व्यक्तित्व विकास का सही समय या आयु क्या है?...


user

Nita Nayyar

Writer ,Motivational Speaker, Social Worker n Counseller.

2:21
Play

Likes  87  Dislikes    views  1029
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mahendra Joshi

Motivational Speaker www.mahendrajoshi.com

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकास का सही समय और सही आयोग क्या है हमें मानना है कि व्यक्तित्व विकास एक सतत प्रक्रिया है जो किसी भी समय शुरू हो सकती हैं किसी भी समय खत्म हो सकती इसका ताल्लुक दो चीजों से है कि वह व्यक्ति जिस के विकास के बारे में बात हो रही है वह खुद अगर हो जागरूक हो कि मुझे अपने आप का विकास करना अपने आप को डेवलप करना अपने आप को इतना स्किलफुल करना है परसों या वाइस भी और स्किलवाइज भी कि मैं बहुत अपने आप को सशक्त साबित कर सकूं तो व्यक्तित्व विकास का कोई भी पर्टिकुलर समय नहीं है और कोई भी पॉलिटिकल लड़ाई तो नहीं मगर हां यह बात जरूर है कि जितनी जल्दी इस दिशा में कार्य शुरू हो जाए उतनी बढ़िया बात होती है धन्यवाद नमस्कार

vikas ka sahi samay aur sahi aayog kya hai hamein manana hai ki vyaktitva vikas ek satat prakriya hai jo kisi bhi samay shuru ho sakti hain kisi bhi samay khatam ho sakti iska talluk do chijon se hai ki vaah vyakti jis ke vikas ke bare mein baat ho rahi hai vaah khud agar ho jagruk ho ki mujhe apne aap ka vikas karna apne aap ko develop karna apne aap ko itna skillful karna hai parso ya voice bhi aur skilavaij bhi ki main bahut apne aap ko sashakt saabit kar sakun toh vyaktitva vikas ka koi bhi particular samay nahi hai aur koi bhi political ladai toh nahi magar haan yah baat zaroor hai ki jitni jaldi is disha mein karya shuru ho jaaye utani badhiya baat hoti hai dhanyavad namaskar

विकास का सही समय और सही आयोग क्या है हमें मानना है कि व्यक्तित्व विकास एक सतत प्रक्रिया है

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  633
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

2:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने प्रश्न क्या के व्यक्तित्व विकास का सही समय आयु क्या है व्यक्तित्व विकास का सही समय बचपन होता है ध्यान रहे बच्चे में सीखने की क्षमता बहुत तेज होती है वह हर छोटी से छोटी बड़ी से बड़ी चीज को बहुत आसानी से और बहुत जल्दी से कहता है इसीलिए घर को बच्चे का पहला स्कूल कहा जाता है बच्चे के व्यक्तित्व के विकास में मां-बाप का व्यवहार उनके घर वालों का व्यवहार जिन बच्चों के बीच खेल तक होता है उनके बच्चों का व्यवहार बहुत कुछ उसके व्यक्तित्व के विकास में सहायक होता है जितना ही अच्छा सकारात्मक व्यवहार वह बच्चा अपने जीवन में देखता है महसूस करता है उन्हीं चीजों को वह अपने जीवन का हिस्सा बना लेता अपने व्यक्तित्व का हिस्सा बना लेता है ध्यान रहे जितने भी आप अच्छे गुणों को डालना चाहिए अगर माता-पिता और घरवाले उस बच्चे के सामने करते हैं दिखाते हैं तो उन गुणों को अपने अंदर डाल लेता है और अपने व्यक्तित्व का हिस्सा बना लेता है ध्यान रहे वह बच्चा अपने जीवन में क्या करेगा किस प्रकार की सोच रखेगा कैसी मानसिकता रखेगा कहीं ना कहीं उसकी जो न्यू होती है वह बचपन में ही रखी जाती है इसीलिए जिस बच्चे का जो बचपन है बहुत ही अच्छे माहौल में होता है सकारात्मक माहौल में होता है वह बच्चा बड़ा होकर कि कहीं ना कहीं सकारात्मक लड़का ही बनता है साइंस बीए कहता है कि बच्चे के जो मानसिकता है दृष्टिकोण है सोचने समझने की क्षमता है उसके विकास में उसके माहौल का बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है इसीलिए यह बहुत जरूरी है कि आप जो भी अच्छी चीजें या जो भी व्यक्तित्व विकास व्यक्ति के जीवन में देखना चाहते हैं वह उसको बचपन में देने की कोशिश करें क्योंकि बच नहीं हो समय होता है कि जिन चीजों में हम जो चीज डाल देते हैं उस व्यक्ति के साथ पूरे जीवन रहता है और उसका पूरा व्यक्तित्व जीवन का उसकी पूरी मानसिकता उसी पर निर्भर रहती है तहसील क्षेत्र को विकास करने के लिए उसके बचपन का समय सबसे उचित होता है और सबसे प्रभावी होता है मेरी शुभकामनाएं आपके लिए धन्यवाद

apne prashna kya ke vyaktitva vikas ka sahi samay aayu kya hai vyaktitva vikas ka sahi samay bachpan hota hai dhyan rahe bacche mein sikhne ki kshamta bahut tez hoti hai vaah har choti se choti badi se badi cheez ko bahut aasani se aur bahut jaldi se kahata hai isliye ghar ko bacche ka pehla school kaha jata hai bacche ke vyaktitva ke vikas mein maa baap ka vyavhar unke ghar walon ka vyavhar jin baccho ke beech khel tak hota hai unke baccho ka vyavhar bahut kuch uske vyaktitva ke vikas mein sahayak hota hai jitna hi accha sakaratmak vyavhar vaah baccha apne jeevan mein dekhta hai mehsus karta hai unhi chijon ko vaah apne jeevan ka hissa bana leta apne vyaktitva ka hissa bana leta hai dhyan rahe jitne bhi aap acche gunon ko dalna chahiye agar mata pita aur gharwale us bacche ke saamne karte hain dikhate hain toh un gunon ko apne andar daal leta hai aur apne vyaktitva ka hissa bana leta hai dhyan rahe vaah baccha apne jeevan mein kya karega kis prakar ki soch rakhega kaisi mansikta rakhega kahin na kahin uski jo new hoti hai vaah bachpan mein hi rakhi jaati hai isliye jis bacche ka jo bachpan hai bahut hi acche maahaul mein hota hai sakaratmak maahaul mein hota hai vaah baccha bada hokar ki kahin na kahin sakaratmak ladka hi baata hai science BA kahata hai ki bacche ke jo mansikta hai drishtikon hai sochne samjhne ki kshamta hai uske vikas mein uske maahaul ka bahut adhik prabhav padta hai isliye yah bahut zaroori hai ki aap jo bhi achi cheezen ya jo bhi vyaktitva vikas vyakti ke jeevan mein dekhna chahte hain vaah usko bachpan mein dene ki koshish kare kyonki bach nahi ho samay hota hai ki jin chijon mein hum jo cheez daal dete hain us vyakti ke saath poore jeevan rehta hai aur uska pura vyaktitva jeevan ka uski puri mansikta usi par nirbhar rehti hai tehsil kshetra ko vikas karne ke liye uske bachpan ka samay sabse uchit hota hai aur sabse prabhavi hota hai meri subhkamnaayain aapke liye dhanyavad

अपने प्रश्न क्या के व्यक्तित्व विकास का सही समय आयु क्या है व्यक्तित्व विकास का सही समय बच

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  638
WhatsApp_icon
user

Sonika Mishra

Research & Poetry

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्यक्तित्व विकास का सही समय आयु क्या है देखें यह हर उम्र हर आयु हर समय में विकास करना ही हमारा अधिकार है और हमारा कर्तव्य हम यह नहीं कहते कि आप का विकास नहीं होता कभी रुकता नहीं हो बढ़ता रहता है थोड़ा-थोड़ा करके बढ़ता रहता है और ऐसा आपने देखा होगा कि जब पेड़ बहुत बुरा हो जाता ना तब भी उसमें कुछ पत्तियां निकलती रहती है तो इस तरह से हम अपने जीवन को हर पल अच्छा बनाते हैं चरित्र अपना अच्छा चित्रण करते हैं और तो इसकी कोई उम्र और कोई समय नहीं होता है जब आपको आत्मज्ञान होना शुरू हो जाएगा तब आप अपना विकास करना शुरू कर देंगे और यह निरंतर आपका चलता रहेगा हर उम्र में बहुत सारे सक्सेसफुल मैन रहते जिनकी आपने स्टोरी पढ़ी हो इतना सुन के पास इतना पैसा लेकर फिर भी वह काम करते हैं वह अपने क्यों हुआ प्रोग्रेस करने की कोशिश करते हैं क्योंकि उनके जीवन का धर्म है

vyaktitva vikas ka sahi samay aayu kya hai dekhen yah har umr har aayu har samay mein vikas karna hi hamara adhikaar hai aur hamara kartavya hum yah nahi kehte ki aap ka vikas nahi hota kabhi rukata nahi ho badhta rehta hai thoda thoda karke badhta rehta hai aur aisa aapne dekha hoga ki jab ped bahut bura ho jata na tab bhi usme kuch pattiyan nikalti rehti hai toh is tarah se hum apne jeevan ko har pal accha banate hain charitra apna accha chitran karte hain aur toh iski koi umr aur koi samay nahi hota hai jab aapko atmagyan hona shuru ho jaega tab aap apna vikas karna shuru kar denge aur yah nirantar aapka chalta rahega har umr mein bahut saare successful man rehte jinki aapne story padhi ho itna sun ke paas itna paisa lekar phir bhi vaah kaam karte hain vaah apne kyon hua progress karne ki koshish karte hain kyonki unke jeevan ka dharm hai

व्यक्तित्व विकास का सही समय आयु क्या है देखें यह हर उम्र हर आयु हर समय में विकास करना ही ह

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  312
WhatsApp_icon
user

Mohit Kumar Kakkar(Armaan)

Personality Development Trainer

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स आप का क्वेश्चन है व्यक्तित्व विकास का सही समय या आयु क्या है तो फ्रेंड्स मैं आपको बता दूं व्यक्तित्व विकास का कोई समय या कोई आयो नहीं होती आप जब चाहो आप अपना व्यक्तित्व अपना विकास कर सकते हो चाहे आप स्कूल स्टूडेंट है चाहे आप कॉलेज स्टूडेंट है चाहे आप प्रेशर हैं चाहे आप जॉब ढूंढ रहे हैं चाय आप किसी कंपनी में एक अच्छी पोजीशन पर है चाहे आप बिजनेसमैन हैं व्यक्तित्व विकास आप जब चाहो तब कर सकते हो वैसे ही व्यक्तित्व विकास हर पर्सन के लिए जरूरी है क्योंकि अपनी फील्ड में आप को ग्लो करने के लिए अट्रैक्टिव पर्सनैलिटी होना बहुत जरूरी है थैंक यू

hello friends aap ka question hai vyaktitva vikas ka sahi samay ya aayu kya hai toh friends main aapko bata doon vyaktitva vikas ka koi samay ya koi aayo nahi hoti aap jab chaho aap apna vyaktitva apna vikas kar sakte ho chahen aap school student hai chahen aap college student hai chahen aap pressure hain chahen aap job dhundh rahe hain chai aap kisi company me ek achi position par hai chahen aap bussinessmen hain vyaktitva vikas aap jab chaho tab kar sakte ho waise hi vyaktitva vikas har person ke liye zaroori hai kyonki apni field me aap ko glow karne ke liye attractive personality hona bahut zaroori hai thank you

हेलो फ्रेंड्स आप का क्वेश्चन है व्यक्तित्व विकास का सही समय या आयु क्या है तो फ्रेंड्स मैं

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  217
WhatsApp_icon
user

Krishanlal Kanwat

Retire Officer

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्यक्तित्व विकास का सही समय आयु क्या है वैसे तो मानव जब तक जीता है तब तक सीखने की प्रक्रिया सतत निरंतर चलती रहती है हर आदमी जीवन भर विद्यार्थी ही रहता है लेकिन जो हमारे पहले प्राचीन संस्कृति में जो आश्रम व्यवस्था की व्यवस्था की गई थी उसमें जो 25 वर्ष तक हमारा ब्रह्मचर्य आश्रम की आयु रखी गई उसमें विद्या ग्रहण करना शारीरिक मानसिक आध्यात्मिक सबसे की विद्या ग्रहण करना तथा हर तरह की उन्नति के लिए यह सबसे उपयुक्त समय माना गया है इस अवस्था तक नवसारी की उन्नति भी यानी कि मानव शरीर का पूर्ण विकास हो चुका होता है 25 वर्ष की अवस्था को उपयुक्त माना मिला

vyaktitva vikas ka sahi samay aayu kya hai waise toh manav jab tak jita hai tab tak sikhne ki prakriya satat nirantar chalti rehti hai har aadmi jeevan bhar vidyarthi hi rehta hai lekin jo hamare pehle prachin sanskriti mein jo ashram vyavastha ki vyavastha ki gayi thi usme jo 25 varsh tak hamara brahmacharya ashram ki aayu rakhi gayi usme vidya grahan karna sharirik mansik aadhyatmik sabse ki vidya grahan karna tatha har tarah ki unnati ke liye yah sabse upyukt samay mana gaya hai is avastha tak navsari ki unnati bhi yani ki manav sharir ka purn vikas ho chuka hota hai 25 varsh ki avastha ko upyukt mana mila

व्यक्तित्व विकास का सही समय आयु क्या है वैसे तो मानव जब तक जीता है तब तक सीखने की प्रक्रिय

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  224
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!