user

Dr HIMANI

Homeopathic Physician

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होम्योपैथिक मेडिसिन का काम करने का तरीका बहुत ही डिफरेंट होता है क्योंकि आप जब एलोपैथिक क्या बाकी है 35 की मेडिसिन लेते हैं तो उसमें आपको खूब मेडिसिंस दी जाती है जिसमें होती है वहां पर लगती है और नींद से या उसके छाल से अंखियों से कोई मेडिसिन बनाई जाती है उसका क्या इलाज है या उसकी जो फार्म को सुखाकर और उसका रूप में ही हो आपको क्यों दी जाती है लेकिन आज होगी मेरी बातें तुम्हें वही मेडिसिन को यूज किया जाता है लेकिन उसको हाउस में ऐड किया जाता है को टर्न टाइप किया जाता है और उसकी इंटरनल एनर्जी है उसको जनरेट करके उसके तो एडमिट का प्रॉपर्टी होती है मेडिसिंस कि वह जाती है ताकि जो आपको मेडिसिन मेडिसिन और आपकी सिम्टम्स को मैच करके मेडिसिन दी जाती है जो भी सिम्टम्स आपको है अपार एग्जांपल अगर आपको डायरिया है तो उसी तरह की की मेडिसिन दी जाती है जिसमें उसी तरह की होती है वहां पर यह मेडिसिन एक्स करती है और आपको छोड़ देती है अगर आप मुझसे मिलना चाहते हैं

homeopathic medicine ka kaam karne ka tarika bahut hi different hota hai kyonki aap jab allopathic kya baki hai 35 ki medicine lete hain toh usme aapko khoob medisins di jaati hai jisme hoti hai wahan par lagti hai aur neend se ya uske chaal se ankhiyon se koi medicine banai jaati hai uska kya ilaj hai ya uski jo form ko sukhakar aur uska roop me hi ho aapko kyon di jaati hai lekin aaj hogi meri batein tumhe wahi medicine ko use kiya jata hai lekin usko house me aid kiya jata hai ko turn type kiya jata hai aur uski internal energy hai usko generate karke uske toh admit ka property hoti hai medisins ki vaah jaati hai taki jo aapko medicine medicine aur aapki Symptoms ko match karke medicine di jaati hai jo bhi Symptoms aapko hai apaar example agar aapko diarrehoea hai toh usi tarah ki ki medicine di jaati hai jisme usi tarah ki hoti hai wahan par yah medicine x karti hai aur aapko chhod deti hai agar aap mujhse milna chahte hain

होम्योपैथिक मेडिसिन का काम करने का तरीका बहुत ही डिफरेंट होता है क्योंकि आप जब एलोपैथिक क्

Romanized Version
Likes  93  Dislikes    views  896
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Reny Miglani

Homeopathic Doctor

0:18
Play

Likes  88  Dislikes    views  1114
WhatsApp_icon
user

DR. SHIVANKER KUMAR GUPTA

Homeopathy Doctor

7:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होम्योपैथिक कैसे काम करती है यह आज का सवाल है मैं डॉ शंकर कुमार गुप्ता दरभंगा बिहार अल पट्टी से होम्योपैथिक दवाइयां किस तरह काम करती है इस पर आज आपको बताने जा रहा हूं होम्योपैथी दवाइयां सिमिलिया सिमिलीबस क्युरेंटूर इसका अर्थ होता है यूं ही पति की दवाइयां हमारे शरीर में जितनी भी लक्षण है बीमारियों की उनसे मोस्ट लिस्ट मिलर सिम्टम्स दवाई में पाए जिन दवाइयों में पाए जाते हैं वह दवाइयां हमारे शरीर के लिए बहुत ही अच्छी कारगर दवा एक मानी जाती है और गर्ल सिलेक्टेड रिमेडिकल आती है उसी दवा से हमारे शरीर का चाहे जो भी तकलीफ हो सर से लेकर पांव तक वह परमानेंट रैपिड जैंटील की ओर होता है अतः होम्योपैथिक के सिस्टम के बारे में अगर आपको वृहद जानकारी लेनी है तो आज हमारे इस वीडियो को अवश्य सुने सुने ऑडियो को अवश्य सुने और सारी बातें डिटेल्स में बताई जा रही है होम्योपैथिक की सिस्टम नैनोटेक्नोलॉजी पर डिपेंड है हमारे यहां होम्योपैथिक की दवाइयों में नैनो पार्टिकल्स होते हैं छोटे-छोटे पार्टी के सोते हैं जो होम्योपैथिक की दवाइयों को पटन टाइप करके उन्हें पावरफुल बनाया जाता है जिस तरह एलोपैथिक दवाइयों में क्वांटिटी बहुत अधिक होती है मिलीग्राम में होती है दवाइयां 500 एमजी 1000mg 200 एमजी एक सौ एमजी तो इस तरह से होम्योपैथिक की दवाइयों में जो क्वांटिटी होती है वह मिलीग्राम में नहीं होती है वह अटेंशन मॉलिक्यूल से ट्रीटमेंट की जाती है मतलब इसका अर्थ यह हुआ कि पदार्थ का सबसे सूक्ष्म कण हर वह पदार्थ जो मेडिसिनल सब्सटेंस है उसका जो सबसे सूक्ष्म कण है एटम और मॉलिक्यूल सिक्स पॉइंट 0 22 * * डिपार्मेंट 23 जून का जो साइज होता है उतना छोटा कण हमारे शरीर में जाता है जब दवाइयों को पटन टाइप कर दिया जाता है तो और वह हमारे शरीर के लिए बहुत ही कारगर होती है क्वांटिटी इस मिनिमम यह जो कोटेशन है यह मैं आप लोगों को बता रहा हूं कि यह क्वांटिटीज मिनिमम इज एप्रुपरिएट फॉर ए जैंटल रिमेडियल इफेक्ट मतलब इसका अर्थ यह हुआ कि जितना ही मेडिसिनल सब्सटेंस का क्वांटिटी छोटा होगा मेडिकल मेडिसिनल सब्सटेंस के सूक्ष्म होंगे उतना ही अधिक मेडिसिन हमारे शरीर में उतना ही अधिक कारगर होगा और जड़ से उतनी अच्छी तरीके से हमारे सभी के बीमारी को दूर करने में वह सक्षम होगा उन्हें और भी बातें हैं जैसे चोर का नियम बताया गया है और केनन ऑफ मेडिसिन में जिसमें सर से लेकर पांव तक जो भी हमारे शरीर में लक्षण पाया जाता है उस लक्षण को मिलाकर जो दवा सिलेक्ट की जाती है वह मोस्टली सिमिलर सिम्टम्स के आधार पर उसे कल सिलेक्टेड रिमेडी कहा जाता है और वेल सिलेक्टेड रिमेडी का काम है हमारे शरीर से बीमारी को पूर्णता निजात बीमारी से निजात कर देना इसका अर्थ यह हुआ कि हमारे अग्नि चक्र ऑफ की ओर जो है प्रकृति का यह नियम है ऊपर से नीचे की ओर बीमारी ठीक होती है और भीतर से बाहर की और बीमारी ठीक होती है नेचर के नियम को फॉलो करते हुए हर इंकलाब की ओर में यह बताया गया है जिसको होम्योपैथिक की चिकित्सा पद्धति अच्छी तरह से फॉलो करते हुए सही दवाइयों के द्वारा जड़ से बीमारी को दूर किया जाता है इन वर्ड्स टू आउट वर्ड्स एंड ऑफ व्हाट टू डाउनवार्ड्स यह दो तरीका है बीमारी को हर तरह से निकाल शरीर से अलग करने का जिस तरह हमारे घर में कचरा गंदगी होता है तो हम उसे साफ करके अच्छी तरह से धोकर घर से बाहर कर दिया करते हैं और उल्टा मारकर घर साफ हो जाए करता है ठीक उसी तरह जब हमारे शरीर में किसी भी तरह का विकार उत्पन्न होता है तो उस विकार के कारण तरह-तरह के लक्षण उत्पन्न होते हैं और लक्षण के कारण हमारे शरीर का ऑर्गन जो है वह किसी भी तरह से बीमार पड़ जाता है और उस बीमारी को जब डायग्नोसिस हो जाती है तो उसको दूर करने के लिए सर्वोत्तम उपाय लक्षणों से बीमारियों को पहचानना है अगर आपका डायग्नोसिस हंड्रेड परसेंट कंफर्म है और आपके शरीर के सारे लक्षण मोस्टली सिमिलर सिम दवा से मुस्लिम रीति है तो उस दवा से आपका परमानेंट प्योर होगा रिपीट होगा जेंटील होगा और परमानेंट होगा इस क्रिया के दौरान थोड़ी सी होती है तीन तरह की एग्रवेशन होती होम्योपैथिक दवाइयां देने के बाद होम्योपैथिक एग्रवेशन मेडिसिनल एग्रवेशन और सबसे अच्छा होता है जो हमारे शरीर को थोड़ा भी हानि नहीं पहुंचाता हूं मी प्रति किग्रा वजन हमेशा वेल सिलेक्टेड इन मेडी देने के बाद होती है अगर किस कभी भी गलत दवाइयों का चयन हो जाया करता है तो उस कारण से मेडिसिनल एग्रवेशन या टीवी देख रहा वेशन हो जाया करती है जिसको एंटी डॉट कर दिया जाता है अतः उन्हें पति की दवा सेवन करने से पहले हमेशा वेल क्वालिफाइड फिजीशियन से ही संपर्क करके और दवा का सेवन करें कभी भी किसी व्यक्ति या खुद से किताब पढ़कर या झोलाछाप डॉक्टरों से इलाज ना कराएं की दवा बहुत ही अच्छी और सर्वोत्तम इलाज करने वाली होती है हमारे शरीर में किसी भी तरह की कोई भी बीमारी हो उसको हर तरह से अगर जड़ से अब निजात पाना चाहते हैं तो उसका सिर्फ और सिर्फ एक मात्र सहारा एकमात्र उपाय होम्योपैथिक दवा के द्वारा वेल सिलेक्टेड रिमेडी होम्योपैथी के सभी नियम कानून को फॉलो अच्छी तरह से करते हुए अगर आप का इलाज किया जाता है तो आप एक बार अगर बीमारी से निजात पा लिए तो फिर उसके बाद वह बीमारी आपको दोबारा कभी नहीं हो सकती है इस तरह का इलाज होम्योपैथिक में ही संभव है अतः मैं लोगों से गुजारिश करूंगा कि होम्योपैथिक के सिस्टम को अच्छी तरह से समझे उस से रूबरू हो और एक अच्छे होम्योपैथिक चिकित्सक के कंसल्ट में रहे और अपनी तकलीफों के लिए परमानेंट उपाय के लिए हमेशा के निजात के लिए उनसे संपर्क में बने रहे हमारा नाम हुआ डॉक्टर शिवम कर कुमार गुप्ता बिहार इंडिया दरभंगा से मैं हूं और मेरा मोबाइल नंबर है 74630 40719 याद रखें हमारा मोबाइल नंबर है 74630 40719 अगर किसी भी तरह की आपको प्रॉब्लम होती है किसी भी तरह का जरूरत होता है तो इस नंबर पर कॉल करके आप उस फ्री सलाह ले सकते हैं ओके धन्यवाद

homeopathic kaise kaam karti hai yah aaj ka sawaal hai Dr. shankar kumar gupta darbhanga bihar al patti se homeopathic davaiyan kis tarah kaam karti hai is par aaj aapko bata ja raha hoon homeopathy davaiyan similia similibas kyurentur iska arth hota hai yun hi pati ki davaiyan hamare sharir mein jitni bhi lakshan hai bimariyon ki unse most list miler Symptoms dawai mein paye jin dawaiyo mein paye jaate hai vaah davaiyan hamare sharir ke liye bahut hi achi kargar dawa ek maani jaati hai aur girl selected rimedikal aati hai usi dawa se hamare sharir ka chahen jo bhi takleef ho sir se lekar paav tak vaah permanent Rapid jaintil ki aur hota hai atah homeopathic ke system ke bare mein agar aapko vrihad jaankari leni hai toh aaj hamare is video ko avashya sune sune audio ko avashya sune aur saree batein details mein batai ja rahi hai homeopathic ki system nanotechnology par depend hai hamare yahan homeopathic ki dawaiyo mein nano particles hote hai chote chhote party ke sote hai jo homeopathic ki dawaiyo ko patan type karke unhe powerful banaya jata hai jis tarah allopathic dawaiyo mein quantity bahut adhik hoti hai milligram mein hoti hai davaiyan 500 mg 1000mg 200 mg ek sau mg toh is tarah se homeopathic ki dawaiyo mein jo quantity hoti hai vaah milligram mein nahi hoti hai vaah attention Molecule se treatment ki jaati hai matlab iska arth yah hua ki padarth ka sabse sukshm kan har vaah padarth jo medisinal sabsatens hai uska jo sabse sukshm kan hai atom aur Molecule six point 0 22 diparment 23 june ka jo size hota hai utana chota kan hamare sharir mein jata hai jab dawaiyo ko patan type kar diya jata hai toh aur vaah hamare sharir ke liye bahut hi kargar hoti hai quantity is minimum yah jo quotation hai yah main aap logo ko bata raha hoon ki yah quantities minimum is eprupariet for a jaintal rimediyal effect matlab iska arth yah hua ki jitna hi medisinal sabsatens ka quantity chota hoga medical medisinal sabsatens ke sukshm honge utana hi adhik medicine hamare sharir mein utana hi adhik kargar hoga aur jad se utani achi tarike se hamare sabhi ke bimari ko dur karne mein vaah saksham hoga unhe aur bhi batein hai jaise chor ka niyam bataya gaya hai aur canine of medicine mein jisme sir se lekar paav tak jo bhi hamare sharir mein lakshan paya jata hai us lakshan ko milakar jo dawa select ki jaati hai vaah Mostly similar Symptoms ke aadhar par use kal selected rimedi kaha jata hai aur well selected rimedi ka kaam hai hamare sharir se bimari ko purnata nijat bimari se nijat kar dena iska arth yah hua ki hamare agni chakra of ki aur jo hai prakriti ka yah niyam hai upar se niche ki aur bimari theek hoti hai aur bheetar se bahar ki aur bimari theek hoti hai nature ke niyam ko follow karte hue har inkalab ki aur mein yah bataya gaya hai jisko homeopathic ki chikitsa paddhatee achi tarah se follow karte hue sahi dawaiyo ke dwara jad se bimari ko dur kiya jata hai in words to out words and of what to daunavards yah do tarika hai bimari ko har tarah se nikaal sharir se alag karne ka jis tarah hamare ghar mein kachra gandagi hota hai toh hum use saaf karke achi tarah se dhokar ghar se bahar kar diya karte hai aur ulta marakar ghar saaf ho jaaye karta hai theek usi tarah jab hamare sharir mein kisi bhi tarah ka vikar utpann hota hai toh us vikar ke karan tarah tarah ke lakshan utpann hote hai aur lakshan ke karan hamare sharir ka organ jo hai vaah kisi bhi tarah se bimar pad jata hai aur us bimari ko jab diagnosis ho jaati hai toh usko dur karne ke liye sarvottam upay lakshano se bimariyon ko pahachanana hai agar aapka diagnosis hundred percent confirm hai aur aapke sharir ke saare lakshan Mostly similar sim dawa se muslim riti hai toh us dawa se aapka permanent pure hoga repeat hoga jentil hoga aur permanent hoga is kriya ke dauran thodi si hoti hai teen tarah ki egraveshan hoti homeopathic davaiyan dene ke baad homeopathic egraveshan medisinal egraveshan aur sabse accha hota hai jo hamare sharir ko thoda bhi hani nahi pohchta hoon me prati kigra wajan hamesha well selected in medi dene ke baad hoti hai agar kis kabhi bhi galat dawaiyo ka chayan ho jaya karta hai toh us karan se medisinal egraveshan ya TV dekh raha veshan ho jaya karti hai jisko anti dot kar diya jata hai atah unhe pati ki dawa seven karne se pehle hamesha well qualified fijishiyan se hi sampark karke aur dawa ka seven kare kabhi bhi kisi vyakti ya khud se kitab padhakar ya jholachhap doctoron se ilaj na karaye ki dawa bahut hi achi aur sarvottam ilaj karne wali hoti hai hamare sharir mein kisi bhi tarah ki koi bhi bimari ho usko har tarah se agar jad se ab nijat paana chahte hai toh uska sirf aur sirf ek matra sahara ekmatra upay homeopathic dawa ke dwara well selected rimedi homeopathy ke sabhi niyam kanoon ko follow achi tarah se karte hue agar aap ka ilaj kiya jata hai toh aap ek baar agar bimari se nijat paa liye toh phir uske baad vaah bimari aapko dobara kabhi nahi ho sakti hai is tarah ka ilaj homeopathic mein hi sambhav hai atah main logo se gujarish karunga ki homeopathic ke system ko achi tarah se samjhe us se rubaru ho aur ek acche homeopathic chikitsak ke Consult mein rahe aur apni takaleephon ke liye permanent upay ke liye hamesha ke nijat ke liye unse sampark mein bane rahe hamara naam hua doctor shivam kar kumar gupta bihar india darbhanga se main hoon aur mera mobile number hai 74630 40719 yaad rakhen hamara mobile number hai 74630 40719 agar kisi bhi tarah ki aapko problem hoti hai kisi bhi tarah ka zarurat hota hai toh is number par call karke aap us free salah le sakte hai ok dhanyavad

होम्योपैथिक कैसे काम करती है यह आज का सवाल है मैं डॉ शंकर कुमार गुप्ता दरभंगा बिहार अल पट्

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होम्योपैथिक मेडिसिन बॉडी में पहुंचकर अपनी पावर ग्रिड पॉवर से ज्यादा बनाती है जब मेडिसिन अल्पावधि वीर पावर से बड़ी हो जाती है तो मेडिसिन मेडिसिन मेडिसिन पावर जो है वो मेडिसिन जो है वह डिलीट को बॉडी से बाहर निकाल देती है जैसे एक मिसाल के तौर पर एक खाली नहीं दो पहलवान कुश्ती के लिए उतरते हैं तो जो ताकतवर पहलवान होता है वह अपने से कमजोर पहलवान को डरा देता है तो इसी तरह जब मेडिसिन की पावर 20 की पावर से बड़ी हो जाती है बॉडी के अंदर जाकर तो यह बड़ी पावर मेडिसिन की पावर डिस्को बॉडी से बाहर निकाल देती है और एक बीमार इंसान स्वस्थ हो जाता है

homeopathic medicine body mein pahuchkar apni power grid power se zyada banati hai jab medicine alpawadhi veer power se badi ho jaati hai toh medicine medicine medicine power jo hai vo medicine jo hai vaah delete ko body se bahar nikaal deti hai jaise ek misal ke taur par ek khaali nahi do pahalwan kushti ke liye utarate hain toh jo takatwar pahalwan hota hai vaah apne se kamjor pahalwan ko dara deta hai toh isi tarah jab medicine ki power 20 ki power se badi ho jaati hai body ke andar jaakar toh yah badi power medicine ki power disco body se bahar nikaal deti hai aur ek bimar insaan swasth ho jata hai

होम्योपैथिक मेडिसिन बॉडी में पहुंचकर अपनी पावर ग्रिड पॉवर से ज्यादा बनाती है जब मेडिसिन अल

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  141
WhatsApp_icon
user

Dr.Sumeet Gautam

Homeopathy Doctor

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल बहुत तार्किक है परंतु इस सवाल को पूछने का प्रयोजन मेरी समझ में नहीं आया क्योंकि सवाल को पूछने का कोई औचित्य नहीं है फिर भी मैं बता देता हूं जिस प्रकार से एलोपैथिक दवाइयां खून में मिलकर खून के माध्यम से काम करती हैं उसी प्रकार होम्योपैथिक दवाइयां आपके नर्वस सिस्टम के माध्यम से काम करती हैं

aapka sawaal bahut tarkik hai parantu is sawaal ko poochne ka prayojan meri samajh mein nahi aaya kyonki sawaal ko poochne ka koi auchitya nahi hai phir bhi main bata deta hoon jis prakar se allopathic davaiyan khoon mein milkar khoon ke madhyam se kaam karti hai usi prakar homeopathic davaiyan aapke nervous system ke madhyam se kaam karti hain

आपका सवाल बहुत तार्किक है परंतु इस सवाल को पूछने का प्रयोजन मेरी समझ में नहीं आया क्योंकि

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  354
WhatsApp_icon
user

Dr. Gaurav Kaushal

Homeopathy Doctor

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होम्योपैथी कैसे काम करती है उसके ऊपर थी कैसे काम करती हो पर थी जो सिद्धांत है वह है सिमिलिया सिमिलीबस क्युरेंटूर लाइक यू प्रो की जो सिक्के जो भी है जैसे डिसीज कंडीशन पर जो उसके सिम्टम्स है तो उसको क्यों करती है मतलब जो प्रोडक्ट जैसे-जैसे * * कराकर उसे पैसे लेते हैं तो आपको मिलेगा लेक चमचम एडिट करता है तो वह मलेरिया में काम भी करती है तो नींद स्लाइड शो स्लाइड तरीके से रहता और बाकी यह बिल्कुल साइड इफेक्ट्स के नहीं है अगर आपकी और बहुत माइन्यूट क्वांटिटी में यह प्रिंट करके दी जाती है तो इसको इतना तेज हो जाता है कि वह बहुत नाही कनपटी में भी आपके ऊपर सर्दी बहुत अच्छा और उसका कोई सेट नहीं यूज कर सकते हैं

homoeopathy kaise kaam karti hai uske upar thi kaise kaam karti ho par thi jo siddhant hai vaah hai similia similibas kyurentur like you pro ki jo sikke jo bhi hai jaise disease condition par jo uske Symptoms hai toh usko kyon karti hai matlab jo product jaise jaise karakar use paise lete hain toh aapko milega lake chamacham edit karta hai toh vaah malaria mein kaam bhi karti hai toh neend slide show slide tarike se rehta aur baki yah bilkul side effects ke nahi hai agar aapki aur bahut mainyut quantity mein yah print karke di jaati hai toh isko itna tez ho jata hai ki vaah bahut naahi kanpati mein bhi aapke upar sardi bahut accha aur uska koi set nahi use kar sakte hain

होम्योपैथी कैसे काम करती है उसके ऊपर थी कैसे काम करती हो पर थी जो सिद्धांत है वह है सिमिलि

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  318
WhatsApp_icon
user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी कि आपके द्वारा एक के प्रश्न किया गया है और प्रश्न यह है कि होम्योपैथी कैसे काम करती दोस्तों होम्योपैथिक दवा के बारे में विशेष जानकारी चाहते हैं तो आप यूट्यूब पर सर्च कर सकते हैं दवा कैसे काम करती है आगरा पर यह बरात में जानना चाहते कि उनके पति की दवा होता है और कैसे काम होता तो यूट्यूब पर आप आसानी से देख पाएंगे कि हमें पति कैसे काम करता है और क्या-क्या काम कर सकता है

abhi ki aapke dwara ek ke prashna kiya gaya hai aur prashna yah hai ki homeopathy kaise kaam karti doston homeopathic dawa ke bare mein vishesh jaankari chahte hain toh aap youtube par search kar sakte hain dawa kaise kaam karti hai agra par yah baraat mein janana chahte ki unke pati ki dawa hota hai aur kaise kaam hota toh youtube par aap aasani se dekh payenge ki hamein pati kaise kaam karta hai aur kya kya kaam kar sakta hai

अभी कि आपके द्वारा एक के प्रश्न किया गया है और प्रश्न यह है कि होम्योपैथी कैसे काम करती दो

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  1134
WhatsApp_icon
user

Dr Shubhra Kumari

BHMS, MD HOMEOPATHY

2:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो सर हमें पैथिक कैसे काम करती है तो सबसे पहले जाने होम्योपैथी होम्योपैथी जिनसेंग होम्योपैथिक ब्रांच ऑफ मेडिकल साइंस इज द सिमरिया सिमरिया सिमरिया सी मेडिसिन हम इसमें क्या करते हैं सबसे पहले जब हमारे पास कोई पेशेंट आता है तो हमसे उसकी सारी बीमारियों के लक्षणों के बारे में पूछते हैं जब हमें सारे के सारे लक्षण मिल जाते हैं तो हम सारे लक्षणों को मैथ सारे लक्षणों को लिपट कर उसमें उसमें जोड़ घटाव करते हैं और जोड़ घटा करने के बाद में जो मेडिसिंस आती है उसको हम मैटेरियल्स के बाद मटेरिया मेडिका में देखकर जिस मेडिसिन में सारे लक्षण मैच करते हैं हम उस मेडिसिंस को पेशेंट को देते हैं और पेशेंट को प्रजेंट संस्कृति के अनुसार स्कादूष निर्भर करते हैं यह करते कौन सा दोष देना है अगर पेशेंट बहुत ज्यादा विचलित है बहुत ज्यादा ब्लू मेडिसिन पावर की मेडिसिन जाते हैं जो कम बेचैन है उसकी शक्ति बहुत ज्यादा है उसको हाई पावर की मेडिसिन देते हैं हम पर्सेंट क्यूट केस क्या पूछेंगे एक क्यूट सी चीज का प्रजेंट देखते हैं क्रॉनिक के ऑपरेशन देखते हैं पुणे के तीर्थ मतलब बहुत दिनों के कारणों को जानते हैं तब हम मेडिसिन को देते हैं जिनके चेहरे को देखते प्रशन के हाव-भाव को जानते हैं तब मेडिसिन देते हैं उन्हें प्रति ऐसे काम लक्षणों के द्वारा गद्दी बिना लक्षणों का मुंह में पति मेडिसिन नहीं दे सकते हैं इसलिए आपसे विनम्र निवेदन है कि कोई भी मेडिसिन अगर कोई भी आपको बताएं तो बिना किसी होम्योपैथिक डॉक्टर के परामर्श के बिना ना खाएं होम्योपैथिक डॉक्टर अगर आपको पूरा मर जाता है यह मेडिसिन आपको खाना है तभी खाइए हर होम्योपैथिक डॉक्टर आपको बताएगा कितना दूध लेना है कितने समय पर लेना है क्या लेना है क्या खाना है क्या नहीं खाना है वह सब होम्योपैथिक डॉक्टर पर ही निर्भर करता है धन्यवाद

hello sir hamein paithik kaise kaam karti hai toh sabse pehle jaane homeopathy homoeopathy jinseng homeopathic branch of medical science is the simaria simaria simaria si medicine hum isme kya karte hai sabse pehle jab hamare paas koi patient aata hai toh humse uski saree bimariyon ke lakshano ke bare mein poochhte hai jab hamein saare ke saare lakshan mil jaate hai toh hum saare lakshano ko math saare lakshano ko LIPAT kar usme usmein jod ghatav karte hai aur jod ghata karne ke baad mein jo medisins aati hai usko hum Materials ke baad materiya medica mein dekhkar jis medicine mein saare lakshan match karte hai hum us medisins ko patient ko dete hai aur patient ko present sanskriti ke anusaar skadush nirbhar karte hai yah karte kaun sa dosh dena hai agar patient bahut zyada vichalit hai bahut zyada blue medicine power ki medicine jaate hai jo kam bechain hai uski shakti bahut zyada hai usko high power ki medicine dete hai hum percent cute case kya puchenge ek cute si cheez ka present dekhte hai chronic ke operation dekhte hai pune ke tirth matlab bahut dino ke karanon ko jante hai tab hum medicine ko dete hai jinke chehre ko dekhte prashn ke hav bhav ko jante hai tab medicine dete hai unhe prati aise kaam lakshano ke dwara gaddi bina lakshano ka mooh mein pati medicine nahi de sakte hai isliye aapse vinamra nivedan hai ki koi bhi medicine agar koi bhi aapko bataye toh bina kisi homeopathic doctor ke paramarsh ke bina na khayen homeopathic doctor agar aapko pura mar jata hai yah medicine aapko khana hai tabhi khaiye har homeopathic doctor aapko batayega kitna doodh lena hai kitne samay par lena hai kya lena hai kya khana hai kya nahi khana hai vaah sab homeopathic doctor par hi nirbhar karta hai dhanyavad

हेलो सर हमें पैथिक कैसे काम करती है तो सबसे पहले जाने होम्योपैथी होम्योपैथी जिनसेंग होम्यो

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  72
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!