राजपूत समाज की स्थापना किसने की?...


user

Sunil Kumar

Teacher PGT

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको पसंद है राजपूत समाज की स्थापना किसने की तो चौधरी था शादी में तकरीबन कई 36 जातियां थी उनको एक समूह के रूप में इकट्ठा किया गया वह जिसे एक राजपूत जाति का नाम दिया गया राजपूत क्षत्रिय कुल के रूप में अंधेरा है जो राजस्थान में राजपूताना के नाम से भी जाना जाता है और राजपूतों की उत्पत्ति है उसके संबंध में इतिहासकारों के दो मत है कर्नल टॉड और सुमित राजपूतों को विदेशी जातियां बताया जिन्होंने भारत पर आक्रमण किया लेकिन चंद्रवरदाई लिखते हैं परशुराम द्वारा क्षत्रियों के संपूर्ण विश्व विनाश के बाद ब्राह्मणों ने आबू पर्वत पर यदि किया और यज्ञ की अग्नि से चौहान परमार प्रतिहार सोलंकी राजपूत वंश उत्पन्न हुई इसे इतिहासकार विदेशियों की हिंदू समाज में विलय हेतु यज्ञ के द्वारा शुद्धिकरण की घटना के रूप में देखते हैं और दूसरी तरफ जो विधि और इतिहासकार है उनका मानना है कि राजपूत विदेशी नहीं थे बल्कि प्राचीन क्षत्रियों की संतान की पुस्तक राज तरंगिणी में 36 क्षत्रिय कुल ओं का वर्णन कुछ विद्वान राजपूतों की उत्पत्ति अग्निकुंड से भी मानते हैं लेकिन यह अनुश्रुति पृथ्वीराज रासो की जो चंद्रवरदाई द्वारा जो लिखी गई है यह वर्णन पर आधारित है धन्यवाद

aapko pasand hai rajput samaj ki sthapna kisne ki toh choudhary tha shadi mein takareeban kai 36 jatiya thi unko ek samuh ke roop mein ikattha kiya gaya vaah jise ek rajput jati ka naam diya gaya rajput kshatriya kul ke roop mein andhera hai jo rajasthan mein rajpootana ke naam se bhi jana jata hai aur rajputo ki utpatti hai uske sambandh mein itihasakaron ke do mat hai colonel taud aur sumit rajputo ko videshi jatiya bataya jinhone bharat par aakraman kiya lekin chandravardai likhte hain parshuram dwara kshatriyon ke sampurna vishwa vinash ke baad brahmanon ne aabu parvat par yadi kiya aur yagya ki agni se Chauhan parmar pratihar solanki rajput vansh utpann hui ise itihaaskar videshiyon ki hindu samaj mein vilay hetu yagya ke dwara shuddhikaran ki ghatna ke roop mein dekhte hain aur dusri taraf jo vidhi aur itihaaskar hai unka manana hai ki rajput videshi nahi the balki prachin kshatriyon ki santan ki pustak raj tarangini mein 36 kshatriya kul on ka varnan kuch vidhwaan rajputo ki utpatti agnikund se bhi maante hain lekin yah anushruti prithviraj raaso ki jo chandravardai dwara jo likhi gayi hai yah varnan par aadharit hai dhanyavad

आपको पसंद है राजपूत समाज की स्थापना किसने की तो चौधरी था शादी में तकरीबन कई 36 जातियां थी

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  278
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!