क्या भारत सच में आज़ाद है?...


play
user

Farhan Yahiya

Chief Reporter

0:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले हमारी दूसरी तरह की गुलामी थी अंग्रेजों की और आज हमारी दूसरी तरह की गुलामी है इस तरीके की आजकल हुकूमत है उन्होंने भी गुलाम ही बनाया हुआ है हिंदुस्तानी तो आज आजाद हो करके डिस्टर्ब नजर आते हैं और हकीकत यह है कि अगर इस देश के अंदर गुलामी का दूसरा नाम अगर दिया जाए तो गुलामी का दूसरा नाम सिर्फ और सिर्फ आज की सरकारों की वजह से मैं कहना चाहूंगा कि वह हालत है कि उस वक्त की गुलामी बेहतर थी उन अंग्रेजों की जिन्होंने कम से कम देश के अंदर ऐसी ऐसी ऐसी ऐसी इमारतें खूबसूरती के साथ बनाकर खड़ी कर दी के उन्हीं में बैठ कर के हमारे जो राजनेता है राजनीति कर रहे हैं चाहे पार्लिमेंट हो चाहे नॉर्थ ब्लॉक साउथ ब्लॉक हो चाहे इंडिया गेट होना चाहिए राष्ट्रपति भवन हो आज तो कोई बना कर के दिखाते पहले गुलामी अच्छी थी आज की आजादी से

pehle hamari dusri tarah ki gulami thi angrejo ki aur aaj hamari dusri tarah ki gulami hai is tarike ki aajkal hukumat hai unhone bhi gulam hi banaya hua hai hindustani toh aaj azad ho karke disturb nazar aate hain aur haqiqat yeh hai ki agar is desh ke andar gulami ka doosra naam agar diya jaye toh gulami ka doosra naam sirf aur sirf aaj ki sarkaro ki wajah se main kehna chahunga ki wah halat hai ki us waqt ki gulami behtar thi un angrejo ki jinhone kam se kam desh ke andar aisi aisi aisi aisi imaarate khoobsoorti ke saath banakar khadi kar di ke unhin mein baith kar ke hamare jo raajneta hai rajneeti kar rahe hain chahe Parliament ho chahe north block south block ho chahe india gate hona chahiye Rashtrapati bhawan ho aaj toh koi bana kar ke dikhate pehle gulami acchi thi aaj ki azadi se

पहले हमारी दूसरी तरह की गुलामी थी अंग्रेजों की और आज हमारी दूसरी तरह की गुलामी है इस तरीके

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  460
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे ख्याल से नहीं पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थी और आजकल हमारा भ्रष्टाचार के गुलाम हैं और जो कुछ तरफ से नेता हैं उनके गुलाम है क्योंकि ना तो दूसरा यहां पर बिल्कुल वह जातिवाद जातिवादी मानसिकता के गुलाम हैं और कुछ ऐसे ही मन रखो जो कल पिक्चर जो सामाजिक कल पिक्चर जिनको जो छुपे हुए हैं उनके गुलाम है हम तो आज भी मैं नहीं मानता कि पूरी तरह से देश में ज्यादा है अगर आजाद होता तो आज गरीबी से काम होता अगर आजाद होता तो आज देश के नागरिक जो इंसानियत और नागरिकता की मतलब दूर भागना है उसे हम पढ़ नहीं पाते और आज हमारा जो जाति वर्ण जो श्रेणी है उसमें ना बताता हमारा देश

mere khayal se nahi pehle hum angrejo ke gulam thi aur aajkal hamara bhrashtachar ke gulam hain aur jo kuch taraf se neta hain unke gulam hai kyonki na toh doosra yahan par bilkul vaah jaatiwad jativadi mansikta ke gulam hain aur kuch aise hi man rakho jo kal picture jo samajik kal picture jinako jo chhupe hue hain unke gulam hai hum toh aaj bhi main nahi maanta ki puri tarah se desh mein zyada hai agar azad hota toh aaj gareebi se kaam hota agar azad hota toh aaj desh ke nagarik jo insaniyat aur nagarikta ki matlab dur bhaagna hai use hum padh nahi paate aur aaj hamara jo jati varn jo shreni hai usme na batata hamara desh

मेरे ख्याल से नहीं पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थी और आजकल हमारा भ्रष्टाचार के गुलाम हैं और

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  42
WhatsApp_icon
user

Kajor Khatra

Journalist

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो बार बार देखा जाए तो सब कुछ फ्री है लेकिन कहीं ना कहीं कुछ चीजें ऐसी होती है जो ऐसी घटनाएं सामने आती है जिसमें मतलब कहीं ना कहीं देखा जाए तो एक राष्ट्र के मतलब होता हुआ दिखाई देता है चाहे वो क्या बोलते दिल्ली की घटना हुई कितनी बार पाकिस्तान के नारे लगे वह कुछ अलग हटके लगती मेरे साथी

dekho baar baar dekha jaaye toh sab kuch free hai lekin kahin na kahin kuch cheezen aisi hoti hai jo aisi ghatnayen saamne aati hai jisme matlab kahin na kahin dekha jaaye toh ek rashtra ke matlab hota hua dikhai deta hai chahen vo kya bolte delhi ki ghatna hui kitni baar pakistan ke nare lage vaah kuch alag hatake lagti mere sathi

देखो बार बार देखा जाए तो सब कुछ फ्री है लेकिन कहीं ना कहीं कुछ चीजें ऐसी होती है जो ऐसी घट

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  46
WhatsApp_icon
user

Amit Awasthi

Journalist

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं अपना ओपिनियन दूं तो मुझे तो नहीं लगता कि अभी ज्यादा कहीं ना कहीं उसी के वजह से

main apna opinion doon toh mujhe toh nahi lagta ki abhi zyada kahin na kahin usi ke wajah se

मैं अपना ओपिनियन दूं तो मुझे तो नहीं लगता कि अभी ज्यादा कहीं ना कहीं उसी के वजह से

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज़िंदगी है भारत देश हमारा 8 तरीके से तो आजाद हो गया लेकिन दूसरी तरीके से आजाद इसलिए नहीं हुआ क्योंकि आज भी अंधविश्वास पाखंड और मानसिकता के गुलाम इस देश में हैं और मारी महिलाएं हैं वह तो आज भी इस से गुजर रही है आपके लिए पता होगा कहीं कहीं बलात्कार हो रहे थे मन नहीं है बेटियों का कहीं भी

zindagi hai bharat desh hamara 8 tarike se toh azad ho gaya lekin dusri tarike se azad isliye nahi hua kyonki aaj bhi andhavishvas pakhand aur mansikta ke gulam is desh mein hain aur mari mahilaen hain vaah toh aaj bhi is se gujar rahi hai aapke liye pata hoga kahin kahin balatkar ho rahe the man nahi hai betiyon ka kahin bhi

ज़िंदगी है भारत देश हमारा 8 तरीके से तो आजाद हो गया लेकिन दूसरी तरीके से आजाद इसलिए नहीं ह

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user

Balwan Singh

Journalist

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे मानना तो यह है लेकिन हमारे कानून जो मरते दम तक

mere manana toh yah hai lekin hamare kanoon jo marte dum tak

मेरे मानना तो यह है लेकिन हमारे कानून जो मरते दम तक

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  37
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको लगता है कि भारत आजाद नहीं हुआ है यह प्रश्न आपका सही है लेकिन मेरे हिसाब से अगर देखा जाए तो भारत वास्तव में आजाद है कि आपका नकारात्मक दृष्टिकोण जो है आप सब आप लोगों जैसा बना कर रखे हैं कि भारत आजाद नहीं हुआ है कि हमारे देश के लिए और हमारे युवाओं के लिए और हमारे अपने लोग हैं जिस समाज में हम रहते हैं समाज की बहुत ही हानिकारक है और इसका कहीं न कहीं गलत प्रभाव देखने को मिलता है सभी कितनी बार को नकारात्मक दृष्टिकोण बैठा है कि हम आज भी आजाद नहीं हुए हैं हम फल आपले सरकार से हम आज तक गुलामी अगर मैं कहूं तो मैं आजाद है और आपको अपनी सबसे पहले ही विचार बदलने होंगे कि आज याद नहीं है कि क्षेत्र में आप आजाद नहीं है क्या आपको पता नहीं है और हर तरह की स्वतंत्रता का अधिकार सब कुछ आपको दिया गया है फिर भी आपको लगता है कि आप आजाद नहीं है तो कैसा समाज आपको चाहिए कि किस तरीके का माहौल से जिसमें आपको आजादी दिखती है तो मैं चाहूंगा कि आप मुझे पुनः किशन करें मुझसे मेरी गलती है तो क्षमा चाहूंगा लेकिन आप बताइए

aapko lagta hai ki bharat azad nahi hua hai yah prashna aapka sahi hai lekin mere hisab se agar dekha jaaye toh bharat vaastav mein azad hai ki aapka nakaratmak drishtikon jo hai aap sab aap logon jaisa bana kar rakhe hain ki bharat azad nahi hua hai ki hamare desh ke liye aur hamare yuvaon ke liye aur hamare apne log hain jis samaaj mein hum rehte hain samaaj ki bahut hi haanikarak hai aur iska kahin na kahin galat prabhav dekhne ko milta hai sabhi kitni baar ko nakaratmak drishtikon baitha hai ki hum aaj bhi azad nahi hue hain hum fal aaple sarkar se hum aaj tak gulaami agar main kahun toh main azad hai aur aapko apni sabse pehle hi vichar badalne honge ki aaj yaad nahi hai ki kshetra mein aap azad nahi hai kya aapko pata nahi hai aur har tarah ki swatatrata ka adhikaar sab kuch aapko diya gaya hai phir bhi aapko lagta hai ki aap azad nahi hai toh kaisa samaaj aapko chahiye ki kis tarike ka maahaul se jisme aapko azadi dikhti hai toh main chahunga ki aap mujhe punh kishan karen mujhse meri galti hai toh kshama chahunga lekin aap bataiye

आपको लगता है कि भारत आजाद नहीं हुआ है यह प्रश्न आपका सही है लेकिन मेरे हिसाब से अगर देखा ज

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  255
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
bharat ki azadi ka sach ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!