क्या आप महिला सशक्तिकरण में विश्वास रखते हैं?...


user

Rasbihari Pandey

लेखन / कविता पाठ

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अवश्य महिला सशक्तिकरण होना ही चाहिए कहा गया है कि एक महिला पड़ती है तो पूरा परिवार पूरे परिवार को पढ़ाती है और एक व्यक्ति अगर पड़ता है तो सिर्फ पुरुष अगर अशिक्षित होता है तो सिर्फ अपने तक ही रह जाता है यह बिल्कुल सत्य है क्योंकि बच्चों का पालन पोषण माही करती है और शुरुआत के 7 वर्ष तक के बच्चों को प्रारंभिक शिक्षा दे सकती हैं अन्य क्षेत्रों में भी महिलाओं को आने देना चाहिए क्योंकि स्त्री को घर के भीतर कैद रखकर के हम उसकी प्रतिभा को मार देते हैं

avashya mahila shshaktikaran hona hi chahiye kaha gaya hai ki ek mahila padti hai toh pura parivar poore parivar ko padhati hai aur ek vyakti agar padta hai toh sirf purush agar ashikshit hota hai toh sirf apne tak hi reh jata hai yah bilkul satya hai kyonki baccho ka palan poshan maahi karti hai aur shuruat ke 7 varsh tak ke baccho ko prarambhik shiksha de sakti hain anya kshetro mein bhi mahilaon ko aane dena chahiye kyonki stree ko ghar ke bheetar kaid rakhakar ke hum uski pratibha ko maar dete hain

अवश्य महिला सशक्तिकरण होना ही चाहिए कहा गया है कि एक महिला पड़ती है तो पूरा परिवार पूरे पर

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  775
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

महेश दुबे

कवि साहित्यकार

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिला सशक्तिकरण का नारा जोर-शोर से लगाया जाता है तो ऐसा लगता है मानो महिला बहुत अशक्त है बहुत अबला है लेकिन यह सब खाली लोगों की फैलाई की भ्रांतियां हैं प्रकृति ने महिलाओं को बहुत ताकतवर बनाया है बहुत सहनशील बनाया है महिला जितना कष्ट सह सकती है उतना पुरुष नहीं सह सकता महिला आत्मिक रूप से बहुत प्रबल होती है बहुत बलवान होती है महिलाएं अपना घर बार छोड़कर के दूसरे के घर चली जाती हैं वहां पर भी परिवार बताती हैं कोई पुरुष ऐसा नहीं कर सकता तो महिला के सशक्तीकरण की बात करना थोड़ा इसीलिए अजीब है कि महिला तो पहले से ही बहुत सशक्त है और जैविक दृष्टि से भी वैज्ञानिकों ने इस बात की खोज की है कि धीरे-धीरे पुरुषों के अधीन कमजोर होते जा रहे हैं और वह दिन भी आ सकता है हजारों लाखों वर्षों के बाद जब पुरुष इस दुनिया चल लुप्त हो जाएंगे और महिलाएं बनी रहेंगी क्योंकि महिलाओं के अंदर कुदरती रूप में सशक्तिकरण मौजूद है

mahila shshaktikaran ka naara jor shor se lagaya jata hai toh aisa lagta hai maano mahila bahut ashakt hai bahut abhla hai lekin yah sab khaali logo ki failai ki bhrantiyan hai prakriti ne mahilaon ko bahut takatwar banaya hai bahut sahanashil banaya hai mahila jitna kasht sah sakti hai utana purush nahi sah sakta mahila atmik roop se bahut prabal hoti hai bahut balwan hoti hai mahilaye apna ghar baar chhodkar ke dusre ke ghar chali jaati hai wahan par bhi parivar batati hai koi purush aisa nahi kar sakta toh mahila ke sashaktikarn ki baat karna thoda isliye ajib hai ki mahila toh pehle se hi bahut sashakt hai aur Jaivik drishti se bhi vaigyaniko ne is baat ki khoj ki hai ki dhire dhire purushon ke adheen kamjor hote ja rahe hai aur vaah din bhi aa sakta hai hazaro laakhon varshon ke baad jab purush is duniya chal lupt ho jaenge aur mahilaye bani rahegi kyonki mahilaon ke andar kudarati roop mein shshaktikaran maujud hai

महिला सशक्तिकरण का नारा जोर-शोर से लगाया जाता है तो ऐसा लगता है मानो महिला बहुत अशक्त है ब

Romanized Version
Likes  97  Dislikes    views  997
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भाई नाशक सशक्तिकरण में विश्वास रखते हैं परंतु एक बार हम लोग अगर आपको अपने आप को बराबर कहते हैं दूसरे के साथ जोड़ते रखते हैं हमें यह भी देखना होता है कि अगर वह हमारे ऊपर दबाव बनाते हैं तो गलत है यह मुद्दा बनाते तो गलत है नहीं सकता

haan bhai nashak shshaktikaran mein vishwas rakhte hain parantu ek baar hum log agar aapko apne aap ko barabar kehte hain dusre ke saath jodte rakhte hain hamein yah bhi dekhna hota hai ki agar vaah hamare upar dabaav banate hain toh galat hai yah mudda banate toh galat hai nahi sakta

हां भाई नाशक सशक्तिकरण में विश्वास रखते हैं परंतु एक बार हम लोग अगर आपको अपने आप को बराबर

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  677
WhatsApp_icon
user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछे गए प्रश्न है क्या आप महिला सशक्तिकरण में विश्वास रखते हैं तो जी हां दोस्तों महिला शक्ति सशक्तिकरण में में विश्वास रखता हूं और मानता भी हूं ठीक है

aapka pooche gaye prashna hai kya aap mahila shshaktikaran mein vishwas rakhte hain toh ji haan doston mahila shakti shshaktikaran mein mein vishwas rakhta hoon aur manata bhi hoon theek hai

आपका पूछे गए प्रश्न है क्या आप महिला सशक्तिकरण में विश्वास रखते हैं तो जी हां दोस्तों महिल

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1421
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!