सड़क परिवहन रेल परिवहन से किस प्रकार से अधिक लाभदायक है?...


user

Bhupendra Chugh

Business Owner

3:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समय के हिसाब से रेल यार जैसे ट्रेन वह समय लगा सकती है लेट हो सकती है जैसे 5:00 बजे की ट्रेन है माल्या कहीं कोई फॉल्ट आ गया या कोई दिक्कत आ गई तो आपको इंतजार करना पड़ सकता है लेट हो सकती है लेकिन बस से यह है कि भी उसमें यह दिक्कत नहीं है कि आप को टाइम से ही वह जैसे आएगी वह बस निकल जाएगी तो दूसरी पास आ जाएगी फिर जो है उस तरीके से उसका सोफा किस हिसाब से बढ़िया है लेकिन अगर ट्रेन टाइम से हूं सही माने तो सबसे बढ़िया ट्रेन का सफर है क्योंकि जो बस है वह जो है जैसे साल के हैं या तो सड़क बढ़िया सड़के हैं माल या खराब तो बस में तो दिक्कत है कि सड़क खराब भी है चलो बस खराब है तो भी निकल जाए लेकिन जाम जो सबसे बड़ी समस्या है अगर वह जाम में फस गई तो आपको काफी इंतजार करना पड़ सकता है इसलिए सड़क के हिसाब से तो ट्रेन का सफर बढ़िया और लंबा सांवरो ट्रेन बढ़िया क्योंकि बस में लगेगा तो बहुत टाइम लगेगा ट्रेन के आगे तो कोई चाहे के लिए ट्रेन का सफर बढ़िया भी रहता है सुहाना भी रहता है और इंजॉय भी करता आदमी ट्रेन के सफर में दूसरा उसमें टॉयलेट बाथरूम वगैरह सब मौजूद बस में ऐसा नहीं है तो मेरे हिसाब से तो ट्रेन का सफर ज्यादा बढ़िया होता है और आज के तारीख में अगर ट्रेन बहुत दूर ही जाने वाली कंडीशन आती है अगर तो भाई यार क्योंकि आज की तारीख में बाहर के रेट भी बहुत रीजनेबल होते जा रहे हैं अब कम होते जा रहे हैं जहां 12 घंटे का सफर 18 घंटे का सफर होगा 2 घंटे में ही अगर आप पहुंच जाएं तो उससे बढ़िया क्या होगा और अगर आप मालूमात करेंगे जिस पर आपने कहीं जाना हो चुकी बाई ईयर के रेड रोज अलग होते हैं तो जिस दिन रेट कम हो उस दिन की जा सकती है बाहर की बाकी जो आप का सवाल है उस हिसाब से मैं आपको यही कहूंगा कि ट्रेन का सफर ज्यादा बढ़िया होता है बाजार बस के पास में बहुत लोग ऐसे हैं जैसे उल्टी आ जाती है बस सूट नहीं करती ट्रेन में ऐसा कुछ नहीं है जो जो चीन में आता है वह बस में नहीं आ सकता बस लेट सर्वे रोने वाली बात है जो ट्रेनों की लिस्ट सवेर होते हैं एक वह कमी है बॉबी ट्रेन का सफर बहुत बढ़िया है और बहुत दूर अगर जाना हो तो भाई

samay ke hisab se rail yaar jaise train vaah samay laga sakti hai late ho sakti hai jaise 5 00 baje ki train hai malya kahin koi fault aa gaya ya koi dikkat aa gayi toh aapko intejar karna pad sakta hai late ho sakti hai lekin bus se yah hai ki bhi usme yah dikkat nahi hai ki aap ko time se hi vaah jaise aayegi vaah bus nikal jayegi toh dusri paas aa jayegi phir jo hai us tarike se uska Sofa kis hisab se badhiya hai lekin agar train time se hoon sahi maane toh sabse badhiya train ka safar hai kyonki jo bus hai vaah jo hai jaise saal ke hai ya toh sadak badhiya sadake hai maal ya kharab toh bus mein toh dikkat hai ki sadak kharab bhi hai chalo bus kharab hai toh bhi nikal jaaye lekin jam jo sabse baadi samasya hai agar vaah jam mein fas gayi toh aapko kaafi intejar karna pad sakta hai isliye sadak ke hisab se toh train ka safar badhiya aur lamba sanvaro train badhiya kyonki bus mein lagega toh bahut time lagega train ke aage toh koi chahen ke liye train ka safar badhiya bhi rehta hai suhana bhi rehta hai aur enjoy bhi karta aadmi train ke safar mein doosra usme toilet bathroom vagera sab maujud bus mein aisa nahi hai toh mere hisab se toh train ka safar zyada badhiya hota hai aur aaj ke tarikh mein agar train bahut dur hi jaane wali condition aati hai agar toh bhai yaar kyonki aaj ki tarikh mein bahar ke rate bhi bahut reasonable hote ja rahe hai ab kam hote ja rahe hai jaha 12 ghante ka safar 18 ghante ka safar hoga 2 ghante mein hi agar aap pohch jayen toh usse badhiya kya hoga aur agar aap malumat karenge jis par aapne kahin jana ho chuki bai year ke red roj alag hote hai toh jis din rate kam ho us din ki ja sakti hai bahar ki baki jo aap ka sawaal hai us hisab se main aapko yahi kahunga ki train ka safar zyada badhiya hota hai bazaar bus ke paas mein bahut log aise hai jaise ulti aa jaati hai bus suit nahi karti train mein aisa kuch nahi hai jo jo china mein aata hai vaah bus mein nahi aa sakta bus late survey rone wali baat hai jo traino ki list saver hote hai ek vaah kami hai bobby train ka safar bahut badhiya hai aur bahut dur agar jana ho toh bhai

समय के हिसाब से रेल यार जैसे ट्रेन वह समय लगा सकती है लेट हो सकती है जैसे 5:00 बजे की ट्र

Romanized Version
Likes  52  Dislikes    views  699
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!