जैन ग्रन्थ के बारे में बताये?...


user

Prabhat Verma

primary teacher government of bihar

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैन जगह व साहित्य के ग्रंथ में सर्वाधिक संख्या में और सबसे प्रमाणिक रुपए मिलते हैं जनरस रचनाकारों में पुरान काव्य चरित्र का वक्त था जब कथा का रास्ता आदि विविध प्रकार के दांत रची स्वयंभू पुष्पदंत आचार्य हेमचंद्र जी और स्वयं प्रभा सूरी जी आदि मुख्य जैन कवि थे

jain jagah va sahitya ke granth mein sarvadhik sankhya mein aur sabse pramanik rupaye milte hain genres rachanakaron mein puran kavya charitra ka waqt tha jab katha ka rasta aadi vividh prakar ke dant rachi sayambhu pushpadant aacharya hemchandra ji aur swayam prabha suri ji aadi mukhya jain kabhi the

जैन जगह व साहित्य के ग्रंथ में सर्वाधिक संख्या में और सबसे प्रमाणिक रुपए मिलते हैं जनरस रच

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  928
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैन ग्रंथ का नाम है क्या व्यवस्था इस ग्रंथ में या बताया गया है कि हमें हिंसा नहीं करनी चाहिए जैन धर्म के लोग इंसान को नहीं सा पर प्रतिबंध लगाते हैं उनका कहना है कि हमें हमें जो हमारे जीवन मिला है उस जीवन में हमें कम से कम जीव हक की हत्या करना चाहिए ज्यादा से ज्यादा शाकाहारी भोजन पर उपयोग करने की सलाह देते इसके अलावा वह सूर्योदय के बाद एवं सूर्यास्त के पहले ही खाना खाने पर विशेष बल दिया गया है इससे हमारी जीवन आयु लंबी हो जाती है और लंबी हो जाती इसके बारे में जानकारी दी गई है

jain granth ka naam hai kya vyavastha is granth mein ya bataya gaya hai ki hamein hinsa nahi karni chahiye jain dharm ke log insaan ko nahi sa par pratibandh lagate hain unka kehna hai ki hamein hamein jo hamare jeevan mila hai us jeevan mein hamein kam se kam jeev haq ki hatya karna chahiye zyada se zyada shakahari bhojan par upyog karne ki salah dete iske alava vaah suryoday ke baad evam suryaast ke pehle hi khana khane par vishesh bal diya gaya hai isse hamari jeevan aayu lambi ho jaati hai aur lambi ho jaati iske bare mein jaankari di gayi hai

जैन ग्रंथ का नाम है क्या व्यवस्था इस ग्रंथ में या बताया गया है कि हमें हिंसा नहीं करनी चाह

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  269
WhatsApp_icon
play
user
0:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैन ग्रंथ के बारे में अपने पूछा है तुम्हें बताना चाहूंगा कि जैन ने जो कि यह कम्युनिटी है और जैन ग्रंथ है जिसमें इस कम्युनिटी के बारे में इसका कैसे पालन कैसे फॉलो और कितने टिफन कारू गए इसमें जन समुदाय में तो उन सब चीजों की जानकारी आपको इस ग्रंथ में मिल जाती है

jain granth ke bare mein apne poocha hai tumhe bataana chahunga ki jain ne jo ki yah community hai aur jain granth hai jisme is community ke bare mein iska kaise palan kaise follow aur kitne tifan karu gaye isme jan samuday mein toh un sab chijon ki jaankari aapko is granth mein mil jaati hai

जैन ग्रंथ के बारे में अपने पूछा है तुम्हें बताना चाहूंगा कि जैन ने जो कि यह कम्युनिटी है औ

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  752
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!