आपके जीवन में किसी ऐसे व्यक्ति का नाम बताइए जिस से आपको हार कर खुशी मनाता है?...


user

Shashikant Mani Tripathi

Yoga Expert | Life Coach

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस व्यक्ति से हम प्रेम करते हैं उसकी खुशी में हम खुश होते हैं उसकी जीत में हमें खुशी होती है तो ऐसे व्यक्ति से जिसकी जीत हमें खुश करती है उससे हार जाने में हमें खुशी की अनुभूति होती है आप देखें कि जब भी आप किसी को प्रेम करते हैं तो आप उसे दुखी होते देखना नहीं चाहते और इस संसार में कोई हारना नहीं चाहता ऐसे में वह व्यक्ति जिसे आप हमेशा खुश रखना चाहते हैं अगर वह बिहार के दुखी हो तो याद करते ही नहीं चाहेंगे तो ऐसे व्यक्ति को जिसको आप हमेशा खुश देखना चाहते हैं उस से हार जाने पर जब वह खुश होगा तो इससे आपको खुशी होगी इसलिए व्यक्ति जिस से प्रेम करता है या कह सकते हैं कि जिसमें वह अपने आपको देखता है उससे हार जाने में उसे अपनी हार नहीं बल्कि जीत का अनुभव होता है इसको दूसरे शब्दों में अपनी यह भी कह सकते जिस व्यक्ति से हार जाने के बाद भी आपको अपनी जीत की अनुभूति हो उसकी हार में आपको खुशी होती है अन्यथा हार में कोई खुश नहीं होता जिस जिससे जिसको आप खुश रखना चाहते हैं वह दुखी ना हो इसलिए आप उससे हार कर उसे खुशी देते हैं तो इसमें यह हार नहीं है यह एक प्रकार की जीत है आपकी क्योंकि आप जैसे खुश देखना चाहते थे कुछ रखना चाहते थे वह आपके हर आने से खुश है तो इसलिए उस व्यक्ति के से हार जाने में आपको खुशी होगी जो व्यक्ति आपके हार जाने पर भी आपको जीत की अनुभूति कराएं धन्यवाद

jis vyakti se hum prem karte hain uski khushi mein hum khush hote hain uski jeet mein hamein khushi hoti hai toh aise vyakti se jiski jeet hamein khush karti hai usse haar jaane mein hamein khushi ki anubhuti hoti hai aap dekhen ki jab bhi aap kisi ko prem karte hain toh aap use dukhi hote dekhna nahi chahte aur is sansar mein koi harana nahi chahta aise mein vaah vyakti jise aap hamesha khush rakhna chahte hain agar vaah bihar ke dukhi ho toh yaad karte hi nahi chahenge toh aise vyakti ko jisko aap hamesha khush dekhna chahte hain us se haar jaane par jab vaah khush hoga toh isse aapko khushi hogi isliye vyakti jis se prem karta hai ya keh sakte hain ki jisme vaah apne aapko dekhta hai usse haar jaane mein use apni haar nahi balki jeet ka anubhav hota hai isko dusre shabdon mein apni yah bhi keh sakte jis vyakti se haar jaane ke baad bhi aapko apni jeet ki anubhuti ho uski haar mein aapko khushi hoti hai anyatha haar mein koi khush nahi hota jis jisse jisko aap khush rakhna chahte hain vaah dukhi na ho isliye aap usse haar kar use khushi dete hain toh isme yah haar nahi hai yah ek prakar ki jeet hai aapki kyonki aap jaise khush dekhna chahte the kuch rakhna chahte the vaah aapke har aane se khush hai toh isliye us vyakti ke se haar jaane mein aapko khushi hogi jo vyakti aapke haar jaane par bhi aapko jeet ki anubhuti karaye dhanyavad

जिस व्यक्ति से हम प्रेम करते हैं उसकी खुशी में हम खुश होते हैं उसकी जीत में हमें खुशी होती

Romanized Version
Likes  110  Dislikes    views  774
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!