हमारा इतिहास हमारे भविष्य को कैसे बदलते हैं?...


user
0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इतिहास भविष्य को बदला नहीं करते इतिहास इतिहास हीरा करते लेकिन उनसे एक शिक्षा मिलती है कि इस इतिहास में ऐसा कहा गया है कि फलां आदमी ने फैसला किया था उसको उसके साथ क्या हुआ न्याय हुआ या अन्याय हुआ यह क्या है तो इतिहास उन चीजों को दोहराता है हम लोग उस चीज को अपनी जिंदगी में लाकर हमें उन चीजों को ही प्रश्न का मौका मिलता है जब हम सजीव होते हैं इतिहास भी चुका बीते हुए चीजों को हम सिर्फ उसके अंदर सिम तजुर्बा हासिल कर सकते हैं अदर वाइज इतिहास जो है वह दौर आता नहीं है हम

itihas bhavishya ko badla nahi karte itihas itihas heera karte lekin unse ek shiksha milti hai ki is itihas mein aisa kaha gaya hai ki falan aadmi ne faisla kiya tha usko uske saath kya hua nyay hua ya anyay hua yah kya hai toh itihas un chijon ko dohrata hai hum log us cheez ko apni zindagi mein lakar hamein un chijon ko hi prashna ka mauka milta hai jab hum sajeev hote hain itihas bhi chuka bite hue chijon ko hum sirf uske andar sim tajurba hasil kar sakte hain other wise itihas jo hai vaah daur aata nahi hai hum

इतिहास भविष्य को बदला नहीं करते इतिहास इतिहास हीरा करते लेकिन उनसे एक शिक्षा मिलती है कि इ

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1111
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इतिहास हमारे भविष्य का आईना तय करते हैं जो जैसे मोहनजोदड़ो और हड़प्पा की खुदाई हुई उसमें हमें हमने संस्कृत के विषय में अपने संस्कारों के विषय में पता चला अब हम जो संस्कृति का निर्माण कर रहे हैं उसी आधार पर करेंगे पहले लोग कच्चे मकान में रहते थे पहले उनके जीवन का स्तरीय था उसे हम अपने जीवन का स्तर सुधारने हैं कि हमको इतिहास बताता है कि पहले हम किस तरह के थे हमारे पूर्वज कैसे थे और हमें अब कैसे रहना

itihas hamare bhavishya ka aaina tay karte hain jo jaise mohenjodaro aur hadappa ki khudai hui usme hamein humne sanskrit ke vishay mein apne sanskaron ke vishay mein pata chala ab hum jo sanskriti ka nirmaan kar rahe hain usi aadhar par karenge pehle log kacche makan mein rehte the pehle unke jeevan ka stariy tha use hum apne jeevan ka sthar sudhaarne hain ki hamko itihas batata hai ki pehle hum kis tarah ke the hamare purvaj kaise the aur hamein ab kaise rehna

इतिहास हमारे भविष्य का आईना तय करते हैं जो जैसे मोहनजोदड़ो और हड़प्पा की खुदाई हुई उसमें ह

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  464
WhatsApp_icon
user

Prabhakar

Student

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि हमारा इतिहास हमारे भविष्य को कैसे बनते हैं इतिहास व सब्जेक्ट है जो यह कहता है कि हमारा कभी हाथ में उड़ाया जाए अर्थात जो हम गलतियां कर चुके हैं उसे हम कभी ना दोहराएं हां अपना अगर भविष्य अच्छा करना चाहते हैं तो वर्तमान में अच्छा हमें करना होगा अगर भविष्य में कोई घटना है या वर्तमान में घटनाएं घटी हैं तो उसे का जवाब हमें अतीत में ही जाकर मिलता है इतिहास से हमें उन विषयों पर जानकारी मिलती है जिनके माध्यम से हम और भविष्य में होने वाली गलतियों को सुधार सकते हैं चाहे वह कोई भी क्षेत्र हो कोई भी सवाल जिसका समाधान नहीं हो पा रहा है उसका समाधान हम अपने इतिहास में ही ढूंढते हैं इतिहास एक विषय मात्र नहीं है इतिहास हमारे पूर्वजों की गाथा है जो हमेशा हमें सत्य मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करती है इतिहास कोई कहानियों का संग्रह नहीं है जिसे हम बस यूं ही सुन कर अनदेखा कर देते हैं बल्कि हमारे उन गलतियों का संग्रह है जिसे बचने के लिए हम उन पर ध्यान केंद्रित करते हैं धन्यवाद

aapka sawaal hai ki hamara itihas hamare bhavishya ko kaise bante hain itihas va subject hai jo yah kahata hai ki hamara kabhi hath mein udaya jaaye arthat jo hum galtiya kar chuke hain use hum kabhi na dohraen haan apna agar bhavishya accha karna chahte hain toh vartaman mein accha hamein karna hoga agar bhavishya mein koi ghatna hai ya vartaman mein ghatnaye ghati hain toh use ka jawab hamein ateet mein hi jaakar milta hai itihas se hamein un vishyon par jaankari milti hai jinke madhyam se hum aur bhavishya mein hone wali galatiyon ko sudhaar sakte hain chahen vaah koi bhi kshetra ho koi bhi sawaal jiska samadhan nahi ho paa raha hai uska samadhan hum apne itihas mein hi dhoondhate hain itihas ek vishay matra nahi hai itihas hamare purvajon ki gaatha hai jo hamesha hamein satya marg par chalne ke liye prerit karti hai itihas koi kahaniya ka sangrah nahi hai jise hum bus yun hi sun kar andekha kar dete hain balki hamare un galatiyon ka sangrah hai jise bachne ke liye hum un par dhyan kendrit karte hain dhanyavad

आपका सवाल है कि हमारा इतिहास हमारे भविष्य को कैसे बनते हैं इतिहास व सब्जेक्ट है जो यह कहता

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
user

chivalry 9414672463

Farmer Author

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय माता दी हमारा इतिहास हमारे भविष्य को कैसे बदलता है बहुत सारगर्भित प्रश्न किया है आपने देखिए मानव का उत्थान उसी समय शुरू हो जाता है जब वह लोग एंटर एनी अपना अंदर झांकना शुरू कर देता है आत्म अवलोकन करना शुरू कर दें और अपना आत्म अवलोकन ही इतिहास है वह अपने बीते हुए समय पर अपने बीते हुए कार्यों पर अपनी बीती हुई गतिविधियों पर वह नजर डालता है तो उसे ऐसा लगता है कि मैंने क्या किया है अगर मैं सही हूं या गलत हूं मेरे जो कार्य किए हुए हैं उनका क्या परिणाम है ऐसा करूंगा कैसा होगा ऐसा किया तो ऐसा हो रहा है इत्यादि जब यह प्रश्न व्यक्ति को उद्वेलित करते हैं तो वह एक महान व्यक्ति या महान टारगेट की ओर अग्रसर हो जाता है जय माता दी

jai mata di hamara itihas hamare bhavishya ko kaise badalta hai bahut saragarbhit prashna kiya hai aapne dekhiye manav ka utthan usi samay shuru ho jata hai jab vaah log enter any apna andar jhankana shuru kar deta hai aatm avalokan karna shuru kar de aur apna aatm avalokan hi itihas hai vaah apne bite hue samay par apne bite hue karyo par apni biti hui gatividhiyon par vaah nazar dalta hai toh use aisa lagta hai ki maine kya kiya hai agar main sahi hoon ya galat hoon mere jo karya kiye hue hain unka kya parinam hai aisa karunga kaisa hoga aisa kiya toh aisa ho raha hai ityadi jab yah prashna vyakti ko udwelit karte hain toh vaah ek mahaan vyakti ya mahaan target ki aur agrasar ho jata hai jai mata di

जय माता दी हमारा इतिहास हमारे भविष्य को कैसे बदलता है बहुत सारगर्भित प्रश्न किया है आपने द

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा इतिहास हमारे भविष्य कैसे बनता है देखी मैं बताना चाहूंगा हमारा इतिहास के बारे में हम जो कुछ उनके बारे में जानते हैं समझते हैं तो इसको डालने के लिए आपको पूरे अपने आप को बदलने के लिए आपको इन सभी लोगों से दूर होना पड़ेगा क्योंकि यह आदमी की ये नादानी के लोग रहते हैं तब इन सभी लोगों से आप थोड़ा बहुत दूर हटे उसके बाद सीन इतिहास को पढ़िए और उनसे ज्ञान जो भी प्राप्त हुआ है उसको एक बार अपना कर देखिए वास्तु में बताना चाहूंगा आपको जो उसमें सिक्योरिटी स्टाफ होगा वह आपको कहने के लिए धन्यवाद जिस तरीके से अपने आप भविष्य बदल सकता है

hamara itihas hamare bhavishya kaise banta hai dekhi main bataana chahunga hamara itihas ke bare mein hum jo kuch unke bare mein jante hain samajhte hain toh isko dalne ke liye aapko poore apne aap ko badalne ke liye aapko in sabhi logo se dur hona padega kyonki yah aadmi ki ye naadaani ke log rehte hain tab in sabhi logo se aap thoda bahut dur hate uske baad seen itihas ko padhiye aur unse gyaan jo bhi prapt hua hai usko ek baar apna kar dekhiye vastu mein bataana chahunga aapko jo usme Security staff hoga vaah aapko kehne ke liye dhanyavad jis tarike se apne aap bhavishya badal sakta hai

हमारा इतिहास हमारे भविष्य कैसे बनता है देखी मैं बताना चाहूंगा हमारा इतिहास के बारे में हम

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!