पुष्य नक्षत्र के बारे में बताये?...


user

Prabhat Kumar

Teacher at Oxford English High School 7 year experience

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुष्य नक्षत्र का शाब्दिक अर्थ है पोषण करने वाला नक्षत्र इस नक्षत्र में मनुष्य का पोषण होता है और इसे एक गाय के थन के रूप में संकेत किया जाता है

pushya nakshtra ka shabdik arth hai poshan karne vala nakshtra is nakshtra mein manushya ka poshan hota hai aur ise ek gaay ke than ke roop mein sanket kiya jata hai

पुष्य नक्षत्र का शाब्दिक अर्थ है पोषण करने वाला नक्षत्र इस नक्षत्र में मनुष्य का पोषण होता

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  763
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें पुष्य का अर्थ होता है सुख समृद्धि और वैभव तो इस नक्षत्र को जो ज्योतिष से शास्त्री हैं वह बहुत अच्छा मानते हैं और इसका जो प्रतीक चिन्ह होता है वह गाय का थन होता है

dekhen pushya ka arth hota hai sukh samridhi aur vaibhav toh is nakshtra ko jo jyotish se shastri hain vaah bahut accha maante hain aur iska jo prateek chinh hota hai vaah gaay ka than hota hai

देखें पुष्य का अर्थ होता है सुख समृद्धि और वैभव तो इस नक्षत्र को जो ज्योतिष से शास्त्री है

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  372
WhatsApp_icon
user
1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि आपने क्वेश्चन गुरु पुष्य नक्षत्र के बारे में बताएं तो मैं आपको बता दूंगा कुछ सी का अर्थ है पोषण करने वाला ऊर्जा और शक्ति प्रदान करने वाला मंत्र से पूछो उसका बिगड़ा रूप मानते हैं उसी का प्राचीन नाम तीसरे शुभ चंद्र तथा सुख संपदा देने वाला है विद्वान इस नक्षत्र को बहुत शुभ और कल्याणकारी मानते हैं विद्या ने संसद का प्रतीक चिन्ह का चिन्ह गाय का थन मानते हैं उनके विचार से गाय का दूध पृथ्वी लोक का अमूर्त है पुष्य नक्षत्र गाय के थन से निकले ताजे दूध सरिता को सरकारी लाभ पर ध्यान दें और मन को प्रसन्नता देने वाला होता है राशि में 3 डिग्री 20 मिनट से 16 डिग्री 40 मिनट तक होती है या क्रांति मृत्य से जीरो 84 कलर 37 विकला उत्तर तथा विषुववृत्त से 18 19 का 59 निकला उत्तर में है इस नक्षत्र में 3 तारीख तीर्थ के आगे का त्रिकोण सरीखे जान पड़ते हैं बाढ़ का शीर्ष बिंदु यह पहली नौका तारापुर से क्रांति मृत्य पर पड़ता है उसी को ऋग्वेद में अर्थात स्वयं मांगलिक तारा में कहते हैं सॉरी जुलाई के तृतीय सप्ताह में पुष्य नक्षत्र में गोचर करता है उसी समय नक्षत्र पूर्व में उदय होता है मार्च महीने में रात्रि 9:00 से 11:00 तक उसने छात्र अपने सिरों बिंदु पर होता है और उस मास की पूर्णिमा को चंद्रमा पुष्य नक्षत्र में रहता है इस नक्षत्र का स्वामी ग्रह शनि है धन्यवाद

jaisa ki aapne question guru pushya nakshtra ke bare me bataye toh main aapko bata dunga kuch si ka arth hai poshan karne vala urja aur shakti pradan karne vala mantra se pucho uska bigda roop maante hain usi ka prachin naam teesre shubha chandra tatha sukh sampada dene vala hai vidhwaan is nakshtra ko bahut shubha aur kalyaankari maante hain vidya ne sansad ka prateek chinh ka chinh gaay ka than maante hain unke vichar se gaay ka doodh prithvi lok ka amrut hai pushya nakshtra gaay ke than se nikle taje doodh sarita ko sarkari labh par dhyan de aur man ko prasannata dene vala hota hai rashi me 3 degree 20 minute se 16 degree 40 minute tak hoti hai ya kranti mritya se zero 84 color 37 vikla uttar tatha vishuvavritt se 18 19 ka 59 nikala uttar me hai is nakshtra me 3 tarikh tirth ke aage ka trikon sarikhe jaan padate hain baadh ka shirsh bindu yah pehli nauka tarapur se kranti mritya par padta hai usi ko rigved me arthat swayam manglik tara me kehte hain sorry july ke tritiya saptah me pushya nakshtra me gochar karta hai usi samay nakshtra purv me uday hota hai march mahine me ratri 9 00 se 11 00 tak usne chatra apne siron bindu par hota hai aur us mass ki poornima ko chandrama pushya nakshtra me rehta hai is nakshtra ka swami grah shani hai dhanyavad

जैसा कि आपने क्वेश्चन गुरु पुष्य नक्षत्र के बारे में बताएं तो मैं आपको बता दूंगा कुछ सी का

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  1033
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!