हम प्राइवेट नौकरी कर रहे हैं और यदि उस नौकरी में पैसा ना मिल रहा हो तो क्या करें?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप प्राइवेट नौकरी कर रहे हैं अगर उस नौकरी में आपको पैसा नहीं मिल रहा था आपको क्या करें तो आप अपनी नौकरी को छोड़ दीजिए क्योंकि देखिए अगर आपको कहीं भी आप अब और बाल बच्चे हैं अगर आप कोई तो कहीं फ्री में मतलब पढ़ा रहे जैसे हम हैं शिक्षक हैं हम बच्चों को फ्री में पढ़ाते हैं तो हम बच्चों को जो फ्री में पढ़ाते हैं तो हमें पैसा नहीं मिलती है लेकिन ऊपरी में पढ़ाते समय का लाभ मिलती है जो आप घर पर पढ़ाई उतना दिन नहीं कर पाते हैं वह हम बच्चों को पढ़ाते हैं तो हमारी नॉलेज बढ़ती है तो पढ़ाई कराने से बच्चों को ज्ञान भी बढ़ते आप बोर्ड पर जाइए अब पढ़ आइएगा तो अगर आप शादीशुदा वाले हैं तो फिर बच्चे के खर्चा चाहिए तो आप उसको छोड़ कर आपको अब स्वयं के कोचिंग संस्था खोल लीजिए अपने घर पर या मकान पर या छत पर कहीं पर जा बा प्राइवेट बच्चों को नहीं पढ़ा रहे फिर भी पैसे नहीं मिले तो आप दोस्त भी बच्चों को पढ़ाइए अगर दो ₹200 लेते हैं तो आप ₹2000 आप आराम से कमा सकते हैं 10 बच्चे भी सचेत इस वजह से धीरे-धीरे बोलेंगे तो आप प्राइवेट को एक अलग अपने घर पर कोचिंग खोलिए धीरे-धीरे उस कोचिंग को बढ़ाते बढ़ाते आप काफी रुपया कमा सकते हैं आजकल एजुकेशन लाइन में सबसे अच्छा पैसा है एजुकेशन में कोई पूजा नहीं लगाना आप किसी से कर दीजिए एक बार से पांच से ₹6000 बेंच बनवाई है बोर्ड बनवाई स्वयं अपने घर पर ही कोचिंग पढ़ाना शुरू कर दीजिए पार्ट टाइम सुबह पढ़ाई है तब देखिए आपको खुद बड़े-बड़े स्कूल कोचिंग वाले आकर आपके घर से बुलाकर आपको 22 से 38 साल तक सैलरी देने के लिए आपको रिक्वेस्ट करने लगेंगे तो आप एक काम करके देखिए आप धनवान बन जाएगा धन्यवाद

aap private naukri kar rahe hain agar us naukri mein aapko paisa nahi mil raha tha aapko kya kare toh aap apni naukri ko chod dijiye kyonki dekhiye agar aapko kahin bhi aap ab aur baal bacche hain agar aap koi toh kahin free mein matlab padha rahe jaise hum hain shikshak hain hum baccho ko free mein padhate hain toh hum baccho ko jo free mein padhate hain toh hamein paisa nahi milti hai lekin upari mein padhate samay ka labh milti hai jo aap ghar par padhai utana din nahi kar paate hain vaah hum baccho ko padhate hain toh hamari knowledge badhti hai toh padhai karane se baccho ko gyaan bhi badhte aap board par jaiye ab padh aiega toh agar aap shaadishuda waale hain toh phir bacche ke kharcha chahiye toh aap usko chod kar aapko ab swayam ke coaching sanstha khol lijiye apne ghar par ya makan par ya chhat par kahin par ja BA private baccho ko nahi padha rahe phir bhi paise nahi mile toh aap dost bhi baccho ko padhaiye agar do Rs lete hain toh aap Rs aap aaram se kama sakte hain 10 bacche bhi sachet is wajah se dhire dhire bolenge toh aap private ko ek alag apne ghar par coaching kholiye dhire dhire us coaching ko badhate badhate aap kaafi rupya kama sakte hain aajkal education line mein sabse accha paisa hai education mein koi puja nahi lagana aap kisi se kar dijiye ek baar se paanch se Rs bench banwaai hai board banwaai swayam apne ghar par hi coaching padhana shuru kar dijiye part time subah padhai hai tab dekhiye aapko khud bade bade school coaching waale aakar aapke ghar se bulakar aapko 22 se 38 saal tak salary dene ke liye aapko request karne lagenge toh aap ek kaam karke dekhiye aap dhanwan ban jaega dhanyavad

आप प्राइवेट नौकरी कर रहे हैं अगर उस नौकरी में आपको पैसा नहीं मिल रहा था आपको क्या करें तो

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  232
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rajveer Singh

Lecturer Of Physics

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि आप प्राइवेट नौकरी कर रहे और नौकरी में पैसा नहीं मिल रहा है प्राइवेट नौकरी करने का कोई मतलब है इसी तरह कोई दूसरी नौकरी के दूसरा कोई काम थोड़ी अधिक छोटा मोटा बिजनेस करके तो कर लीजिए अगर भाई कोई दूसरी नौकरी मिलती है अज्ञात इकोनामिक कंडीशन

yadi aap private naukri kar rahe aur naukri mein paisa nahi mil raha hai private naukri karne ka koi matlab hai isi tarah koi dusri naukri ke doosra koi kaam thodi adhik chota mota business karke toh kar lijiye agar bhai koi dusri naukri milti hai agyaat economic condition

यदि आप प्राइवेट नौकरी कर रहे और नौकरी में पैसा नहीं मिल रहा है प्राइवेट नौकरी करने का कोई

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!