श्रीमद्भागवत गीता का क्या महत्व है?...


user

Ashish Lavania

Yoga Trainer

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रीमद्भागवत गीता का क्या महत्व देंगे श्रीमद्भागवत गीता का सबसे बड़ा महत्वपूर्ण जो विषय है और उसका जो फायदा है या आप जो भी समझ लिया उसका यह है कि कोई जीवन की सच्चाई है उसमें कुछ भी ऐसा काल्पनिक नहीं है जो आपको ऐसा लगे कि फेंटेसी है यह काल्पनिक है ऐसा नहीं हो सकता वह केवल जीवन की सच्चाई अगर आप पूरी किताब पढ़ते हैं और आप ठीक प्रकार से पढ़ते हैं उसको समझ के पढ़ते हैं कि ऐसा नहीं ऐसा ग्रंथ की तरह आप लेते हैं कि मुझे इसको अपनी लाइफ में तो मुझे नहीं लगता कि आप कहीं भी फेल हो पाएंगे आपके जीवन में जितने भी क्वेश्चन चाहिए उन सब का आंसर गीता नॉलेज जीवन के कोई भी क्वेश्चन वाज का कोई भी क्वेश्चन उसका आंसर भी गीता में मिल जाएगा तुम कितना जो है वह यह महत्व हमारे जीवन में तो आप गीता पढ़ रहे हैं तो आप अपने जीवन के सभी परेशानियों से निजात पा सकते

shrimadbhagavat geeta ka kya mahatva denge shrimadbhagavat geeta ka sabse bada mahatvapurna jo vishay hai aur uska jo fayda hai ya aap jo bhi samajh liya uska yah hai ki koi jeevan ki sacchai hai usme kuch bhi aisa kalpnik nahi hai jo aapko aisa lage ki fantasy hai yah kalpnik hai aisa nahi ho sakta vaah keval jeevan ki sacchai agar aap puri kitab padhte hai aur aap theek prakar se padhte hai usko samajh ke padhte hai ki aisa nahi aisa granth ki tarah aap lete hai ki mujhe isko apni life mein toh mujhe nahi lagta ki aap kahin bhi fail ho payenge aapke jeevan mein jitne bhi question chahiye un sab ka answer geeta knowledge jeevan ke koi bhi question vaj ka koi bhi question uska answer bhi geeta mein mil jaega tum kitna jo hai vaah yah mahatva hamare jeevan mein toh aap geeta padh rahe hai toh aap apne jeevan ke sabhi pareshaniyo se nijat paa sakte

श्रीमद्भागवत गीता का क्या महत्व देंगे श्रीमद्भागवत गीता का सबसे बड़ा महत्वपूर्ण जो विषय है

Romanized Version
Likes  87  Dislikes    views  1751
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रीमद्भागवत गीता का महत्व बहुत ही बड़ा है वह हमारे जीवन पर लागू होता है और श्रीमद्भागवत गीता का ज्ञान जो कि भगवान श्री कृष्ण ने द्वापर युग में कौरव और पांडव के बीच युद्ध हुआ था अर्जुन को सुनाते हुए दिया था के बढ़ाई महत्वपूर्ण है श्रीमद भगवत गीता का महत्व हमारे जीवन में उतार कर उसके अनुसार हम चलेंगे तो हमारा जीवन सफलता की ओर अग्रसर होगा

shrimadbhagavat geeta ka mahatva bahut hi bada hai vaah hamare jeevan par laagu hota hai aur shrimadbhagavat geeta ka gyaan jo ki bhagwan shri krishna ne dwapar yug mein kaurav aur pandav ke beech yudh hua tha arjun ko sunaate hue diya tha ke badhai mahatvapurna hai srimad bhagwat geeta ka mahatva hamare jeevan mein utar kar uske anusaar hum chalenge toh hamara jeevan safalta ki aur agrasar hoga

श्रीमद्भागवत गीता का महत्व बहुत ही बड़ा है वह हमारे जीवन पर लागू होता है और श्रीमद्भागवत ग

Romanized Version
Likes  239  Dislikes    views  3345
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

3:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस मानव समाज के लिए मद्भागवत गीता एक धाम प्राप्त करने के लिए उपाय है मतदान पद की कमान अब कोई शब्द मार्ग दिखाती है इस अंधकार में कलयुग में भगवान मति तापमान के लिए प्रकाश पुण्य का काम करती है एक पथ प्रदर्शक का कान खरीदती है इस बातों को ध्यान में रखते ही है श्री कृष्ण भगवान ने अर्जुन को मद्भागवत गीता कहकर के मांगों के लिए को जानते थे कि कलयुग में मानव कितने लोभी लालची कामी क्रोधी मनमोहन साजन आदि से युक्त आएगा इसलिए उस इस मानव को रास्ता दिखाने के लिए ही मानना कल्याण आरती भगवान ने अर्जुन के माध्यम से गीता के उपदेश दिए हैं समझाया है देखो दुर्भाग्य का विषय क्या आज का मानव भी विभिन्न रास्तों पर गंदे रास्तों को ही अपना रहा है अतः मार्गी रास्तों को अपना राय गंदगी के रास्तों को अपना रहा है नर्क गामी रास्तों को अपना राय क्षेत्र कपट झूठ फरेब अन्याय अधर्म के रास्ते पसंद कर रहा है यदि ऐसा नहीं करता यदि मत गीता का ज्ञान दिया होता श्री कृष्ण के बताए हुए तीनों रास्तों में से एक रास्ता चुना होता शर्मा भक्ति मार्ग ज्ञान मार्ग इनमें से जो भी पसंद आता है एक रास्ते के द्वारा मुक्ति प्राप्त कर सकता था लेकिन इस मणि मानव ने इस कपटी धूर्त मानव अन्याय अधर्म कुमार के रास्ते चुने हैं न कि राष्ट्र चुने हैं यह शार्ट बीसी धन संपत्ति अर्जित करना चाहता है बेईमानी छल कपट झूठ अन्य आश्रमों से पैसा कितना चलना चाहता है यदि के जुआ खेलने का सट्टा दिल्ली का रास्ता किडनैपिंग करना मर्डर करना रेप करना स्मगलिंग करना ब्लैक मार्केटिंग करना यह सब जो रास्ते हैं इन रास्तों के द्वारा जो धन अर्जुन कर रहे हैं क्या बे सनमार्गा में नहीं वधू मधु मार्ग धामी हैं उन अरगामी क्योंकि उन्होंने रास्ते बहुत गंदे चुने अनुचित है मेरी दृष्टि में यदि सीता का भक्ति मार्ग चुना जाए तो सब श्रेष्ठ होगा क्योंकि भक्ति मार्ग में भक्तों को कुछ नहीं करना है केवल चाही विद राखे राम ताहि विधि रहिए सब कुछ अपने इष्टदेव पर छोड़ दिया जाता है इस देश के प्रति समर्पित भाग होते हैं जाग में भाग होते हैं बाकी सब कुछ भेज दे कुछ करना है वह अपने आपकी तुम्हारी उंगली पकड़कर तुम्हें पार कराते हैं क्योंकि सारी जिम्मेदारी उन को होती है हम तो एक अबोध बच्चे की तरह उनकी शरण पकड़ लेते हैं कि गोविंद तुम जानो तुम्हारा काम जाने मैं तो ज्ञानी हूं और अब तुम पार कर आओगे

is manav samaj ke liye madbhagavat geeta ek dhaam prapt karne ke liye upay hai matdan pad ki kamaan ab koi shabd marg dikhati hai is andhakar mein kalyug mein bhagwan mati taapman ke liye prakash punya ka kaam karti hai ek path pradarshak ka kaan kharidati hai is baaton ko dhyan mein rakhte hi hai shri krishna bhagwan ne arjun ko madbhagavat geeta kehkar ke maangon ke liye ko jante the ki kalyug mein manav kitne lobhi lalchi kami krodhi manmohan sajan aadi se yukt aayega isliye us is manav ko rasta dikhane ke liye hi manana kalyan aarti bhagwan ne arjun ke madhyam se geeta ke updesh diye hai samjhaya hai dekho durbhagya ka vishay kya aaj ka manav bhi vibhinn raston par gande raston ko hi apna raha hai atah margi raston ko apna rai gandagi ke raston ko apna raha hai nark gami raston ko apna rai kshetra kapat jhuth fareb anyay adharma ke raste pasand kar raha hai yadi aisa nahi karta yadi mat geeta ka gyaan diya hota shri krishna ke bataye hue tatvo raston mein se ek rasta chuna hota sharma bhakti marg gyaan marg inme se jo bhi pasand aata hai ek raste ke dwara mukti prapt kar sakta tha lekin is mani manav ne is kapati dhurt manav anyay adharma kumar ke raste chune hai na ki rashtra chune hai yah shaart BC dhan sampatti arjit karna chahta hai baimani chhal kapat jhuth anya aashramon se paisa kitna chalna chahta hai yadi ke jua khelne ka satta delhi ka rasta kidnaiping karna murder karna rape karna smuggling karna black marketing karna yah sab jo raste hai in raston ke dwara jo dhan arjun kar rahe hai kya be sanmarga mein nahi vadhu madhu marg dhami hai un aragami kyonki unhone raste bahut gande chune anuchit hai meri drishti mein yadi sita ka bhakti marg chuna jaaye toh sab shreshtha hoga kyonki bhakti marg mein bhakton ko kuch nahi karna hai keval chahi with rakhe ram tahi vidhi rahiye sab kuch apne ishta dev par chod diya jata hai is desh ke prati samarpit bhag hote hai jag mein bhag hote hai baki sab kuch bhej de kuch karna hai vaah apne aapki tumhari ungli pakadakar tumhe par karate hai kyonki saree jimmedari un ko hoti hai hum toh ek abodh bacche ki tarah unki sharan pakad lete hai ki govind tum jano tumhara kaam jaane main toh gyani hoon aur ab tum par kar aaoge

इस मानव समाज के लिए मद्भागवत गीता एक धाम प्राप्त करने के लिए उपाय है मतदान पद की कमान अब क

Romanized Version
Likes  134  Dislikes    views  1858
WhatsApp_icon
user

Poonamgupta

housewife

0:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रीमद्भागवत गीता का महत्व अपने मार्ग अपने कर्तव्य मार्ग पर चढ़ते तक मौत की प्राप्त करना है

shrimadbhagavat geeta ka mahatva apne marg apne kartavya marg par chadhte tak maut ki prapt karna hai

श्रीमद्भागवत गीता का महत्व अपने मार्ग अपने कर्तव्य मार्ग पर चढ़ते तक मौत की प्राप्त करना ह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user
0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्ञान का सागर श्रीमद् भागवत ज्ञान का सागर का है

gyaan ka sagar shrimad bhagwat gyaan ka sagar ka hai

ज्ञान का सागर श्रीमद् भागवत ज्ञान का सागर का है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!