साकेत के लेखक कौन है? ...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:57

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साकेत के लेखक राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त हैं उन्होंने बहुत सुंदर काफी लिखा है साकेत इसमें क्योंकि रामचरितमानस और रामायण के द्वारा सीता और श्रीराम के चरित्र को मारा गया था तो मैंने महसूस किया इसमें श्री उर्मिला कभी चरित्र अपने आप में बेमिसाल है किंतु श्री तुलसीदास जी ने और पानी मिला के चरित्र कितना आवारा नहीं था इतना नहीं किया था जितना करने की आवश्यकता थी क्योंकि सर्वाधिक क्या तो और मिला कहीं था उसके पति को वनवास नहीं हुआ था बनवास उसकी राम को हुआ था लेकिन 12 वर्ष तक उसने जो विधवा का जीवन जिया उसका त्याग में जीवन उसका था इस बात को राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त ने महसूस किया और किसी बात को लेकर के उन्होंने साकेत महाकाव्य की रचना की जो हिंदी साहित्य का एक बेमिसाल खाती है और मैथिलीशरण गुप्त की जो देखनी है वह अद्वितीय है और साकेत की नायिका सीता नहीं है अभी तो और मिला को माना गया है ऊपर उसका चरित्र सुंदरता के साथ किया है सुंदरता के मनोभावों को सूचित किया गया कि मिसाल है इसलिए साकेत का नाम हिंदी साहित्य के सर्वश्रेष्ठ साथियों में गिना जाता है

saket ke lekhak rashtrya kabhi maithalisharan gupt hai unhone BA hut sundar kaafi likha hai saket ismein kyonki ramcharitmanas aur ramayana ke dwara sita aur shriram ke charitra ko mara gaya tha toh maine mehsus kiya ismein shri urmila kabhi charitra apne aap mein bemisaal hai kintu shri tulsidas ji ne aur pani mila ke charitra kitna awaara nahi tha itna nahi kiya tha jitna karne ki avashyakta thi kyonki sarvadhik kya toh aur mila kahin tha uske pati ko vanvas nahi hua tha BA nvaas uski ram ko hua tha lekin 12 varsh tak usne jo vidva ka jeevan jiya uska tyag mein jeevan uska tha is BA at ko rashtrya kabhi maithalisharan gupt ne mehsus kiya aur kisi BA at ko lekar ke unhone saket mahakavya ki rachna ki jo hindi sahitya ka ek bemisaal khati hai aur maithalisharan gupt ki jo dekhani hai wah adwitiya hai aur saket ki nayika sita nahi hai abhi toh aur mila ko mana gaya hai upar uska charitra sundarta ke saath kiya hai sundarta ke manobhavo ko suchit kiya gaya ki misal hai isliye saket ka naam hindi sahitya ke sarvashreshtha sathiyo mein gina jata hai

साकेत के लेखक राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त हैं उन्होंने बहुत सुंदर काफी लिखा है साकेत इसमें

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  373
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
saket ke rachnakar ; saket ke rachnakar ka naam likhiye ; saket ke lekhak kaun hai ; saket ke kavi hai ; saket ke lekhak ; साकेत के रचनाकार का नाम ; saket ke rachnakar ka naam ; saket ke rachnakar kaun hai ; saket ke rachyita kaun hai ; saket mahakavya ke lekhak kaun hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!