मनुष्य जीवन का लक्ष्य क्या है?...


user
2:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य जीवन का लक्ष्य है कि वह जो भी जितने भी आयु संसार में लेकर आया है वह अपने लिए जिए अपने संबंधियों के लिए जिए और अपने पड़ोसियों के लीजिए और जो भी हमारे देशवासी हैं उनके लिए चाहिए तो इस तरह से हमारी हमारे जीवन का लक्ष्य होना चाहिए कि हम जीवन को किस तरह से बातें कि कुछ उसका एंड शाम अपने सा अपने लिए और कुछ अपना अंशु अपनी आयु का कुछ अंश जो है वह हमारे संबंधियों के लिए मां बाप बहन भाई जितने रिश्तेदार उनके लिए उनके जीवन को सार्थक बनाएं अपने जीवन को सार्थक बनाएं अपने संबंधियों के जीवन मां-बाप सहित जितने संबंधी है आपके उनके जीवन को सार्थक बनाएं अपने पड़ोस पड़ोस के जीवन को सार्थक बनाएं जितना भी हो सकता है आप अपने काम आई और फिर अपने देशवासियों के लिए काम है जो हमारे देश के नागरिक हैं उनमें कई लोग गरीब हैं कई लोग लंगड़े लूले हैं कई लोग का पाहिजे मतलब इस तरह के काम आ सकते हैं जो बेसहारा है उनके जीवन का लक्ष्य होना चाहिए कि मुझे यह करना है मुझे करना मुझे यह करना मुझे क्या करना है आप 70 साल 10 साल 2 साल 200 साल जी आप अपनी जिंदगी के 200 साल को इन सुबह भाटी कि मैं कैसे करूं और किसी को पता नहीं होता है कि आप 200 साल की है इंडिया 50 साल की है कोई नहीं जानता मगर कम से कम अपने जीवन के का यह लक्ष्य बनाइए कि कि मैं जब तक जिऊंगा तो इतने लोगों का काम आऊंगा मैं मैं मेरा भी जीवन का ध्येय होना चाहिए

manushya jeevan ka lakshya hai ki vaah jo bhi jitne bhi aayu sansar mein lekar aaya hai vaah apne liye jiye apne sambandhiyon ke liye jiye aur apne padoshiyon ke lijiye aur jo bhi hamare deshvasi hain unke liye chahiye toh is tarah se hamari hamare jeevan ka lakshya hona chahiye ki hum jeevan ko kis tarah se batein ki kuch uska and shaam apne sa apne liye aur kuch apna anshu apni aayu ka kuch ansh jo hai vaah hamare sambandhiyon ke liye maa baap behen bhai jitne rishtedar unke liye unke jeevan ko sarthak banaye apne jeevan ko sarthak banaye apne sambandhiyon ke jeevan maa baap sahit jitne sambandhi hai aapke unke jeevan ko sarthak banaye apne pados pados ke jeevan ko sarthak banaye jitna bhi ho sakta hai aap apne kaam I aur phir apne deshvasiyon ke liye kaam hai jo hamare desh ke nagarik hain unmen kai log garib hain kai log langade lule hain kai log ka pahije matlab is tarah ke kaam aa sakte hain jo besahara hai unke jeevan ka lakshya hona chahiye ki mujhe yah karna hai mujhe karna mujhe yah karna mujhe kya karna hai aap 70 saal 10 saal 2 saal 200 saal ji aap apni zindagi ke 200 saal ko in subah bhati ki main kaise karu aur kisi ko pata nahi hota hai ki aap 200 saal ki hai india 50 saal ki hai koi nahi jaanta magar kam se kam apne jeevan ke ka yah lakshya banaiye ki ki main jab tak jiunga toh itne logo ka kaam aaunga main main mera bhi jeevan ka dhyey hona chahiye

मनुष्य जीवन का लक्ष्य है कि वह जो भी जितने भी आयु संसार में लेकर आया है वह अपने लिए जिए अप

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  49
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!