हिव की जानकारी हिंदी में दीजिये...


user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एचआईवी इनकी क्यों मैंने मनोज डिफिशिएंसी वायरस वायरस होता है जिसका क्रॉसेस फीमेल सिस्टम होता है ऑफिस बहुत ज्यादा इन्फेक्शन करते हैं और अलग-अलग डिजीज पॉलिश करते हैं

HIV inki kyon maine manoj difishiensi virus virus hota hai jiska crosses female system hota hai office bahut zyada infection karte hain aur alag alag disease polish karte hain

एचआईवी इनकी क्यों मैंने मनोज डिफिशिएंसी वायरस वायरस होता है जिसका क्रॉसेस फीमेल सिस्टम होत

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  499
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Prabhat Verma

primary teacher government of bihar

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एच आई बी इज इक्वल d1 डिफिशिएंसी सिंड्रोम कहा जाता है यह एक तरह के विषाणु है यह जो भी विषाणु होते हैं और मैंने डिफिशिएंसी वायरस होते हैं जो अपने साधारण बोलचाल में एचआईवी करते हैं एचआईवी संक्रमण के बाद की स्थिति में वह मानव एचआईवी से संक्रमित हुए प्राकृतिक प्रतिरक्षा क्षमता को देता है एड्स से कोई बीमारी नहीं है पर 8 से प्रीत मानव शरीर संक्रामक बीमारी बीमारों की जो जीवाणु विषाणु आदि से होती है के प्रति अपनी प्राकृतिक प्रतिरोधक क्षमता को खो देते हैं क्योंकि अभी रत्न उपस्थित प्रतिरोधी पदार्थ का पौधों पर आक्रमण करता है तथा एड्स पीड़ित के शरीर में प्रतिरोधक क्षमता के कारण सच है होने से कोई भी अवसरवादी संक्रमण यानी आम सर्दी जुखाम से लेकर 6 तक संहिता से हो जाता है

h I be is equal d1 difishiensi Syndrome kaha jata hai yah ek tarah ke vishnu hai yah jo bhi vishnu hote hain aur maine difishiensi virus hote hain jo apne sadhaaran bolchal mein HIV karte hain HIV sankraman ke baad ki sthiti mein vaah manav HIV se sankrameet hue prakirtik pratiraksha kshamta ko deta hai aids se koi bimari nahi hai par 8 se prateet manav sharir sankramak bimari bimaron ki jo jivanu vishnu aadi se hoti hai ke prati apni prakirtik pratirodhak kshamta ko kho dete hain kyonki abhi ratna upasthit pratirodhi padarth ka paudho par aakraman karta hai tatha aids peedit ke sharir mein pratirodhak kshamta ke karan sach hai hone se koi bhi avasaravadi sankraman yani aam sardi jukham se lekar 6 tak sanhita se ho jata hai

एच आई बी इज इक्वल d1 डिफिशिएंसी सिंड्रोम कहा जाता है यह एक तरह के विषाणु है यह जो भी विषाण

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  403
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि इसकी जानकारी हिंदी में दीजिए देखिए ही मन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस एक एंटीवायरस है जो एक्वायर्ड इम्यूनोडिफिशिएंसी सिंड्रोम का कारण बनता है जो कि मनुष्य में एक अवस्था है जिसमें प्रतिरक्षा तंत्र विफल होने लगता है और इसके परिणाम स्वरूप ऐसे अवसरवादी संक्रमण हो जाते हैं जिनसे मृत्यु का खतरा होता है

aapka prashna hai ki iski jaankari hindi me dijiye dekhiye hi man imyunodifishiensi virus ek antivirus hai jo enquired imyunodifishiensi Syndrome ka karan banta hai jo ki manushya me ek avastha hai jisme pratiraksha tantra vifal hone lagta hai aur iske parinam swaroop aise avasaravadi sankraman ho jaate hain jinse mrityu ka khatra hota hai

आपका प्रश्न है कि इसकी जानकारी हिंदी में दीजिए देखिए ही मन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस एक एंटी

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  1330
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!