क्या 2019 तक श्री राम मंदिर बनना चाहिए?...


play
user

साकेत कुमार

Senior Software Developer

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए के दो पहलू हैं पहलाद धार्मिक प्रदूषण राजनीतिक मैं राजनीति में जाना नहीं चाहता मैं धार्मिकता पर बात करना चाहता हूं मुझे मंदिर वही चाहिए आपको अच्छा लगे आपको अच्छा ना लगे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता आपने बहुत संख्या को के धार्मिक स्वाभिमान का बहुत परीक्षा ले लिया और आपको भी पता कि जब आप ज्यादा परीक्षा लेते हैं तो क्या होता है आप चाहते हैं कि वहां पर मंदिर इसलिए ना बने कि दंगे हो जाएंगे मैं कहता हूं कि तुम क्यों हो जाएंगे किसको इस बात से समस्या है कि हम प्रभु राम के जन्म स्थान पर एक मंदिर बनाते हैं और उनकी समस्या है किस के मन में गंदगी है मेरे मन में तो गंदगी नहीं है राम का जन्म स्थान है और मैं तो मंदिर बना लूंगा वहां पर आपको समस्या क्यों है किस बात की समस्या है अगर आप की मस्जिद कहां पर थी भी तो किसी खास से कभी तो थी नहीं और यह बात तो साबित की मंदिर तोड़कर बनाई गई थी इतना को दुख इस बात का है और यह और जो लोग यह बोलते हैं कि आप अस्पताल बना लो स्कूल बना लो मैं कहता हूं भैया एक काम करो अपने घर का प्लांट दे दो उसके ऊपर हम बना लेंगे क्योंकि राम मंदिर इस देश की अस्मिता और देश की इज्जत का सवाल है सिर्फ दुनिया को दिखाने के लिए कि हम धर्मनिरपेक्ष हैं हम गुलामी के हम तो को संभाल कर रखें यह मुझे नहीं जाता वह जो मस्जिद थी जो मंदिर को तोड़कर बनाई गई थी वह एक अच्छे हृदय से नहीं बनाई गई थी वैसे कलम को को मैं सम्मान नहीं कर सकता सिंपल सी बात

dekhie ke do pahaloo hain pahalad dharmik pradushan raajnitik main rajneeti mein jana nahi chahta main dharmikata par baat karna chahta hoon mujhe mandir wahi chahiye aapko accha lage aapko accha na lage mujhe koi fark nahi padta aapne bahut sankhya ko ke dharmik swabhiman ka bahut pariksha le liya aur aapko bhi pata ki jab aap zyada pariksha lete hain toh kya hota hai aap chahte hain ki wahan par mandir isliye na bane ki dange ho jaenge main kahata hoon ki tum kyon ho jaenge kisko is baat se samasya hai ki hum prabhu ram ke janam sthan par ek mandir banate hain aur unki samasya hai kis ke man mein gandagi hai mere man mein toh gandagi nahi hai ram ka janam sthan hai aur main toh mandir bana lunga wahan par aapko samasya kyon hai kis baat ki samasya hai agar aap ki masjid kahaan par thi bhi toh kisi khas se kabhi toh thi nahi aur yeh baat toh saabit ki mandir todkar banai gayi thi itna ko dukh is baat ka hai aur yeh aur jo log yeh bolte hain ki aap aspatal bana lo school bana lo main kahata hoon bhaiya ek kaam karo apne ghar ka plant de do uske upar hum bana lenge kyonki ram mandir is desh ki asmita aur desh ki izzat ka sawal hai sirf duniya ko dikhane ke liye ki hum dharmanirapeksh hain hum gulami ke hum toh ko sambhaal kar rakhen yeh mujhe nahi jata wah jo masjid thi jo mandir ko todkar banai gayi thi wah ek acche hriday se nahi banai gayi thi waise kalam ko ko main sammaan nahi kar sakta simple si baat

देखिए के दो पहलू हैं पहलाद धार्मिक प्रदूषण राजनीतिक मैं राजनीति में जाना नहीं चाहता मैं धा

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  932
KooApp_icon
WhatsApp_icon
19 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
राम मंदिर क्यों बनना चाहिए ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!