हमें किसी की कमी तब महसूस होती है,जब वह हमारे पास नहीं रहता है क्या?...


user

RAJKUMAR

Sharp Astrology

4:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम विघ्नहर्ता श्री गणेशाय नमः दोस्तों आपका सवाल है किसी की कमी हमें कब महसूस होती है क्या हमारे पास तो नहीं रहता तब उसकी कमी महसूस होती है तो हमारी कमी भी किसी को पर महसूस होती है और किसी की कमी हमें कब महसूस होती है उसके बारे में भी मैं आपको एक छोटा सा एक का दृष्टांत देना चाहूंगा एक छोटी सी कहानी सुनाता सुनाना जाऊंगा बचपन में मैंने यह कहानी सुनी थी वह भी किताब में जहां पर मैं पढ़ लेता था उसके अनुभव से मैं आपको बताता हूं और फिर उसका लॉजिकली डेमो भी करेंगे तो दोस्तों झाड़ होता है पीपल का झाड़ होता है उसके पास नहीं कल लेडी सिंगर का झाड़ जो छोड़ो तब छोटा था वह बड़ा होता है धीरे-धीरे उनके मतानुसार बड़ा हो जाता है तो यह सोचता है कि देखो मेरे आस-पास में जो यह पीपल का वृक्ष है यह तो विरोध हो गया है लेकिन मैं इसको जापान इतना तू जो लेडी सिंगर का जो छोड़ होता है वह सोचता है कि देखो यह मेरे कुछ काम का नहीं है फिर भी मेरे पास में खड़ा तो आधी बाजू के जितने भी जाट होते उनको बोलता है कि मेरे को पसंद नहीं पीपल को बोलो मेरे मेरे यहां से दूर चला जाए तो भी करने का बेटा अभी तो छोटा है तू नहीं समझ रहा है कि मैं तेरे पास खड़ा हूं तो तेरे पे में कितना तुझे पता नहीं है लेकिन लेडी फिंगर काजोल और मुझे भी यह पसंद पसंद छोड़ आते तो जोगी पलका जानता होगा वहां से दूर चला गया तो फिर क्या हुआ दोस्तों के दूसरे दिन जब सूर्य की रोशनी हुई थी इतनी ज्यादा तेज नहीं हुई तब वहां पर पीपल का जो छोड़ता जो उसकी रोशनी को बचा रहा था उस वृक्ष के ऊपर पड़ने पर उसको जो शीतल छाया देता था और वह उसको छाया उसको डायरेक्ट सूर्य की किरणें लग गई और वह छोड़ एक ही दिन में दस्त हो गया यानी कर्मा गया तो की फिर उसको याद आया कि देखो मेरे पास अगर पीपल का पेड़ होता तो कितना अच्छा अच्छा होता अगर वह मेरे पास भी खड़ा होता तो मैं इतना जल नहीं जाता तो जब वह सोचता है इस तरह की सोचता है तो पीपल का वृक्ष होता है वह समझ जाता है तो उसके पास आ जाता है और कितने देख दोस्त मैं तुम्हें बताने के लिए यहां पर भगवान ने मुझे रखा था लेकिन तुम समझ नहीं पाए दोस्तों की हम भी किसी के ऊपर नितंब बनते हैं उसके लिए हमने कुछ बलिदान दिया उसके लिए हमने कुछ किया हो जब उसके लिए हमने यही से उस को प्रसन्न करने की कोशिश की तो दमोह मुस्की नीड बन जाते हैं और जब हम उनसे दूर हो जाते तो उसको जब बुरे समय का सामना करना पड़ता है तब उसको याद आता है कि यार यह मेरे लिए कितना अच्छा था ऐसे ही कभी-कभी क्या होता है दोस्तों की गर्लफ्रेंड और गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड के बीच में भी होता है कभी-कभी एक लड़की जो होती है वह दूसरे बॉयफ्रेंड के पास चली जाती है तो तब याद आता है कि नहीं वह लड़का जो तो इसमें इतना अच्छा गुण था तो शादी करने के बाद भी उसका नेचर बदल जाता तब उसको लगता है कि नहीं मेरा पति जैसा होती क्योंकि पति का जो नेता अपनी लाइफ में मुझे गर्लफ्रेंड मिली थी इससे यह मेरी बीवी है जो अलग एकदम मिली है जो हमसे दूर हुआ है या हम जिस से दूर हो गए हैं ओम शांति

om vighnharta shri ganeshay namah doston aapka sawaal hai kisi ki kami hamein kab mehsus hoti hai kya hamare paas toh nahi rehta tab uski kami mehsus hoti hai toh hamari kami bhi kisi ko par mehsus hoti hai aur kisi ki kami hamein kab mehsus hoti hai uske bare me bhi main aapko ek chota sa ek ka drishtant dena chahunga ek choti si kahani sunata sunana jaunga bachpan me maine yah kahani suni thi vaah bhi kitab me jaha par main padh leta tha uske anubhav se main aapko batata hoon aur phir uska logically demo bhi karenge toh doston jhad hota hai pipal ka jhad hota hai uske paas nahi kal lady singer ka jhad jo chodo tab chota tha vaah bada hota hai dhire dhire unke matanusar bada ho jata hai toh yah sochta hai ki dekho mere aas paas me jo yah pipal ka vriksh hai yah toh virodh ho gaya hai lekin main isko japan itna tu jo lady singer ka jo chhod hota hai vaah sochta hai ki dekho yah mere kuch kaam ka nahi hai phir bhi mere paas me khada toh aadhi baju ke jitne bhi jaat hote unko bolta hai ki mere ko pasand nahi pipal ko bolo mere mere yahan se dur chala jaaye toh bhi karne ka beta abhi toh chota hai tu nahi samajh raha hai ki main tere paas khada hoon toh tere pe me kitna tujhe pata nahi hai lekin lady finger kajol aur mujhe bhi yah pasand pasand chhod aate toh jogi palaka jaanta hoga wahan se dur chala gaya toh phir kya hua doston ke dusre din jab surya ki roshni hui thi itni zyada tez nahi hui tab wahan par pipal ka jo chodta jo uski roshni ko bacha raha tha us vriksh ke upar padane par usko jo shital chhaya deta tha aur vaah usko chhaya usko direct surya ki kirne lag gayi aur vaah chhod ek hi din me dast ho gaya yani karma gaya toh ki phir usko yaad aaya ki dekho mere paas agar pipal ka ped hota toh kitna accha accha hota agar vaah mere paas bhi khada hota toh main itna jal nahi jata toh jab vaah sochta hai is tarah ki sochta hai toh pipal ka vriksh hota hai vaah samajh jata hai toh uske paas aa jata hai aur kitne dekh dost main tumhe batane ke liye yahan par bhagwan ne mujhe rakha tha lekin tum samajh nahi paye doston ki hum bhi kisi ke upar nitamb bante hain uske liye humne kuch balidaan diya uske liye humne kuch kiya ho jab uske liye humne yahi se us ko prasann karne ki koshish ki toh damoh muski need ban jaate hain aur jab hum unse dur ho jaate toh usko jab bure samay ka samana karna padta hai tab usko yaad aata hai ki yaar yah mere liye kitna accha tha aise hi kabhi kabhi kya hota hai doston ki girlfriend aur girlfriend aur boyfriend ke beech me bhi hota hai kabhi kabhi ek ladki jo hoti hai vaah dusre boyfriend ke paas chali jaati hai toh tab yaad aata hai ki nahi vaah ladka jo toh isme itna accha gun tha toh shaadi karne ke baad bhi uska nature badal jata tab usko lagta hai ki nahi mera pati jaisa hoti kyonki pati ka jo neta apni life me mujhe girlfriend mili thi isse yah meri biwi hai jo alag ekdam mili hai jo humse dur hua hai ya hum jis se dur ho gaye hain om shanti

ओम विघ्नहर्ता श्री गणेशाय नमः दोस्तों आपका सवाल है किसी की कमी हमें कब महसूस होती है क्या

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  808
KooApp_icon
WhatsApp_icon
7 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!