जब भी पढ़ने बैठता हूँ, मन नहीं लगता क्या करूँँ?...


play
user

Manish Singh

VOLUNTEER

1:05

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निखिल शर्मा इसके बारे में आपको सच्चाई बताऊं तुझे टॉप एंड क्लास के बच्चे होते हैं जो कि 9598 स्कोर करते हैं उनके अलावा पढ़ने में किसी को भी मन नहीं लगता कोई नहीं चाहता कि बैठकर पढ़े सब का मन इधर दर्द कॉन्संट्रेशन होता है एक बार होता है अंदर से कि अगर आप यहां पर नहीं पढ़े हैं तो आप आगे जाकर क्या करेंगे और अगर आप एग्जाम में फेल हो गए तो सोचिए फिर आप को दुगना पढ़ाई करनी पड़ेगी आप 1 साल वेट करना पड़ेगा एक साथ फिर आप पढ़ नहीं पाएंगे और अगर थोड़ा पढ़ भी लेते एग्जाम क्लियर भी कर लेते हैं तो 35 55 40 55 50 प्रश्न से क्या फायदा कुछ फायदा नहीं है इसलिए ओपन सेटिंग कैसे लगाना होगा शायद ऐसा भी हो सकता कि जो आप पढ़ रहे हैं आपको पढ़ने में अच्छा नहीं लगता है आपको कोई और इंटरेस्ट हो तो वेरावल में तो कुछ नहीं कर सकते आप लेकिन उसके बाद ले सकते हैं पुष्पा अपने मनमुताबिक चीजें पढ़ सकते हैं तू अभी थोड़े टाइम के लिए कौन सेंट्रल बस ऐसा सोचा कि टाइम जॉब को निकालना किसी तरह जी आप अच्छे मार्क्स लें उसके बाद आपकी जिंदगी अच्छी है अंदर से आप पढ़ नहीं पाएंगे तो डर को खुद से डेवलप करें अपने अंदर

nikhil sharma iske bare mein aapko sacchai bataun tujhe top and class ke bacche hote hain jo ki 9598 score karte hain unke alava padhne mein kisi ko bhi man nahi lagta koi nahi chahta ki baithkar padhe sab ka man idhar dard concentration hota hai ek baar hota hai andar se ki agar aap yahan par nahi padhe hain toh aap aage jaakar kya karenge aur agar aap exam mein fail ho gaye toh sochiye phir aap ko dugna padhai karni padegi aap 1 saal wait karna padega ek saath phir aap padh nahi payenge aur agar thoda padh bhi lete exam clear bhi kar lete hain toh 35 55 40 55 50 prashna se kya fayda kuch fayda nahi hai isliye open setting kaise lagana hoga shayad aisa bhi ho sakta ki jo aap padh rahe hain aapko padhne mein accha nahi lagta hai aapko koi aur interest ho toh verawal mein toh kuch nahi kar sakte aap lekin uske baad le sakte hain pushpa apne manamutabik cheezen padh sakte hain tu abhi thode time ke liye kaun central bus aisa socha ki time job ko nikalna kisi tarah ji aap acche marks le uske baad aapki zindagi achi hai andar se aap padh nahi payenge toh dar ko khud se develop kare apne andar

निखिल शर्मा इसके बारे में आपको सच्चाई बताऊं तुझे टॉप एंड क्लास के बच्चे होते हैं जो कि 959

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  168
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!