अशोक ने राज्य अभिषेक में 8 वर्ष अभिलेख में क्या किया?...


user

Dr Padmakar Jha

Lekkchr Pol Sc Tmprori

3:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गिरनार अभिलेख की थी 150 एडीपी ब्रांच रुद्रदामन साकिर बंद एकमात्र अभिलेख जो संस्कृत में एक अब से लेकर अब प्रथम अभिलेख है सबको की शासन प्रणाली की सूचना देती है विशिष्ट स्वास्तिक की चर्चा तेरा मन का जूनागढ़ अभिलेख में कब शैली का प्रथम लिखित शकों का शासन प्रणाली के सूचना प्रदान करती है क्षत्रप प्रणाली छोटा सा छत्रक बड़ा शासक मानचित्र केवल राज्य परिवार के राजस्व पुलिस प्रशासन को जोड़ा गया गिरनार मर्जी बॉस-7 गुप्त मौर्य वंश से संबंधित आया चंद्रगुप्त मौर्य अशोक मौर्य शारदा रुद्रदामन वीरेंद्र गुप्ता स्कंद गुप्त नदी तट पर स्थित भारत का सबसे प्राचीन एवं महत्वपूर्ण अभिलेख और प्रशासन के साथ दीपार की चर्चा है रुद्रदामन उपलब्धि विजय अभियान असम राज्य विस्तार भी चर्चा है दक्षिण में मारवाड़ ग्रामीण क्षेत्र पश्चिमी मध्य प्रदेश उत्तर में कुकर किस अभिलेख से चंद्रगुप्त मौर्य अशोक दोनों का नाम मिलता है सा के वर्तमान संघर्ष की भी चर्चा है रे दामन की प्रथम विजय अभियान के साथ था अंतिम अभियान की भी चर्चा है सबको की शासन प्रणाली छात्र व्यापारिक गतिविधियों समुद्र मार्ग से हुआ इसमें सुधीर नामक जंगल की भी पराजित किया था यह बंगाल के पीछे तथा रुद्रदामन चट्टन वंश के दाम का पुत्र थे गणित हमने युद्ध जनजाति की पहचान और जनजाति से की है मौर्य साम्राज्य चंद्र तो मौत के समय उसमें गुप्त नामक जयपाल ने सुदर्शन झील का निर्माण करवाया मूल रूप से उद्देश्य चाय यही एकमात्र अभिलेख है जिस पर ओशो के लिए अशोक मोर शब्द का प्रयोग किया गया इसी अभिलेख से मौज वंश को देवताओं के वंश के साथ जोड़ा गया पशुओं के गवर्नर के रूप में तो शास्त्र की चर्चा है इसमें उत्सव रस्टिक कहता है राष्ट्र का मतलब साला एवं रूपमाला मौज का भारत एवं जूनागढ़ के बाद बृहद प्रकाश डाला है तो साल के द्वारा सुदर्शन झील का पुनर्निर्माण की चर्चा गुप्त स्कंद गुप्त सुदर्शन झील का निर्माण विदेशी आक्रमण विशेष पूरा कर मन की इच्छा से बहुत सारे हैं बस इतना ही कहना था धन्यवाद

girnaar abhilekh ki thi 150 ADP branch rudradaman sakir band ekmatra abhilekh jo sanskrit me ek ab se lekar ab pratham abhilekh hai sabko ki shasan pranali ki soochna deti hai vishisht swastik ki charcha tera man ka junagadh abhilekh me kab shaili ka pratham likhit shakon ka shasan pranali ke soochna pradan karti hai kshatrap pranali chota sa chatrak bada shasak manchitra keval rajya parivar ke rajaswa police prashasan ko joda gaya girnaar marji boss 7 gupt maurya vansh se sambandhit aaya chandragupta maurya ashok maurya sharda rudradaman virendra gupta skand gupt nadi tat par sthit bharat ka sabse prachin evam mahatvapurna abhilekh aur prashasan ke saath dipar ki charcha hai rudradaman upalabdhi vijay abhiyan assam rajya vistaar bhi charcha hai dakshin me marwad gramin kshetra pashchimi madhya pradesh uttar me cooker kis abhilekh se chandragupta maurya ashok dono ka naam milta hai sa ke vartaman sangharsh ki bhi charcha hai ray daman ki pratham vijay abhiyan ke saath tha antim abhiyan ki bhi charcha hai sabko ki shasan pranali chatra vyaparik gatividhiyon samudra marg se hua isme sudheer namak jungle ki bhi parajit kiya tha yah bengal ke peeche tatha rudradaman chattan vansh ke daam ka putra the ganit humne yudh janjaati ki pehchaan aur janjaati se ki hai maurya samrajya chandra toh maut ke samay usme gupt namak jaypal ne sudarshan jheel ka nirmaan karvaya mul roop se uddeshya chai yahi ekmatra abhilekh hai jis par osho ke liye ashok mor shabd ka prayog kiya gaya isi abhilekh se mauj vansh ko devatao ke vansh ke saath joda gaya pashuo ke governor ke roop me toh shastra ki charcha hai isme utsav rustic kahata hai rashtra ka matlab sala evam rupmala mauj ka bharat evam junagadh ke baad brihad prakash dala hai toh saal ke dwara sudarshan jheel ka punarnirman ki charcha gupt skand gupt sudarshan jheel ka nirmaan videshi aakraman vishesh pura kar man ki iccha se bahut saare hain bus itna hi kehna tha dhanyavad

गिरनार अभिलेख की थी 150 एडीपी ब्रांच रुद्रदामन साकिर बंद एकमात्र अभिलेख जो संस्कृत में एक

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  237
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!