UPSC Mains में जवाब लिखने का अन्दाज़ कैसे बेहतर करे?...


user

Paras Nath

Director - Aditya-GMC IAS Academy

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हम बोलते क्यों हैं सबसे पहले जानकारी है क्योंकि एक भी से हम पढ़ते हैं दूसरी जॉब इन हिस्ट्री पर या फिर से प्रयास करें और इस मैटर पर सामाजिक मुद्दे को राजनीतिक मुद्दे

dekhiye hum bolte kyon hain sabse pehle jaankari hai kyonki ek bhi se hum padhte hain dusri job in history par ya phir se prayas karen aur is matter par samajik mudde ko raajnitik mudde

देखिए हम बोलते क्यों हैं सबसे पहले जानकारी है क्योंकि एक भी से हम पढ़ते हैं दूसरी जॉब इन ह

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  300
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jignesh Gadhiya

Director of UPSC/GPSC Ins..

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी मैंस में लिखने के लिए आपको पहले यह देखना पड़ेगा कि आप जो भी क्वेश्चन आंसर लिखे हैं वह एक शो में नहीं रहेगा तो जो पड़ने वाला है को अच्छी तरह से बात करने में मजा नहीं आएगा तो आपको पहले अच्छी तरह किलोमीटर करना है दूसरी चीज कोई ऐसी क्वेश्चन हो गया है किसको अपॉइंट में जवाब देना है तो आप पॉइंट्स दर कंटेंट आंसर लिख सकते

upsc mains mein likhne ke liye aapko pehle yah dekhna padega ki aap jo bhi question answer likhe hain vaah ek show mein nahi rahega toh jo padane vala hai ko achi tarah se baat karne mein maza nahi aayega toh aapko pehle achi tarah kilometre karna hai dusri cheez koi aisi question ho gaya hai kisko appoint mein jawab dena hai toh aap points dar content answer likh sakte

यूपीएससी मैंस में लिखने के लिए आपको पहले यह देखना पड़ेगा कि आप जो भी क्वेश्चन आंसर लिखे है

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1514
WhatsApp_icon
user

Digvijay Singh Parihar

Director, Digvijay IAS Academy

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डेली प्रेक्टिस क्वेश्चन ग्रुप डी प्रैक्टिस करते हैं प्रैक्टिस करेंगे तो कुछ ना कुछ उसमें डिलीवरी इन इंस्ट्रूमेंट होता है इसलिए प्रैक्टिस में क्या रहता नहीं किताब पढ़ते हैं तो पढ़ने की तरह हमको कॉल टू रहता अनटोल्ड अनटोल्ड देखी हमें क्वेश्चन देखना चाहिए कि हमने चोपड़ा से हम क्या कर सकते हैं आप अंकल जरूर देखें

daily practice question group d practice karte hain practice karenge toh kuch na kuch usmein delivery in instrument hota hai isliye practice mein kya rehta nahi kitab padhte hain toh padhne ki tarah hamko call to rehta untold untold dekhi hamein question dekhna chahiye ki humne chopra se hum kya kar sakte hain aap uncle zaroor dekhen

डेली प्रेक्टिस क्वेश्चन ग्रुप डी प्रैक्टिस करते हैं प्रैक्टिस करेंगे तो कुछ ना कुछ उसमें ड

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1379
WhatsApp_icon
user
1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नीत आंसर राइटिंग को बेहतरीन करने का सबसे अच्छा तरीका है लगातार छत्तीसगढ़ के शुरुआती दिनों से ही हमको आंसर राइटिंग करने की आदत डाल लेनी चाहिए या किसी कोचिंग संस्थान में पढ़ रहे हैं तो वहां की लगातार प्रश्न आपको मिलते रहते हैं यदि आप खुद की भी तैयारी कर रहे हैं तो आजकल के समय में बहुत सारे ऐसे ऑनलाइन माध्यम है जहां पर समसामयिक विषयों का जिसके विषय पर प्रश्न आपको लगातार मिलते रहते हैं उसको और आंसर लगातार करते रहना चाहिए साथ ही जो पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र के उत्तर आंसर राइटिंग जरूर करनी चाहिए और सिर्फ आंसर राइटिंग नहीं तो उसका इवेलुएशन भी जरूरी है तो अपना आंसर लिखने के बाद कम से कम खुद ही उसको एक बार दो बार अगर आप पढ़ेंगे तो आप खुद की गलतियां पकड़ पाएंगे और फिर साथ में अपने किसी का कोई मैटर के टीचर है उनसे भी चेक कर आना चाहिए तो आप खुद ही उसमें सुधार देंगे दूसरा कई बार ऐसा होता है कि हम बहुत सारा मटेरियल पढ़ लेते हैं और लिखने बैठो या तो बहुत कम पड़ जाता है या बहुत ज्यादा बढ़ जाता है इसका एक बेहतरीन तरीके पॉइंट में कंफर्टेबल महसूस करते हैं तो कोई भी शायद आप का तरीका बन जाना चाहिए इस पोस्ट में आ जाएगा साथ ही कुछ डायग्राम को चाट इसको अगर न्यूज़ करेंगे तो यह आपके लिए विशेष आकर्षण भैया प्रताप कुंडा ग्राम सुराज के थ्रू नंबर देने पर मजबूर हो जाता है

neet answer writing ko behtareen karne ka sabse accha tarika hai lagatar chattisgarh ke suruaati dino se hi hamko answer writing karne ki aadat daal leni chahiye ya kisi coaching sansthan mein padh rahe hain toh wahan ki lagatar prashna aapko milte rehte hain yadi aap khud ki bhi taiyari kar rahe hain toh aajkal ke samay mein bahut saare aise online madhyam hai jahan par samasamayik vishyon ka jiske vishay par prashna aapko lagatar milte rehte hain usko aur answer lagatar karte rehna chahiye saath hi jo pichhle varsh ke prashna patra ke uttar answer writing zaroor karni chahiye aur sirf answer writing nahi toh uska ivelueshan bhi zaroori hai toh apna answer likhne ke baad kam se kam khud hi usko ek baar do baar agar aap padhenge toh aap khud ki galtiya pakad payenge aur phir saath mein apne kisi ka koi matter ke teacher hai unse bhi check kar aana chahiye toh aap khud hi usmein sudhaar denge doosra kai baar aisa hota hai ki hum bahut saara material padh lete hain aur likhne baitho ya toh bahut kam pad jata hai ya bahut zyada badh jata hai iska ek behtareen tarike point mein Comfortable mahsus karte hain toh koi bhi shayad aap ka tarika ban jana chahiye is post mein aa jaega saath hi kuch diagram ko chat isko agar news karenge toh yah aapke liye vishesh aakarshan bhaiya pratap kunda gram suraj ke through number dene par majboor ho jata hai

नीत आंसर राइटिंग को बेहतरीन करने का सबसे अच्छा तरीका है लगातार छत्तीसगढ़ के शुरुआती दिनों

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1483
WhatsApp_icon
user

Dr. Rajiv Mishra

MD at Kautilya Study Circle

2:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी में प्रश्नों के उत्तर को देने के लिए सबसे पहले आवश्यक होता है कि प्रश्न का रिक्वायरमेंट क्या है प्रश्न पूछा क्या जा रहा है 4 बार ऐसा होता है कि प्रश्न को पढ़ते हैं फॉर्म उत्तराखंड प्रारंभ कर देते हैं जबकि होना ही चाहिए हमको पहले ठीक से समझा दो से तीन बार कम से कम ध्यान से उसको पढ़ा पढ़ने के बाद यह समझने की कोशिश करें वह पूछ रहा है कभी कभी पूछा जाता है कि दिए गए भाग पर नोट लिखना है टिप्पणी करनी है कभी पूछा था विवेचना कर रही है पूजा व्याख्या कर रही है कभी आलोचना कभी-कभी समालोचना कर रही है प्रस्तुत विषय की आवश्यकता पड़ने के बाद ही कम से कम पर सेट करें कि वह पूछ रहा है पूछने के बाद भी ध्यान देने की कोशिश करें जो चीज से संबंधित कम से कम एक से डेढ़ में विचार करें कि हमें कौन-कौन से पॉइंट्स में डालने हैं कहां से प्रवीण को उठाना है क्या प्रश्न की विषय वस्तु रहेगी और कैसे उसको कौन फ्लूड करेंगे यह बहुत इंपॉर्टेंट इंपॉर्टेंट नेयामतपुर को ठीक से नहीं समझेंगे और अपना ध्यान के में आए हुए अतिथियों को लगातार एक बार लिख लिख कर चले आएंगे तो पशुओं को पूरा नहीं कर पाएगा जो यूपीएससी से रिक्वायर्ड है इसलिए सबसे पहले अप्रैल को समझें कि इसमें क्या कहा जा रहा है और क्या पूछा जा रहे हैं हमें कितनी बात बोली है कितनी बात नहीं बोल रही है बाकी फ्रेंड को समझने के बाद अपने आंसर में तारतम बताया कंटिन्यूटी होनी चाहिए ब्रेकिंग ना हो ऐसा भी हो सकता है और न कोई दम नहीं है ना कोई लहर नहीं है आंसर में जो आप इस तरह के उठाएं कि आपकी बात पूरी हो और आप बात को समझा ले जाएं और अपने विचारों को रखते हुए उसमें सहमति असहमति जताते हुए उपलब्धियों और उपलब्ध यही सच्ची जरूरी यूपीसीएमएस के आज के लिए थैंक यू

upsc mein prashnon ke uttar ko dene ke liye sabse pehle aavashyak hota hai ki prashna ka requirement kya hai prashna poocha kya ja raha hai 4 baar aisa hota hai ki prashna ko padhte hain form uttarakhand prarambh kar dete hain jabki hona hi chahiye hamko pehle theek se samjha do se teen baar kam se kam dhyan se usko padha padhne ke baad yah samjhne ki koshish karen vaah poochh raha hai kabhi kabhi poocha jata hai ki diye gaye bhag par note likhna hai tippani karni hai kabhi poocha tha vivechna kar rahi hai puja vyakhya kar rahi hai kabhi aalochana kabhi kabhi samalochna kar rahi hai prastut vishay ki avashyakta padane ke baad hi kam se kam par set karen ki vaah poochh raha hai poochne ke baad bhi dhyan dene ki koshish karen jo cheez se sambandhit kam se kam ek se dedh mein vichar karen ki hamein kaun kaun se points mein dalne hain kahaan se praveen ko uthaana hai kya prashna ki vishay vastu rahegi aur kaise usko kaun flud karenge yah bahut important important neyamatapur ko theek se nahi samjhenge aur apna dhyan ke mein aaye hue atithiyon ko lagatar ek baar likh likh kar chale aayenge toh pashuo ko pura nahi kar payega jo upsc se required hai isliye sabse pehle april ko samajhe ki isme kya kaha ja raha hai aur kya poocha ja rahe hain hamein kitni baat boli hai kitni baat nahi bol rahi hai baki friend ko samjhne ke baad apne answer mein taratam bataya kantinyuti honi chahiye breaking na ho aisa bhi ho sakta hai aur na koi dum nahi hai na koi lahar nahi hai answer mein jo aap is tarah ke uthaen ki aapki baat puri ho aur aap baat ko samjha le jayen aur apne vicharon ko rakhte hue usmein sahmati asahmati jataate hue uplabdhiyon aur uplabdh yahi sachi zaroori UPCMS ke aaj ke liye thank you

यूपीएससी में प्रश्नों के उत्तर को देने के लिए सबसे पहले आवश्यक होता है कि प्रश्न का रिक्वा

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  727
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Suresh Jadhav

Faculty for IAS,Dir P.A.A.S

1:60

Likes  28  Dislikes    views  1294
WhatsApp_icon
user

Krishna Singh

Coaching Institute

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक्सेसिबिलिटी होता तो आपको अपना कैनवास मना करना पड़ेगा मतलब जो अभी जानकारी है उसको अधिक से अधिक करनी पड़ेगी क्वेश्चन क्वेश्चन क्वेश्चन को कंफर्म करने का मतलब जैसे शब्दों में क्वेश्चन लिखे शब्दों में क्वेश्चन में क्या क्या डालना है किस क्रम में डालने हैं कि करना चाहिए उसका क्वेश्चन लिखने की प्रेक्टिस टेबल होगी और कोशिश करें लिखने में स्टील की भी जो आवश्यकता होती है उसमें एक कलम कैसे उपयोग करें जिसका इंतजार कर रहा है उसका एग्जाम के पेपर में भी उसी टेंपो इस्तेमाल करें

eksesibiliti hota toh aapko apna canvas mana karna padega matlab jo abhi jaankari hai usko adhik se adhik karni padegi question question question ko confirm karne ka matlab jaise shabdon mein question likhe shabdon mein question mein kya kya daalna hai kis kram mein dalne hain ki karna chahiye uska question likhne ki practice table hogi aur koshish karen likhne mein steel ki bhi jo avashyakta hoti hai usmein ek kalam kaise upyog karen jiska intejar kar raha hai uska exam ke paper mein bhi usi tempo istemal karen

एक्सेसिबिलिटी होता तो आपको अपना कैनवास मना करना पड़ेगा मतलब जो अभी जानकारी है उसको अधिक से

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1446
WhatsApp_icon
user

Ashish Kumati

Director - Eklavya IAS Academy Lakshya Prakalp

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले प्रश्न की गंभीरता क्या है कभी क्या कह रहा है कि गांधीवादी आंदोलन की आलोचनात्मक विवेचना कीजिए स्थापना के अनुरूप हमारा

pehle prashna ki gambhirta kya hai kabhi kya keh raha hai ki gandhiwaadi aandolan ki aalochanaatmak vivechna kijiye sthapana ke anurup hamara

पहले प्रश्न की गंभीरता क्या है कभी क्या कह रहा है कि गांधीवादी आंदोलन की आलोचनात्मक विवेचन

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  621
WhatsApp_icon
user

santosh kumar jain

Motivational Speaker

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अच्छा साहित्य पढ़ें

accha sahitya padhen

अच्छा साहित्य पढ़ें

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!