सोने के बाद खर्राटें ज़्यादा होता है इसका कोई उपाए बताएं?...


user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका बिजनेस सोने के बाद खर्राटे ज्यादा होते हैं इसका कोई उपाय बताएं कि खराटे होने का कारण होते हैं आपका जो नेजल पैसेज है उसमें ब्लॉकेज है कभी भी आप देखिए जवाब खर्राटे लेते हैं तो सांस आप मुंह से लेते हैं आपकी रात में आंख खुलती है या सुबह खुलती है तो आपका गला ड्राई होता है इसका मतलब यह है कि आप माउथ वेट कर रहे हैं जो आपके लिए डेंजरस है तो नाक से अगर आप सांस लेते हैं तो बहुत से रोगों से बचे रहते हैं इसके लिए सुबह-शाम आप कपालभाति अनुलोम विलोम करें और साथ में रात में सोते समय गाय की की की दो-दो बूंद आप नाक में डालें विद इन 1 मंथ आप देखेंगे बहुत जबरदस्त अमेजिंग चेंज आपको देखने को मिलेंगे आर यू

aapka business sone ke baad kharrate zyada hote hai iska koi upay bataye ki kharate hone ka karan hote hai aapka jo nejal passage hai usme blockage hai kabhi bhi aap dekhiye jawab kharrate lete hai toh saans aap mooh se lete hai aapki raat mein aankh khulti hai ya subah khulti hai toh aapka gala dry hota hai iska matlab yah hai ki aap mouth wait kar rahe hai jo aapke liye dangerous hai toh nak se agar aap saans lete hai toh bahut se rogo se bache rehte hai iske liye subah shaam aap kapalbhati anulom vilom kare aur saath mein raat mein sote samay gaay ki ki ki do do boond aap nak mein Daalein with in 1 month aap dekhenge bahut jabardast amazing change aapko dekhne ko milenge R you

आपका बिजनेस सोने के बाद खर्राटे ज्यादा होते हैं इसका कोई उपाय बताएं कि खराटे होने का कारण

Romanized Version
Likes  296  Dislikes    views  2894
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Radha Mohan

Yoga & Naturopathy Expert

4:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चार दोस्तों के सोने के बाद करंट पैदा होते हैं इसका कोई उपाय बताएं तो हर व्यक्ति अपने जीवन में कभी न कभी खर्राटे लेता ही है यह बात अलग है कि जो लिख लेता है उसको पता नहीं चलता परंतु जो उसके बगल में सो रहा होता है वह व्यक्ति से डिस्टरबेंस होता है और उसको बहुत ज्यादा इरिटेशन होता है क्यों होते हैं कटरा टाइम सोते समय सांस लेते हैं तो हमारे जो गले की जिस दिन है उस अरे टिशूज होते हैं तो वह वाइब्रेट जब करते हैं तो उस प्रकार की आवाज आती है कर कर यार किसी गड़बड़ी आवाज इतना आने लगती है और यही दोस्तों एक खर्राटों का रूप होता है बात करते हैं कि यह करंट क्यों होते हैं यह तो उसने उसके बहुत से कारण है जब हमारा मोटापा अधिक हो जाता है दोस्तों हमारे हो जाती तो हम सांस लेते हैं उस प्रकार के होते हैं जो व्यक्ति पीठ के बल होता है तो उसके दोस्त पाई जाती है इस प्रकार का कोई सेवन करता है शराब का सेवन करता है धूम्रपान का सेवन करता है दोस्तों को गले की जो स्क्रीन है वह शिथिल हो जाती है और इस वजह से उनके आने लगते हैं इसके साथ चार दोस्तों जब कोई व्यक्ति की नींद पूरी नहीं होती है बहुत ज्यादा दिमाग मिस्ट्रेस देता है चिड़चिड़ापन करता है तो उस समय भी दोस्तों एक सही तरह से और क्वालिटी वाले नींद नहीं आती है तो फिर इस प्रकार के खर्राटे आते और भी बहुत से कारण हो सकते हैं आप जानते हैं उनकी इस प्रकार करंट को हम कैसे दूर कर सकते हैं उसको हम सबसे पहले बात करेंगे कि प्राकृतिक तरीके से इन को कैसे ठीक करें सबसे पहले हमें अपनी जो सोने का तरीका है वॉइस में चेंज करना है पीठ के बल नहीं सोएंगे दिया पीठ के बल सोएंगे तो आपकी पटेलन की टेंशन ज्यादा रहेंगे आप कोशिश करें कि बाई करवट लेकर फिर से बाई करवट लेकर सोएंगे तो उससे आपकी की जो शरीर में जो सूर्य नाड़ी है वह एक्टिव रहेगी और जनानी एक्टिव रहेगी तो फिर आप को खर्राटे नहीं आएंगे दूसरा उपाय है दोस्तों जवाब तो उस समय गाय का शुद्ध देशी घी की एक-एक बूंद दोनों नाचा ग्रह में आप सब हटाएं और जब नाक के अंदर जाएगा तो हमारी जो स्किन है वहां के लिए टीचर करेगा जो स्किन जो वहां पर रखो चुकी है जो ड्राइनेस खत्म करेगा और जम्मू सर आएगा तो उसने तो फिर इस प्रकार के आने में कमी आएगी इसके साथ-साथ दोस्तों आप इसी प्रकार के नशे और दुकान से बचें यदि इनको आप अपने जीवन में अपना तो है तो कर्नाटक में से वृद्धि पाई जाती है और इससे बहुत ज्यादा खर्राटे आने लग जाते हैं उसने भी बहुत ज्यादा ओवर बैठे उसको ब्रिटिश करना चाहिए पेट जितना कम होगा उसमें करंट आने की जरूरत ही कम होगी यह सारी चीजें बहुत ज्यादा नहीं करेंगे ऐसा भजन जो आपका डाइजेस्ट नहीं हो पाएगा तो फिर दोस्तों हमारी जो श्वास लेने की जो रहती है क्यों नेचुरल पिपरिया प्रोसेस है उसमें कहीं न कहीं डिस्टर्ब होगा और जो 2 घंटे की पूरी हो जाएगी याद आएंगे इस प्रकार हम खानपान पर अपनी लाइफ स्टाइल से संबंधित इस प्रकार की आदतों में बदलाव लाकर रख को कम कर सकते हैं किस प्रकार हम योग का अभ्यास करें जिससे करा दो कम कर सकें या तू कर सबसे अच्छा जो असर होता है वह हमारे प्राणायाम से होता है अनुलोम-विलोम प्राणायाम का अभ्यास करते हैं तो हमारे शरीर में सूर्य और चंद्र नाड़ी का बैलेंस बनता है यहां की जो सभी गाड़ियां हैं हमारे शरीर को शुद्ध होती है और इनका जो ब्लड दोस्तों दूषित हो चुके कितने मीटर सारे बाहर निकलते हैं इनकी जो कार्यप्रणाली को सुधरती है और खासतौर तो हमारा रेस्पिरेटरी सिस्टम दोस्तों बहुत ही आश्चर्यजनक परिणाम आते हैं जब हम अनुलोम विलोम प्राणायाम करते हैं जो हमारे गले के जितने भी उसी का है जितने भी मित्र की टोन बनती है वहां ब्लड और ऑक्सीजन की भरपूर मात्रा में सप्लाई होती है तो इस प्रकार की जो वाइब्रेशन होती वह खत्म होती है और इसमें बेहद फायदा होता है कराटे की समस्याओं के सबसे दोस्तों हम प्रयास कर सकते हैं कपालभाति करते हैं और ऐसा होता है तो दोस्तों हम बहुत चांस कम होते हैं कि कोई व्यक्ति खर्राटे लेगा उसके साथ सा दोस्तों एक प्रणब और है उसको हम बोलते हैं भस्त्रिका प्राणायाम भस्त्रिका प्राणायाम का अभ्यास किया जाता है और खर्राटे लेने की प्रवृत्ति धीरे-धीरे कम हो जाती है इस प्रकार प्राकृतिक उपाय करके और योग का अभ्यास करते रहो की प्रॉब्लम से अपने आप को दूर कर सकते हैं धन्यवाद

char doston ke sone ke baad current paida hote hain iska koi upay bataye toh har vyakti apne jeevan mein kabhi na kabhi kharrate leta hi hai yah baat alag hai ki jo likh leta hai usko pata nahi chalta parantu jo uske bagal mein so raha hota hai vaah vyakti se distarabens hota hai aur usko bahut zyada irritation hota hai kyon hote hain katra time sote samay saans lete hain toh hamare jo gale ki jis din hai us are tishuj hote hain toh vaah vibrate jab karte hain toh us prakar ki awaaz aati hai kar kar yaar kisi gadbadi awaaz itna aane lagti hai aur yahi doston ek kharraton ka roop hota hai baat karte hain ki yah current kyon hote hain yah toh usne uske bahut se karan hai jab hamara motapa adhik ho jata hai doston hamare ho jaati toh hum saans lete hain us prakar ke hote hain jo vyakti peeth ke bal hota hai toh uske dost payi jaati hai is prakar ka koi seven karta hai sharab ka seven karta hai dhumrapaan ka seven karta hai doston ko gale ki jo screen hai vaah shithil ho jaati hai aur is wajah se unke aane lagte hain iske saath char doston jab koi vyakti ki neend puri nahi hoti hai bahut zyada dimag mistress deta hai chidchidapan karta hai toh us samay bhi doston ek sahi tarah se aur quality waale neend nahi aati hai toh phir is prakar ke kharrate aate aur bhi bahut se karan ho sakte hain aap jante hain unki is prakar current ko hum kaise dur kar sakte hain usko hum sabse pehle baat karenge ki prakirtik tarike se in ko kaise theek kare sabse pehle hamein apni jo sone ka tarika hai voice mein change karna hai peeth ke bal nahi soenge diya peeth ke bal soenge toh aapki patelan ki tension zyada rahenge aap koshish kare ki bai karavat lekar phir se bai karavat lekar soenge toh usse aapki ki jo sharir mein jo surya naadi hai vaah active rahegi aur janani active rahegi toh phir aap ko kharrate nahi aayenge doosra upay hai doston jawab toh us samay gaay ka shudh deshi ghee ki ek ek boond dono nacha grah mein aap sab hataye aur jab nak ke andar jaega toh hamari jo skin hai wahan ke liye teacher karega jo skin jo wahan par rakho chuki hai jo draines khatam karega aur jammu sir aayega toh usne toh phir is prakar ke aane mein kami aayegi iske saath saath doston aap isi prakar ke nashe aur dukaan se bache yadi inko aap apne jeevan mein apna toh hai toh karnataka mein se vriddhi payi jaati hai aur isse bahut zyada kharrate aane lag jaate hain usne bhi bahut zyada over baithe usko british karna chahiye pet jitna kam hoga usme current aane ki zarurat hi kam hogi yah saree cheezen bahut zyada nahi karenge aisa bhajan jo aapka Digest nahi ho payega toh phir doston hamari jo swas lene ki jo rehti hai kyon natural piparia process hai usme kahin na kahin disturb hoga aur jo 2 ghante ki puri ho jayegi yaad aayenge is prakar hum khanpan par apni life style se sambandhit is prakar ki aadaton mein badlav lakar rakh ko kam kar sakte hain kis prakar hum yog ka abhyas kare jisse kara do kam kar sake ya tu kar sabse accha jo asar hota hai vaah hamare pranayaam se hota hai anulom vilom pranayaam ka abhyas karte hain toh hamare sharir mein surya aur chandra naadi ka balance baata hai yahan ki jo sabhi gadiyan hain hamare sharir ko shudh hoti hai aur inka jo blood doston dushit ho chuke kitne meter saare bahar nikalte hain inki jo Karya Pranali ko sudhrati hai aur khaasataur toh hamara respiratory system doston bahut hi aashcharyajanak parinam aate hain jab hum anulom vilom pranayaam karte hain jo hamare gale ke jitne bhi usi ka hai jitne bhi mitra ki tone banti hai wahan blood aur oxygen ki bharpur matra mein supply hoti hai toh is prakar ki jo vibration hoti vaah khatam hoti hai aur isme behad fayda hota hai karate ki samasyaon ke sabse doston hum prayas kar sakte hain kapalbhati karte hain aur aisa hota hai toh doston hum bahut chance kam hote hain ki koi vyakti kharrate lega uske saath sa doston ek pranab aur hai usko hum bolte hain bhastrika pranayaam bhastrika pranayaam ka abhyas kiya jata hai aur kharrate lene ki pravritti dhire dhire kam ho jaati hai is prakar prakirtik upay karke aur yog ka abhyas karte raho ki problem se apne aap ko dur kar sakte hain dhanyavad

चार दोस्तों के सोने के बाद करंट पैदा होते हैं इसका कोई उपाय बताएं तो हर व्यक्ति अपने जीवन

Romanized Version
Likes  172  Dislikes    views  1700
WhatsApp_icon
user

Akash Mishra

Yoga Expert | Author | Naturopathist | Acupressure Specialist |

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अकबर की सोने के सोने के बाद खराटे ज्यादा आते हैं इसका कोई उपाय है कि योग में इसका बहुत अच्छा उपाय है और दूसरी चीज है कि आपको इसके ऊपर बहुत ज्यादा ध्यान इसके देना चाहिए क्योंकि एक बीमारी होती इसलिए पत्नियां थी यदि आपने खर्राटों पर भूल जाना ध्यान नहीं दिया कि क्लिप अपनी अच्छी बीमारी हो सकती है वह जो कि एक घातक बीमारी है तो इसलिए अपने दांतों की समस्या पर अधिक से अधिक को जल्दी से जल्दी आप को ध्यान देना चाहिए खराटे पर नियंत्रण करने के लिए आपको सबसे पहली बात तो यह है कि गर्दन से जुड़े हुए एक्सरसाइज करनी चाहिए अगर आपको गर्दन से जुड़े हुए एक्सरसाइज जानने है तो मेरे यूट्यूब चैनल आकाश योग में ग्रीवा शक्ति विकासक क्रियाओं के बारे में वर्णन किया गया है वीडियो से उसकी का फोन वीडियोस को देख सकते हैं उसके बाद में आपको जल नीति का अभ्यास करना है और सबसे ज्यादा जो आवश्यक इसमें क्रिया है वह उज्जाई प्राणायाम आंखों उज्जाई प्राणायाम का अभ्यास करना है वह जाईब राणा राम के अभ्यास से खर्राटे स्लीप एपनिया थायराइड इन सब से संबंधित जितनी भी समस्या है उन समस्याओं में आपको बहुत ही विशेष लाभ मिलेगा और यह बिल्कुल रामबाण है किसी योग विशेषज्ञ के सानिध्य में आतंकियों को करते हैं तो आपको और जल्दी लाभ मिलेगा तो यह आपके प्रश्न का उत्तर था मेरा नाम आकाश मिश्रा है और मैं लखनऊ में एक युवक एक्सपर्ट मेरा युटुब चैनल आकाश योग नाम से यूट्यूब पर है तो कृपया इस चैनल को सब्सक्राइब लाइक कमेंट और अधिक से अधिक शेयर करें धन्यवाद

akbar ki sone ke sone ke baad kharate zyada aate hain iska koi upay hai ki yog mein iska bahut accha upay hai aur dusri cheez hai ki aapko iske upar bahut zyada dhyan iske dena chahiye kyonki ek bimari hoti isliye patniya thi yadi aapne kharraton par bhool jana dhyan nahi diya ki clip apni achi bimari ho sakti hai vaah jo ki ek ghatak bimari hai toh isliye apne danton ki samasya par adhik se adhik ko jaldi se jaldi aap ko dhyan dena chahiye kharate par niyantran karne ke liye aapko sabse pehli baat toh yah hai ki gardan se jude hue exercise karni chahiye agar aapko gardan se jude hue exercise jaanne hai toh mere youtube channel akash yog mein griva shakti vikasak kriyaon ke bare mein varnan kiya gaya hai video se uski ka phone videos ko dekh sakte hain uske baad mein aapko jal niti ka abhyas karna hai aur sabse zyada jo aavashyak isme kriya hai vaah ujjai pranayaam aankho ujjai pranayaam ka abhyas karna hai vaah jaib rana ram ke abhyas se kharrate Sleep epniya thyroid in sab se sambandhit jitni bhi samasya hai un samasyaon mein aapko bahut hi vishesh labh milega aur yah bilkul rambaan hai kisi yog visheshagya ke sanidhya mein atankiyo ko karte hain toh aapko aur jaldi labh milega toh yah aapke prashna ka uttar tha mera naam akash mishra hai aur main lucknow mein ek yuvak expert mera yutub channel akash yog naam se youtube par hai toh kripya is channel ko subscribe like comment aur adhik se adhik share kare dhanyavad

अकबर की सोने के सोने के बाद खराटे ज्यादा आते हैं इसका कोई उपाय है कि योग में इसका बहुत अच्

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  508
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!