मैं हर दिन झूठ बोलता हूँ अपने घर पर, इससे कैसे बचू?...


user
2:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं हर दिन झूठ बोलता हूं अपने घर पर इससे कैसे बचें सबसे पहली बात यह समझ ले कि अगर आप रोज झूठ बोलते हैं घर पर तो धीरे-धीरे आपकी विश्वसनीयता खत्म हो जाएगी आपके लिए थोड़ा बहुत बिजी आदर मान सम्मान प्रेम स्नेह अनुराग घर के लोगों में है वह खत्म हो जाएगा झूठ बोलने वाले व्यक्ति को कोई भी पसंद नहीं करता कल को कोई अच्छी बात भी अगर आप बोलेंगे हाथ जोड़कर बहुत विनम्रता से भी बोलेंगे तो भी कोई आपकी तरफ ध्यान नहीं देगा तो कर अपनी विश्वसनीयता बनाए रखनी है अपना मान सम्मान बनाए रखना है तो झूठ ना बोले झूठ बोलने वाले का ईमान होता है जो सच्चाई होती है वह उतनी ही होती है अगर हम कोई बर्तन को उल्टा कर दें और वह खाली हो जाता है उतनी ही उसकी विश्वसनीयता रह जाती है और हमारे संतो ने भी कहा है कि अगर आप जानबूझकर झूठ बोलते हैं दूसरे को गुमराह करने के लिए झूठ बोलते हैं या ऐसी बातें बोलते हैं जिससे किसी के मान सम्मान को ठेस पहुंचे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचे तू ही एक पाप है कभी भी झूठ हमें नहीं बोलना चाहिए और अगर आपको झूठ बोलना धीरे-धीरे कम करना है तो दिन में कुछ समय आप मौन रखें जब आप मौन रखेंगे तो झूठ बोलने से बच जाएंगे सुबह उठे दो-तीन घंटे मोहन रखे हैं रात को दो-तीन घंटे मौन रखकर सबको बता दें कि मैंने मोहन रखा हुआ है ताकि लोगों को यह ना लगे कि यह अचानक चुप क्यों हो गए तुम ऑन रखिए जितना मोहन रखेंगे उतना ही आप झूठ से बचेंगे

main har din jhuth bolta hoon apne ghar par isse kaise bache sabse pehli baat yah samajh le ki agar aap roj jhuth bolte hain ghar par toh dhire dhire aapki visvasaniyata khatam ho jayegi aapke liye thoda bahut busy aadar maan sammaan prem sneh anurag ghar ke logo mein hai vaah khatam ho jaega jhuth bolne waale vyakti ko koi bhi pasand nahi karta kal ko koi achi baat bhi agar aap bolenge hath jodkar bahut vinamrata se bhi bolenge toh bhi koi aapki taraf dhyan nahi dega toh kar apni visvasaniyata banaye rakhni hai apna maan sammaan banaye rakhna hai toh jhuth na bole jhuth bolne waale ka iman hota hai jo sacchai hoti hai vaah utani hi hoti hai agar hum koi bartan ko ulta kar de aur vaah khaali ho jata hai utani hi uski visvasaniyata reh jaati hai aur hamare santo ne bhi kaha hai ki agar aap janbujhkar jhuth bolte hain dusre ko gumrah karne ke liye jhuth bolte hain ya aisi batein bolte hain jisse kisi ke maan sammaan ko thes pahuche kisi ki bhavnao ko thes pahuche tu hi ek paap hai kabhi bhi jhuth hamein nahi bolna chahiye aur agar aapko jhuth bolna dhire dhire kam karna hai toh din mein kuch samay aap maun rakhen jab aap maun rakhenge toh jhuth bolne se bach jaenge subah uthe do teen ghante mohan rakhe hain raat ko do teen ghante maun rakhakar sabko bata de ki maine mohan rakha hua hai taki logo ko yah na lage ki yah achanak chup kyon ho gaye tum on rakhiye jitna mohan rakhenge utana hi aap jhuth se bachenge

मैं हर दिन झूठ बोलता हूं अपने घर पर इससे कैसे बचें सबसे पहली बात यह समझ ले कि अगर आप रोज झ

Romanized Version
Likes  108  Dislikes    views  1382
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!