इस देश में भिखारी क्यों है?...


user

Mohit Kumar

Student Ias

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश भारत देश में विकारी क्यों हम लोग सारे काम गवर्नमेंट से उम्मीद करते हैं नेता उम्मीद करते हैं इस पर संबंधित अधिकारियों के दो प्रमुख लेकिन भगवान ने जन्म दिया है हमारी जरूरत से ज्यादा कुछ धन दिया है उसका उपयोग हम गरीबों को सहारा देने दे और उसके जीवन को भी सक्षम बनाने का काम करें जिसमें कि अधिकारी नहीं रहेगा यदि कोई पेट से ज्यादा अन्य मिल रहे अन्य को कैसे गरीबों में बांटे और उनके लिए दो रोटी कमाने का जरिया दें जिससे कि देश में की भुखमरी माल से मरने वालों और विकारी पैदा होने वाला नहीं है यदि हम लोग एक दूसरे का सहारा बन जाए तो हमें किसी के दर पर मांगने की जरूरत नहीं पड़ेगी हम लोग दूध इस पर में शक्ति स्वरूप में जो प्रदान की है ज्यादा दिया कि विरोधी से तो दूर से ही पेट भरना जरूरतों से ज्यादा धनिया उस धन का प्रयोग हम गरीबों की सहायता और उन्हें अपने जैसा बनाने में लगे हैं उन्हें अपने साथ लेकर कंधे से कंधे लाने लायक बना दे तो मेरे देश में कोई भी गरीब नहीं रहेगा इस बात की मैं गारंटी ले रहा हूं कि जितने भी लोग मिडिल क्लास है खंडवा में सभी अधिकारी जो आपके पास देखते हो उनको सहारा दे उन अपने जैसा बनाए सक्षम बनाए तो मलिक में कुछ भी करने के लिए सिर्फ हमें दूसरों से उम्मीद नहीं करनी चाहिए अपने बल पर काम देकर भारतीय 11 भारतीय एक-एक अधिकारी को जीने का मार्ग दिखाता है सहारा दिखाता है तो समझ लेना में देश में कोई अधिकारी रहने वाला नहीं है

desh bharat desh mein vikari kyon hum log saare kaam government se ummid karte hain neta ummid karte hain is par sambandhit adhikaariyo ke do pramukh lekin bhagwan ne janam diya hai hamari zarurat se zyada kuch dhan diya hai uska upyog hum garibon ko sahara dene de aur uske jeevan ko bhi saksham banane ka kaam kare jisme ki adhikari nahi rahega yadi koi pet se zyada anya mil rahe anya ko kaise garibon mein bante aur unke liye do roti kamane ka zariya de jisse ki desh mein ki bhukhmari maal se marne walon aur vikari paida hone vala nahi hai yadi hum log ek dusre ka sahara ban jaaye toh hamein kisi ke dar par mangne ki zarurat nahi padegi hum log doodh is par mein shakti swaroop mein jo pradan ki hai zyada diya ki virodhi se toh dur se hi pet bharna jaruraton se zyada dhania us dhan ka prayog hum garibon ki sahayta aur unhe apne jaisa banane mein lage hain unhe apne saath lekar kandhe se kandhe lane layak bana de toh mere desh mein koi bhi garib nahi rahega is baat ki main guarantee le raha hoon ki jitne bhi log middle kashi hai khandwa mein sabhi adhikari jo aapke paas dekhte ho unko sahara de un apne jaisa banaye saksham banaye toh malik mein kuch bhi karne ke liye sirf hamein dusro se ummid nahi karni chahiye apne bal par kaam dekar bharatiya 11 bharatiya ek ek adhikari ko jeene ka marg dikhaata hai sahara dikhaata hai toh samajh lena mein desh mein koi adhikari rehne vala nahi hai

देश भारत देश में विकारी क्यों हम लोग सारे काम गवर्नमेंट से उम्मीद करते हैं नेता उम्मीद करत

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Deepak thakur

Indian post office

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हम बात करें क्योंकि तो हर देश में पाए जाते हैं लेकिन अगर हम बात करें भिखारी क्यों पाए जाते हैं तो पैसों की कमी आर्थिक तंगी या कोई मानसिक परेशानी होने के कारण है हमारे देश के अंदर या किसी भी देश के अंदर भिखारियों की जनसंख्या बढ़ती जा रही है या देखी जाती है विकारी जो होते हैं वह कोई स्पेशल बाहर से नहीं आते हैं वह हमारे जैसे ही लोग होते हैं और उनकी आर्थिक तंगी और कुछ पारिवारिक समस्याओं की वजह से वह जो है वह इस काम को करने पर डिपेंडेंट होते हैं

agar hum baat kare kyonki toh har desh mein paye jaate hain lekin agar hum baat kare bhikhari kyon paye jaate hain toh paison ki kami aarthik tangi ya koi mansik pareshani hone ke karan hai hamare desh ke andar ya kisi bhi desh ke andar bhikhariyo ki jansankhya badhti ja rahi hai ya dekhi jaati hai vikari jo hote hain vaah koi special bahar se nahi aate hain vaah hamare jaise hi log hote hain aur unki aarthik tangi aur kuch parivarik samasyaon ki wajah se vaah jo hai vaah is kaam ko karne par dependent hote hain

अगर हम बात करें क्योंकि तो हर देश में पाए जाते हैं लेकिन अगर हम बात करें भिखारी क्यों पाए

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किस देश में बिहारी ज्यादा होने का कारण है जनसंख्या की बढ़ोतरी जनसंख्या बढ़ने से हमारे देश में बेरोजगारी बढ़ जाती है जिससे रोजगारी के कारण लोग कुछ नहीं कर पाते हैं जिनके कारण कुछ लोग विचार विकारी मनाते हैं

kis desh me bihari zyada hone ka karan hai jansankhya ki badhotari jansankhya badhne se hamare desh me berojgari badh jaati hai jisse rojgari ke karan log kuch nahi kar paate hain jinke karan kuch log vichar vikari manate hain

किस देश में बिहारी ज्यादा होने का कारण है जनसंख्या की बढ़ोतरी जनसंख्या बढ़ने से हमारे देश

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!