क्या हमारे देश की आर्थिक स्थिति जीएसटी से खराब हो गई है?...


play
user
0:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वह ऐसे छोड़कर सुधारना होनी चाहिए मुझे ऐसा लगता है जैसे की जीडीपी वृद्धि दर के डीएसपी को लगाया जाए तो देश का जरूर बताएंगे

vaah aise chhodkar sudharna honi chahiye mujhe aisa lagta hai jaise ki gdp vriddhi dar ke DSP ko lagaya jaaye toh desh ka zaroor batayenge

वह ऐसे छोड़कर सुधारना होनी चाहिए मुझे ऐसा लगता है जैसे की जीडीपी वृद्धि दर के डीएसपी को लग

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  754
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं मुझे नहीं लगता कि हमारे देश की आर्थिक स्थिति जीएसटी के आने से खराब हो गई है बल्कि मुझे लगता है कि जीएसटी के आने से और टैक्स में काफी सिंप्लीफिकेशन आ गया है आप लोगों के लिए और हम लोग समझ पा रहे हैं कि वह कौन सा टैक्स किस लिए दे रहे हैं किसकी कौन उस टैक्स को कलेक्ट कर रहा है उसके अलावा देखिए और कहीं ना कहीं हमसे जो ज्यादा टैक्स वसूल ए जाते थे अलग-अलग तरह के टैक्स वसूल ए जाते थे कुछ स्टेट कमेंट द्वारा और कुछ सेंट्रल कमेंट द्वारा वह सब खत्म करके जीएसटी ने एक आसान सा टैक्स सिस्टम बना दिया है लोगों के लिए भी और गवर्मेंट के लिए भी ताकि टेक्स्ट लिया जाएगा वह साफ साफ तरीके से एसजीएसटी और सीजीएसटी के नाम से लिया जाएगा जो कि स्टेट और सेंट्रल गवर्नमेंट में बराबर के हिसाब से बांटा जाएगा तो देखिए कहीं ना कहीं और जीएसटी के आने से चीजें भी सस्ती हुई है उसके अलावा जो बेसिक चीजें हैं उनको और जीएसटी में कम परसेंट के खिलाफ में डाला गया है कम पर्सेंट टैक्स के खिलाफ में डाला गया है जिसकी वजह से जो में काफी गिरावट आई है उनके प्राइस में उसके अलावा जो चीजें बहुत ज्यादा प्रोडक्शन के बाद बनती हैं उनको ज्यादा पर्सेंट किस लाभ में डाला गया है क्योंकि उनकी प्रोडक्शन कॉल ज्यादा होती है तो उन पर ज्यादा टैक्स वसूला जाएगा तो इस तरह सोचो और चीजों का अलग अलग तरह से अलग-अलग खिलाफ पर डाला गया है उस चीज में भी काफी अच्छा कर दिया है मैं टैक्स सिस्टम को तो मुझे लगता है कि हमारी आर्थिक स्थिति और हमारी कॉल भी काफी अच्छी हुई है जीएसटी के आने के बाद

ji nahi mujhe nahi lagta ki hamare desh ki aarthik sthiti gst ke aane se kharab ho gayi hai balki mujhe lagta hai ki gst ke aane se aur tax mein kaafi simplifikeshan aa gaya hai aap logo ke liye aur hum log samajh paa rahe hain ki vaah kaun sa tax kis liye de rahe hain kiski kaun us tax ko collect kar raha hai uske alava dekhiye aur kahin na kahin humse jo zyada tax vasool a jaate the alag alag tarah ke tax vasool a jaate the kuch state comment dwara aur kuch central comment dwara vaah sab khatam karke gst ne ek aasaan sa tax system bana diya hai logo ke liye bhi aur government ke liye bhi taki text liya jaega vaah saaf saaf tarike se SGST aur CGST ke naam se liya jaega jo ki state aur central government mein barabar ke hisab se baata jaega toh dekhiye kahin na kahin aur gst ke aane se cheezen bhi sasti hui hai uske alava jo basic cheezen hain unko aur gst mein kam percent ke khilaf mein dala gaya hai kam percent tax ke khilaf mein dala gaya hai jiski wajah se jo mein kaafi giraavat I hai unke price mein uske alava jo cheezen bahut zyada production ke baad banti hain unko zyada percent kis labh mein dala gaya hai kyonki unki production call zyada hoti hai toh un par zyada tax vasula jaega toh is tarah socho aur chijon ka alag alag tarah se alag alag khilaf par dala gaya hai us cheez mein bhi kaafi accha kar diya hai tax system ko toh mujhe lagta hai ki hamari aarthik sthiti aur hamari call bhi kaafi achi hui hai gst ke aane ke baad

जी नहीं मुझे नहीं लगता कि हमारे देश की आर्थिक स्थिति जीएसटी के आने से खराब हो गई है बल्कि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!