मेरे ख्याल से प्लास्टिक बंद करने से हमारे देश में 50 प्रतिशत प्रदूषण कम हो जाएगा। आपकी राय क्या है?...


play
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज हमारे देश में या फिर पूरी दुनिया में अगर कहा जाए तो प्लास्टिक के वजह से बहुत ज्यादा प्रदूषण बढ़ रहा है प्लास्टिक है इस प्रकार की चीज है जो नष्ट होने में काफी समय लगाती है और इसी वजह से मुझे लगता है कि अगर प्लास्टिक पर बैन लगा दिया जाए इसे बंद कर दिया जाए खासतौर से प्लास्टिक से बनी हुई जो बैग सोते हैं वह सबसे खतरनाक होते हैं उन पर बैन होना काफी जरूरी है और अगर उन पर बैन लगता है तो इससे प्रदूषण में काफी गिरावट देखने को मिलेगी इसके अलावा बहुत सारे ऐसे भी जानवर होते हैं जो प्लास्टिक बैग्स खा जाते हैं जिससे उनकी मृत्यु हो जाती है तो इस पर भी रोक लगाई जा सकेगी और ऐसे पशुओं की जान बचाई जा सकती है हम देखते हैं कि बहुत सारे लोग प्लास्टिक के कचरे को जला देते हैं और सोचते हैं कि यह खत्म करने का एक आसान तरीका है लेकिन इससे होने वाले प्रदूषण के बारे में नहीं सोचते हैं बहुत सारे केमिकल गैसेस प्लास्टिक को जलाने से निकलते हैं जो हमारे वातावरण को दूषित करते हैं और वही दूषित वातावरण में अगर हम सांस लेंगे तो सांस से जुड़ी हुई बहुत सारी बीमारियां हमें होने का जो खतरा है वह कई गुना बढ़ जाता है और आज हमारे देश में प्रदूषण का स्तर दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है और इसके लिए प्लास्टिक एक बहुत ही बड़ा कारण है तो सरकार को इस विषय में ध्यान देना चाहिए और प्लास्टिक पर पूर्ण रुप से पाबंदी लगानी चाहिए

aaj hamare desh mein ya phir puri duniya mein agar kaha jaaye toh plastic ke wajah se bahut zyada pradushan badh raha hai plastic hai is prakar ki cheez hai jo nasht hone mein kaafi samay lagati hai aur isi wajah se mujhe lagta hai ki agar plastic par ban laga diya jaaye ise band kar diya jaaye khaasataur se plastic se bani hui jo bag sote hain vaah sabse khataranaak hote hain un par ban hona kaafi zaroori hai aur agar un par ban lagta hai toh isse pradushan mein kaafi giraavat dekhne ko milegi iske alava bahut saare aise bhi janwar hote hain jo plastic bags kha jaate hain jisse unki mrityu ho jaati hai toh is par bhi rok lagayi ja sakegi aur aise pashuo ki jaan bachai ja sakti hai hum dekhte hain ki bahut saare log plastic ke kachre ko jala dete hain aur sochte hain ki yah khatam karne ka ek aasaan tarika hai lekin isse hone waale pradushan ke bare mein nahi sochte hain bahut saare chemical gases plastic ko jalane se nikalte hain jo hamare vatavaran ko dushit karte hain aur wahi dushit vatavaran mein agar hum saans lenge toh saans se judi hui bahut saree bimariyan hamein hone ka jo khatra hai vaah kai guna badh jata hai aur aaj hamare desh mein pradushan ka sthar din pratidin badhta ja raha hai aur iske liye plastic ek bahut hi bada karan hai toh sarkar ko is vishay mein dhyan dena chahiye aur plastic par purn roop se pabandi lagani chahiye

आज हमारे देश में या फिर पूरी दुनिया में अगर कहा जाए तो प्लास्टिक के वजह से बहुत ज्यादा प्र

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
kam ho jaega ; pradushan ke prakar ; मेरे ख्याल से ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!