प्राइवेट नौकरी में इंग्लिश मीडियम वाले अधिक बच्चे क्यों जाते हैं जबकि हिंदी मीडियम वाले नहीं?...


user

HIMANSHU SINGH

Educator And Career Guidance For Student

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंग्लिश मीडियम वालों की प्राइवेट सेक्टर में इससे ज्यादा रुचि होती है क्योंकि वह आईआईटी लेवल पर या फिर कैट लेवल से प्राइवेट लेबल पर जाते हैं और वह अच्छा उनका पैकेज ममता समथिंग ₹400000 पर मंथ से या ₹500000 पर मंथ की जॉब जो मिलती है उन्हें आईआईटी करके या फिर भी एमबीए वगैरा कैट बाहर निकालकर तो इस हिसाब से उनको प्राइवेट सेक्टर में ज्यादा पर वह प्राइवेट सेक्टर 1 प्रोफेशनल लाइफ होती है और उनका सारा काम करने का तरीका अलग होता है इसलिए वह पहली बात तो काम पर ही ज्यादा फोकस करते हैं और हिंदी मीडियम वालों में एक थोड़ी सी आदत नहीं है कि उनकी थोड़ी फाइनेंशली भी भी कोटे दूसरा क्या है कि हिंदी मीडियम वालों को सही गाइडेंस का मिलने का हरण करके वह आगे पीछे रह पाते और पीछे रह जाते हैं इसी कारण से प्राइवेट सेक्टर में इंग्लिश मीडियम ज्यादा बोले जाते हैं

english medium walon ki private sector mein isse zyada ruchi hoti hai kyonki vaah IIT level par ya phir cat level se private lebal par jaate hain aur vaah accha unka package mamata something Rs par month se ya Rs par month ki job jo milti hai unhe IIT karke ya phir bhi mba vagera cat bahar nikalakar toh is hisab se unko private sector mein zyada par vaah private sector 1 professional life hoti hai aur unka saara kaam karne ka tarika alag hota hai isliye vaah pehli baat toh kaam par hi zyada focus karte hain aur hindi medium walon mein ek thodi si aadat nahi hai ki unki thodi financially bhi bhi quota doosra kya hai ki hindi medium walon ko sahi guidance ka milne ka haran karke vaah aage peeche reh paate aur peeche reh jaate hain isi karan se private sector mein english medium zyada bole jaate hain

इंग्लिश मीडियम वालों की प्राइवेट सेक्टर में इससे ज्यादा रुचि होती है क्योंकि वह आईआईटी लेव

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mohitg

Student & Shopkeeper

2:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्राइवेट नौकरी में इंग्लिश मीडियम वाले अधिक बच्चे क्यों जाते जबकि हिंदी मीडियम वाले नहीं सर प्राइवेट नौकरी होती है उसका जो मैं बोलता है इंटरव्यू इंटरव्यू के बाद ज्योति ट्रेनिंग इंटरव्यू में अधिकतर उनके बेसिक इंटरव्यू देने जाते हैं बात करते एग्जाम होता है जिस पैटर्न के आधार संविदा की बात करें तो आपको संविदा वर्ग 3 के लिए बचपन के बाद एडिट करना है इंपोर्टेंस किस आधार पर सिद्ध हो सकता है कि यदि आपका संविदा का पेपर कहीं बाई चांस आफ निकाल देते हैं आप क्लियर कर लेते हैं किसी भी तरीके से लगवाई चांस मिल सकते हो या फिर अंदर में निकाल देते हो तो आप अच्छी खासी जॉब गवर्नमेंट जॉब के एंप्लॉयमेंट गवर्नमेंट सर्वेंट बन जाते लेकिन वही आप प्राइवेट जॉब की बात करते प्राइवेट जॉब में सबसे आपको इंटरव्यू होता है उसमें लगवाई चांस नहीं चलता वह आपसे कुछ कठिन सवाल नहीं पूछते लेकिन बेसिक को समझने की इसका क्या क्या आता है आप किस चीज में अपने आप को प्रूफ कर सकते हैं आपको उसी लाइन में या उसी में आगे बढ़ाने की कोशिश करती मीडियम

private naukri mein english medium waale adhik bacche kyon jaate jabki hindi medium waale nahi sir private naukri hoti hai uska jo main bolta hai interview interview ke baad jyoti training interview mein adhiktar unke basic interview dene jaate hain baat karte exam hota hai jis pattern ke aadhar samvida ki baat kare toh aapko samvida varg 3 ke liye bachpan ke baad edit karna hai importance kis aadhar par siddh ho sakta hai ki yadi aapka samvida ka paper kahin bai chance of nikaal dete hain aap clear kar lete hain kisi bhi tarike se lagwai chance mil sakte ho ya phir andar mein nikaal dete ho toh aap achi khasee job government ke employment government servant ban jaate lekin wahi aap private job ki baat karte private job mein sabse aapko interview hota hai usme lagwai chance nahi chalta vaah aapse kuch kathin sawaal nahi poochhte lekin basic ko samjhne ki iska kya kya aata hai aap kis cheez mein apne aap ko proof kar sakte hain aapko usi line mein ya usi mein aage badhane ki koshish karti medium

प्राइवेट नौकरी में इंग्लिश मीडियम वाले अधिक बच्चे क्यों जाते जबकि हिंदी मीडियम वाले नहीं स

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
user

Rahul Bhagat

Youtuber

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक बात बताओ मेरे दोस्त प्राइवेट नौकरी में इंग्लिश मीडियम वाले अधिक बच्चे क्यों जाते हैं जबकि हिंदी मीडियम वाले ने जो प्राइवेट नौकरी होती है ना ठीक है आपको तो पता है कि इंग्लिश का जो स्कोप है वह बहुत बड़ा इसको पैसे गया चलो मान लेते हैं एग्जांपल के लिए कॉल सेंटर वाली बात ठीक है आप हिंदी में बोलते हो तो आप हिंदी वालों को खबर कर सकते हो ठीक है आप इंग्लिश बोलते हो तो दुनिया में बहुत सारी जगह बोली जाती है ना तो आप कहीं का भी मतलब पूरे भारत में इंग्लिश में कहीं भी कॉल टीकम कर सकते हो कॉल सेंटर में कि नहीं कि विवा प्रॉब्लम सुन सकते हो ठीक है लेकिन हिंदी में आप सिर्फ कुछ ही लोगों के जवाब दे सकते हो मान लेते हैं कि 14 सिक्के 40 परसेंट हिंदी बोलते हैं लेकिन 60 पर सेंट टू इंग्लिश बोलते हैं ना भारत में क्योंकि भारत ही एक ऐसा देश है जहां सबसे ज्यादा अंग्रेजी बोलने वालों की संख्या है ठीक है ना तो बात यही है कि जिसको इंग्लिश आती है उसको ज्यादा अच्छी नौकरी और ज्यादा अच्छी तनख्वाह मिलती है और जिसको हिंदी आती है सिर्फ उसको वॉइस कम तनखा मिलती है और नौकरी भी कम मिलती है ज्यादातर बेरोजगार होते हैं जो हिंदी सीखते हैं सिर्फ इंग्लिश सीखो बिल्कुल आप को अच्छी सफलता मिलेगी अच्छी नौकरी मिलेगी अच्छा वेतन मिलेगा आप इस देश के लिए कुछ अच्छा कर पाओगे थैंक यू फॉर राज की मदद क्वेश्चन

ek baat batao mere dost private naukri mein english medium waale adhik bacche kyon jaate hain jabki hindi medium waale ne jo private naukri hoti hai na theek hai aapko toh pata hai ki english ka jo scope hai vaah bahut bada isko paise gaya chalo maan lete hain example ke liye call center wali baat theek hai aap hindi mein bolte ho toh aap hindi walon ko khabar kar sakte ho theek hai aap english bolte ho toh duniya mein bahut saree jagah boli jaati hai na toh aap kahin ka bhi matlab poore bharat mein english mein kahin bhi call tikam kar sakte ho call center mein ki nahi ki viva problem sun sakte ho theek hai lekin hindi mein aap sirf kuch hi logo ke jawab de sakte ho maan lete hain ki 14 sikke 40 percent hindi bolte hain lekin 60 par sent to english bolte hain na bharat mein kyonki bharat hi ek aisa desh hai jaha sabse zyada angrezi bolne walon ki sankhya hai theek hai na toh baat yahi hai ki jisko english aati hai usko zyada achi naukri aur zyada achi tankhvaah milti hai aur jisko hindi aati hai sirf usko voice kam tankha milti hai aur naukri bhi kam milti hai jyadatar berozgaar hote hain jo hindi sikhate hain sirf english sikho bilkul aap ko achi safalta milegi achi naukri milegi accha vetan milega aap is desh ke liye kuch accha kar paoge thank you for raj ki madad question

एक बात बताओ मेरे दोस्त प्राइवेट नौकरी में इंग्लिश मीडियम वाले अधिक बच्चे क्यों जाते हैं जब

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!