शायरी क्या है?...


user
0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल यह है कि शायरी क्या है तो इसका जवाब यह है कि शायरी वह है जब हम अपने मन के ऐसा तो कोई मन के जज्बात को कम शब्दों में लेकिन बड़े ही अनोखे अंदाज में दूसरों के सामने बयां करते हैं तो तो शायरी कहते हैं शायरी का इस्तेमाल ज्यादातर अपना प्रेम बयां करने के लिए किया जाता है जैसे कि शब्दों को फूलों की तरह एक गुलदस्ते में बांधकर फील होना उसे ही शायरी कहते हैं

aapka sawaal yah hai ki shaayari kya hai toh iska jawab yah hai ki shaayari vaah hai jab hum apne man ke aisa toh koi man ke jazbaat ko kam shabdon me lekin bade hi anokhe andaaz me dusro ke saamne bayaan karte hain toh toh shaayari kehte hain shaayari ka istemal jyadatar apna prem bayaan karne ke liye kiya jata hai jaise ki shabdon ko fulo ki tarah ek guladaste me bandhkar feel hona use hi shaayari kehte hain

आपका सवाल यह है कि शायरी क्या है तो इसका जवाब यह है कि शायरी वह है जब हम अपने मन के ऐसा तो

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Raza Abbas

Pharmacist, Poet, Writer,

5:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अदा बस वाले के शायरी क्या है शायरी एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां आप नपे तुले अल्फाज में सजाके एक खास पैरामीटर के तहत अपनी बात को दूसरों तक पहुंचा सकते हैं दो चीज होती है खुदा है नजदीक होता है ना सर जो किए वाले हैं बच्चे पढ़ते हैं हैं जो कर रहे हैं बीएफ उनको उस और ऐमेजो करते हैं उनको ही पाया जाता है दीए में जो इन्होंने हिंदी लिया हो जो कि सबसे दोस्त उसमें है वह पढ़ते हैं शादी क्या है शायरी एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां आप अपनी बात को सजाकर रखते हैं जैसा दूसरी चीज दी है शायरी के जरिए हम अच्छे से अच्छे से अच्छे लहजे में और और जो कड़ी से कड़ी बातें हैं उसको दूसरा सामने रख सकते हैं पेश कर सकते हैं शायरी एक खास पैरामीटर होता है इतना नपे तुले यानी एक एक लाइन होती है कैसी लाइन होती है कि जो अपने उसी पैरामीटर के वह अल्फाज उसमें डाले जाते हैं और एक वो कमरे मिश्रा मिलता है तो उसी उसी लाइन के अकॉर्डिंग दूसरा दूसरी लाइन क्रिएट की जाती है तब वह शेर कहलाता है और वह एक मुकम्मल शेर उसको कहते हैं कि यह एक शेर है उसमें बहुत किधर चेक की जाती है जिसका शादी का अभी जो ग्रामर है उसके तहत के शेर बाहर में है कि नहीं इसका काशिया क्या है इसकी जमीन क्या है इसका रुधिर क्या है यह अकल का शेर है किन्नरों का शेर है कि क्या है केएफसी देखा शेर है के जो है वह मतलबी है क्या है यह पार्टी का दूसरी चीज के शायरी शायरी को हम ऐसे भी समझ सकते हैं कि आप एक जाली में एक चौकोर जाली में रोड लिखे रोड को मुंह देखिए हर तरफ से मुंह दीजिए जैसे भी चाहिए मोदी और उस जाली में आप रोड को डालिए तो एक बार में एक एक बार में वह रोड जाली के अंदर से नहीं निकलेगा ठीक है जब तक के 56 बाकी है वह लड़का नहीं हटता नहीं तब तक वह बाहर नहीं निकलेगा तो ऐसे ही शायरी है शायरी के जरिए जो बात हम दूसरों के दिमाग पहुंचाते हैं वह जल्दी पहुंच भी आता है और वह जल्दी दिमाग से नहीं निकलता ठीक है ऐसे और यह कि अगर अल्लामा इकबाल ने सीधे-सीधे अल्फाज में कहा कि हमारा सारे जहां से हिंदुस्तान पूरे जहां से अच्छा है और उसके बराबर कोई नहीं तो शायद आज प्योर लाइन बिल्कुल किसी को याद भी ना रहे लोग उसमें आप अपनी अपनी कोई कोई वीडियो है वह ऐड करते कर दिया होता ना तो वह लाइन जो प्योर लाइन दिवसात किसी को जानना होती लेकिन अल्लामा इकबाल नहीं यही चीज कुछ शायरी के अंदर का शेर के अंदर का नजारा हमने पहले ही कहा कि दो चीज होती है कुत्तिया कुत्तिया नस-नस यानी जो नॉर्मल है जो एक लाइन में कहीं जाए जो जिसमें कोई ए पैरामीटर ना हो कोई ना सुना हो और कोई बाहर न हो इसकी वह नस्ल होता ही नहीं लाइन से बात कीजिए जो इस जिसमें स्टोरी लिखी जाती है स्टोरी राइटिंग होती है वह नस्ल होती है उर्दू शायरी के फॉर्म में होती है जो होटल के फॉर्म में होती है वह नस होती है नज़्म नज़्म और नसीब 2 पार्ट होते हैं लैंग्वेज के तो अपनी बात को नशे में ना कह के नस में डायरी शायरी लैंग्वेज में तो सारे जहां से अच्छा हिंदुस्ता हमारा हम बुलबुले है इसकी ये गुलसिता हमारा यह कब कहा मैंने बहुत पहले कहा लेकिन आज तक लोगों को प्योर लाइन वहीं याद है शायरी शायरी कमाल होता है ठीक है और शायरी इसी को कहते हैं कि कम लफ्ज़ में और 11 पैरामीटर में जो बात कही जाए और शायरी होती है उस उसके पीछे उसका ग्रामर भी होता है और हर चीज उसकी तो ली होती है कोई ना 25 कम होती है ना ज्यादा होती है

ada bus waale ke shaayari kya hai shaayari ek aisa platform hai jaha aap nape tule alfaz mein sajake ek khaas parameter ke tahat apni baat ko dusro tak pohcha sakte hai do cheez hoti hai khuda hai nazdeek hota hai na sir jo kiye waale hai bacche padhte hai hain jo kar rahe hai bf unko us aur aimejo karte hai unko hi paya jata hai diye mein jo inhone hindi liya ho jo ki sabse dost usme hai vaah padhte hai shadi kya hai shaayari ek aisa platform hai jaha aap apni baat ko sajakar rakhte hai jaisa dusri cheez di hai shaayari ke jariye hum acche se acche se acche lahaje mein aur aur jo kadi se kadi batein hai usko doosra saamne rakh sakte hai pesh kar sakte hai shaayari ek khaas parameter hota hai itna nape tule yani ek ek line hoti hai kaisi line hoti hai ki jo apne usi parameter ke vaah alfaz usme dale jaate hai aur ek vo kamre mishra milta hai toh usi usi line ke according doosra dusri line create ki jaati hai tab vaah sher kehlata hai aur vaah ek mukammal sher usko kehte hai ki yah ek sher hai usme bahut kidhar check ki jaati hai jiska shadi ka abhi jo grammar hai uske tahat ke sher bahar mein hai ki nahi iska kashiya kya hai iski jameen kya hai iska rudhir kya hai yah akal ka sher hai kinnaron ka sher hai ki kya hai KFC dekha sher hai ke jo hai vaah matlabi hai kya hai yah party ka dusri cheez ke shaayari shaayari ko hum aise bhi samajh sakte hai ki aap ek jaali mein ek chaukor jaali mein road likhe road ko mooh dekhiye har taraf se mooh dijiye jaise bhi chahiye modi aur us jaali mein aap road ko daaliye toh ek baar mein ek ek baar mein vaah road jaali ke andar se nahi niklega theek hai jab tak ke 56 baki hai vaah ladka nahi hatata nahi tab tak vaah bahar nahi niklega toh aise hi shaayari hai shaayari ke jariye jo baat hum dusro ke dimag pahunchate hai vaah jaldi pohch bhi aata hai aur vaah jaldi dimag se nahi nikalta theek hai aise aur yah ki agar allama iqbal ne sidhe seedhe alfaz mein kaha ki hamara saare jaha se Hindustan poore jaha se accha hai aur uske barabar koi nahi toh shayad aaj pure line bilkul kisi ko yaad bhi na rahe log usme aap apni apni koi koi video hai vaah aid karte kar diya hota na toh vaah line jo pure line divasat kisi ko janana hoti lekin allama iqbal nahi yahi cheez kuch shaayari ke andar ka sher ke andar ka najara humne pehle hi kaha ki do cheez hoti hai kuttiya kuttiya nas nas yani jo normal hai jo ek line mein kahin jaaye jo jisme koi a parameter na ho koi na suna ho aur koi bahar na ho iski vaah nasl hota hi nahi line se baat kijiye jo is jisme story likhi jaati hai story writing hoti hai vaah nasl hoti hai urdu shaayari ke form mein hoti hai jo hotel ke form mein hoti hai vaah nas hoti hai nazm nazm aur nasib 2 part hote hai language ke toh apni baat ko nashe mein na keh ke nas mein diary shaayari language mein toh saare jaha se accha hindusta hamara hum bulbule hai iski ye gulsita hamara yah kab kaha maine bahut pehle kaha lekin aaj tak logo ko pure line wahi yaad hai shaayari shaayari kamaal hota hai theek hai aur shaayari isi ko kehte hai ki kam lafz mein aur 11 parameter mein jo baat kahi jaaye aur shaayari hoti hai us uske peeche uska grammar bhi hota hai aur har cheez uski toh li hoti hai koi na 25 kam hoti hai na zyada hoti hai

अदा बस वाले के शायरी क्या है शायरी एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां आप नपे तुले अल्फाज में सजाके

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसका सवाल एक शायरी क्या है तो बीके शायरी एक एक ऐसा मतलब अब बाकी है जो बच्चे का जो मीनिंग पूरा चेहरा रहता है और उसका जो सर से वह मिला हुआ रहता है तो उसी को ही मतलब शायरी के दो उसका एक अलग सा मतलब लड़ाई सोते हैं तो उसमें भी पैसा लगता है और उसका मीनिंग भी बहुत ही अच्छा रहता है थैंक यू

uska sawaal ek shaayari kya hai toh BK shaayari ek ek aisa matlab ab baki hai jo bacche ka jo meaning pura chehra rehta hai aur uska jo sir se vaah mila hua rehta hai toh usi ko hi matlab shaayari ke do uska ek alag sa matlab ladai sote hain toh usme bhi paisa lagta hai aur uska meaning bhi bahut hi accha rehta hai thank you

उसका सवाल एक शायरी क्या है तो बीके शायरी एक एक ऐसा मतलब अब बाकी है जो बच्चे का जो मीनिंग प

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  326
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!