बेसिक शिक्षा के बारे में बताये?...


user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एमित्र अनुष्का राधाकृष्णन 1972 से ही प्रदेश के सभी जनपदों में परिषदीय विद्यालयों के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की आदत किया जा रहा है अनिवार्य शिक्षा नियम के अंतर्गत सरकार 6 वर्ष से 14 वर्ष आयु समूह के सभी बच्चों को प्रवेश अनुपस्थिति और प्रारंभिक शिक्षा को पूरा करने के लिए सुनिश्चित करने के बाद तड़पती है

emitra anushka radhakrishnan 1972 se hi pradesh ke sabhi janpado me parishadiye vidhayalayo ke madhyam se gunavattaapoorn shiksha pradan karne ki aadat kiya ja raha hai anivarya shiksha niyam ke antargat sarkar 6 varsh se 14 varsh aayu samuh ke sabhi baccho ko pravesh anupsthiti aur prarambhik shiksha ko pura karne ke liye sunishchit karne ke baad tadapati hai

एमित्र अनुष्का राधाकृष्णन 1972 से ही प्रदेश के सभी जनपदों में परिषदीय विद्यालयों के माध्यम

Romanized Version
Likes  243  Dislikes    views  3300
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षा जिसे हम लिख सकते पढ़ सकते बोल सकते समझ सकते हैं उसका प्रयोग कर अब कुछ पा सकते हैं अच्छा बोला समझ सकते हैं मैं बेसिक शिक्षा होती है

shiksha jise hum likh sakte padh sakte bol sakte samajh sakte hain uska prayog kar ab kuch paa sakte hain accha bola samajh sakte hain main basic shiksha hoti hai

शिक्षा जिसे हम लिख सकते पढ़ सकते बोल सकते समझ सकते हैं उसका प्रयोग कर अब कुछ पा सकते हैं अ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेसिक शिक्षा ज्ञान की मेडिकल एजुकेशन दिखे मेडिकल एजुकेशन बहुत इंपोर्टेंट एजुकेशन है आज का लाइफ में क्योंकि जो भी एमबीबीएस करके होता है वह सोसाइटी के लिए बहुत काम करते हैं लोगों को मदद करते हैं तो इससे अच्छा और क्या हो सकता है समाज को वेलफेयर करने के लिए करते हैं तो बहुत अच्छा है तो ब्वॉय सिक्स शिक्षा हमारा जो चैंपियन होता है उनको देना चाहिए तभी जाके हमारा देश डेवलप होगा

basic shiksha gyaan ki medical education dikhe medical education bahut important education hai aaj ka life mein kyonki jo bhi MBBS karke hota hai vaah society ke liye bahut kaam karte hain logo ko madad karte hain toh isse accha aur kya ho sakta hai samaj ko welfare karne ke liye karte hain toh bahut accha hai toh bway six shiksha hamara jo champion hota hai unko dena chahiye tabhi jake hamara desh develop hoga

बेसिक शिक्षा ज्ञान की मेडिकल एजुकेशन दिखे मेडिकल एजुकेशन बहुत इंपोर्टेंट एजुकेशन है आज का

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  918
WhatsApp_icon
user
1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो सर आपका बर्थडे शिक्षा के बारे में बताइए तो शर्म आपको बताना चाहता हूं भारत के स्वतंत्र आंदोलन के समय गांधी जी ने सबसे पहले बेसिक शिक्षा की कल्पना की थी आज से विश्वविद्यालय दरभंगा स्टेशन कौन सा जाता है उसकी पृष्ठभूमि में गांधी की बुनियादी यानी बेसिक शिक्षा ही तो थी बुनियादी प्रशिक्षण और प्राथमिक स्तर की शिक्षा के दोष करते स्कूली बच्चे कक्षा एक से ही टकली से सूत खाते थे वहीं से पुणे बनाते थे उसोस की गुड़िया बनाकर खादी भंडार को दे देते हैं बैठने का सामान ज्यादा बनाते थे शिक्षा के बारे में गांधी दृष्टिकोण वस्त्र व्यवसाय था उसका मत्ता कि भारत जैसे गरीब देश में शिक्षार्थियों को शिक्षा प्राप्त करने के साथ-साथ कुछ धन उपार्जन भी कर लेना चाहिए जिससे वे आत्मनिर्भर बन सकें इसी उद्देश्य को लेकर उन्होंने वर्धा शिक्षा योजना बनाई शिक्षा को लाभदायक एवं अल्प भी करने की दृष्टि से सन 1926 ईस्वी में भारतीय तालीम संघ की स्थापना की गई

hello sir aapka birthday shiksha ke bare me bataiye toh sharm aapko batana chahta hoon bharat ke swatantra andolan ke samay gandhi ji ne sabse pehle basic shiksha ki kalpana ki thi aaj se vishwavidyalaya darbhanga station kaun sa jata hai uski prishthbhumi me gandhi ki buniyadi yani basic shiksha hi toh thi buniyadi prashikshan aur prathmik sthar ki shiksha ke dosh karte skuli bacche kaksha ek se hi takali se sut khate the wahi se pune banate the usos ki gudiya banakar khadi bhandar ko de dete hain baithne ka saamaan zyada banate the shiksha ke bare me gandhi drishtikon vastra vyavasaya tha uska matta ki bharat jaise garib desh me shiksharthiyon ko shiksha prapt karne ke saath saath kuch dhan uparjan bhi kar lena chahiye jisse ve aatmanirbhar ban sake isi uddeshya ko lekar unhone vardha shiksha yojana banai shiksha ko labhdayak evam alp bhi karne ki drishti se san 1926 isvi me bharatiya talim sangh ki sthapna ki gayi

हेलो सर आपका बर्थडे शिक्षा के बारे में बताइए तो शर्म आपको बताना चाहता हूं भारत के स्वतंत्र

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  725
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!