सामाजिक नियंत्रण के अभी कारणों का वर्णन करें?...


user
2:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सामाजिक नियंत्रण के कई तरीके हैं लेकिन मैं कानूनी तरीके की बात नहीं करूंगा मैं एक समाजशास्त्र में हूं सामाजिक नियंत्रण में सबसे बड़ी भूमिका निभाती है कि हमारे परिवार में हमें क्या सिखाया गया है हमारे पड़ोसी कैसे हैं हमारे प्लेग्रुप याने बच्चे जो छोटे बच्चे जो खेलते हैं आपस में वह कैसे हैं इसलिए आप देखेंगे कि लोग जब घर खरीदते हैं या किराए से लेते हैं तो पड़ोसी भी देखते हैं यह तीन चीजें सबसे महत्वपूर्ण रोल अदा करती है लेकिन सबसे बड़ी चीज जो है सामाजिक नियंत्रण में वह होता है हम धर्म धर्म वैज्ञानिक तरीके से तर्कों से साबित करना या नहीं करना एक अलग बात है लेकिन बचपन से चाय हम किसी भी धर्म पैदा हो हिंदू मुस्लिम सिख इसाई हमें कुछ बचपन में सिखा दिया जाता है कि जैसे यह करना पाप है यह करने करना यह नहीं करना यह भी गलत है यह करना ही चाहिए तो सामाजिक नियंत्रण में सबसे बड़ी भूमिका धर्म का होता है एक उदाहरण द्वारा आप को समझाना चाहता हूं कि मैं जिस शहर में रहता हूं उसकी आबादी करीब करीब 12 से 15 लाख और वहां केवल हाउ निगरानी सुधा बदमाश है उसमें पुलिस परेशान हो जाती है 10 15 लाख में 100 लोगों के लिए पुलिस परेशान हो जाती है आप कल्पना कीजिए कि हम 10 से 1500000 लोगों में 500000 लोग रहते हो जाए तो काम कुछ कर सकता है क्या नहीं उन 100 200 लोगों को छोड़कर बाकी लोग सामाजिक नियंत्रण में धर्म संस्कार परिवार का प्रथम परंपराएं और सबसे बड़ी बात लोग क्या कहेंगे शायद इसी का नाम समाज है इसके द्वारा ही सामाजिक नियंत्रण होता है

samajik niyantran ke kai tarike hain lekin main kanooni tarike ki baat nahi karunga main ek samajshastra mein hoon samajik niyantran mein sabse badi bhumika nibhati hai ki hamare parivar mein hamein kya sikhaya gaya hai hamare padosi kaise hain hamare plegrup yane bacche jo chote bacche jo khelte hain aapas mein vaah kaise hain isliye aap dekhenge ki log jab ghar kharidte hain ya kiraye se lete hain toh padosi bhi dekhte hain yah teen cheezen sabse mahatvapurna roll ada karti hai lekin sabse badi cheez jo hai samajik niyantran mein vaah hota hai hum dharm dharam vaigyanik tarike se tarkon se saabit karna ya nahi karna ek alag baat hai lekin bachpan se chai hum kisi bhi dharm paida ho hindu muslim sikh isai hamein kuch bachpan mein sikha diya jata hai ki jaise yah karna paap hai yah karne karna yah nahi karna yah bhi galat hai yah karna hi chahiye toh samajik niyantran mein sabse badi bhumika dharm ka hota hai ek udaharan dwara aap ko samajhana chahta hoon ki main jis shehar mein rehta hoon uski aabadi kareeb kareeb 12 se 15 lakh aur wahan keval how nigrani sudha badamash hai usme police pareshan ho jaati hai 10 15 lakh mein 100 logo ke liye police pareshan ho jaati hai aap kalpana kijiye ki hum 10 se 1500000 logo mein 500000 log rehte ho jaaye toh kaam kuch kar sakta hai kya nahi un 100 200 logo ko chhodkar baki log samajik niyantran mein dharm sanskar parivar ka pratham paramparayen aur sabse badi baat log kya kahenge shayad isi ka naam samaj hai iske dwara hi samajik niyantran hota hai

सामाजिक नियंत्रण के कई तरीके हैं लेकिन मैं कानूनी तरीके की बात नहीं करूंगा मैं एक समाजशास्

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  247
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!