यदि भारत और पाकिस्तान एक हो जाए तो क्या होगा?...


user
2:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहली बात तो यह है कि भारत और पाकिस्तान को आप क्यों मिलाना चाहते हैं क्यों एक करना चाहते हैं एक करके कोई लाभ होने वाला नहीं है एक तो वैसे ही वहां युद्ध उन्माद है वहां की जो सांप्रदायिक शक्तियां हैं और जो संगठन है आतंकवादी वह नाक में दम किए हुए हैं पाकिस्तान अपने ही भस्मासुर से मुखातिब है तो ऐसे में आप देख रहे हैं नक्सलवादियों का हौसला देख रहे हैं नक्सलवादी क्या कर रहा है भारत में यह भी देख रहे हैं एक ऊपर से पाकिस्तान का बोल लेना और एक ऐसी आर्थिक संकट से जूझ रहे थे इसका को मिलाना यह जायज नहीं है यह कुछ वैसा ही है जैसे बैंकों का विलय कमजोर बैंक को उठाकर आप मजबूत बैंक में मिला दीजिए तो मजबूत बैंक भी बीमार पड़ जाता है वैसे तू यहां पर भी है वही सेम सिचुएशन वही सेम कंडीशन भारत एक समृद्ध देश है और पाकिस्तान जैसा निकम्मा देश जिसको आप अगर मिला दे भारत में तो भारत की आर्थिक स्थिति वैसे ही अभी आर्थिक मंदी चल रही है और बात के संदर्भ में भी वहां पर अभी भी बोलो मध्यकाल में जी रहे अभी भी वह लोग बिल्कुल ऐसे जी रहे हैं जैसे कि कबीले होते हैं अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग संप्रभुता की मांग हो रही है पाकिस्तान में सिंध अपना अलग देश चाहता है कि इन दिनों अपना अलग देश चाहते हैं बलूच अलग होना चाहते हैं गिलगित बालटिस्तान अलग होना चाहता है तो ऐसे में पाकिस्तान को मिला लेना भारत में कहीं से भी अपने देश के लिए हितकर नहीं है इसलिए पाकिस्तान को मिलाना ही यह सोचना ही बेबुनियाद है उसको मिलाने के बाद इसके कुछ पॉजिटिव चेंज हो सकते हैं सबसे पहले पॉजिटिव पॉजिटिव भी यही हो सकता है कि हमारा जो व्यापार है वह अफगानिस्तान ईरान इराक से बढ़ जाएगा क्योंकि पाकिस्तान को हम मिला लेंगे तो जो औरत है हम लोगों का व्यापार के लिए उधर से तो वह खत्म हो जाएगा हिंदूकुश के रास्ते होकर जो व्यापार होने लगेगा लेकिन उसको मिलाने की जरूरत नहीं है पाकिस्तान को उसको मिलाने से लाभ ना के बराबर हानियां ही ज्यादा होंगे

sabse pehli baat toh yah hai ki bharat aur pakistan ko aap kyon milana chahte hain kyon ek karna chahte hain ek karke koi labh hone vala nahi hai ek toh waise hi wahan yudh unmaad hai wahan ki jo sampradayik shaktiyan hain aur jo sangathan hai aatankwadi vaah nak mein dum kiye hue hain pakistan apne hi bhasmasur se mukhatib hai toh aise mein aap dekh rahe hain naksalavadiyon ka hausla dekh rahe hain naksalwadi kya kar raha hai bharat mein yah bhi dekh rahe hain ek upar se pakistan ka bol lena aur ek aisi aarthik sankat se joojh rahe the iska ko milana yah jayaj nahi hai yah kuch waisa hi hai jaise bankon ka vilay kamjor bank ko uthaakar aap majboot bank mein mila dijiye toh majboot bank bhi bimar pad jata hai waise tu yahan par bhi hai wahi same situation wahi same condition bharat ek samriddh desh hai aur pakistan jaisa nikamma desh jisko aap agar mila de bharat mein toh bharat ki aarthik sthiti waise hi abhi aarthik mandi chal rahi hai aur baat ke sandarbh mein bhi wahan par abhi bhi bolo madhyakaal mein ji rahe abhi bhi vaah log bilkul aise ji rahe hain jaise ki kabile hote hain alag alag jagaho par alag alag samprabhuta ki maang ho rahi hai pakistan mein sindh apna alag desh chahta hai ki in dino apna alag desh chahte hain baluch alag hona chahte hain gilgit baltistan alag hona chahta hai toh aise mein pakistan ko mila lena bharat mein kahin se bhi apne desh ke liye hitakar nahi hai isliye pakistan ko milana hi yah sochna hi bebuniyad hai usko milaane ke baad iske kuch positive change ho sakte hain sabse pehle positive positive bhi yahi ho sakta hai ki hamara jo vyapar hai vaah afghanistan iran iraq se badh jaega kyonki pakistan ko hum mila lenge toh jo aurat hai hum logo ka vyapar ke liye udhar se toh vaah khatam ho jaega hindukush ke raste hokar jo vyapar hone lagega lekin usko milaane ki zarurat nahi hai pakistan ko usko milaane se labh na ke barabar haniyan hi zyada honge

सबसे पहली बात तो यह है कि भारत और पाकिस्तान को आप क्यों मिलाना चाहते हैं क्यों एक करना चाह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  87
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!