क्या डॉ राजेंद्र प्रसाद एक उपन्यासकार थे?...


user

RAZIBUL ISLAM KHAN

Teacher- 10 Years experience in colleges as a assistant professor

2:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद एक उपन्यासकार थे देखिए और डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति थे 26 जनवरी 1950 को जब हमारे जनतंत्र लागू हुआ तब डॉक्टर परिषद को इस पद से सम्मानित किया गया था आजादी की बात बनी है पहले साल का डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद को पंडित जवाहरलाल नेहरू की सरकार में कैबिनेट मंत्री के तौर पर कृषि विभाग का काम सौंपा गया इसके साथ ही इन्हें भारत की संविधान सभा में संविधान निर्माण के लिए अध्यक्ष नियुक्त किया गया राजेंद्र प्रसाद जैन सीजी मौका ऐसी शिक्षा में से एक थे उन्होंने भारत की आजादी के लिए प्राण तक न्योछावर कर करने के स्थान राखी थे यह स्वतंत्रता सामग्री के रूप से इंसान का मुख्य रूप से लिया जाता है राजेंद्र प्रसाद बिहार कैमूर का नेता थे नमक तोड़ो आंदोलन को भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान इन्होंने मुझे इतना है कि सारा टीपॉली राष्ट्रपति बनने के बाद प्रसाद जी घर पर खाद और स्वतंत्र निर्णय लेना चाहते हैं इसलिए उन्होंने काग्रेस पार्टी से संस्थान ले लिए औषधि भारत में शिक्षा के विकास के लिए अधिक जोर देते थे जिन्हें जी की सरकार ने उन्होंने कोई बात आपने सवाल भी यह आंदोलन को घोषाल का जो बारे में बताने वाला

kya doctor rajendra prasad ek upanyaskar the dekhiye aur doctor rajendra prasad bharat ke pratham rashtrapati the 26 january 1950 ko jab hamare jantantra laagu hua tab doctor parishad ko is pad se sammanit kiya gaya tha azadi ki baat bani hai pehle saal ka doctor rajendra prasad ko pandit jawaharlal nehru ki sarkar mein cabinet mantri ke taur par krishi vibhag ka kaam saupaan gaya iske saath hi inhen bharat ki samvidhan sabha mein samvidhan nirmaan ke liye adhyaksh niyukt kiya gaya rajendra prasad jain CG mauka aisi shiksha mein se ek the unhone bharat ki azadi ke liye praan tak nyochavar kar karne ke sthan rakhi the yah swatantrata samagri ke roop se insaan ka mukhya roop se liya jata hai rajendra prasad bihar kaymur ka neta the namak todo andolan ko bharat chodo andolan ke dauran inhone mujhe itna hai ki saara tipali rashtrapati banne ke baad prasad ji ghar par khad aur swatantra nirnay lena chahte hain isliye unhone congress party se sansthan le liye aushadhi bharat mein shiksha ke vikas ke liye adhik jor dete the jinhen ji ki sarkar ne unhone koi baat aapne sawaal bhi yah andolan ko ghoshal ka jo bare mein bata vala

क्या डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद एक उपन्यासकार थे देखिए और डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद भारत के प्रथम

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  752
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!