अखिलेश यादव और योगी आदित्यनाथ जी में अच्छी सरकार किसकी है?...


user

Amit Dutta

Journalist

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर बात की जाए अखिलेश सरकार और योगी सरकार में तो जो ढाई साल अखिलेश सरकार ने अपने परिवार में हो रही विरोधाभास को लेकर प्रदेश के लिए निराशाजनक ढाई साल रहे थे लेकिन उसके बाद जब 5 साल बाहर विरोधाभास परिवार में खत्म होने के बाद जब अखिलेश ने उत्तर प्रदेश में कार्य को सबसे पहली प्राथमिकता दी अखिलेश की सरकार अभी भी लोगों के मन में यही होता है कि अखिलेश की सरकार में कितना काम और जितना विकास उत्तर प्रदेश में देखने के लिए मिला था शायद सरकार में देखने के लिए नहीं मिल रहा है योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में महिलाओं का और देखा जाए तो प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर भी ऐसे मीटिंग और ढेरों चलाती है जैसे कि अभी तक पता नहीं दिखाई दे रहा है जिसकी वजह से लोगों का यह मानना है कि अगर अखिलेश सरकार ने बेहद ज्यादा विकास पर ध्यान दिया था तो कहीं ना कहीं योगी आदित्यनाथ को भी उसी तरीके से उत्तर प्रदेश में ध्यान देने की जरूरत है

agar baat ki jaaye akhilesh sarkar aur yogi sarkar mein toh jo dhai saal akhilesh sarkar ne apne parivar mein ho rahi virodhabhas ko lekar pradesh ke liye nirashajanak dhai saal rahe the lekin uske baad jab 5 saal bahar virodhabhas parivar mein khatam hone ke baad jab akhilesh ne uttar pradesh mein karya ko sabse pehli prathamikta di akhilesh ki sarkar abhi bhi logo ke man mein yahi hota hai ki akhilesh ki sarkar mein kitna kaam aur jitna vikas uttar pradesh mein dekhne ke liye mila tha shayad sarkar mein dekhne ke liye nahi mil raha hai yogi adityanath uttar pradesh mein mahilaon ka aur dekha jaaye toh pradesh mein kanoon vyavastha ko lekar bhi aise meeting aur dheron chalati hai jaise ki abhi tak pata nahi dikhai de raha hai jiski wajah se logo ka yah manana hai ki agar akhilesh sarkar ne behad zyada vikas par dhyan diya tha toh kahin na kahin yogi adityanath ko bhi usi tarike se uttar pradesh mein dhyan dene ki zarurat hai

अगर बात की जाए अखिलेश सरकार और योगी सरकार में तो जो ढाई साल अखिलेश सरकार ने अपने परिवार मे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Mohd Naseem

Politician

0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई देखिए राजनाथ सिंह जी होम मिनिस्टर बन गए तो अभी आई थी आज जो सट्टा में आता है वही अपना अपना मनमानी करता है बीजेपी की आवाज ठीक है वह यूपी बहुत बड़ा चुका है युवती भी नाकाम रही वहां पर क्योंकि दलित वोट बिक जाता है चली देखता भी हो सकते कभी भी

bhai dekhiye rajnath Singh ji home minister ban gaye toh abhi I thi aaj jo satta mein aata hai wahi apna apna manmani karta hai bjp ki awaaz theek hai vaah up bahut bada chuka hai yuvati bhi nakam rahi wahan par kyonki dalit vote bik jata hai chali dekhta bhi ho sakte kabhi bhi

भाई देखिए राजनाथ सिंह जी होम मिनिस्टर बन गए तो अभी आई थी आज जो सट्टा में आता है वही अपना अ

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  237
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अखिलेश यादव और योगी आदित्यनाथ जी मेथी सरकार किसकी है यह बताना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि देखिए यूपी में जब से योगी आदित्यनाथ की सरकार बनी है बीजेपी का सरकार बनी है वहां पर सबसे लोगों की न्यूज़ जो दोनों तरफ रहे हैं कुछ लोग कह रहे हैं कि अखिलेश की सरकार अच्छी हुआ करती थी कुछ लोग कह रहे हैं कि योगी आदित्यनाथ की सरकार अच्छी है लेकिन अगर मैं अपने हिसाब से बताओ तो मुझे लगता है कि योगी आदित्यनाथ की सरकार में थोड़ा भ्रष्टाचार कम हुआ है लोगों को डर लगने लगा है कि अगर वह कुछ गलत करेंगे तो हो सकता है उनके ऊपर कार्यवाही हो और वही जितने भी सरकारी दफ्तर है वहां पर काम करने में बहुत आसानी हो गई है लोगों को और आपने शुरुआत में देखा होगा कि जब उनकी सरकार बनी थी तो उन्होंने एक नियम लागू करा था कि हर सरकारी दफ्तर में खुद सफाई करेंगे वहां के कारण और जितने भी अधिकारी वगैरा होंगे तो यह चीज अभी भी वहां पर चल रही है तो आपको सारे दफ्तर साफ-सुथरे मिलेंगे सब में काम अच्छे से हो रहा है कोई आपको अकेला आएगा फिर से आएगा नहीं दर्द बधाई हो फालतू में और वही आपके सारे काम बिना भ्रष्टाचार बिना पैसे दिए होंगे और सही होंगे और वही उनके आने के बाद जो चीजें ट्रांसपेरेंट भी हो गई है क्योंकि ज्यादातर चीजे ऑनलाइन हुआ करती है जिसकी वजह से कोई भी भ्रष्टाचारी आप बाकी की नहीं हो सकती है डायरेक्ट आपको भाई कि उसकी गवर्नमेंट से काम करवाना होगा ना कि आपको बीच में अब किसी की जरूरत पड़ेगी उस काम को करवाने के लिए तो मुझे लगता है कि पर्सनली योगी आदित्यनाथ की सरकार में ज्यादा लोगों का अच्छा काम हो रहा है अच्छी सरकार बन रही है लेकिन उसके अलावा भी दोनों की सरकारों में लोगों को कुछ ना कुछ परेशानियां भी है और जब कुछ ना कुछ दिक्कत है तो लोग दोनों की तरफ समर्थन दे रहे हैं लेकिन इसका सबसे अच्छा से अच्छा तभी निकल पाएगा और जब दोबारा चुनाव होंगे क्योंकि देखिए हमने अखिलेश की सरकार भी देख लिया भैया योगी आदित्यनाथ की सरकार भी देख लिया तो अब जो जनता फैसला देगी दोबारा चुनावों में कि कौन जीतेगा वह चीज यह बता देगा कि कौन सी सरकार ज्यादा अच्छी है

akhilesh yadav aur yogi adityanath ji methi sarkar kiski hai yah bataana thoda mushkil hai kyonki dekhiye up mein jab se yogi adityanath ki sarkar bani hai bjp ka sarkar bani hai wahan par sabse logo ki news jo dono taraf rahe hai kuch log keh rahe hai ki akhilesh ki sarkar achi hua karti thi kuch log keh rahe hai ki yogi adityanath ki sarkar achi hai lekin agar main apne hisab se batao toh mujhe lagta hai ki yogi adityanath ki sarkar mein thoda bhrashtachar kam hua hai logo ko dar lagne laga hai ki agar vaah kuch galat karenge toh ho sakta hai unke upar karyavahi ho aur wahi jitne bhi sarkari daftaar hai wahan par kaam karne mein bahut aasani ho gayi hai logo ko aur aapne shuruat mein dekha hoga ki jab unki sarkar bani thi toh unhone ek niyam laagu kara tha ki har sarkari daftaar mein khud safaai karenge wahan ke karan aur jitne bhi adhikari vagera honge toh yah cheez abhi bhi wahan par chal rahi hai toh aapko saare daftaar saaf suthre milenge sab mein kaam acche se ho raha hai koi aapko akela aayega phir se aayega nahi dard badhai ho faltu mein aur wahi aapke saare kaam bina bhrashtachar bina paise diye honge aur sahi honge aur wahi unke aane ke baad jo cheezen transaperent bhi ho gayi hai kyonki jyadatar chije online hua karti hai jiski wajah se koi bhi bhrashtachaari aap baki ki nahi ho sakti hai direct aapko bhai ki uski government se kaam karwana hoga na ki aapko beech mein ab kisi ki zarurat padegi us kaam ko karwane ke liye toh mujhe lagta hai ki personally yogi adityanath ki sarkar mein zyada logo ka accha kaam ho raha hai achi sarkar ban rahi hai lekin uske alava bhi dono ki sarkaro mein logo ko kuch na kuch pareshaniya bhi hai aur jab kuch na kuch dikkat hai toh log dono ki taraf samarthan de rahe hai lekin iska sabse accha se accha tabhi nikal payega aur jab dobara chunav honge kyonki dekhiye humne akhilesh ki sarkar bhi dekh liya bhaiya yogi adityanath ki sarkar bhi dekh liya toh ab jo janta faisla degi dobara chunavon mein ki kaun jitega vaah cheez yah bata dega ki kaun si sarkar zyada achi hai

अखिलेश यादव और योगी आदित्यनाथ जी मेथी सरकार किसकी है यह बताना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि देख

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अखिलेश यादव और योगी आदित्यनाथ में कौन अच्छे हैं यह किसकी सरकार अच्छी है यह तो मैं यूपी की जनता दिखाई कर पाएगी और यह भी तो नहीं बता पाएगी क्योंकि योगी आदित्यनाथ का सरकार है भाजपा सरकार इलेक्शन में कौन से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री की जान पाते तो वहां की जनता जानती का मुख्य कार्य करते हैं अब से अगले इलेक्शन है

akhilesh yadav aur yogi adityanath mein kaun acche hain yah kiski sarkar achi hai yah toh main up ki janta dikhai kar payegi aur yah bhi toh nahi bata payegi kyonki yogi adityanath ka sarkar hai bhajpa sarkar election mein kaun se mukhyamantri yogi adityanath yogi adityanath mukhyamantri ki jaan paate toh wahan ki janta jaanti ka mukhya karya karte hain ab se agle election hai

अखिलेश यादव और योगी आदित्यनाथ में कौन अच्छे हैं यह किसकी सरकार अच्छी है यह तो मैं यूपी की

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!