पौधों में जल परिवहन किसके द्वारा होता है इस की क्रिया विधि को समझाइए?...


user

Vikram Rawat

Police Officer

3:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पौधे द्वारा होता है तो भागो में विभक्त होता है पहला जालम महिलाएं जिन्हें वेसल्स कहते हैं दूसरा जाइलम वहां निकाय जिन्हें का इतिहास कहते हैं डायल नायिकाएं एक लंबी को कलाकार नली होती है जो अंतिम सिरों में बीवी होती हैं यह एक निर्जीव नली होती है इसी के रास्ते जल और पौधे के विभिन्न भागों तक पहुंचता है वहां निकाय भी निर्जीव कोशिकाएं होती हैं लेकिन यह सिरों पर खुली नहीं होती हैं इनमें गड्ढे जाते हैं तथा जल का परिसंचरण या परिवहन 1 घंटे से दूसरे गड्ढे में होता है बिना पुष्प वाले पौधे मैं वाणी का यही एकमात्र ऐसे हो तक होते हैं जो जल का परिसंचरण करते हैं पौधे के जड़ों के रूम जिन्हें रूट हेयर कहते हैं मिट्टी से अनिल और जल को अवशोषित कर लेते हैं जड़ों के रूम मिट्टी के कणों के बीच मौजूद दल की परत के साथ सीधे संपर्क में होते हैं खनिज युक्त जड़ों के रूम में जाता है और प्राचार्य ऑस्मोसिस की प्रक्रिया के माध्यम से कोशिकाओं से होता हुआ बाय त्वचा रोड और टैक्स और अंतर्दशा और अंत में जालम में पहुंचता है उदय के जड़ की ज्वाला माई का है तने के जला मकाउ से जुड़ी होती हैं इसलिए लड़की जला मकाउ से जलने की जला मकाउ में जाता है और फिर पौधे के डंठल से होते हुए थे कीपर क्यों तक पहुंचता है अब आप सोचते होंगे कि पानी और खनिज गुरुत्वाकर्षण बल के विपरीत नीचे से पौधे के सिर्फ भाग तक कैसे पहुंचता है इसका उत्तर है पौधे वृक्ष के ऊपरी भाग में पत्तियां होती हैं जो लगातार वाष्पोत्सर्जन की क्रिया से अतिरिक्त जल को स्टोमेटा के रास्ते बाहर निकाल देते हैं जिससे शीर्ष पर दबाव कम होता है इसके विपरीत पौधे के तने में दबाव अधिक होता है फल स्वरुप जेल पौधे के तने से होते हुए डेंटल के रास्ते पौधे के पत्तियों तक पहुंचता है इसी प्रकार प्रकाश संश्लेषण की क्रिया के फल पौधे भोजन का निर्माण करते हैं तथा इसको सरल शर्करा में तोड़कर लोन नलिका के माध्यम से पौधे के विभिन्न भागों तक पहुंचाते हैं

paudhe dwara hota hai toh bhago mein vibhakt hota hai pehla jalam mahilaye jinhen vessels kehte hai doosra xylem wahan nikaay jinhen ka itihas kehte hai dial nayikaen ek lambi ko kalakar nali hoti hai jo antim siron mein biwi hoti hai yah ek nirjeev nali hoti hai isi ke raste jal aur paudhe ke vibhinn bhaagon tak pahuchta hai wahan nikaay bhi nirjeev koshikayen hoti hai lekin yah siron par khuli nahi hoti hai inme gaddhe jaate hai tatha jal ka parisancharan ya parivahan 1 ghante se dusre gaddhe mein hota hai bina pushp waale paudhe main vani ka yahi ekmatra aise ho tak hote hai jo jal ka parisancharan karte hai paudhe ke jadon ke room jinhen root hair kehte hai mitti se anil aur jal ko avshoshit kar lete hai jadon ke room mitti ke kanon ke beech maujud dal ki parat ke saath sidhe sampark mein hote hai khanij yukt jadon ke room mein jata hai aur pracharya osmosis ki prakriya ke madhyam se koshikaaon se hota hua bye twacha road aur tax aur antardasha aur ant mein jalam mein pahuchta hai uday ke jad ki jwala my ka hai tane ke jala macaw se judi hoti hai isliye ladki jala macaw se jalne ki jala macaw mein jata hai aur phir paudhe ke danthal se hote hue the keeper kyon tak pahuchta hai ab aap sochte honge ki paani aur khanij gurutvaakarshan bal ke viprit niche se paudhe ke sirf bhag tak kaise pahuchta hai iska uttar hai paudhe vriksh ke upari bhag mein pattiyan hoti hai jo lagatar vashponsarjan ki kriya se atirikt jal ko stometa ke raste bahar nikaal dete hai jisse shirsh par dabaav kam hota hai iske viprit paudhe ke tane mein dabaav adhik hota hai fal swarup jail paudhe ke tane se hote hue dental ke raste paudhe ke pattiyo tak pahuchta hai isi prakar prakash sanshleshan ki kriya ke fal paudhe bhojan ka nirmaan karte hai tatha isko saral sharkara mein todkar loan nalika ke madhyam se paudhe ke vibhinn bhaagon tak pahunchate hain

पौधे द्वारा होता है तो भागो में विभक्त होता है पहला जालम महिलाएं जिन्हें वेसल्स कहते हैं द

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  242
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!