व्यक्तित्व से आप क्या समझते हैं?...


user

Mohit Kumar Kakkar(Armaan)

Personality Development Trainer

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड आई एम अर्माण कपड़ों में आपका भोपाल से स्वागत करता हूं आप का क्वेश्चन है जब से आप क्या समझते हैं पर्सनैलिटी हमारे अंदर जो भी चीजें हमारे अंदर बहुत सी चीजें जैसे कि हमारा हमें कितना एटीट्यूड है हमें कितनी जो है हमारा बिहेवियर कैसा है हमारी नेचर कैसी हमारा किन किन चीजों में इंटरेस्ट है इन सभी को मिलाकर हमारी पर्सनालिटी बनती है क्या क्या क्वालिटी होनी चाहिए जैसे कि कितनी मेहनत है अगर हम किसी से हेल्प मांगते हैं तो क्या हम उसको बाद में करते हैं क्या हम अपनी जॉब पर जाते हैं तो अपने बॉस को या अपने पुलिस को विश करते हम सामने वाले की क्या करते हैं फोर्थ इंटेलीजेंट दिमाग के पास होता है लेकिन पार्टी वाला प्रशन अपने दिमाग को बहुत अच्छे से यूज कर दो इतना मातली करते हैं कि हम अपने प्रति अपनी फैमिली के प्रति अपनी जॉब के प्रति कितने पहुंचे बनाएं या मकड़ी क्वालिटी सेवंथ पर्सनैलिटी की टीम में हम खुद पर कितना विश्वास करते हैं हम खुद की कितनी रिस्पेक्ट करते हैं जिन्हें हम सेल्फ रिस्पेक्ट भी बोल देते हैं क्वालिटी होनी चाहिए

hello friend I M arman kapdo me aapka bhopal se swaagat karta hoon aap ka question hai jab se aap kya samajhte hain personality hamare andar jo bhi cheezen hamare andar bahut si cheezen jaise ki hamara hamein kitna attitude hai hamein kitni jo hai hamara behaviour kaisa hai hamari nature kaisi hamara kin kin chijon me interest hai in sabhi ko milakar hamari personality banti hai kya kya quality honi chahiye jaise ki kitni mehnat hai agar hum kisi se help mangate hain toh kya hum usko baad me karte hain kya hum apni job par jaate hain toh apne boss ko ya apne police ko wish karte hum saamne waale ki kya karte hain fourth intelligent dimag ke paas hota hai lekin party vala prashn apne dimag ko bahut acche se use kar do itna matli karte hain ki hum apne prati apni family ke prati apni job ke prati kitne pahuche banaye ya makdi quality sevanth personality ki team me hum khud par kitna vishwas karte hain hum khud ki kitni respect karte hain jinhen hum self respect bhi bol dete hain quality honi chahiye

हेलो फ्रेंड आई एम अर्माण कपड़ों में आपका भोपाल से स्वागत करता हूं आप का क्वेश्चन है जब से

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  425
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!