केंद्र शासित प्रदेश और राज्य शासित प्रदेश में अंतर क्या है ?...


user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

केंद्र शासित प्रदेश और राज्य शासित प्रदेश में अंतर क्या है जो कि केंद्र आप जानते कि देश का एक फेडरल स्ट्रक्चर है जहां पर सेंट्रल के अलग होने स्टेट के अलग-अलग स्टेट में आप का मुख्यमंत्री होता है केंद्र में आपका प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री होता है इसी तरह राष्ट्रपति केंद्र में होता है राज्यपाल स्टेट में होता तो इन दोनों का अलग-अलग साइड स्ट्रक्चर है यूनियन टेरिटरीज वह है जो उसकी सेंट्रल गवर्नमेंट के अंडर वर्क करते हैं वहां मुख्यमंत्री तो हो सकता है कि राजपाल की जगह लेफ्टिनेंट गवर्नर होता है ठीक है और कुछ दो ही है प्रदेश ऐसे एक दिल्ली और दूसरा आप कल पांडिचेरी जा मुख्यमंत्री की अबे अवेलेबिलिटी असुविधा है अदर वाइज कहीं नहीं है तो राज्य का दुशासन होता है केंद्र का दिन होता है जिस प्रकार स्टेट गवर्नमेंट के अंदर जो पुलिस होती है पुलिस द मैटर ऑफ स्टेट सब्जेक्ट इन लॉ इन आर्डर इज द मैप ऑफ स्टेट सब्जेक्ट टू यू पुलिस होगी वह स्टेट गवर्नमेंट के अंडर में कार्य करेगी लेकिन सेंट्रल गवर्नमेंट के केस में यूनियन टेरिटरीज के किस में होता क्या है कि जो पुलिस होती है सेंट्रल गवर्नमेंट इन होम मिनिस्ट्री के अंतर्गत आती इस प्रकार आपने देखा होगा केजरीवाल जी हर रोज केंद्र सरकार से लड़ते रहते हैं कि दिल्ली की पुलिस उनके हाथ में दीजिए दिल्ली की पुलिस उनके आदमी दीजिए तो यह हो नहीं सकता क्योंकि यूनियन टेरिटरीज में जो भी पुलिस सिस्टम होता है वह आपको होम मिनिस्ट्री के अंतर्गत आता है तो कहीं ना कहीं कानून के द्वारा उसको परिवर्तित करना पड़ेगा तभी ऐसा हो सकता है

kendra shasit pradesh aur rajya shasit pradesh mein antar kya hai jo ki kendra aap jante ki desh ka ek federal structure hai jaha par central ke alag hone state ke alag alag state mein aap ka mukhyamantri hota hai kendra mein aapka pradhanmantri pradhanmantri hota hai isi tarah rashtrapati kendra mein hota hai rajyapal state mein hota toh in dono ka alag alag side structure hai union teritrij vaah hai jo uski central government ke under work karte hai wahan mukhyamantri toh ho sakta hai ki rajyapal ki jagah lieutenant governor hota hai theek hai aur kuch do hi hai pradesh aise ek delhi aur doosra aap kal pondicherry ja mukhyamantri ki abe avelebiliti asuvidha hai other wise kahin nahi hai toh rajya ka dushasan hota hai kendra ka din hota hai jis prakar state government ke andar jo police hoti hai police the matter of state subject in law in order is the map of state subject to you police hogi vaah state government ke under mein karya karegi lekin central government ke case mein union teritrij ke kis mein hota kya hai ki jo police hoti hai central government in home ministry ke antargat aati is prakar aapne dekha hoga kejriwal ji har roj kendra sarkar se ladte rehte hai ki delhi ki police unke hath mein dijiye delhi ki police unke aadmi dijiye toh yah ho nahi sakta kyonki union teritrij mein jo bhi police system hota hai vaah aapko home ministry ke antargat aata hai toh kahin na kahin kanoon ke dwara usko parivartit karna padega tabhi aisa ho sakta hai

केंद्र शासित प्रदेश और राज्य शासित प्रदेश में अंतर क्या है जो कि केंद्र आप जानते कि देश का

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  163
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
केन्द्र शासित प्रदेश ; kendra shasit pradesh kitne hai ; kendra shashit pradesh map ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!