आहार नाल के कितने भाग होते हैं?...


user
1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां हमारे यहां नाल माउथ से लेकर के अंत तक 1 लंबी नलिका का संरचना होती है इसमें कई भाग होते हैं पहला तो होता है माउथ और बक्कल कैविटी अमावत ऑरोरल कैसे करते हैं ओरल कैविटी में हमारे अतीत आते हैं और जो लार ग्रंथियां होती हैं वह पर होती हैं इसका दूसरा पार्ट होता है फायरिंग फायरिंग से बक्कल कैविटी के पीछे का भाग होता है जिसमें सोफे गस्त और विश्वास ना लें दोनों आप दोनों जुड़े होते हैं और इसमें एक ही पिक लोटी ढक्कन होता है जो कि भोजन को श्वास नली में जाने से रोकता है इसका की आहार नाल का तीसरा पाठ होता है आयुष एकस एकस एकस हमारी गर्दन से होती हुई और हमारे वक्ष गुहा में जाने वाली एक गली नली होती है जो भोजन को माउथ से अमाशय तक पहुंचाने का कार्य करती है इसका तीसरा पाठ होता है आवास है या स्टमक इसमें तीन भाग होते हैं ऊपरी भाग होता है उसे कहते हैं कार्डियक बीच वाला भाग उत्तराखंड और उसका निचला भाग होता है जो भी छोटी आंख में खुलता है उसे कहते हैं पाइलोरी कम है इसके बाद हम आशिक बातचीत का अगला भाग होता है नहीं चौथा भाग होता है वह होता है चोटियां चोटियां माचिस लेकर के बढ़िया के मध्य तक फैली और कुंडली में लिखा होती है इसके भी 3 भाग होते हैं पहला अवतार ड्योनम जोखिम उठा हुआ भागवता है जिसके बड़े विभाग में पहन के आंसू रोता है दूसरा होता है जेजूनम और तीसरा होता है इससे अगला भाग होता है बढ़िया बढ़िया आदमी 3 भाग होते हैं कि कम कोलन और रेक्टम 1 साल

haan hamare yahan naal mouth se lekar ke ant tak 1 lambi nalika ka sanrachna hoti hai isme kai bhag hote hain pehla toh hota hai mouth aur bakkal Cavity amavat aroral kaise karte hain oral Cavity me hamare ateet aate hain aur jo laar granthiyan hoti hain vaah par hoti hain iska doosra part hota hai firing firing se bakkal Cavity ke peeche ka bhag hota hai jisme sofe gast aur vishwas na le dono aap dono jude hote hain aur isme ek hi pic loti dhakkan hota hai jo ki bhojan ko swas nali me jaane se rokta hai iska ki aahaar naal ka teesra path hota hai ayush eka eka eka hamari gardan se hoti hui aur hamare vaksh guha me jaane wali ek gali nali hoti hai jo bhojan ko mouth se amashay tak pahunchane ka karya karti hai iska teesra path hota hai aawas hai ya stomach isme teen bhag hote hain upari bhag hota hai use kehte hain cardiac beech vala bhag uttarakhand aur uska nichala bhag hota hai jo bhi choti aankh me khulta hai use kehte hain pailori kam hai iske baad hum aashik batchit ka agla bhag hota hai nahi chautha bhag hota hai vaah hota hai chotiyaan chotiyaan machis lekar ke badhiya ke madhya tak faili aur kundali me likha hoti hai iske bhi 3 bhag hote hain pehla avatar dyonam jokhim utha hua bhagavata hai jiske bade vibhag me pahan ke aasu rota hai doosra hota hai jejunam aur teesra hota hai isse agla bhag hota hai badhiya badhiya aadmi 3 bhag hote hain ki kam kolan aur rektam 1 saal

हां हमारे यहां नाल माउथ से लेकर के अंत तक 1 लंबी नलिका का संरचना होती है इसमें कई भाग होते

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  125
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!