अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय बताएं?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विद्यार्थी जीवन में अधिकतर यही होता है हम पढ़ाई को गौर करके जो है सांसारिक जब विषय हुए और उस संसार के लोगों मित्र यारों से ज्यादा मिलना अधिकतर इधर-उधर बातें करना जब करते हैं तो ऐसा ही होता है जिसे हम पढ़ पाते ऐसा ना हो सके इसके लिए आपको मन में साबिर संकल्प दृढ़ शक्ति बनाना होगा कि हमारा जय हो कल्याण इसी पढ़ाई में ही नहीं था इसके अलावा हम अगर कुछ दिन तो हमारा धंधा पत्थर है जो है बहुत ही नहीं चले जाने वाला है ऐसा मान कर के जो है और एकाग्रता पूर्वक उनको चंचलता से आता बता तेरे पास पूर्वक प्रतिदिन हमें अभ्यास के पास जितना ज्यादा ज्यादा उसका रिवीजन करना है क्या आज पर तो बहुत कुछ है पर समझ में कुछ नहीं है तो ऐसा ना हो इसलिए आपको उसको देखना भी है शाम को सोते वक्त आप एक बार सोच ही रहने क्या क्या पढ़ा कितना घंटा बड़ा वह में आया कि आप अच्छे शिक्षक fh1 शिक्षा कहां खत्म

vidyarthi jeevan me adhiktar yahi hota hai hum padhai ko gaur karke jo hai sansarik jab vishay hue aur us sansar ke logo mitra yaaron se zyada milna adhiktar idhar udhar batein karna jab karte hain toh aisa hi hota hai jise hum padh paate aisa na ho sake iske liye aapko man me saabir sankalp dridh shakti banana hoga ki hamara jai ho kalyan isi padhai me hi nahi tha iske alava hum agar kuch din toh hamara dhandha patthar hai jo hai bahut hi nahi chale jaane vala hai aisa maan kar ke jo hai aur ekagrata purvak unko chanchalata se aata bata tere paas purvak pratidin hamein abhyas ke paas jitna zyada zyada uska revision karna hai kya aaj par toh bahut kuch hai par samajh me kuch nahi hai toh aisa na ho isliye aapko usko dekhna bhi hai shaam ko sote waqt aap ek baar soch hi rehne kya kya padha kitna ghanta bada vaah me aaya ki aap acche shikshak fh1 shiksha kaha khatam

विद्यार्थी जीवन में अधिकतर यही होता है हम पढ़ाई को गौर करके जो है सांसारिक जब विषय हुए और

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
25 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
2:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अध्ययन करते समय आपका ही नहीं सभी लोगों का लगभग ध्यान भटकता रहता है तो उसके लिए कई सारे लोग हैं कई सारे काम है अगर आप उनको करें तो काफी हद तक आपस में अपने आप को पाएंगे कि हां आपका ध्यान भटकना बंद हो गया एक तो जब भी आपको इस सब्जेक्ट की पढ़ाई करते हैं किसी भी सब्जेक्ट की विषय की पढ़ाई करते जैसे आप हिंदी की करते मैच किया साइंस किया किसी भी सब्जेक्ट का अध्ययन करते हैं तो सिर्फ और एक तक को लेकर ना बैठे जवाब एक ही पोस्ट को लेकर बैठते हैं और आप उसको 20 मिनट 25 मिनट आधा घंटा आप उसको पर जब पढ़ते हैं तो कभी-कभी क्या होता कि मन आपका भर चुका होता है उस पुस्तक थे और आपका ध्यान से ध्यान भटकने लगता है तू जैसे ही आपका ध्यान रखना हो स्टार्ट हो आपको लगे कि अब मन नहीं लग रहा तो आप दूसरे को उठा लीजिए दोस्तों को पढ़ने का मन भटकता है इसके अलावा कौन है कि जब आप बंधन करते हैं तो आपको साथ में एक गिलास पानी रखना है तो पानी को क्या करना है पानी को बीच-बीच में सिर्फ के माध्यम से पीते रहे एक घूंट दो घूट इस तरीके से भी तरह जब आपको आप हर 15 से 20 मिनट के बाद थोड़ा सा दो पानी लिया उंगलियों पर भीगा क्या उंगली और उससे अपनी आंखों को पूछ दिया साफ कर दिया इससे आपका एनर्जी लेवल बना रहेगा और आपको सुस्ती भी नहीं आएगी जब सुस्ती आती तो नींद भी आने लगती है और ध्यान में बैठकर लगता है वे कई सारे प्रयोग हैंड को आप इस्तेमाल करें और खास चीज है कि आप जब अध्ययन करें तो कोशिश करें कि मोबाइल फोन से अपने पास ना रखें मोबाइल फोंस की जो रेडिसंस होती हैं जो आपके ध्यान को भटकाने के काम करती है और अगर आप हमारा साथ में ज्यादा रहते हैं लैपटॉप और आपका भी खाती है मैं पढ़ता है करके तो भी आप का ध्यान भटके गा पढ़ाई में मन लगेगा ठीक है कई चीजों का ध्यान रखें धन्यवाद

adhyayan karte samay aapka hi nahi sabhi logo ka lagbhag dhyan bhatakta rehta hai toh uske liye kai saare log hain kai saare kaam hai agar aap unko kare toh kaafi had tak aapas mein apne aap ko payenge ki haan aapka dhyan bhatakana band ho gaya ek toh jab bhi aapko is subject ki padhai karte hain kisi bhi subject ki vishay ki padhai karte jaise aap hindi ki karte match kiya science kiya kisi bhi subject ka adhyayan karte hain toh sirf aur ek tak ko lekar na baithe jawab ek hi post ko lekar baithate hain aur aap usko 20 minute 25 minute aadha ghanta aap usko par jab padhte hain toh kabhi kabhi kya hota ki man aapka bhar chuka hota hai us pustak the aur aapka dhyan se dhyan bhatakne lagta hai tu jaise hi aapka dhyan rakhna ho start ho aapko lage ki ab man nahi lag raha toh aap dusre ko utha lijiye doston ko padhne ka man bhatakta hai iske alava kaun hai ki jab aap bandhan karte hain toh aapko saath mein ek gilas paani rakhna hai toh paani ko kya karna hai paani ko beech beech mein sirf ke madhyam se peete rahe ek ghunt do ghut is tarike se bhi tarah jab aapko aap har 15 se 20 minute ke baad thoda sa do paani liya ungaliyon par bhiga kya ungli aur usse apni aankho ko puch diya saaf kar diya isse aapka energy level bana rahega aur aapko susti bhi nahi aayegi jab susti aati toh neend bhi aane lagti hai aur dhyan mein baithkar lagta hai ve kai saare prayog hand ko aap istemal kare aur khaas cheez hai ki aap jab adhyayan kare toh koshish kare ki mobile phone se apne paas na rakhen mobile fons ki jo redisans hoti hain jo aapke dhyan ko bhatkane ke kaam karti hai aur agar aap hamara saath mein zyada rehte hain laptop aur aapka bhi khati hai padhata hai karke toh bhi aap ka dhyan bhatke jayega padhai mein man lagega theek hai kai chijon ka dhyan rakhen dhanyavad

अध्ययन करते समय आपका ही नहीं सभी लोगों का लगभग ध्यान भटकता रहता है तो उसके लिए कई सारे लोग

Romanized Version
Likes  200  Dislikes    views  1730
WhatsApp_icon
user

Rasbihari Pandey

लेखन / कविता पाठ

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मन का स्वभाव है चंचल होना गीता में कहा है चंचलम है मना कृष्णा प्रमाती बलवंत सिंह रमन ने वायु दिवस व दुष्कर्म अर्थात अर्जुन पूछते हैं कि हे कृष्ण मन बहुत चंचल है और हवा की तरह उसे अपने वश में रखना मुश्किल हो रहा है इस पर कृष्ण ने कहा है कि अभ्यास और वैराग्य से ही इसको बस में लिया जा सकता है तो धीरे-धीरे आप अभ्यास करें कि आप मूल विषय से अपने ना भटके अभ्यास से और अन्य विषयों के प्रति विरक्ति सही आप ध्यान एकाग्र कर पाएंगे

man ka swabhav hai chanchal hona geeta mein kaha hai chanchalam hai mana krishna pramati balvant Singh raman ne vayu divas va dushkarm arthat arjun poochhte hain ki hai krishna man bahut chanchal hai aur hawa ki tarah use apne vash mein rakhna mushkil ho raha hai is par krishna ne kaha hai ki abhyas aur varagya se hi isko bus mein liya ja sakta hai toh dhire dhire aap abhyas kare ki aap mul vishay se apne na bhatke abhyas se aur anya vishyon ke prati virakti sahi aap dhyan ekagra kar payenge

मन का स्वभाव है चंचल होना गीता में कहा है चंचलम है मना कृष्णा प्रमाती बलवंत सिंह रमन ने वा

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  957
WhatsApp_icon
user

Neera Singh

Asst. Prof / Yoga Expert

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अध्ययन करते समय यदि आपका ध्यान भटक जाता है तो उसके लिए हम थोड़ा सा मेडिटेशन का सहारा ले सकते हैं सबसे आसान तरीका है जब आप पूजा करते थे मैं आपके घर में कोई भी दीपक जले तो दीपक को कम से कम 2 मिनट के लिए कंटिन्यू देखें जब तक कि आपकी आंखों में आंसू ना जाए तब तक उसको देखने का प्रयास करेंगे बिना पलक झपके इस तरीके से यदि आप उस दिन तक करते हैं तो आप आएंगे कि आपका ध्यान पहले से अधिक अध्ययन में लगने लगता है एक बात यह कहना चाहूंगी कि यदि आप कंटिन्यू बैठ के अध्ययन करते हैं तो उसके कारण भी आपका ध्यान भटकता है तो हो सके तो बीच में थोड़ा सा ब्रेक ले बाहर थोड़ा सा बुकिंग करके आए चहल कदमी करके आए माइंड फ्रेश करके फिर से पढ़ने बैठी यह करने से भी आपका ध्यान अध्ययन में किस जगह हरि ओम

adhyayan karte samay yadi aapka dhyan bhatak jata hai toh uske liye hum thoda sa meditation ka sahara le sakte hain sabse aasaan tarika hai jab aap puja karte the main aapke ghar mein koi bhi deepak jale toh deepak ko kam se kam 2 minute ke liye continue dekhen jab tak ki aapki aankho mein aasu na jaaye tab tak usko dekhne ka prayas karenge bina palak jhapake is tarike se yadi aap us din tak karte hain toh aap aayenge ki aapka dhyan pehle se adhik adhyayan mein lagne lagta hai ek baat yah kehna chahungi ki yadi aap continue baith ke adhyayan karte hain toh uske karan bhi aapka dhyan bhatakta hai toh ho sake toh beech mein thoda sa break le bahar thoda sa booking karke aaye chahal kadami karke aaye mind fresh karke phir se padhne baithi yah karne se bhi aapka dhyan adhyayan mein kis jagah hari om

अध्ययन करते समय यदि आपका ध्यान भटक जाता है तो उसके लिए हम थोड़ा सा मेडिटेशन का सहारा ले स

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने भोजन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके दो कारण मरीजों की तरफ आकर्षित होता है उसको घटक नहीं है क्योंकि आपने मन के चारों तरफ एक सीमा निर्धारित नहीं की आपने मन को स्वतंत्र छोड़ रखा है तो मन भटके है जब मन को एक बाउंड्री में आप बंद कर देते हैं उसके चारों तरफ आप लक्ष्मण रेखा खींच देते हैं तो तुम मन नहीं भटके गा अर्थात अपने लक्ष्य की लक्ष्मण रेखा अपनी जो आपने जीवन को साधने की निशांतन किया उसकी लक्ष्मणरेखा वह आपको कभी नहीं भटकने लेगी जब आपका ध्यान लक्ष्य की तरफ हो आपकी भेजने की तरफ होगा तो सिर्फ आपको मछली की आंख अर्जुन की तरह जी पूरी मछली नहीं

aapne bhojan karte samay dhyan idhar udhar bhatak jata hai iske do karan marizon ki taraf aakarshit hota hai usko ghatak nahi hai kyonki aapne man ke charo taraf ek seema nirdharit nahi ki aapne man ko swatantra chhod rakha hai toh man bhatke hai jab man ko ek boundary me aap band kar dete hain uske charo taraf aap lakshman rekha khinch dete hain toh tum man nahi bhatke jaayega arthat apne lakshya ki lakshman rekha apni jo aapne jeevan ko sadhane ki nishantan kiya uski lakshmanrekha vaah aapko kabhi nahi bhatakne legi jab aapka dhyan lakshya ki taraf ho aapki bhejne ki taraf hoga toh sirf aapko machli ki aankh arjun ki tarah ji puri machli nahi

आपने भोजन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके दो कारण मरीजों की तरफ आकर्षित होता है उस

Romanized Version
Likes  399  Dislikes    views  5511
WhatsApp_icon
user

Shubham Kumar

Yoga Instructor

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही सामान्य बात है अध्ययन करते समय आपका ध्यान इधर-उधर भटकना इसके लिए का काम कर सकते हैं दूसरी तरफ ध्यान कर रहे हैं अगर शिक्षा का ध्यान भटकता है कब तू अपने मन को फिर से उसी चीज पर लाइए ऐसा होता रहेगा क्या कमल फिर से भटक मिलेगा तो आप उसको लाइए ऐसा जाप करते रहेंगे तो कोई जवाब देखेंगे जिस चीज पर आप ध्यान करें थोड़ा बहुत ध्यान कर सकेंगे और आपका मन भी होता रहेगा यह निरंतर अध्ययन करने से होगा एडमिशन होने वाला है आप निरंतर अभ्यास करते रहिए

bahut hi samanya baat hai adhyayan karte samay aapka dhyan idhar udhar bhatakana iske liye ka kaam kar sakte hain dusri taraf dhyan kar rahe hain agar shiksha ka dhyan bhatakta hai kab tu apne man ko phir se usi cheez par laiye aisa hota rahega kya kamal phir se bhatak milega toh aap usko laiye aisa jaap karte rahenge toh koi jawab dekhenge jis cheez par aap dhyan kare thoda bahut dhyan kar sakenge aur aapka man bhi hota rahega yah nirantar adhyayan karne se hoga admission hone vala hai aap nirantar abhyas karte rahiye

बहुत ही सामान्य बात है अध्ययन करते समय आपका ध्यान इधर-उधर भटकना इसके लिए का काम कर सकते है

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  453
WhatsApp_icon
user

Akhilesh Kumar

Motivational Speaker/Career motivator and Genaral Studies Classes for All competitive exam.

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड आप कैसे हैं नमस्कार अब कब तक अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय बताएं फ्रेंड पढ़ाई करते समय ध्यान भटकता है देखिए फिर ध्यान भटकना मनुष्य का समाज की बात कमाल है कि ध्यान को कैसे कंट्रोल किया जाए तो ध्यान को कंट्रोल करने के लिए जिससे हम अच्छा ढंग से पढ़ सके आप सवेरे रोज थोड़ा ध्यान करें व्यायाम करने के बाद आप हमारी एक के परिणाम होता है वह आस्था चैनल पर रोज बाबा रामदेव बताते हैं आज कोई ग्रुप के आप सहारा ले सकते हैं सीख सकते हैं उसे बाय ड का क्वेश्चन सेट होगा दूसरी बात आप जो है पढ़ाई के इंपोटेंसी को समझे आप यह समझे कि पढ़ाई जीवन में बहुत महत्वपूर्ण चीज होता है जो व्यक्ति पड़ता है वह बड़ा से बड़ा पद प्राप्त करते हैं ज्ञानी बनता है विद्वान बनता है इस इंपोटेंसी को समझ जाएंगे तो बिल्कुल आपका ध्यान लगेगा आपका ध्यान नहीं लगने का यही कारण है कि पढ़ाई के इनपुटेनसी को आप नहीं समझ रहे हैं किसी भी चीज में जब इंपोटेंसी को समझ जाते हैं तो हमारा लगाव भर जाता है लगन पड़ जाती है आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

hello friend aap kaise hai namaskar ab kab tak adhyayan karte samay dhyan idhar udhar bhatak jata hai iske liye kuch upay bataye friend padhai karte samay dhyan bhatakta hai dekhiye phir dhyan bhatakana manushya ka samaj ki baat kamaal hai ki dhyan ko kaise control kiya jaaye toh dhyan ko control karne ke liye jisse hum accha dhang se padh sake aap savere roj thoda dhyan kare vyayam karne ke baad aap hamari ek ke parinam hota hai vaah astha channel par roj baba ramdev batatey hai aaj koi group ke aap sahara le sakte hai seekh sakte hai use bye d ka question set hoga dusri baat aap jo hai padhai ke impotensi ko samjhe aap yah samjhe ki padhai jeevan mein bahut mahatvapurna cheez hota hai jo vyakti padta hai vaah bada se bada pad prapt karte hai gyani banta hai vidhwaan banta hai is impotensi ko samajh jaenge toh bilkul aapka dhyan lagega aapka dhyan nahi lagne ka yahi karan hai ki padhai ke inaputensi ko aap nahi samajh rahe hai kisi bhi cheez mein jab impotensi ko samajh jaate hai toh hamara lagav bhar jata hai lagan pad jaati hai aapka din shubha ho dhanyavad

हेलो फ्रेंड आप कैसे हैं नमस्कार अब कब तक अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके लि

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  672
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

3:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं तुम्हें एक बात बताना चाहूंगा कि आपने लिखा है कि मेरा ध्यान इधर भटक जाता है तो क्या आप बात करते हैं जान नहीं भटकता है जो कि आपका मन विषयों की ओर आ सकते हो रहा है आपकी सोसाइटी गंदे लड़के लड़कियों की ऐसी लड़की लड़कियों की सोसाइटी है जो पढ़ने में सिम नहीं कुछ करते हैं और पिक्चर आदि देखते होंगे जय दुर्गा कुंती होंगे या इधर-उधर मनोज जिनके लिए आप लोग भटकते रहते हैं परिणाम स्वरूप यह स्टूडेंट लाइफ द गोल्डन लाइफ है जो कुछ करने के लिए है जो कुछ अध्ययन में उपलब्धियां प्राप्त करने के लिए है उस समय को आप हर बात कर रहे हैं इसी कारण आपका मन एकाग्र नहीं रहता है चंचल रहता और वह भटकता उसके जिम्मेदार आप से हम हैं और कोई नहीं बेहतर यही है कि आप अपनी बेड कंपनी को छोड़ें गंदे लड़के लड़कियों को सोसाइटी को छोड़ें पिक्चर आती थी ना छोड़े क्योंकि बेटा पढ़ना भी एक तपस्या है आप यदि इस समय तपस्या कर लोगे अच्छी बैंक पाली मिशन प्राप्त कर लोगे गुड अमृत प्राप्त कर लोगे तो निश्चित रूप से आपकी टीचर सुंदर होगा आप कुंदरकोट कैरियर बना पाएंगे आप अपना एक अच्छा जॉब राष्ट्रपति बिल जॉब प्राप्त कर पाएंगे और आपकी और आपके माता पिता के सपने पूर्ण हो सकेंगे लेकिन यदि आपने इसी प्रकार इन्हीं लड़कों के साथ लड़कियों के साथ भटकते हुए मस्त मटरगश्ती करते हुए अपना टाइम जाए तो लिया टाइम बर्बाद कर लिया तो निश्चित मान के चलिए की एक दिन आपको सेवा पछतावे की कुछ नहीं रह जाएगा और जिन्हें तुम यार दो मित्र समझते हो कि तुम्हारी सुखी चाहती हैं वह तुम्हारे अच्छे दिनों के साथी हैं जिस दिन भी तुम थप्पड़ नहीं पाओगे जब बेरोजगारी में भटकते रहोगे तब तुम्हारी यार दोस्त मित्र रिश्तेदार सब दूर हो जाएंगे यहां तक कि खून के रिश्ते भी उस समय में तुम सपना दामन बचाना चाहेंगे अपना पल्ला बेहतर यही है बेटी पड़ने पर ध्यान दो शिक्षा प्राप्त करो मन लगाकर के क्योंकि तुम्हारी माता-पिता काफी धन व्यय कर रहे हैं आप को बनाने के लिए और आपको भी उस समय इस समय का फायदा उठाते हुए मन लगाकर अध्ययन करना चाहिए गंदी सोसाइटीज को छोड़ दे गंदी पिक्चरें देखना छोड़ दे गंदे लड़कों की कंपनी को छोड़ दें क्योंकि गंदे लड़कों की कंपनियों ने अनेक लोगों की जिंदगी बर्बाद कर दिए न्यू जेनरेशन तो विशेष तौर से बैठ कंपनीज के कारण पर होती जा रही है यह आप अपना भविष्य आपके हाथों में हैं अब आप जैसा चाहे वैसा करें

main tumhe ek baat bataana chahunga ki aapne likha hai ki mera dhyan idhar bhatak jata hai toh kya aap baat karte hain jaan nahi bhatakta hai jo ki aapka man vishyon ki aur aa sakte ho raha hai aapki society gande ladke ladkiyon ki aisi ladki ladkiyon ki society hai jo padhne mein sim nahi kuch karte hain aur picture aadi dekhte honge jai durga kuntee honge ya idhar udhar manoj jinke liye aap log bhatakte rehte hain parinam swaroop yah student life the golden life hai jo kuch karne ke liye hai jo kuch adhyayan mein upalabdhiyaan prapt karne ke liye hai us samay ko aap har baat kar rahe hain isi karan aapka man ekagra nahi rehta hai chanchal rehta aur vaah bhatakta uske zimmedar aap se hum hain aur koi nahi behtar yahi hai ki aap apni bed company ko choodey gande ladke ladkiyon ko society ko choodey picture aati thi na chode kyonki beta padhna bhi ek tapasya hai aap yadi is samay tapasya kar loge achi bank paali mission prapt kar loge good amrit prapt kar loge toh nishchit roop se aapki teacher sundar hoga aap kundarakot carrier bana payenge aap apna ek accha job rashtrapati bill job prapt kar payenge aur aapki aur aapke mata pita ke sapne purn ho sakenge lekin yadi aapne isi prakar inhin ladko ke saath ladkiyon ke saath bhatakte hue mast matargashti karte hue apna time jaaye toh liya time barbad kar liya toh nishchit maan ke chaliye ki ek din aapko seva pachtaave ki kuch nahi reh jaega aur jinhen tum yaar do mitra samajhte ho ki tumhari sukhi chahti hain vaah tumhare acche dino ke sathi hain jis din bhi tum thappad nahi paoge jab berojgari mein bhatakte rahoge tab tumhari yaar dost mitra rishtedar sab dur ho jaenge yahan tak ki khoon ke rishte bhi us samay mein tum sapna daman bachaana chahenge apna palla behtar yahi hai beti padane par dhyan do shiksha prapt karo man lagakar ke kyonki tumhari mata pita kaafi dhan vyay kar rahe hain aap ko banne liye aur aapko bhi us samay is samay ka fayda uthate hue man lagakar adhyayan karna chahiye gandi societies ko chod de gandi pikcharen dekhna chod de gande ladko ki company ko chod de kyonki gande ladko ki companion ne anek logo ki zindagi barbad kar diye new generation toh vishesh taur se baith companies ke karan par hoti ja rahi hai yah aap apna bhavishya aapke hathon mein hain ab aap jaisa chahen waisa karen

मैं तुम्हें एक बात बताना चाहूंगा कि आपने लिखा है कि मेरा ध्यान इधर भटक जाता है तो क्या आप

Romanized Version
Likes  141  Dislikes    views  2228
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है कि अध्ययन करते समय इधर-उधर ध्यान भटक जाता है आपको जब आप ध्यान करते हैं तो आपको एकांत होना चाहिए क्योंकि एकांत में मनुष्य का ध्यान इधर-उधर नहीं भटकता है और आपके पास सिर्फ वही सामग्री उपलब्ध होनी चाहिए जिसका आपको अध्ययन करना है अगर और सामग्रियां उपलब्ध होंगी तो आपका ध्यान भटकना स्वाहा प्रभु का स्मरण कीजिए जो आपके अध्ययन में मदद करें और आप अपने कर्म को श्रेष्ठ उपासना मानते हुए अपने कर्म को करिए आप अध्ययन करते रहिए अगर कोई सब प्रश्न नहीं आता है तो उसको खोजने का प्रयास करिए आप धीरे-धीरे समय-समय आप अपने अध्ययन में रुचि पूर्ण हो जाएंगे धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai ki adhyayan karte samay idhar udhar dhyan bhatak jata hai aapko jab aap dhyan karte hain toh aapko ekant hona chahiye kyonki ekant mein manushya ka dhyan idhar udhar nahi bhatakta hai aur aapke paas sirf wahi samagri uplabdh honi chahiye jiska aapko adhyayan karna hai agar aur samagriyan uplabdh hongi toh aapka dhyan bhatakana swaha prabhu ka smaran kijiye jo aapke adhyayan mein madad kare aur aap apne karm ko shreshtha upasana maante hue apne karm ko kariye aap adhyayan karte rahiye agar koi sab prashna nahi aata hai toh usko khojne ka prayas kariye aap dhire dhire samay samay aap apne adhyayan mein ruchi purn ho jaenge dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है कि अध्ययन करते समय इधर-उधर ध्यान भटक जाता है आपको जब आप ध्यान करते

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  318
WhatsApp_icon
user

hemendra singh Chouhan

Founder Of Meditation Skills

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटकना ध्यान भटकना एक नेचुरल प्रोसेस जान को एक जगह लगाना एक प्रैक्टिस है जैसे कोई दौड़ लगाने वाला है जब वह दौड़ लगाना शुरु करता है तब शुरुआत प्रॉब्लम आती है 1 महीने 2 महीने बाद में वो एफर्टलेस तरीके से दौड़ लगाता है उसी तरह संगीतकार होते हैं म्यूजिक कंपोजर होते हैं 1 घंटों की याद करते हैं और एक टाइम ऐसा जाता है जब यह एफर्टलेस तरीके से काम कर पाते हैं तो अध्ययन भी इसी तरह से है आपको बस प्रैक्टिस करनी है आज 2 घंटा बैठा देरी देरी 2 घंटे को बढ़ाते जाओ बढ़ाते जाओ पर रेगुलर बैठना है देखने की आदत पड़ जाती है तो हम एफर्टलेस तरीके से काफी समय तक अध्ययन कर पाते हैं ओके जी

adhyayan karte samay dhyan idhar udhar bhatakana dhyan bhatakana ek natural process jaan ko ek jagah lagana ek practice hai jaise koi daudh lagane vala hai jab vaah daudh lagana shuru karta hai tab shuruat problem aati hai 1 mahine 2 mahine baad mein vo chahiye tarike se daudh lagaata hai usi tarah sangeetkar hote hain music composer hote hain 1 ghanto ki yaad karte hain aur ek time aisa jata hai jab yah chahiye tarike se kaam kar paate hain toh adhyayan bhi isi tarah se hai aapko bus practice karni hai aaj 2 ghanta baitha deri deri 2 ghante ko badhate jao badhate jao par regular baithana hai dekhne ki aadat pad jaati hai toh hum chahiye tarike se kaafi samay tak adhyayan kar paate hain ok ji

अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटकना ध्यान भटकना एक नेचुरल प्रोसेस जान को एक जगह लगाना एक प

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  180
WhatsApp_icon
user
2:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय गुरुदेव अध्ययन करने अधीन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय बताएं इसीलिए हम आपको अभी यह बताने के लिए जाएंगे कि हम जो भी कार्य करेंगे मन लगाकर करना चाहिए दिन के समय हो या कुछ भी काम करने का समय बंद को इधर-उधर भटकना दीजिए क्योंकि हमें दिखाना खाते हैं तो हमारा मन खाने का ऊपरी होना चाहिए जिस प्रकार की यदि हम को एक पाठ पढ़ते हैं तो हमारा मन कोई पाठ में रहना चाहिए कहने का मतलब है कि खाने का समय खाने का ध्यान देना चाहिए सोने का समय सोने का ध्यान देना चाहिए टीवी देखने का साम टीवी देखने का समय जो कि टीवी देखने का की जो की 1GB में ही रहना चाहिए और अभी निकले समय भी पढ़ने के समय भी हमारा मन जो कि इधर उधर ना भटका के मन पूरा जो कि पढ़ाई में दे देना चाहिए यदि मुझसे नहीं करेंगे तो हमारा बहुत सारे जो भी प्रॉब्लम होता है हम पढ़ाई में अच्छे रेचल भी नहीं कर पाएंगे तो इसीलिए यदि हमारा मन इधर उधर भटक रहा है पढ़ाई के समय तो कोशिश करें थोड़ा सा है क्या घर में रहने के लिए और कुछ ध्यान ध्यान करें और जो की प्रेयर करें और बहुत अच्छा बात है कि कुछ समय के लिए आंखें बंद करके अपनी खुद को पूछिए कि हुआ ना ही अन्य व्हाट इज द रोलिंग माई सोसाइटी मैं कौन हूं और मेरा समाज में मेरा कार्य क्या है तो हम इस सब के बारे में सोच कर फिर पढ़ाई में मन लगाएंगे तो जरूरी हमारा लगेगा पढ़ाई में और ध्यान करेंगे थोड़ा प्रदान करेंगे योगासन करेंगे तो ऐसा करने से जो कि हमारा मान धीरे-धीरे जोगी एकाग्र होता है और एकाग्र हो जाने का पर जोगी जो भी हम फिर पढ़ाई करने के लिए जाएंगे तो हमारा मन इधर-उधर भटके गा इसीलिए मेरा यह सलाह है कि यदि अध्ययन के समय आपका मन इधर उधर भटक रहा है तो थोड़ा ध्यान दीजिए और जो भी मन ही मन पूछे कि मैं कौन हूं और मेरा समाज में क्या काम है इसीलिए जो कि एक कहावत है कि श्रद्धा वान लभते ज्ञानम् जिसका दृष्टि सदा हो जाता है और ज्ञान अपने आप हो जाता है इसीलिए मन को दुखी मत कीजिए अध्ययन का समय सिर्फ पढ़ाई में मन लगाएं जय गुरुदेव

jai gurudev adhyayan karne adheen karte samay dhyan idhar udhar bhatak jata hai iske liye kuch upay bataye isliye hum aapko abhi yah batane ke liye jaenge ki hum jo bhi karya karenge man lagakar karna chahiye din ke samay ho ya kuch bhi kaam karne ka samay band ko idhar udhar bhatakana dijiye kyonki hamein dikhana khate hain toh hamara man khane ka upari hona chahiye jis prakar ki yadi hum ko ek path padhte hain toh hamara man koi path mein rehna chahiye kehne ka matlab hai ki khane ka samay khane ka dhyan dena chahiye sone ka samay sone ka dhyan dena chahiye TV dekhne ka saam TV dekhne ka samay jo ki TV dekhne ka ki jo ki 1GB mein hi rehna chahiye aur abhi nikle samay bhi padhne ke samay bhi hamara man jo ki idhar udhar na bhataka ke man pura jo ki padhai mein de dena chahiye yadi mujhse nahi karenge toh hamara bahut saare jo bhi problem hota hai hum padhai mein acche rachel bhi nahi kar payenge toh isliye yadi hamara man idhar udhar bhatak raha hai padhai ke samay toh koshish kare thoda sa hai kya ghar mein rehne ke liye aur kuch dhyan dhyan kare aur jo ki prayer kare aur bahut accha baat hai ki kuch samay ke liye aankhen band karke apni khud ko puchiye ki hua na hi anya what is the rolling my society main kaun hoon aur mera samaj mein mera karya kya hai toh hum is sab ke bare mein soch kar phir padhai mein man lagayenge toh zaroori hamara lagega padhai mein aur dhyan karenge thoda pradan karenge yogasan karenge toh aisa karne se jo ki hamara maan dhire dhire jogi ekagra hota hai aur ekagra ho jaane ka par jogi jo bhi hum phir padhai karne ke liye jaenge toh hamara man idhar udhar bhatke jayega isliye mera yah salah hai ki yadi adhyayan ke samay aapka man idhar udhar bhatak raha hai toh thoda dhyan dijiye aur jo bhi man hi man pooche ki main kaun hoon aur mera samaj mein kya kaam hai isliye jo ki ek kahaavat hai ki shraddha i labhate gyanam jiska drishti sada ho jata hai aur gyaan apne aap ho jata hai isliye man ko dukhi mat kijiye adhyayan ka samay sirf padhai mein man lagaye jai gurudev

जय गुरुदेव अध्ययन करने अधीन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय बताएं इसी

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  224
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप मेडिटेशन किया था डालें आपका पढ़ते वक्त ध्यान इधर-उधर नहीं पटती

aap meditation kiya tha Daalein aapka padhte waqt dhyan idhar udhar nahi patti

आप मेडिटेशन किया था डालें आपका पढ़ते वक्त ध्यान इधर-उधर नहीं पटती

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user

mini

Student

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अक्सर हम देखते हैं कि जब भी हमें हकीकत में बैठते हैं अध्ययन करने का हमारा ध्यान नहीं देती हर दर्द को 5:10 मिनट का ब्रेक ले लीजिए और उस ज्ञान को जो भटक रहा है उसको पहले उस विचार को अपने मन में पूरा करके हटा दीजिए यानी जब तक वह इधर घर पर आपका उस विचार से उठ नहीं जाता या उसको अपने मन से हटा ले लेता तब तक आप उन्हें चल ठीक है ध्यान नहीं दे पाए इसका यही है कि आप अगर आपको ज्यादा आपका मन इधर-उधर भटकता है तो आप सबसे पहले उस भटकाव के पड़ाव को पार कीजिए फिर दोबारा चाहिए आपको ध्यान केंद्रित कीजिए मन को एकाग्र कीजिए कि आपका

aksar hum dekhte hain ki jab bhi hamein haqiqat me baithate hain adhyayan karne ka hamara dhyan nahi deti har dard ko 5 10 minute ka break le lijiye aur us gyaan ko jo bhatak raha hai usko pehle us vichar ko apne man me pura karke hata dijiye yani jab tak vaah idhar ghar par aapka us vichar se uth nahi jata ya usko apne man se hata le leta tab tak aap unhe chal theek hai dhyan nahi de paye iska yahi hai ki aap agar aapko zyada aapka man idhar udhar bhatakta hai toh aap sabse pehle us bhatkaav ke padav ko par kijiye phir dobara chahiye aapko dhyan kendrit kijiye man ko ekagra kijiye ki aapka

अक्सर हम देखते हैं कि जब भी हमें हकीकत में बैठते हैं अध्ययन करने का हमारा ध्यान नहीं देती

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

Likes  6  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अध्ययन करते समय इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय हैं जी हां उसके लिए इस साल से वातावरण बनाए ताकि आपको दिमाग अच्छा सा रह सके और आपको ध्यान करते समय आपको पता ही होगा और अच्छे से 510 मिनट के संपर्क के बाद ही आपका दिमाग सही रहेगा और पहले तो आपको कभी भी नहीं पढ़ने का मन बनेगा उसके बाद आप कम से कम 10 से 15 मिनट के समथिंग पढ़ने के बाद ही आपका जो भी पढ़ रहा उसके बारे में थोड़ा माइंड में कीट होगा और धीरे-धीरे आ जाएगा इधर ही इधर उधर भटकने की कोई जरूरत आपको ही कंट्रोल करके रखना और जो अब जहां बैठे भाई पर उसका दिमाग है जो भूख से तो उसी के मतलब से पढ़ रहे थे उसी के ऊपर ज्यादा ध्यान दीजिए तो आपका दिमाग कहीं पर नहीं जाएगा तो सबसे बेहतर उसकी

adhyayan karte samay idhar udhar bhatak jata hai iske liye kuch upay hain ji haan uske liye is saal se vatavaran banaye taki aapko dimag accha sa reh sake aur aapko dhyan karte samay aapko pata hi hoga aur acche se 510 minute ke sampark ke baad hi aapka dimag sahi rahega aur pehle toh aapko kabhi bhi nahi padhne ka man banega uske baad aap kam se kam 10 se 15 minute ke something padhne ke baad hi aapka jo bhi padh raha uske bare me thoda mind me kit hoga aur dhire dhire aa jaega idhar hi idhar udhar bhatakne ki koi zarurat aapko hi control karke rakhna aur jo ab jaha baithe bhai par uska dimag hai jo bhukh se toh usi ke matlab se padh rahe the usi ke upar zyada dhyan dijiye toh aapka dimag kahin par nahi jaega toh sabse behtar uski

अध्ययन करते समय इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय हैं जी हां उसके लिए इस साल से वातावर

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न रहा के अध्ययन करते हुए ध्यान रहेगा पढ़ा जाता है तो आपको हम बता दें कि आप जो पढ़ाई करते हैं और काम जाने की करते हैं लाइक लाइक लाइक बढ़ाने की सोच ले आपका ध्यान भटके गए नहीं पहला बाद क्या ध्यान पढ़ाई कीजिए वह नहीं कोई ऐसी तस्वीर ना ही कोई ऐसी फोटो और ना ही कोई फालतू चीज बस सिर्फ किताबों और आप लड़ाई घंटा आधा घंटा हो लेकिन सिलेबस हिसाब से पढ़िए पढ़ाई करने का मन करना भाई तो पड़ी है

aapka prashna raha ke adhyayan karte hue dhyan rahega padha jata hai toh aapko hum bata de ki aap jo padhai karte hain aur kaam jaane ki karte hain like like like badhane ki soch le aapka dhyan bhatke gaye nahi pehla baad kya dhyan padhai kijiye vaah nahi koi aisi tasveer na hi koi aisi photo aur na hi koi faltu cheez bus sirf kitabon aur aap ladai ghanta aadha ghanta ho lekin syllabus hisab se padhiye padhai karne ka man karna bhai toh padi hai

आपका प्रश्न रहा के अध्ययन करते हुए ध्यान रहेगा पढ़ा जाता है तो आपको हम बता दें कि आप जो पढ

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user
1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब आप पढ़ाई करते हो तो उसे पहले 2 मिनट के लिए बिल्कुल शांत बैठ जाए इस तरह से बिल्कुल रिलैक्स हो जाए ऐसे लाइक जैसे बॉडी डेड बॉडी नहीं होती है वैसे अपने माइंड को बिल्कुल शांत कर दीजिए आपके आसपास कोई नया साल को छोड़ नहीं रहा है बिल्कुल शांत बिल्कुल साफ महसूस होने चाहिए आपकी आवाज आनी चाहिए और किसी भी चीज की आवाज नहीं आनी चाहिए पढ़ो ऐसा नहीं था तो कंटिन्यू पढ़ो एक बार पढ़ो और पढ़ो नहीं आप थोड़ा बीच में रख लो बीच में थोड़ा स्पेस तो उसने आपको ही फिजिकल एक्टिविटी कर सकते हो 2 मिनट रनिंग रनिंग चल सकते हो अपने हाथों की क्रियाओं को कर सकते हो आएंगे तो थोड़ी न्यूज़पेपर भी देख लिया करो फोन करते हैं तो कहीं ना कहीं आपका ध्यान तो डिपाजिट कर पाएंगे बेस पर है उसको प्रैक्टिकल प्रैक्टिकल किस तरफ

jab aap padhai karte ho toh use pehle 2 minute ke liye bilkul shaant baith jaaye is tarah se bilkul relax ho jaaye aise like jaise body dead body nahi hoti hai waise apne mind ko bilkul shaant kar dijiye aapke aaspass koi naya saal ko chhod nahi raha hai bilkul shaant bilkul saaf mehsus hone chahiye aapki awaaz aani chahiye aur kisi bhi cheez ki awaaz nahi aani chahiye padho aisa nahi tha toh continue padho ek baar padho aur padho nahi aap thoda beech me rakh lo beech me thoda space toh usne aapko hi physical activity kar sakte ho 2 minute running running chal sakte ho apne hathon ki kriyaon ko kar sakte ho aayenge toh thodi Newspaper bhi dekh liya karo phone karte hain toh kahin na kahin aapka dhyan toh deposit kar payenge base par hai usko practical practical kis taraf

जब आप पढ़ाई करते हो तो उसे पहले 2 मिनट के लिए बिल्कुल शांत बैठ जाए इस तरह से बिल्कुल रिलैक

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

Sandeep Chhipa

Social Worker And (bolkar App)

2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का अध्ययन करते समय मन इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय बताएं बहुत ही अद्भुत और बहुत ही अच्छा प्रश्न किया है आपने इसके लिए आपको तीन काम करने की शीघ्र आवश्यकता होगी सुबह जल्दी उठे शाम को जल्दी सोए दोपहर में विश्राम कर सकते हो इसके अलावा आप 2 मिनट सुबह ध्यान की मुद्रा धारण करें ओम का मंत्र ओमकार मंत्र का जाप करें इसके अलावा 2 मिनट माता सरस्वती का ध्यान करें और फिर पढ़ाई से मोबाइल फोन से दूरी बनाए रखें मोबाइल फोन से केवल ऑफिशियल टाइम ही चलाया जाए मोबाइल फोन के कारण आदमी को मन बढ़ता रहता है मोबाइल फोन से दूरी बना ले शख्स एक जो होने के बाद ही मोबाइल फोन का उपयोग करें तो ज्यादा फायदा है मोबाइल फोन से अनेक नुकसान होते हैं व्यक्ति के जीवन में केवल आपको सक्सेज हो ना या तो मोबाइल से दूरी बनाए रखनी होगी अगर मोबाइल रखते हो तो इसके अंदर जो फालतू के होते हैं उसको सबको हटा दीजिए केवल आप अपने काम के ऐप सीमित रखें टिकटोक हेलो एप ऐसे फालतू के एप्स को उठा दीजिए अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ाएं अपनी कामयाबी की ओर अग्रसर हो जिसमें आपको कामयाबी मिले उसके बाद अपने फोन को ज्वाइन करें फिर आगे की सोचे आपको केवल माता पिता की सेवा करनी है और अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना है इसके अलावा को कुछ नहीं करना है बस

aap ka adhyayan karte samay man idhar udhar bhatak jata hai iske liye kuch upay bataye bahut hi adbhut aur bahut hi accha prashna kiya hai aapne iske liye aapko teen kaam karne ki shighra avashyakta hogi subah jaldi uthe shaam ko jaldi soye dopahar me vishram kar sakte ho iske alava aap 2 minute subah dhyan ki mudra dharan kare om ka mantra omkar mantra ka jaap kare iske alava 2 minute mata saraswati ka dhyan kare aur phir padhai se mobile phone se doori banaye rakhen mobile phone se keval official time hi chalaya jaaye mobile phone ke karan aadmi ko man badhta rehta hai mobile phone se doori bana le sakhs ek jo hone ke baad hi mobile phone ka upyog kare toh zyada fayda hai mobile phone se anek nuksan hote hain vyakti ke jeevan me keval aapko succsej ho na ya toh mobile se doori banaye rakhni hogi agar mobile rakhte ho toh iske andar jo faltu ke hote hain usko sabko hata dijiye keval aap apne kaam ke app simit rakhen tiktok hello app aise faltu ke apps ko utha dijiye apni padhai ko aage badhaye apni kamyabi ki aur agrasar ho jisme aapko kamyabi mile uske baad apne phone ko join kare phir aage ki soche aapko keval mata pita ki seva karni hai aur apni padhai par dhyan dena hai iske alava ko kuch nahi karna hai bus

आप का अध्ययन करते समय मन इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय बताएं बहुत ही अद्भुत और बहु

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  175
WhatsApp_icon
user

Raju Paul

Student

0:48
Play

Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Akshay Pratap Singh

motivational Speker Business Coach And Lab Technician

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप जब अध्ययन करते हैं उस समय आप अकेले रूम में रहे वहां की ना कि मोबाइल ना कोई अन्य चीज लिए हो

aap jab adhyayan karte hain us samay aap akele room me rahe wahan ki na ki mobile na koi anya cheez liye ho

आप जब अध्ययन करते हैं उस समय आप अकेले रूम में रहे वहां की ना कि मोबाइल ना कोई अन्य चीज लिए

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  64
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय बताएं तो इधर-उधर भटकता मतलब का दिमाग एकांत नहीं है शांत नहीं है आप किसी और चीज के बारे में सोच रहे हो उसके बारे में सोचना बंद कर दीजिए आप तो मेडिटेशन कीजिए लेकिन जो भी आपको आपसे प्लीज आप आए नहीं थे तो आप पढ़ाई अध्ययन जो भी घर है उसके उसके उस पर फोकस रही कि वह क्या बोल रहा था ध्यान लगाइए बाकी जिसे को भूल जाइए उससे आपका जन्मदिन लगेगा धन्यवाद

aapka sawaal hai adhyayan karte samay dhyan idhar udhar bhatak jata hai iske liye kuch upay bataye toh idhar udhar bhatakta matlab ka dimag ekant nahi hai shaant nahi hai aap kisi aur cheez ke bare me soch rahe ho uske bare me sochna band kar dijiye aap toh meditation kijiye lekin jo bhi aapko aapse please aap aaye nahi the toh aap padhai adhyayan jo bhi ghar hai uske uske us par focus rahi ki vaah kya bol raha tha dhyan lagaaiye baki jise ko bhool jaiye usse aapka janamdin lagega dhanyavad

आपका सवाल है अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय बताएं तो इधर-उधर

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

Rahul Sahani

Student Union Leader ABVP Nirsha

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी अध्ययन करते करते हैं आपका ध्यान इधर उधर भटक जाता है तो सबसे पहले कि आप अपने दिमाग को कंसंट्रेट करें जिस भी जिस किसी काम को आप करना चाहते हैं मैं उसमें फोकस रखें मान लीजिए आप खाना खा रहे हैं तो खाने में ध्यान दें अगर पढ़ाई कर रहे हो तो पढ़ाई में ही ध्यान दें और अगर ज्यादा माइंड डाइवर्ट होता है पढ़ाई के समय तो कुछ घंटे पढ़ाई करने के बाद आप कुछ म्यूजिक सुना या फिर कोई अच्छे वर्क करें जिससे कि आपको अच्छा लगता हो और सुबह और शाम मॉर्निंग और इवनिंग वाक जरूर करें थैंक यू

ji adhyayan karte karte hain aapka dhyan idhar udhar bhatak jata hai toh sabse pehle ki aap apne dimag ko concentrate kare jis bhi jis kisi kaam ko aap karna chahte hain main usme focus rakhen maan lijiye aap khana kha rahe hain toh khane me dhyan de agar padhai kar rahe ho toh padhai me hi dhyan de aur agar zyada mind Divert hota hai padhai ke samay toh kuch ghante padhai karne ke baad aap kuch music suna ya phir koi acche work kare jisse ki aapko accha lagta ho aur subah aur shaam morning aur evening walk zaroor kare thank you

जी अध्ययन करते करते हैं आपका ध्यान इधर उधर भटक जाता है तो सबसे पहले कि आप अपने दिमाग को कं

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  88
WhatsApp_icon
user

Munesh

Student

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सपना का अध्ययन करते समय आपके आसपास का वातावरण अच्छा होना चाहिए एकदम अच्छा होना चाहिए करते समय ध्यान रखें हमारे आस पास के कमरे में बैठी हूं कुछ नहीं कितना आपके मोबाइल होना चाहिए और ना ही आपके पास इधर उधर कोई होना चाहिए अर्जुन करते समय हमें कम साइलेंट ली अध्ययन करते हैं ताकि हमारे दिमाग में उस चीज को समझें और वह बार-बार रिपीट को

sapna ka adhyayan karte samay aapke aaspass ka vatavaran accha hona chahiye ekdam accha hona chahiye karte samay dhyan rakhen hamare aas paas ke kamre me baithi hoon kuch nahi kitna aapke mobile hona chahiye aur na hi aapke paas idhar udhar koi hona chahiye arjun karte samay hamein kam silent li adhyayan karte hain taki hamare dimag me us cheez ko samajhe aur vaah baar baar repeat ko

सपना का अध्ययन करते समय आपके आसपास का वातावरण अच्छा होना चाहिए एकदम अच्छा होना चाहिए करते

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
user
0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है कभी भी लांग स्टडी ज्यादा देर तक स्टडी ना करें बीच में थोड़ा थोड़ा ब्रेक ले 1 घंटे के बीच में 5 मिनट का ब्रेक लें और फिर पड़े अपनी स्पीड कम करके पड़े ज्यादा स्पीड में ना पड़ें और जितना पढ़ना है एक टास्क ले कि आज मुझे 3 घंटे में या 2 घंटे में या 1 दिन में कितना कंप्लीट करना है बाकी बुक्स काफी लैपटॉप मोबाइल इन्हें दूर कर दें जब तक पढ़ें तब तक केवल वह सब्जेक्ट जो आप कह रहे हैं उसी को पास में रखें और 1 घंटे के बाद 5 मिनट का ब्रेक अवश्य लें

adhyayan karte samay dhyan idhar udhar bhatak jata hai kabhi bhi lang study zyada der tak study na kare beech me thoda thoda break le 1 ghante ke beech me 5 minute ka break le aur phir pade apni speed kam karke pade zyada speed me na paden aur jitna padhna hai ek task le ki aaj mujhe 3 ghante me ya 2 ghante me ya 1 din me kitna complete karna hai baki books kaafi laptop mobile inhen dur kar de jab tak padhen tab tak keval vaah subject jo aap keh rahe hain usi ko paas me rakhen aur 1 ghante ke baad 5 minute ka break avashya le

अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक जाता है कभी भी लांग स्टडी ज्यादा देर तक स्टडी ना करें बी

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय उपाय यह है कि आप अपने कंसंट्रेशन को बनाना सीखिए आते हैं जो चीज आपने कमियां हैं आप उन्हें धीरे-धीरे सुधारी है उनमें सुधार लाइए तो आप अच्छा कंसंट्रेशन करके खुले माइंड से आप अपने बुक पर कंसंट्रेट रहिए पढ़िए और अपने लक्ष्य की ओर चलिए

adhyayan karte samay dhyan idhar udhar bhatak bhatak jata hai iske liye kuch upay upay yah hai ki aap apne kansantreshan ko banana sikhiye aate hain jo cheez aapne kamiyan hain aap unhe dhire dhire sudhari hai unmen sudhaar laiye toh aap accha kansantreshan karke khule mind se aap apne book par concentrate rahiye padhiye aur apne lakshya ki aur chaliye

अध्ययन करते समय ध्यान इधर-उधर भटक भटक जाता है इसके लिए कुछ उपाय उपाय यह है कि आप अपने कंसं

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  73
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!