हिमालय पर्वत की जानकारी हिंदी में दीजिये...


user
0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिमालय पर्वत भारत में स्थित एक प्राचीन पर्वत निकला है हिमालय को पर्वतराज गाते हैं जिसका अर्थ है पर्वतों का राजा कालिदास तो हिमालय को पृथ्वी का मांडल बनाते हैं हिमालय की पर्वत श्रृंखला शिवालिक कराती है सदियों से हिमालय की 15 में ऋषि मुनियों का वास रहा है और वे यहां समाप्त होकर तपस्या करते हैं हिमालय की ऊंचाई 8848 मीटर है उस तम बिंदु जो है वह माउंट एवरेस्ट है सर्वोच्च शिखर जो है एवरेस्ट पर्वत नेपाल चीन सीमा पर हैं

himalaya parvat bharat me sthit ek prachin parvat nikala hai himalaya ko parvatraj gaate hain jiska arth hai parwaton ka raja kalidas toh himalaya ko prithvi ka mandal banate hain himalaya ki parvat shrinkhala shivalik karati hai sadiyon se himalaya ki 15 me rishi muniyon ka was raha hai aur ve yahan samapt hokar tapasya karte hain himalaya ki unchai 8848 meter hai us tum bindu jo hai vaah mount EVEREST hai sarvoch shikhar jo hai EVEREST parvat nepal china seema par hain

हिमालय पर्वत भारत में स्थित एक प्राचीन पर्वत निकला है हिमालय को पर्वतराज गाते हैं जिसका अर

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  905
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:17
Play

Likes  21  Dislikes    views  951
WhatsApp_icon
user

Prabhat Verma

primary teacher government of bihar

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पर्वतराज हिमालय पहाड़ों से मनोज समाज का सदस्य द्वारा ना तारा सबसे श्रेष्ठ है पवित्र व प्राचीन पर्वत के रूप में सबसे पहले हमारे मस्तिष्क में कोई तस्वीर उभरती है तो वह हिमालय कालिदास तो हिमालय को पृथ्वी का मानदंड मानते हैं हिमालय की पर्वत श्रृंखलाएं शिवालिका कहलाती है सदियों से हिमालय की कंदरा में ऋषि मुनियों का वास रहा है और वहां समाधि स्थल का तपस्या करते हैं हिमालय आध्यात्मिक चेतना का ध्रुव केंद्र है वाइब्रेट पावर हाउस ऑफ वेंचर एनर्जी रहती है उत्तराखंड का श्रेय जाता है इससे हिमालयन नागराज राज पर्वत का कहने का ईश्वर अपने सारे स्वर खूबसूरती के साथ वहां विद्वान है हिमालयन एक रत्नों का जन्मदाता है हिमालय सदस्य सीमाओं पर फैला हुआ है पाकिस्तान अफगानिस्तान भारत नेपाल भूटान चीन और मेन मार्ग

parvatraj himalaya pahadon se manoj samaj ka sadasya dwara na tara sabse shreshtha hai pavitra va prachin parvat ke roop mein sabse pehle hamare mastishk mein koi tasveer ubharti hai toh vaah himalaya kalidas toh himalaya ko prithvi ka manadand maante hain himalaya ki parvat shrrinkhalaen shivalika kahalati hai sadiyon se himalaya ki kandara mein rishi muniyon ka was raha hai aur wahan samadhi sthal ka tapasya karte hain himalaya aadhyatmik chetna ka dhruv kendra hai vibrate power house of venture energy rehti hai uttarakhand ka shrey jata hai isse himalayan nagraj raj parvat ka kehne ka ishwar apne saare swar khoobsoorti ke saath wahan vidhwaan hai himalayan ek ratnon ka janmadata hai himalaya sadasya seemaon par faila hua hai pakistan afghanistan bharat nepal bhutan china aur main marg

पर्वतराज हिमालय पहाड़ों से मनोज समाज का सदस्य द्वारा ना तारा सबसे श्रेष्ठ है पवित्र व प्रा

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  1104
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!