नमाज़ का तरीका के बारे में बताये...


user

MD HAROON

Teacher

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तो आप ने सवाल किया नमाज का तरीका के बारे में बताएं लेकिन नमाज का तरीका यह है कि सबसे पहले आप पा को साफ रहे फिर उसके बाद पशु करें ओशो करके मस्जिद में जाएं और जिसमें पहला शो थे कि आपका पूरा बदन थका हुआ हूं सर पर टोपी हूं और आप पश्चिम के रूप खड़े होकर क्या लाभों को खाते हुए हाथ बांधे तना पर है यार हम तो पढ़े और फिर एक छोरा पर है उसके बाद रुकूं में जाएं रुको मैं 3 मर्तबा सुहाना रवि अलादीन के बाद फिर खड़े हो उसके बाद में सजदे में जा या और कहीं तो मनवा मा सुहान रब्बी जल लल्ला सोहन राबिया लाला सोने का पिया लाला उसके बाद फिर खड़े हो और उसी तरह से नमाज पूरी करते चले जाएं

doston aap ne sawaal kiya namaz ka tarika ke bare me bataye lekin namaz ka tarika yah hai ki sabse pehle aap paa ko saaf rahe phir uske baad pashu kare osho karke masjid me jayen aur jisme pehla show the ki aapka pura badan thaka hua hoon sir par topi hoon aur aap paschim ke roop khade hokar kya labho ko khate hue hath bandhe tana par hai yaar hum toh padhe aur phir ek chhora par hai uske baad rukun me jayen ruko main 3 martabaa suhana ravi alladin ke baad phir khade ho uske baad me sajade me ja ya aur kahin toh manva ma suhan rabbi jal lalla sohan rabiya lala sone ka piya lala uske baad phir khade ho aur usi tarah se namaz puri karte chale jayen

दोस्तो आप ने सवाल किया नमाज का तरीका के बारे में बताएं लेकिन नमाज का तरीका यह है कि सबसे प

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  854
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीपी आपका सवाल ए नमाज का तरीका के बारे में बताइए तो दिखे नमाज नमाज पढ़ने के लिए पहला आपको तो मुझे करना होगा तो उसे कहने के बाद आपको बस इतना जाना होगा फिर आपको उधर अहमियत करना होगा तो नियत करके आप फिर जो सना सना सना सना के बाद सबको सुरा फतेहपुरा लगा के बदबू से उठ गए फिर से धकेला दूसरी जगह नासिर उठना फिर आपको सिंबोसिस करना है तो ऐसे मैसेज करने के बाद आपको जितना करना है जब तक आप याद रख जो भी रख पाना है तो आपको उससे कहना है कि आपको लास्ट में जाकर बैठ ना बैठ कर आता है पता करके जो बता पाना है वह पर के जिला कोषालय नमस्कार करना है फिर आपका अमीर होता है थैंक यू

BP aapka sawaal a namaz ka tarika ke bare mein bataiye toh dikhe namaz namaz padhne ke liye pehla aapko toh mujhe karna hoga toh use kehne ke baad aapko bus itna jana hoga phir aapko udhar ahamiyat karna hoga toh niyat karke aap phir jo sana sana sana sana ke baad sabko sura fatehpura laga ke badbu se uth gaye phir se dhakela dusri jagah nasira uthna phir aapko simbosis karna hai toh aise massage karne ke baad aapko jitna karna hai jab tak aap yaad rakh jo bhi rakh paana hai toh aapko usse kehna hai ki aapko last mein jaakar baith na baith kar aata hai pata karke jo bata paana hai vaah par ke jila koshalay namaskar karna hai phir aapka amir hota hai thank you

बीपी आपका सवाल ए नमाज का तरीका के बारे में बताइए तो दिखे नमाज नमाज पढ़ने के लिए पहला आपको

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  385
WhatsApp_icon
user
0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

के नाम आज जो दे नमाज से इसलिए शांति के लिए होता है और मतलब अपने आप अपने मतलब अल्लाह को याद करते हो या अल्लाह को रिमेंबरिंग करते हो तो उसके लिए होता है तो अलग-अलग तरीके का होता है जिसे फजर नमाज़ जोहर नमाज असर नमाज़ अम्मा की परीक्षा तू अप आशा टाइम नमस्कार यह और शांत रहिए तो नमस एक बहुत ही खूबसूरत चीज होता है जिसके हाथों से आपका जितना भी आपको नाजायज काम किया वह सारा दूरी हो जाएंगे

ke naam aaj jo de namaz se isliye shanti ke liye hota hai aur matlab apne aap apne matlab allah ko yaad karte ho ya allah ko rimembaring karte ho toh uske liye hota hai toh alag alag tarike ka hota hai jise fajar namaz johar namaz asar namaz amma ki pariksha tu up asha time namaskar yah aur shaant rahiye toh namas ek bahut hi khoobsurat cheez hota hai jiske hathon se aapka jitna bhi aapko najayaj kaam kiya vaah saara doori ho jaenge

के नाम आज जो दे नमाज से इसलिए शांति के लिए होता है और मतलब अपने आप अपने मतलब अल्लाह को याद

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  907
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमाज हर रोज 4 बार पढ़ा जाता है शुक्रवार को नमाज अदा किया जाता है ऐसा भी सुमन भाई एक साथ टाइमिंग के साथ नमाज अदा करते हैं

namaz har roj 4 baar padha jata hai sukravaar ko namaz ada kiya jata hai aisa bhi suman bhai ek saath timing ke saath namaz ada karte hain

नमाज हर रोज 4 बार पढ़ा जाता है शुक्रवार को नमाज अदा किया जाता है ऐसा भी सुमन भाई एक साथ टा

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user
1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमाज़ का तारिका के बारे में बताइए देखिए नमाज कैसे हो आराधना है अल्लाह का ऊपर जाना है ज्वाला को याद करने के लिए नमाज की अदा नमाज अदा करना पड़ता है जो अल्लाह के हुक्म है नमाज जिसके बगैर मुसलमान लोग जन्नत में नहीं जा पाओगे कि केवल लकहर्स्ट हुकुम है जो नमाज पढ़ना पास वक्त का नमाज पढ़ना दिन में तो फर्स्ट वाड़ा रहे बिना पासवर्ड के निवास होता है पांच वक्त के नमाज में 2017 में क्या फर्क होता है तो फर्ज अदा करना है सारे आदमी को अगर किसी व्यक्ति ने नमाज अदा नहीं किया तो वह उस वक्त का जमाना छोड़ गया तो उसके लिए उसे बहुत ज्यादा मिल जाएगी तो यह आदेश में लिखा है तो वही है नमाज जो अगर किसी ने छोड़ दिया है जन्म आज उसी ने उसके साथ भुगतना पड़ेगा

namaz ka tarika ke bare mein bataiye dekhiye namaz kaise ho aradhana hai allah ka upar jana hai jwala ko yaad karne ke liye namaz ki ada namaz ada karna padta hai jo allah ke hukm hai namaz jiske bagair muslim log jannat mein nahi ja paoge ki keval lakharst hukum hai jo namaz padhna paas waqt ka namaz padhna din mein toh first vada rahe bina password ke niwas hota hai paanch waqt ke namaz mein 2017 mein kya fark hota hai toh farz ada karna hai saare aadmi ko agar kisi vyakti ne namaz ada nahi kiya toh vaah us waqt ka jamana chod gaya toh uske liye use bahut zyada mil jayegi toh yah aadesh mein likha hai toh wahi hai namaz jo agar kisi ne chod diya hai janam aaj usi ne uske saath bhugatna padega

नमाज़ का तारिका के बारे में बताइए देखिए नमाज कैसे हो आराधना है अल्लाह का ऊपर जाना है ज्वाल

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  261
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!