समाजशास्त्र को कॉम्टे ने किस रूप में परिभाषित किया था?...


user

Deepa Misra

volunteers

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समाजशास्त्र को काम देने किस रूप में परिभाषित किया अगस्त काम्टे समाजशास्त्र के जन्मदाता माने जाते हैं क्योंकि उन्होंने ही 1838 इसी में प्रथम तथा समाजशास्त्र का प्रयोग किया था उन्होंने अपना अधिक ध्यान समाजशास्त्र के अस्तित्व को स्वीकार करवाने में ही लगाया वर्षों में काम थे क्योंकि समाजशास्त्र को एक ऐसा विज्ञान मानते थे जिसमें सभी दृष्टिकोण को एक साथ चक्कर अध्ययन किया जा सकता है उन्होंने इसकी कोई विषय वस्तु निर्धारित नहीं की है उन्होंने समाजशास्त्र की दो शाखाओं सामाजिक आर्थिक एवं सामाजिक गत्यात्मक ता का उल्लेख किया है प्रथम शाखा में उन्होंने अर्थव्यवस्था परिवार राजनीति आदि प्रमुख संस्थाओं के विश्लेषण पर बल दिया है जबकि दूसरी शाखा में समाज को इकाई मानकर इसके विकास एवं परिवर्तन के अध्ययन पर बल दिया है उन्होंने समाज का समग्र रूप में अध्ययन करने को ही नहीं अब तो समाजों के तुलनात्मक अध्ययन को भी समाजशास्त्र का विषय वस्तु कार किया है

samajshastra ko kaam dene kis roop mein paribhashit kiya august kamte samajshastra ke janmadata maane jaate hain kyonki unhone hi 1838 isi mein pratham tatha samajshastra ka prayog kiya tha unhone apna adhik dhyan samajshastra ke astitva ko sweekar karwane mein hi lagaya varshon mein kaam the kyonki samajshastra ko ek aisa vigyan maante the jisme sabhi drishtikon ko ek saath chakkar adhyayan kiya ja sakta hai unhone iski koi vishay vastu nirdharit nahi ki hai unhone samajshastra ki do shakhaon samajik aarthik evam samajik gatyatmak ta ka ullekh kiya hai pratham shakha mein unhone arthavyavastha parivar raajneeti aadi pramukh sasthaon ke vishleshan par bal diya hai jabki dusri shakha mein samaj ko ikai maankar iske vikas evam parivartan ke adhyayan par bal diya hai unhone samaj ka samagra roop mein adhyayan karne ko hi nahi ab toh Samajon ke tulnaatmak adhyayan ko bhi samajshastra ka vishay vastu car kiya hai

समाजशास्त्र को काम देने किस रूप में परिभाषित किया अगस्त काम्टे समाजशास्त्र के जन्मदाता मान

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  653
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!