एक संपादक होने के नाते, आप तंग समय सीमा के तनाव का प्रबंधन कैसे करते हैं?...


user

Neha Baid

Editor

4:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इनिशियली तो बहुत प्रॉब्लम होती थी मैं उसे पता नहीं था छोटे दिख एक और नया नया बी फार्मा दे दिया पूरा टाइम मैनेजमेंट अपने आप का मौका था जब मैं उससे बात मुझे पता है एक जाफरी मेरा अगला अगले 6 घंटे कैसे निकालने वाले और मैं क्या करूं इसका को पटाया बीच खत्म करना है अपने आप हर चीज को अपने आप होता नहीं है अगर आप 203 तरीके से अपना काम कर ले आपका ग्रुप अपने आप खत्म हो जाएगा मतलब गलत बात है कि अगर आपने अपना काम होता ही नहीं अगर आज मेरे को पता है कि मेरे पास मैं खाली दिन में दस्त हो रही है 12 स्टोरी क्यों उससे ज्यादा मिनट की कैपेसिटी नहीं है और अगर आपने कमिटमेंट कर दी स्टोरी अगर आपको पता है कि आप इतना काम कर सकते हैं और आप डिसाइड डेडलाइन को स्टेशन थोड़ा काम है बहुत ज्यादा गुस्सा हमारे ऊपर कोई गलती नहीं हो सकती हमको हमेशा बहुत अलर्ट रहना पड़ेगा अगर गलती से कमाया एक पुस्तक गलत जगह पर लगा दे तो बहुत कुछ हो जाता है कि आप हमेशा आपको आर्थिक गढ़ा गढ़ा कर देखना पड़ता है कि मुझसे कोई गलती ना हो जाए जो कि आपको पता है कि फॉर स्टेटस आपके ऊपर कि नहीं अब क्या होगा अगर मुझसे गलती हो गई अब तो गलत छप जाएगा और अगर गलत तो तो हमारी प्रॉब्लम अदब से स्कूल है और उसके लिए आपको बस बहुत फोकस करके काम करने की जगह है लेकिन थोड़ा डिसिशन तरीके से काम करें आप

inishiyali toh bahut problem hoti thi main use pata nahi tha chote dikh ek aur naya naya be pharma de diya pura time management apne aap ka mauka tha jab main usse baat mujhe pata hai ek jafri mera agla agle 6 ghante kaise nikalne waale aur main kya karu iska ko pataya beech khatam karna hai apne aap har cheez ko apne aap hota nahi hai agar aap 203 tarike se apna kaam kar le aapka group apne aap khatam ho jaega matlab galat baat hai ki agar aapne apna kaam hota hi nahi agar aaj mere ko pata hai ki mere paas main khaali din mein dast ho rahi hai 12 story kyon usse zyada minute ki capacity nahi hai aur agar aapne commitment kar di story agar aapko pata hai ki aap itna kaam kar sakte hain aur aap decide deadline ko station thoda kaam hai bahut zyada gussa hamare upar koi galti nahi ho sakti hamko hamesha bahut alert rehna padega agar galti se kamaya ek pustak galat jagah par laga de toh bahut kuch ho jata hai ki aap hamesha aapko aarthik gadha gadha kar dekhna padta hai ki mujhse koi galti na ho jaaye jo ki aapko pata hai ki for status aapke upar ki nahi ab kya hoga agar mujhse galti ho gayi ab toh galat chhap jaega aur agar galat toh toh hamari problem adab se school hai aur uske liye aapko bus bahut focus karke kaam karne ki jagah hai lekin thoda decision tarike se kaam kare aap

इनिशियली तो बहुत प्रॉब्लम होती थी मैं उसे पता नहीं था छोटे दिख एक और नया नया बी फार्मा दे

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  703
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!