मेरा भगवान के अलावा और किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं क्या करूँ हमेशा भगवान ही मेरे दिमाग में रहते हैं?...


user

Shahin Fidai

Counselor, www.Youtube.com/Shahintalks www.Thevitalitycafe.com/Counseling

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो बहुत अच्छी बात है कि भगवान के अलावा आपको और कुछ दिमाग में नहीं आ रहा है क्योंकि ईश्वरी हमारी जिंदगी में बहुत इंपॉर्टेंट और बहुत अहम होना चाहिए लेकिन भगवान को याद करने के साथ-साथ भी हम दूसरे काम कर सकते हैं जैसे कि कुकिंग एक्सरसाइज डांस इन एरोबिक जो भी चीज है जो हमारी सेहत और तंदुरुस्ती के लिए अच्छी है और इसके साथ-साथ अगर कोई इंसान दुखी है तो हम उसे थोड़ा सा कर दे थोड़ी सी अच्छी पॉजिटिव सोच दे अगर कोई बीमार है तो उसके हालचाल पूछे उसकी खैर करे और अगर हमारे माता पिता हमारे साथ है तो उनके साथ हंसी खुशी से बात करें अच्छे से व्यवहार करें इसके साथ-साथ अगर आप एजुकेटेड है तो कुछ लोगों को आपकी उस दिन दे सकते हैं बच्चों को आप क्यों सीन दे सकते हैं उन्हें शिक्षा दे सकते हैं यह भी एक बहुत बड़ी अपने आप में सेवा है तो आप भगवान में आपका दिमाग हमेशा लगता है यह बहुत अच्छी बात है लेकिन इसके साथ-साथ अब ऐसा कुछ करें कुछ सेवा का काम जिससे दूसरों की मनुष्य में खुशी सुकून शांति प्यार यह सब बना रहे और आपके जीवन में भी इसका जो फ्लो है वह होता रहे ताकि आपका जीवन और भी खुश शांति सुकून के साथ भी थे और आपके बच्चों के साथ आपका व्यवहार अच्छा हो आप अपनी फैमिली लाइफ अच्छी तरह से एंजॉय करें बेस्ट ऑफ लक आपका जीवन शुभ हो

yah toh bahut achi baat hai ki bhagwan ke alava aapko aur kuch dimag me nahi aa raha hai kyonki ISHWARI hamari zindagi me bahut important aur bahut aham hona chahiye lekin bhagwan ko yaad karne ke saath saath bhi hum dusre kaam kar sakte hain jaise ki coocking exercise dance in Aerobic jo bhi cheez hai jo hamari sehat aur tandurusti ke liye achi hai aur iske saath saath agar koi insaan dukhi hai toh hum use thoda sa kar de thodi si achi positive soch de agar koi bimar hai toh uske halchal pooche uski khair kare aur agar hamare mata pita hamare saath hai toh unke saath hansi khushi se baat kare acche se vyavhar kare iske saath saath agar aap educated hai toh kuch logo ko aapki us din de sakte hain baccho ko aap kyon seen de sakte hain unhe shiksha de sakte hain yah bhi ek bahut badi apne aap me seva hai toh aap bhagwan me aapka dimag hamesha lagta hai yah bahut achi baat hai lekin iske saath saath ab aisa kuch kare kuch seva ka kaam jisse dusro ki manushya me khushi sukoon shanti pyar yah sab bana rahe aur aapke jeevan me bhi iska jo flow hai vaah hota rahe taki aapka jeevan aur bhi khush shanti sukoon ke saath bhi the aur aapke baccho ke saath aapka vyavhar accha ho aap apni family life achi tarah se enjoy kare best of luck aapka jeevan shubha ho

यह तो बहुत अच्छी बात है कि भगवान के अलावा आपको और कुछ दिमाग में नहीं आ रहा है क्योंकि ईश्व

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1770
WhatsApp_icon
25 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

आचार्य सुशील मिश्र

आध्यात्मिक गुरु

9:58
Play

Likes  93  Dislikes    views  680
WhatsApp_icon
user

Jitendra Singh

Social Worker

7:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा भगवान के अलावा किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं क्या करूं हमेशा भगवान ही मेरे दिमाग में रहते हैं यह बहुत ही सुंदर और बहुत ही आपके ऊपर उस परमपिता परमेश्वर की कृपा है आप का भाव इस प्रकार का जगह है यह आपके पूर्व जन्म के कर्मों का और आपके पूर्वज प्रताप मैं यह तो नहीं जानता कि आप कहां किस जाति किस जगह किस धर्म किस अधर्म किस अच्छी जगह बुरी जय है क्या काम करते हो क्या नौकरी करते हो यह तो आपकी दिनचर्या लेकिन आपके भाव से यह जरूर पता लग रहा है कि आपका जीवन बहुत ही सुंदर और बहुत ही सटीक बहुत ही सकारात्मक दिशा में चल रहा है और आपके पूर्वजों का देवताओं का पितरों का आनंद है या आपके मां-बाप का पुण्य है और आपके प्रारब्ध का भी पुण्य है आपको मैं बारंबार नमस्कार करने को मन करता है आप छोटे हैं तो प्यार करने को मन करता है आप जैसी आत्मा का वह कल पर करीबन में एक डेढ़ महीने से वह कल पर जवाब दे रहा हूं लेकिन पहला पर्सन इतना सुंदर आया है कि मेरे मन की प्रत्येक कली कली खिल गई है और ऐसे लोग भी संसार में है महेश इस प्रश्न को सुनकर के बहुत ही प्रसन्न हुआ हूं मुझे लगता है मैं अपने आपको भी आपके सामने तुच्छ मानता हूं और यह कामना करता हूं कि जो आपका गुण जो आपके पास भगवान का गुण है वह हमारे जैसे लोगों को भी मिले आपको आपकी श्रद्धा को आपके पूरे परिवार को आपके मां-बाप पिता आपके दादी बाबा आपके पूर्वज और आप को मैं नमन करता हूं और भगवान से प्रार्थना करता हूं कि इस प्रकार की सोच आपकी है भगवान यहां इस सभी की करें जिससे समस्याओं का हल ही हो जाए अर्थ जगत में धन इकट्ठा करना कोई बड़ी बात नहीं है उस पर छोड़ करके जाना फिर वह और भी दुखदाई होता है देखो आप आज शंकराचार्य जी की जन्म तिथि भी है उन्होंने एक ही उसमें उम्र दे दिया है कि हर पल को आनंद से जीने की कला जो सीख जाता है बस उसको बाकी कुछ भी नहीं करना है दुख उसके निकट भी नहीं आता है वह लोगों में बुध ने कहा कि संसार दुख से शुरू होता है आदि शंकराचार्य जी ने कहा यह संसार आनंद और सुख से चालू होता है देखने का नजरिया अपना-अपना है दोनों पर अपने नजरिए हैं लेकिन आपका नजरिया सकारात्मक है इसमें और भगवान बढ़ोतरी करें और आप दुनिया को लोगों को इस प्रकार से यश दें आपने इस ऐसा प्रसन्न किया है इसका उत्तर मेरे पास कुछ बन नहीं रहा है क्योंकि वेद और शास्त्रों से यह प्रश्न बहुत ऊपर का है जिसको भगवान ही देखते हो भगवान इस 24 घंटे मन में रहते हो और भगवान का ही ध्यान करते हो ऐसे सत्पुरुष आत्माओं को हम नमन करते हैं और इस पर सन के बारे में अगर कुछ भी कहते हैं तो लगता है कि वह हमारी अज्ञानता ही होगी इसलिए आपको बारंबार प्रणाम धन्य हैं आप धन्य उनको तुरंत आप का पुल और आपका पुत्र धन्य है आपकी जन्मभूमि धन्य और आप ने इस प्रकार से प्रसन्न जो भेजा है इसके लिए मैं शाहिद से आपको बारंबार नतमस्तक होता तीसरी बार मेरा प्रश्न सुनकर करके मन गदगद हो गया क्योंकि वह कल पर सब उल्टे सीधे प्रश्न आते हैं उनके उत्तर भी नहीं बनते हैं जिनका उत्तर भी ना बन पाए वह प्रसन्न है कैसा हो तो एक उत्तर हो जाता है तो इसीलिए आपको भगवान दीर्घायु करें संजीव रहो और बड़े छोटे जैसे भी जी सु मर के भी हो भगवान आपको बहुत-बहुत खुश रखे हमारी अपनी तरफ से कामना है इन्हीं शब्दों के साथ में ज्यादा क्या कहूं बस में एक ही बात कह सकता हूं मन के हारे हार है मन के जीते जीत पारब्रह्म को पाई है मन के ही प्रति यह मन जो है यह आपको पार ब्रह्म तक ले जा सकता है और मन के हारे हार है मन से हारी अहमद विषारी अहमद और मन को उज्जवल बनाते रहिए इसी प्रकार से सकारात्मक सोच रखिए आप धन्य है भारत भूमि दम है आप कहां के हैं मैं यह तो नहीं जानता लेकिन फिर भी जरूरी इच्छा करूंगा कि आप दुबारा अपने पर्सनल में अपना जन्म स्थान जरूर बताएं वक्त जन्म स्थान को भी प्रणाम करता हूं

mera bhagwan ke alava kisi kaam me man nahi lagta toh main kya karu hamesha bhagwan hi mere dimag me rehte hain yah bahut hi sundar aur bahut hi aapke upar us parampita parmeshwar ki kripa hai aap ka bhav is prakar ka jagah hai yah aapke purv janam ke karmon ka aur aapke purvaj pratap main yah toh nahi jaanta ki aap kaha kis jati kis jagah kis dharm kis adharma kis achi jagah buri jai hai kya kaam karte ho kya naukri karte ho yah toh aapki dincharya lekin aapke bhav se yah zaroor pata lag raha hai ki aapka jeevan bahut hi sundar aur bahut hi sateek bahut hi sakaratmak disha me chal raha hai aur aapke purvajon ka devatao ka pitaron ka anand hai ya aapke maa baap ka punya hai aur aapke prarabdh ka bhi punya hai aapko main barambar namaskar karne ko man karta hai aap chote hain toh pyar karne ko man karta hai aap jaisi aatma ka vaah kal par kariban me ek dedh mahine se vaah kal par jawab de raha hoon lekin pehla person itna sundar aaya hai ki mere man ki pratyek kalee kalee khil gayi hai aur aise log bhi sansar me hai mahesh is prashna ko sunkar ke bahut hi prasann hua hoon mujhe lagta hai main apne aapko bhi aapke saamne tucch maanta hoon aur yah kamna karta hoon ki jo aapka gun jo aapke paas bhagwan ka gun hai vaah hamare jaise logo ko bhi mile aapko aapki shraddha ko aapke poore parivar ko aapke maa baap pita aapke dadi baba aapke purvaj aur aap ko main naman karta hoon aur bhagwan se prarthna karta hoon ki is prakar ki soch aapki hai bhagwan yahan is sabhi ki kare jisse samasyaon ka hal hi ho jaaye arth jagat me dhan ikattha karna koi badi baat nahi hai us par chhod karke jana phir vaah aur bhi dukhdai hota hai dekho aap aaj shankaracharya ji ki janam tithi bhi hai unhone ek hi usme umar de diya hai ki har pal ko anand se jeene ki kala jo seekh jata hai bus usko baki kuch bhi nahi karna hai dukh uske nikat bhi nahi aata hai vaah logo me buddha ne kaha ki sansar dukh se shuru hota hai aadi shankaracharya ji ne kaha yah sansar anand aur sukh se chaalu hota hai dekhne ka najariya apna apna hai dono par apne nazariye hain lekin aapka najariya sakaratmak hai isme aur bhagwan badhotari kare aur aap duniya ko logo ko is prakar se yash de aapne is aisa prasann kiya hai iska uttar mere paas kuch ban nahi raha hai kyonki ved aur shastron se yah prashna bahut upar ka hai jisko bhagwan hi dekhte ho bhagwan is 24 ghante man me rehte ho aur bhagwan ka hi dhyan karte ho aise satpurush atmaon ko hum naman karte hain aur is par san ke bare me agar kuch bhi kehte hain toh lagta hai ki vaah hamari agyanata hi hogi isliye aapko barambar pranam dhanya hain aap dhanya unko turant aap ka pool aur aapka putra dhanya hai aapki janmbhoomi dhanya aur aap ne is prakar se prasann jo bheja hai iske liye main shahid se aapko barambar natamastak hota teesri baar mera prashna sunkar karke man gadgad ho gaya kyonki vaah kal par sab ulte sidhe prashna aate hain unke uttar bhi nahi bante hain jinka uttar bhi na ban paye vaah prasann hai kaisa ho toh ek uttar ho jata hai toh isliye aapko bhagwan dirghayu kare sanjeev raho aur bade chote jaise bhi ji su mar ke bhi ho bhagwan aapko bahut bahut khush rakhe hamari apni taraf se kamna hai inhin shabdon ke saath me zyada kya kahun bus me ek hi baat keh sakta hoon man ke hare haar hai man ke jeete jeet ko payi hai man ke hi prati yah man jo hai yah aapko par Brahma tak le ja sakta hai aur man ke hare haar hai man se haari ahmad vishari ahmad aur man ko ujjawal banate rahiye isi prakar se sakaratmak soch rakhiye aap dhanya hai bharat bhoomi dum hai aap kaha ke hain main yah toh nahi jaanta lekin phir bhi zaroori iccha karunga ki aap dubara apne personal me apna janam sthan zaroor bataye waqt janam sthan ko bhi pranam karta hoon

मेरा भगवान के अलावा किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं क्या करूं हमेशा भगवान ही मेरे दिमाग म

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
user
1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आता भगवान के अलावा और किसी में मन नहीं लगता है यह तो बहुत अच्छी बात है क्योंकि आप कह रहे हैं कि आपका दिल दिमाग हर समय आपका कौन किशन सोचते हैं यह तो अच्छी बात है भगवान का चिंतन हमेशा करने से मनुष्य की आदत होती है और अगर आपका मन नहीं लगता है भगवान का नाम करने का और ज्यादा अच्छा होता है तो आप के किसानों का भ्रमण कीजिए मथुरा काशी वृंदावन गोकुल रामेश्वर बद्रीनाथ द्वारिका जगन्नाथ पुरी मथुरा मंडल इंसान भगवान के भक्तों का सन करें और उनके निर्देशन में कार्य करें क्योंकि वह आपको इस अवस्था में सुरक्षित बढ़ा सकते हैं और आपका मन भगवान के राते होने लगता है तो मैं आपको साधुवाद देना चाहूंगा और मैं आपको कोटि-कोटि नमन करना चाहूंगा आप ऐसे व्यक्ति हैं तो आप महापुरुषों के पद पर जाएं और उनसे परम सत्य के विषय में जिज्ञासा करें जिससे आप भगवान के ध्यान में और परिपक्व होंगे

aata bhagwan ke alava aur kisi me man nahi lagta hai yah toh bahut achi baat hai kyonki aap keh rahe hain ki aapka dil dimag har samay aapka kaun kishan sochte hain yah toh achi baat hai bhagwan ka chintan hamesha karne se manushya ki aadat hoti hai aur agar aapka man nahi lagta hai bhagwan ka naam karne ka aur zyada accha hota hai toh aap ke kisano ka bhraman kijiye mathura kashi vrindavan gokul rameshwar badrinath dwarika jagannath puri mathura mandal insaan bhagwan ke bhakton ka san kare aur unke nirdeshan me karya kare kyonki vaah aapko is avastha me surakshit badha sakte hain aur aapka man bhagwan ke rate hone lagta hai toh main aapko sadhuwaad dena chahunga aur main aapko koti koti naman karna chahunga aap aise vyakti hain toh aap mahapurushon ke pad par jayen aur unse param satya ke vishay me jigyasa kare jisse aap bhagwan ke dhyan me aur paripakva honge

आता भगवान के अलावा और किसी में मन नहीं लगता है यह तो बहुत अच्छी बात है क्योंकि आप कह रहे ह

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user

Dr.Manoj kumar Pandey

M.D (A.M) ,Astrologer ,9044642070

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सर आपके दिमाग में सिर्फ भगवान ही नाच रहे तो क्या बुराई है भगवान काची कली मोक्ष प्राप्त सारा जीवन सारा हर योनि में तो आपने सुख दुख भोग लिया स्त्री पुरुष बच्चे चोरी बीमारी हमारी सब हो गई 8400000 योनियों में करोड़ों जन्मों से भटक रहे तो उसमें जो भोग विलास पकड़ लिया बात नमन भोग विलास से उठ गया है परमात्मा की प्राप्ति का परमात्मा एक सत्य वचन मित्र ब्रह्म सत्यं जगत मिथ्या इसमें अष्टांग योग के द्वारा यह क्या रखा है संसार में परमात्मा ने इसलिए मानव शरीर बनाया है सारी योनियों में सुख दुख भोंकते हो जब बनेंगे तब मुझे योग से ही प्राप्त कर सकते दूसरा कोई रास्ता नहीं 7 रन जाकर किसी अच्छे स्थानीय उसमें लिए प्राणायाम प्रत्याहार धारणा ध्यान समाधि करके मोक्ष प्राप्त करें और इस जन्म मरण के चक्कर से छोड़ दीजिए या तो बहुत अच्छी बात है कृपया भटकना परमात्मा की प्राप्ति करें धन्यवाद

sir aapke dimag me sirf bhagwan hi nach rahe toh kya burayi hai bhagwan kachi kalee moksha prapt saara jeevan saara har yoni me toh aapne sukh dukh bhog liya stree purush bacche chori bimari hamari sab ho gayi 8400000 yoniyon me karodo janmon se bhatak rahe toh usme jo bhog vilas pakad liya baat naman bhog vilas se uth gaya hai paramatma ki prapti ka paramatma ek satya vachan mitra Brahma satyan jagat mithya isme ashtanga yog ke dwara yah kya rakha hai sansar me paramatma ne isliye manav sharir banaya hai saari yoniyon me sukh dukh bhonkte ho jab banenge tab mujhe yog se hi prapt kar sakte doosra koi rasta nahi 7 run jaakar kisi acche sthaniye usme liye pranayaam pratyahar dharana dhyan samadhi karke moksha prapt kare aur is janam maran ke chakkar se chhod dijiye ya toh bahut achi baat hai kripya bhatakana paramatma ki prapti kare dhanyavad

सर आपके दिमाग में सिर्फ भगवान ही नाच रहे तो क्या बुराई है भगवान काची कली मोक्ष प्राप्त सार

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  900
WhatsApp_icon
user

Loan Guru

Financial Expert

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मित्र आप का सवाल है बहुत ही अच्छा है परमात्मा की अनंत अनुकंपा कृपा होती है कि परमात्मा आपके अंदर है नहीं तो काफी हम जैसे लोग लगे रहते हैं कि संसार को कैसे बाहर निकल बनवा दो बंदर कैसे बैठा यह आपके परमात्मा की असीम कृपा है आप इसका उपयोग करें नगर उपयोग करें जब तू पुरवा का बना है और मरा पड़ा कमली ने कई सरकार कर सकते हैं आपका शिविरों का और मंगलमय हो आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

mitra aap ka sawaal hai bahut hi accha hai paramatma ki anant anukampa kripa hoti hai ki paramatma aapke andar hai nahi toh kaafi hum jaise log lage rehte hain ki sansar ko kaise bahar nikal banwa do bandar kaise baitha yah aapke paramatma ki asim kripa hai aap iska upyog kare nagar upyog kare jab tu purva ka bana hai aur mara pada kamli ne kai sarkar kar sakte hain aapka shiviron ka aur mangalmay ho aapka din shubha ho dhanyavad

मित्र आप का सवाल है बहुत ही अच्छा है परमात्मा की अनंत अनुकंपा कृपा होती है कि परमात्मा आपक

Romanized Version
Likes  93  Dislikes    views  1313
WhatsApp_icon
user

Sunil Kumar Pandey

Editor & Writer

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका तस्वीर किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं जानू कि यह प्रति व्यक्ति ईश्वर की आराधना करें ईश्वर में उसका मन लगा रहे तो वह अपने जीवन में कोई भी पाप नहीं करेगा और उसे प्राया प्रतीक पानी में ईश्वर ही नजर आएगा और इससे उसकी दया भावना रहेगी और वह जो कार्य करेगा वह काट अच्छा ही होगा आपके लिए यह सबसे अच्छा है कि आपका मन ईश्वर कार्य में ही लगा रहता प्राया प्रतीक पत्रिका धार्मिक प्रवृत्ति का व्यक्ति होता है उसका इस प्रकार यदि अधिक में लगता है इसलिए आप मेरे लाल मेरे साथ धार्मिक प्रवृति के हैं कोई बुरी बात नहीं अच्छी बात है कंपनी ईश्वर के प्रताप सदैव ध्यान दे जिसने पृथ्वी पर हमको भेजा उसके प्रति सभी व्यक्तियों को हमेशा ध्यान रखना चाहिए लेकिन हम यहां आकर कहा कि भौतिक चीजों की चकाचौंध में ईश्वर को भूल जाते हैं और जमीन पर संकट आता है तो हमको याद लेकिन जो व्यक्ति स्वर को दुख और सुख तू रूम याद करता है सदस्य सदैव प्रसन्न होता है इसलिए आप बहुत अच्छी हैं आप पोस्टर पर ध्यान करना चाहिए धन्यवाद

aapka tasveer kisi kaam me man nahi lagta toh main janu ki yah prati vyakti ishwar ki aradhana kare ishwar me uska man laga rahe toh vaah apne jeevan me koi bhi paap nahi karega aur use praya prateek paani me ishwar hi nazar aayega aur isse uski daya bhavna rahegi aur vaah jo karya karega vaah kaat accha hi hoga aapke liye yah sabse accha hai ki aapka man ishwar karya me hi laga rehta praya prateek patrika dharmik pravritti ka vyakti hota hai uska is prakar yadi adhik me lagta hai isliye aap mere laal mere saath dharmik pravirti ke hain koi buri baat nahi achi baat hai company ishwar ke pratap sadaiv dhyan de jisne prithvi par hamko bheja uske prati sabhi vyaktiyon ko hamesha dhyan rakhna chahiye lekin hum yahan aakar kaha ki bhautik chijon ki chakachaundh me ishwar ko bhool jaate hain aur jameen par sankat aata hai toh hamko yaad lekin jo vyakti swar ko dukh aur sukh tu room yaad karta hai sadasya sadaiv prasann hota hai isliye aap bahut achi hain aap poster par dhyan karna chahiye dhanyavad

आपका तस्वीर किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं जानू कि यह प्रति व्यक्ति ईश्वर की आराधना करें

Romanized Version
Likes  172  Dislikes    views  2230
WhatsApp_icon
user

Krishna Kumar Gupta

Astrologer And Tantrokt Vastu Consultant

0:26
Play

Likes  83  Dislikes    views  1125
WhatsApp_icon
user
0:46
Play

Likes  52  Dislikes    views  1345
WhatsApp_icon
user

Acharya shree guru ji vyas

Shreemad Bhagwat Katha, Ramkatha, Bhajan Sandhya Program , Mata Ki Chowki, Jagran , all Types Devosnal & Festival Program Contact Us- 8898408005

1:17
Play

Likes  51  Dislikes    views  1697
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान आपके दिमाग में भगवान की सेवा कीजिए अपने आत्मा में भगवान को बताइए 24 घंटे भगवान आपके साथ रहेंगे तो आपका मन मस्तिष्क हमेशा अच्छा रहेगा मानवता में भगवान देखिए मानव की सेवा कीजिए जगिया को चारा खिलाइए चीटियों को दाना खिलाई है माता पिता की सेवा कीजिए लेकिन इन सब के साथ-साथ आपको जीवन जीने के लिए अर्थ उपार्जन करना भी जरूरी है मेहनत कीजिए कि की नौकरी जरूरी है आपको समाज सेवा करने के लिए पैसे की भी आवश्यकता पड़ेगी माता पिता की सेवा के लिए भी पैसे की आवश्यकता पड़ेगी इसलिए ईश्वर को हाजिर नाजिर जानकर अपने मन में और आत्मा में स्थापित करके काम कीजिए काम नहीं चलेगा साक्षात ईश्वर के दर्शन कीजिए उसके मंदिर जाइए लेकिन आप अपना काम कीजिए क्योंकि कर्म ही पूजा है अगर ईश्वर की पूजा करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपका

bhagwan aapke dimag me bhagwan ki seva kijiye apne aatma me bhagwan ko bataiye 24 ghante bhagwan aapke saath rahenge toh aapka man mastishk hamesha accha rahega manavta me bhagwan dekhiye manav ki seva kijiye jagiya ko chara khilaiye chitiyon ko dana khilai hai mata pita ki seva kijiye lekin in sab ke saath saath aapko jeevan jeene ke liye arth uparjan karna bhi zaroori hai mehnat kijiye ki ki naukri zaroori hai aapko samaj seva karne ke liye paise ki bhi avashyakta padegi mata pita ki seva ke liye bhi paise ki avashyakta padegi isliye ishwar ko haazir najir jaankar apne man me aur aatma me sthapit karke kaam kijiye kaam nahi chalega sakshat ishwar ke darshan kijiye uske mandir jaiye lekin aap apna kaam kijiye kyonki karm hi puja hai agar ishwar ki puja karna chahte hain toh sabse pehle aapka

भगवान आपके दिमाग में भगवान की सेवा कीजिए अपने आत्मा में भगवान को बताइए 24 घंटे भगवान आपके

Romanized Version
Likes  181  Dislikes    views  1818
WhatsApp_icon
user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

1:07
Play

Likes  58  Dislikes    views  1945
WhatsApp_icon
user

J.P. Y👌g i

Psychologist

10:00
Play

Likes  434  Dislikes    views  8686
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इतने का मेरा भगवान के नाम और किसी काम में मन नहीं लगता मैं क्या करूं हमेशा भवानी मेरे दिमाग में रहते हैं अच्छी बात है भगवान अगर आपके दिल दिमाग में रहते हैं तो बुराई से बचते रहेंगे और तुमसे दूर रहेंगे और समस्याएं जीवन में आएंगी नहीं आने से पहले भगवान समस्याओं का अंत कर देंगे और हां भगवान की भक्ति करो लेकिन कम करो क्योंकि कंचे भगवान प्रसन्न होते हैं और हर वक्त भगवान को स्नान रखो लेकिन भगवान यह नहीं कहते कि अपने जीवन के लिए और परिवार के जीवन के लिए समाज के लिए करने करो कर्म करो काम करने से भगवान को और अधिक प्रसन्नता होगी और आपका मन आपका हार्कन भगवान की कृपा से सफल होगा

itne ka mera bhagwan ke naam aur kisi kaam me man nahi lagta main kya karu hamesha bhawani mere dimag me rehte hain achi baat hai bhagwan agar aapke dil dimag me rehte hain toh burayi se bachte rahenge aur tumse dur rahenge aur samasyaen jeevan me aayengi nahi aane se pehle bhagwan samasyaon ka ant kar denge aur haan bhagwan ki bhakti karo lekin kam karo kyonki kanche bhagwan prasann hote hain aur har waqt bhagwan ko snan rakho lekin bhagwan yah nahi kehte ki apne jeevan ke liye aur parivar ke jeevan ke liye samaj ke liye karne karo karm karo kaam karne se bhagwan ko aur adhik prasannata hogi aur aapka man aapka harkan bhagwan ki kripa se safal hoga

इतने का मेरा भगवान के नाम और किसी काम में मन नहीं लगता मैं क्या करूं हमेशा भवानी मेरे दिमा

Romanized Version
Likes  402  Dislikes    views  4828
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

2:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मेरा भगवान के अलावा और किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं क्या करूं हमेशा भगवान ही मेरे दिमाग में भाग्यशाली हैं आपका स्नेह और प्रेम बड़ा दिल है और बहुत कम ऐसे लोग हैं जिन्हें इस काम में यदि ने इस प्रकार के अनुभूत में आनंद आता है यही प्रेम कोई काम नहीं है यह आपको शोभा व्यक्ति एवं संभावित छुपा होना चाहिए अगर पूजा और भक्त दृश्याम समझेंगे शायद आप भी भक्ति का भाव उसे आप ठीक से ग्रहण नहीं कर पा रही अपने फर्ज को समर्पित कर देना यह आपकी भक्ति है लेकिन कभी नहीं पकड़ नहीं करें आपका भक्त प्रेम के भाव चना के भाव समर्पित होकर करें काम अच्छा है या बुरा काम का परिणाम अच्छा हो या बुरा आप उससे सड़क तुम करते हुए भी ईश्वर के प्रति प्रेम आप रख सकते हैं कि श्रद्धा वक्त आपको अकर्मण्य निगम नहीं बनाते बल्कि उसका मतलब यह है कि जो भी आप कहानी व्हाट इस संसार में करें हर जगह को समर्थन के ईश्वर ही अगर भक्ति का मार्ग ज्ञान का मार्ग अगर यह सत्य सत्य नियमित का ज्ञान है और यह सब के प्रति श्रद्धा भाव और ज्ञान प्रिय सबसे श्रेष्ठ साधना में आता है

aapka prashna hai mera bhagwan ke alava aur kisi kaam me man nahi lagta toh main kya karu hamesha bhagwan hi mere dimag me bhagyashali hain aapka sneh aur prem bada dil hai aur bahut kam aise log hain jinhen is kaam me yadi ne is prakar ke anubhut me anand aata hai yahi prem koi kaam nahi hai yah aapko shobha vyakti evam sambhavit chupa hona chahiye agar puja aur bhakt drishyam samjhenge shayad aap bhi bhakti ka bhav use aap theek se grahan nahi kar paa rahi apne farz ko samarpit kar dena yah aapki bhakti hai lekin kabhi nahi pakad nahi kare aapka bhakt prem ke bhav chana ke bhav samarpit hokar kare kaam accha hai ya bura kaam ka parinam accha ho ya bura aap usse sadak tum karte hue bhi ishwar ke prati prem aap rakh sakte hain ki shraddha waqt aapko akarmanya nigam nahi banate balki uska matlab yah hai ki jo bhi aap kahani what is sansar me kare har jagah ko samarthan ke ishwar hi agar bhakti ka marg gyaan ka marg agar yah satya satya niyamit ka gyaan hai aur yah sab ke prati shraddha bhav aur gyaan priya sabse shreshtha sadhna me aata hai

आपका प्रश्न है मेरा भगवान के अलावा और किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं क्या करूं हमेशा भगव

Romanized Version
Likes  235  Dislikes    views  2318
WhatsApp_icon
user

Siyaram Dubey

YouTuber/Spiritual Person/Thinker/Social-media Activist

2:31
Play

Likes  194  Dislikes    views  2421
WhatsApp_icon
user

Rajkumar

Astrologer

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आपने कोई ग्रुप बनाया है तो आप अपने गुरु से अपना विचार प्रकट कर सकते हैं अगर आपने गुरु नहीं बना तो एक बार गुरु धारण कर लीजिए जय श्री राम

agar aapne koi group banaya hai toh aap apne guru se apna vichar prakat kar sakte hain agar aapne guru nahi bana toh ek baar guru dharan kar lijiye jai shri ram

अगर आपने कोई ग्रुप बनाया है तो आप अपने गुरु से अपना विचार प्रकट कर सकते हैं अगर आपने गुरु

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  952
WhatsApp_icon
user

Pt.BRAJESH JI...

Astrologer,Rashi Ratna & Vastu Visesagya.

2:36
Play

Likes  91  Dislikes    views  1827
WhatsApp_icon
user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए बहुत अच्छी बात है कि आप हमेशा ऊपर वाले को याद रखते हैं लेकिन जब ऊपर वाले ने इंसान को दुनिया में भेजा है तो दुनिया भी काम भी जरूरी है जो अपनी आवश्यकताएं हैं उनको पूरा करना भी बहुत जरूरी है उनको कौन पूरा करेगा आपको खाने को कौन देगा पीने को कौन देगा पहनने को कौन देगा इन सब कामों के लिए आपको कुछ ना कुछ काम तो करना है तो आप मेहनत करें मशक्कत करें अपना परिवार बनाएं तभी आपका जीवन जो है वह एक सफल होगा थैंक यू

dekhiye bahut achi baat hai ki aap hamesha upar waale ko yaad rakhte hain lekin jab upar waale ne insaan ko duniya me bheja hai toh duniya bhi kaam bhi zaroori hai jo apni aavashyakataen hain unko pura karna bhi bahut zaroori hai unko kaun pura karega aapko khane ko kaun dega peene ko kaun dega pahanne ko kaun dega in sab kaamo ke liye aapko kuch na kuch kaam toh karna hai toh aap mehnat kare mashakkat kare apna parivar banaye tabhi aapka jeevan jo hai vaah ek safal hoga thank you

देखिए बहुत अच्छी बात है कि आप हमेशा ऊपर वाले को याद रखते हैं लेकिन जब ऊपर वाले ने इंसान को

Romanized Version
Likes  219  Dislikes    views  1800
WhatsApp_icon
user

गोपाल पांडेय

Journalist, Counselor, motivational speaker

2:03
Play

Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम श्री राधा कृष्णाय नमः हम वृंदावन से हैं आप की यह बात सुनकर हमें बहुत अच्छा लगा आप यही करिए दुनिया कुछ भी कहती है आप जो कर रहे हैं बहुत अच्छा कर रहे हैं इससे ज्यादा कुछ संसार भी कुछ अच्छा है ही कोई मदद भी चाहिए हो तो आप संपर्क कर सकती हूं शिया ताकि सिनेमा

om shri radha krishnay namah hum vrindavan se hain aap ki yah baat sunkar hamein bahut accha laga aap yahi kariye duniya kuch bhi kehti hai aap jo kar rahe hain bahut accha kar rahe hain isse zyada kuch sansar bhi kuch accha hai hi koi madad bhi chahiye ho toh aap sampark kar sakti hoon shiya taki cinema

ओम श्री राधा कृष्णाय नमः हम वृंदावन से हैं आप की यह बात सुनकर हमें बहुत अच्छा लगा आप यही क

Romanized Version
Likes  174  Dislikes    views  1498
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान में आफरीन देते हैं भगवान की भक्ति में तल्लीन लेते ही एक बात अच्छी बात है आप मानव जन्म के कर्तव्य को तो पूरा कर रहे हैं किंतु इसमें आपको मैं एक बात और कहना चाहूंगा इसी के साथ में आपको थोड़ा कम भी करनी चाहिए क्योंकि जीवन जीने के लिए 805 दिन का होना बहुत आवश्यक है यदि आप तो पाचन नहीं करेंगे केवल 24 घंटे ही भगवान की भक्ति में लगे रहेंगे तो कैसे अपने परिजनों का पालन करेंगे आप कैसे प्राप्त में प्रभार का परीक्षण करेंगे क्योंकि अर्थ अर्जुन बहुत आवश्यक है इस भौतिकवादी दौर में इस संसार में जीने के लिए आपको दर्द कम होना भी बहुत आवश्यक है इसलिए नागार्जुन भी करें धन उपार्जन के साधनों पर भी ध्यान दे कर्म भी करें साथ में प्रभारी कनिष्ठा के दिए परिवार के कल्याण के लिए प्रभार की भलाई के लिए पारिवारिक जिम्मेदारी को निभाना भी आपका आवश्यक है उनको भी ध्यान दें क्योंकि 24 घंटे हम भगवान की भक्ति में लगा देंगे तो आखिर यह जिम्मेदारी है क्योंकि हमारी माता पिता के प्रति भी हमारी सेवा का कार्य है क्योंकि हमारी बहन भाइयों के प्रति हमारी सहायता का भी कार्य है क्योंकि हम एक पति भी हमारा पति और बच्चों के प्रति भी हमारी जिम्मेदारी है बनती हैं उनको निभाना भी बहुत आवश्यक है और इन सब को यदि आप रिश्ता के साथ निभाते हैं परोपकार भी करते हैं अधिकारी भी करते हैं तो भी भगवान के ही कार्य मानी क्योंकि भगवान भी कहते हैं कि अपनी जिम्मेदारियों को तो निभाओ परंतु करो कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन मां करूमपुली तू मां संक्रमणीय कर्म तो तुम्हें करनी है कर्मों को भगवान को समर्पित करके निष्काम भाव से आकर भी करें और कर्मों केंद्र के समस्त जिम्मेदारी भी आती हैं उनको भी हम निष्ठा के साथ निभाए भगवान का ध्यान भी अरे यह सभी साथ साथ होना चाहिए क्योंकि सारा समय में भगवान को ही लगा देंगे तो फिर से 4 के प्रति आक्रमक नहीं कर पाएंगे जो संसार में जीने के लिए बहुत आवश्यक है

bhagwan mein aafreen dete hain bhagwan ki bhakti mein tallinn lete hi ek baat achi baat hai aap manav janam ke kartavya ko toh pura kar rahe hain kintu isme aapko main ek baat aur kehna chahunga isi ke saath mein aapko thoda kam bhi karni chahiye kyonki jeevan jeene ke liye 805 din ka hona bahut aavashyak hai yadi aap toh pachan nahi karenge keval 24 ghante hi bhagwan ki bhakti mein lage rahenge toh kaise apne parijanon ka palan karenge aap kaise prapt mein parbhar ka parikshan karenge kyonki arth arjun bahut aavashyak hai is bhautikvadi daur mein is sansar mein jeene ke liye aapko dard kam hona bhi bahut aavashyak hai isliye nagarjuna bhi kare dhan uparjan ke saadhano par bhi dhyan de karm bhi kare saath mein prabhari kanishtha ke diye parivar ke kalyan ke liye parbhar ki bhalai ke liye parivarik jimmedari ko nibhana bhi aapka aavashyak hai unko bhi dhyan de kyonki 24 ghante hum bhagwan ki bhakti mein laga denge toh aakhir yah jimmedari hai kyonki hamari mata pita ke prati bhi hamari seva ka karya hai kyonki hamari behen bhaiyo ke prati hamari sahayta ka bhi karya hai kyonki hum ek pati bhi hamara pati aur baccho ke prati bhi hamari jimmedari hai banti hain unko nibhana bhi bahut aavashyak hai aur in sab ko yadi aap rishta ke saath nibhate hain paropkaar bhi karte hain adhikari bhi karte hain toh bhi bhagwan ke hi karya maani kyonki bhagwan bhi kehte hain ki apni jimmedariyon ko toh nibhao parantu karo karmanyevadhikaraste ma faleshu kadachan maa karumpuli tu maa sankramaniya karm toh tumhe karni hai karmon ko bhagwan ko samarpit karke nishkam bhav se aakar bhi kare aur karmon kendra ke samast jimmedari bhi aati hain unko bhi hum nishtha ke saath nibhaye bhagwan ka dhyan bhi are yah sabhi saath saath hona chahiye kyonki saara samay mein bhagwan ko hi laga denge toh phir se 4 ke prati aakraman nahi kar payenge jo sansar mein jeene ke liye bahut aavashyak hai

भगवान में आफरीन देते हैं भगवान की भक्ति में तल्लीन लेते ही एक बात अच्छी बात है आप मानव जन्

Romanized Version
Likes  248  Dislikes    views  3374
WhatsApp_icon
user

Gyandeep Kkr

Social Activist

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर आपका भगवान में मन लगता है तो बहुत अच्छी बात है परंतु यह जानना चाहिए कि वह भगवान वास्तव में है कौन अगर आप सर्वशक्तिमान भगवान की सही साधना करेंगे तो आपको लाभ मिलेगा आप एक बात चाहिए जैसे क्षेत्र भारतीय बहुत अच्छा खेत है माल दो आपका अंतर्गत बहुत अच्छा है उसमें बीज नहीं डाला यंकी सही मंतर नहीं मिला तो क्या होगा जो चीज प्राप्त करनी है वह तो नहीं मिलेगी तो इसलिए आप जानी अध्यात्मिक मार्च को कितनी अच्छी बात है आपका भगवान में मन लगता है भगवान में मन लगता है तो इसे यूटिलाइज कीजिए भगवान में मन लगता है तो परमात्मा पा सकते हैं यह कोई टोके नहीं सही साधना से सच में परमात्मा मिलता है अगर आपको विश्वास नहीं होता को एक पुस्तक बताती हूं आपको इसमें प्रमाण में समाधान मिलेंगे संत रामपाल जी की पुस्तकें ज्ञान गंगा किस या 30 दिन में फ्री प्राप्त कर सकते हैं इसके लिए आप अपना पूरा अपना नाम पता व फोन नंबर इस नंबर पर सेंड कीजिए उस तक आपके पास आ जाएगी 74968 01823 और इनका सत्संग सुनिए और यह चित्र क्लियर हो जाएगा शाम को साधना चैनल पर 7:30 से 8:30 तक और ईश्वर टीवी पर 8:30 से 9:30 तक जरूर देखिए

dekhiye agar aapka bhagwan mein man lagta hai toh bahut achi baat hai parantu yah janana chahiye ki vaah bhagwan vaastav mein hai kaun agar aap sarvshaktimaan bhagwan ki sahi sadhna karenge toh aapko labh milega aap ek baat chahiye jaise kshetra bharatiya bahut accha khet hai maal do aapka antargat bahut accha hai usme beej nahi dala yanki sahi mantar nahi mila toh kya hoga jo cheez prapt karni hai vaah toh nahi milegi toh isliye aap jani adhyatmik march ko kitni achi baat hai aapka bhagwan mein man lagta hai bhagwan mein man lagta hai toh ise utilize kijiye bhagwan mein man lagta hai toh paramatma paa sakte hain yah koi toke nahi sahi sadhna se sach mein paramatma milta hai agar aapko vishwas nahi hota ko ek pustak batati hoon aapko isme pramaan mein samadhan milenge sant rampal ji ki pustakein gyaan ganga kis ya 30 din mein free prapt kar sakte hain iske liye aap apna pura apna naam pata va phone number is number par send kijiye us tak aapke paas aa jayegi 74968 01823 aur inka satsang suniye aur yah chitra clear ho jaega shaam ko sadhna channel par 7 30 se 8 30 tak aur ishwar TV par 8 30 se 9 30 tak zaroor dekhiye

देखिए अगर आपका भगवान में मन लगता है तो बहुत अच्छी बात है परंतु यह जानना चाहिए कि वह भगवान

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  366
WhatsApp_icon
play
user

मुरारी स्वामी, छपरा बिहार

सन्त समाजसेवी सह Journalist

2:09

Likes  44  Dislikes    views  1005
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा मेरा भगवान के अलावा और किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं क्या करूं हमेशा भगवान ही मेरे दिमाग में रहती देखिए आपका भगवान के अलावा किसी काम में मन नहीं लगता है तो आप क्या करें भगवान ही आपके दिमाग में रहते हैं लिखिए इससे बेहतर बात कोई नहीं हो सकती जिसके के लिए लोग प्रयास किया करते हैं जबकि आप की तो बात बन गई है आप भगवान के फ्री हो गए हैं और भगवान को चाय के भी है भगवान जो है इसलिए भगवान आपको सरल रूप से प्राप्त हो सकते हैं यह आपके लिए बहुत सुंदर व्यवस्था बन चुकी है और यह संकेत किया करती हैं कि संभव है आपको भगवान बहुत जल्दी प्राप्त हो जाएं और मुरझाए

mera mera bhagwan ke alava aur kisi kaam me man nahi lagta toh main kya karu hamesha bhagwan hi mere dimag me rehti dekhiye aapka bhagwan ke alava kisi kaam me man nahi lagta hai toh aap kya kare bhagwan hi aapke dimag me rehte hain likhiye isse behtar baat koi nahi ho sakti jiske ke liye log prayas kiya karte hain jabki aap ki toh baat ban gayi hai aap bhagwan ke free ho gaye hain aur bhagwan ko chai ke bhi hai bhagwan jo hai isliye bhagwan aapko saral roop se prapt ho sakte hain yah aapke liye bahut sundar vyavastha ban chuki hai aur yah sanket kiya karti hain ki sambhav hai aapko bhagwan bahut jaldi prapt ho jayen aur murjhaye

मेरा मेरा भगवान के अलावा और किसी काम में मन नहीं लगता तो मैं क्या करूं हमेशा भगवान ही मेर

Romanized Version
Likes  154  Dislikes    views  1500
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!