balki aapke swasthya ke liye bhi bahut faydemand hota hai bukhar aane par bell ke patton ke kadhe ka seven bahut hi laabhaprad hota hai yadi madhumakkhi par ratia ke katne par jalan hoti hai aisi sthiti mein bhi bailpatra ka ras lagane se kaafi labh hota hai hriday rogiyon ke liye bhi bailpatra ka prayog bata de man hota hai sharir mein garmi badhne par ya mooh mein garmi ke gaane dikha lena toh bell ki pattiyo ko mooh mein rakhakar chabane se labh milta hai aur chhale samapt ho jaate hain bawasir aajkal ek aam bimari ho gayi khoon ke vasiyo ko bahut hi takleef dene vala rog hai bell ki jad ka guda piskar barabar matra mein mishri milakar use churn bana le is churn ko subah shaam thande paani ke saath nadi peena dikhe toh din mein teen baar le sakte hain yadi kisi kahaan se bell ki jad uplabdh ho sake toh kacche mein fal ka guda saap aur sounf milakar uska kadha banakar seven mila pehla pyar ko 17 saath mein aksar sardi zukam bukhar ki samasya adhik hoti hai aise bailpatra ke ras mein shehed milakar peena faydemand hota hai piditon ki anton mein keedein hona kya sir bacche mein dast lagne ki sasthaon bailpatra ka ras ka dhanyavad

शिवजी को अर्पित किया जाने वाला बेलपत्र सिर्फ पूजा मात्र ही एक साधन नहीं है बल्कि आपके स्वा

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  349
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  22  Dislikes    views  300
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  68  Dislikes    views  694
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

Likes  69  Dislikes    views  954
WhatsApp_icon
user

Sunil

Teacher

0:22
Play

Likes  39  Dislikes    views  1029
WhatsApp_icon
user

vikash

Teacher

0:14
Play

Likes  22  Dislikes    views  826
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

Likes  79  Dislikes    views  1413
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!