हमारे रिलेशनशिप में बहोत ज्यादा झगड़े होते हे तो हम क्या करे?...


user

Porshia Chawla Ban

Psychologist

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी आप का सवाल है हमारे रिलेशनशिप में बहुत ज्यादा झगड़े होते हैं तो हम क्या करें तो रिलेशनशिप में झगड़े क्यों होते हैं पहले वह आपने बैठकर यह नीलेश करना है तो उन्होंने कि झगड़ा किस बात पर हो रहे हैं क्या वजह है यह कौन से ऐसे पॉइंट्स है जिनमें आप लोगों का जो है टकराव होता है फिर आप देखें कि उसमें आप क्या बदलाव ला सकते हैं कि यह का कनफ्लिक्ट ना हो इस तरह का टकराव ना हो लेकिन अगर आपको ऐसा लग रहा है कि मैं तो अपनी जगह सही हूं और मैंने तो कुछ गलत नहीं किया है और सामने वाले को भी ऐसा लगता है कि वह सही है उसने कुछ गलत नहीं किया तो शायद आप लोगों का जो यहां पर देखने का नजरिया है चीजों को वह अलग है और दोनों अपनी जगह सही है पर दोनों एक दूसरे के साथ मैच नहीं हो पा रहे हैं इसलिए शायद बहुत ज्यादा झगड़े होते हैं जब उन्हें कैसे कई कारण हैं वो भी उस में से एक है कई बार ऐसा लगता है व्यक्ति को की और जो मैं कह रहा हूं वही सही है और वह सामने वाले का जो व्यूप्वाइंट्स है उसको देखने की कोशिश नहीं करता है या उतना ध्यान नहीं देता है उस चीज पर तो आपको यह करना है अभी कि पहले तो बात करनी है आपस में की कहां पर प्रॉब्लम जा रही हैं और उनको बैठकर क्या हम शॉट ऑफ कर सकते हैं क्या हम कॉमन ग्राउंड पर पहुंच सकते हैं कि जहां पर हम दोनों अच्छे से अग्रि करें एक लेवल तक आकर की आत्मकथा आप कंप्रोमाइज करें थोड़ा सा वह कंप्रोमाइज करें कि की वैचारिक मतभेद होना कोई खराब बात नहीं है सबका अपना वॉइस आफ योर ओपिनियन है लेकिन झगड़ों का कारण अगर हर छोटी से छोटी सी से बड़ी चीज तक है तो फिर यहां पर कहीं ना कहीं यह सवाल भी उठता है कि क्या आप एडजस्ट करना चाहते हैं क्या आप के लिए यह रिलेशनशिप इंपॉर्टेंट है क्योंकि अगर इलेक्शन जीत होगी तो बहुत सी चीजें हम कई बार और भी करते हैं या फिर भी लेते

ji aap ka sawaal hai hamare Relationship mein bahut zyada jhagde hote hain toh hum kya kare toh Relationship mein jhagde kyon hote hain pehle vaah aapne baithkar yah nilesh karna hai toh unhone ki jhadna kis baat par ho rahe kya wajah hai yah kaunsi aise points hai jinmein aap logo ka jo hai takraav hota hai phir aap dekhen ki usme aap kya badlav la sakte hain ki yah ka kanaflikt na ho is tarah ka takraav na ho lekin agar aapko aisa lag raha hai ki main toh apni jagah sahi hoon aur maine toh kuch galat nahi kiya hai aur saamne waale ko bhi aisa lagta hai ki vaah sahi hai usne kuch galat nahi kiya toh shayad aap logo ka jo yahan par dekhne ka najariya hai chijon ko vaah alag hai aur dono apni jagah sahi hai par dono ek dusre ke saath match nahi ho paa rahe hain isliye shayad bahut zyada jhagde hote hain jab unhe kaise kai karan hain vo bhi us mein se ek hai kai baar aisa lagta hai vyakti ko ki aur jo main keh raha hoon wahi sahi hai aur vaah saamne waale ka jo vyupwaints hai usko dekhne ki koshish nahi karta hai ya utana dhyan nahi deta hai us cheez par toh aapko yah karna hai abhi ki pehle toh baat karni hai aapas mein ki kahaan par problem ja rahi hain aur unko baithkar kya hum shot of kar sakte kya hum common ground par pohch sakte hain ki jaha par hum dono acche se agri kare ek level tak aakar ki atmakatha aap compromise kare thoda sa vaah compromise kare ki ki vaicharik matbhed hona koi kharab baat nahi hai sabka apna voice of your opinion hai lekin jhagadon ka karan agar har choti se choti si se badi cheez tak hai toh phir yahan par kahin na kahin yah sawaal bhi uthata hai ki kya aap adjust karna chahte kya aap ke liye yah Relationship important hai kyonki agar election jeet hogi toh bahut si cheezen hum kai baar aur bhi karte hain ya phir bhi lete

जी आप का सवाल है हमारे रिलेशनशिप में बहुत ज्यादा झगड़े होते हैं तो हम क्या करें तो रिलेशनश

Romanized Version
Likes  102  Dislikes    views  3356
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Devesh Singh

Motivational Speaker | Professor

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी रिलेशनशिप में झगड़े हो ना यह तरीके के प्रेम की ही निशानी है लेकिन जब वह झगड़े जब वह मनमुटाव एक हद से ज्यादा आगे बढ़ने लगते हैं तो हमें उस संबंध के बारे में सोचने की जरूरत होती है सबसे पहले अपने ऊपर बदलाव करने की आवश्यकता है क्या हमारे अपने व्यवहार की वजह से सामने वाले को कोई तकलीफ हो रही है हमारे अपने किसी भावनाओं की वजह से सामने वाला कष्ट में है हमें इस बात पर ध्यान देते हुए उसे बदलने की जरूरत है थोड़ा वक्त एक दूसरे के साथ इस विषय पर बात करने की जरूरत है कि क्यों हमारे आपके बीच में मनमुटाव हो रहे हैं क्यों हमारे आपके बीच में इतने ज्यादा भावनात्मक तनाव पैदा हो रहे हैं उन बातों से हमें यह समझ में आता है कि क्या हम आगे भविष्य के लिए करता तुम्हें जिससे यह भावनात्मक तनाव उत्पन्न हो कभी-कभी यह भी होता है कि आपसी संबंध बहुत ही ज्यादा तनावपूर्ण हो जाने की वजह से इस संबंध में विच्छेद होने की परिस्थिति आ जाती है हमें प्रयास करना चाहिए कि इस तरीके के भावनात्मक तनाव उत्पन्न ना हो इस तरीके के परिस्थितियां ना आए जिसकी वजह से यह झगड़े बार-बार हो रहे हैं और अगर कभी जरूरत हो तो थोड़ी देर के लिए अपने साथी को अकेले छोड़ देना अभी बेहतर होता है क्योंकि किसी संबंध को बहुत समय तक खींचना भी उचित नहीं है कभी कभी सामने वाला अकेले वक्त भी चाहता है वह हमारे साथ से उलझन में आ जाता है उसे थोड़ा खाली समय खुद भी थोड़ा समय ले और इस संबंध के अस्तित्व को पहचाने और उसको एक नया आयाम दे

kisi bhi Relationship mein jhagde ho na yah tarike ke prem ki hi nishani hai lekin jab vaah jhagde jab vaah manmutaav ek had se zyada aage badhne lagte hain toh hamein us sambandh ke bare mein sochne ki zarurat hoti hai sabse pehle apne upar badlav karne ki avashyakta hai kya hamare apne vyavhar ki wajah se saamne waale ko koi takleef ho rahi hai hamare apne kisi bhavnao ki wajah se saamne vala kasht mein hai hamein is baat par dhyan dete hue use badalne ki zarurat hai thoda waqt ek dusre ke saath is vishay par baat karne ki zarurat hai ki kyon hamare aapke beech mein manmutaav ho rahe hain kyon hamare aapke beech mein itne zyada bhavnatmak tanaav paida ho rahe hain un baaton se hamein yah samajh mein aata hai ki kya hum aage bhavishya ke liye karta tumhe jisse yah bhavnatmak tanaav utpann ho kabhi kabhi yah bhi hota hai ki aapasi sambandh bahut hi zyada tanavapurn ho jaane ki wajah se is sambandh mein vichched hone ki paristithi aa jaati hai hamein prayas karna chahiye ki is tarike ke bhavnatmak tanaav utpann na ho is tarike ke paristhiyaann na aaye jiski wajah se yah jhagde baar baar ho rahe hain aur agar kabhi zarurat ho toh thodi der ke liye apne sathi ko akele chod dena abhi behtar hota hai kyonki kisi sambandh ko bahut samay tak khinchana bhi uchit nahi hai kabhi kabhi saamne vala akele waqt bhi chahta hai vaah hamare saath se uljhan mein aa jata hai use thoda khaali samay khud bhi thoda samay le aur is sambandh ke astitva ko pehchane aur usko ek naya aayam de

किसी भी रिलेशनशिप में झगड़े हो ना यह तरीके के प्रेम की ही निशानी है लेकिन जब वह झगड़े जब व

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  141
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपसी तौर पर ही समझौता हमारे लिए संसद को आगे ले जा सकता है

aapasi taur par hi samjhauta hamare liye sansad ko aage le ja sakta hai

आपसी तौर पर ही समझौता हमारे लिए संसद को आगे ले जा सकता है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
user

MD Mukhtar

Computer Service

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आपके रिलेशनशिप में ज्यादा झगड़े हो रहे हैं परेशान मत करिए कुछ आने का मतलब यह नहीं है मोहब्बत कम हो रही है उनका ही देन है मोहब्बत बरकरार है और जहां मोहब्बत है रुकना नहीं चाहिए उतना नहीं करते क्योंकि एक टोकरी में और सारे बर्तन जानवर चार बर्तन होते हैं खनक आवाज बनारस

agar aapke Relationship me zyada jhagde ho rahe hain pareshan mat kariye kuch aane ka matlab yah nahi hai mohabbat kam ho rahi hai unka hi then hai mohabbat barkaraar hai aur jaha mohabbat hai rukna nahi chahiye utana nahi karte kyonki ek tokri me aur saare bartan janwar char bartan hote hain khanak awaaz banaras

अगर आपके रिलेशनशिप में ज्यादा झगड़े हो रहे हैं परेशान मत करिए कुछ आने का मतलब यह नहीं है म

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  212
WhatsApp_icon
user

hemendra singh Chouhan

Founder Of Meditation Skills

7:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे रिलेशनशिप में बहुत झगड़े होते हैं हम क्या करें पहली बात कि झगड़ा आपकी वजह से है या फिर सामने वाला इंसान खुद से ही परेशान है भाई मोस्टली झगड़े जो होते हैं वह पति पत्नी के होते हैं तुम्हें एग्जांपल पति-पत्नी का लेता हूं माली जी पति पत्नी में झगड़े हो रहे हैं तो कई बार देखने में आता है कि उनके रिलेशनशिप में कोई प्रॉब्लम नहीं है प्रॉब्लम है कि एक पर्सन इमोशनली कमजोर है उस छोटी छोटी बात में डिपेंड हो रखा है दूसरे प्रश्न पर उसी को चिड़चिड़ा करता है छोटी-छोटी बातों में ठोकाठोकी करता है और फिर झगड़े बढ़ते हैं अगर किसी इंसान की टांग टूटी हुई है तो वह तो अपन को दिख जाता है कि भैंस की टांग टूटी हुई है लेकिन इमोशनली कोई व्यक्ति वीक है खुद को संभाल नहीं पा रहा है अपनी मोशंस पर कंट्रोल नहीं है वह मैं दिखता नहीं है हमें सिर्फ भाई यह स्वरूप दिखता है तो ऐसे इंसान के साथ क्या करें झगड़े अगर होते हैं तो सबसे पहले तो खुद की प्रोटेक्शन पहले करें खुद का दान पहले रखें कि मैं डिस्टर्ब ना हो अगर मुझे इस रिश्ते को निभाना है तो मुझे सामने वाले के प्रति कुछ बुरा नहीं सोचना है कि मैं केस कर दूंगा मैं इसकी टांगे तोड़ दूंगा मैं इसको मरवा दूंगा नहीं सोचना उल्टा उसको प्यार देना वेट करके बात करनी है जरूरी नहीं है कि इधर किसी टॉपिक पर बात करें नॉर्मल ऐसे बात करने लग जाओगे अपनी 1 दिन वहां पर घूमने गए थे वहां पर अपने फिर फोटो खिंचवाई थी कितना मजा आया था लाइफ की दुख खुशी वाले मूवमेंट है उनके बारे में बात करना शुरू कर दें और अगर सामने वाले प्रशन गुस्सा कर भी दे तो भी आप जा कर के खुद बात कर लो अगर आपको रिलेशनशिप निभाना ही है तो खुद जाकर की बात कर लो कोई दिक्कत नहीं है थोड़ा सा भोजन पर ध्यान दें भोजन बहुत इंपॉर्टेंट चीज होता है अच्छा अच्छा भोजन बना करके खिलाए क्योंकि किसी के दिल का रास्ता उसके पेट से होकर के गुजरता है अगर पत्नी ज्यादा लड़ाई करती हैं वाइफ अगर बहुत झगड़ा करती है तो 1 दिन उसको इडली सांभर अपने हाथ से बनाकर खिला दो खुश हो जाएगी उसको बोलो कि आज खाना मैं बनाता हूं तू आज रेस्ट कर चला जब घूमने चलते हैं खुश रखो उसको अपने पार्टनर को खुश रखो वह क्या चाहता है उसकी डिमांड पूरी कर लो और एक चीज इंपोर्टेंट और होती है कि ऐसा आदमी के पास अगर पैसा नहीं होता है ना तो यह सारी ज्ञान की बातें बेकार है सारी ज्ञान की बातें बेकार है कितने प्रवचन दे लो कितनी अच्छी-अच्छी बातें कर लो कर जेब में पैसा नहीं है तो उसका कोई इलाज नहीं तो संसार में आज के टाइम में झगड़े तो बढ़ रहे हैं मैं ऐसा नहीं कहा कि संसार बहुत अच्छा हो गया है दिन भर दिन के झगड़े बढ़ते जा रहे हैं और आगे भी बढ़ेंगे इसमें क्या कर सकते हैं अगर आप की कंडीशन ऐसी हो गई है कि एक दूसरे को मरने मारने पर तुले हुए हो अगर ऐसी सिचुएशन आगरा गई है तो फिर भैया इस रिलेशनशिप से आपको कटोच करना पड़ेगा 10 साल हो गए पति रोज मारता है तो ऐसी कंडीशन है फिर पति को छोड़ना ही बेहतर है लेकिन अब पत्नी कैसे छोड़े उधर डिपेंडेंट है वह देखेंगे बाद में कुछ कर लेंगे कुछ ना कुछ इंतजाम हो जाएगा कुछ ना कुछ हो जाएगा लेकिन जब तक निभा सकते हो निभाओ लेकिन अगर पानी सर के ऊपर से निकल जाए आपके हाथों में तोड़ के रख दी है तो फिर छोड़ो भाई जितना समझा सकता था इस टॉपिक के ऊपर मैंने समझा दिया यह झगड़े वाला जो टोपी कहीं ऐसा है कि इसके ऊपर बैठकर के काउंसलिंग होती है कोई ऐसा व्यक्ति समझदार व्यक्ति दोनों की बात सुने दोनों की बात सुनकर के दोनों को समझाएं मध्यस्थता करे कोई काफी समय तक उनको डायरेक्शन दे तो ऐसा इंसान आपको दुनिया में कहीं नहीं मिलेगा जो आपको रेगुलर डायरेक्शन कौन फालतू बैठा है जो आपके रिलेशनशिप को संभालेगा कितना हो सकता है तो बता दिया और इसके बारे में और कुछ नहीं कर सकता पहले का टाइम बढ़िया था कि कोई झगड़े वगैरा होते थे तो घर-घर में बड़े बूढ़े होते थे उनका डर रहता था लेकिन आजकल क्या कि सेपरेट हो गया सब बड़ों का डर है नहीं स्वच्छंदता गई है शिखर जी ओके

hamare Relationship mein bahut jhagde hote hai hum kya kare pehli baat ki jhadna aapki wajah se hai ya phir saamne vala insaan khud se hi pareshan hai bhai Mostly jhagde jo hote hai vaah pati patni ke hote hai tumhe example pati patni ka leta hoon maali ji pati patni mein jhagde ho rahe hai toh kai baar dekhne mein aata hai ki unke Relationship mein koi problem nahi hai problem hai ki ek person emotionally kamjor hai us choti choti baat mein depend ho rakha hai dusre prashna par usi ko chidchida karta hai choti choti baaton mein thokathoki karta hai aur phir jhagde badhte hai agar kisi insaan ki taang tuti hui hai toh vaah toh apan ko dikh jata hai ki bhains ki taang tuti hui hai lekin emotionally koi vyakti weak hai khud ko sambhaal nahi paa raha hai apni moshans par control nahi hai vaah main dikhta nahi hai hamein sirf bhai yah swaroop dikhta hai toh aise insaan ke saath kya kare jhagde agar hote hai toh sabse pehle toh khud ki protection pehle kare khud ka daan pehle rakhen ki main disturb na ho agar mujhe is rishte ko nibhana hai toh mujhe saamne waale ke prati kuch bura nahi sochna hai ki main case kar dunga main iski tange tod dunga main isko marava dunga nahi sochna ulta usko pyar dena wait karke baat karni hai zaroori nahi hai ki idhar kisi topic par baat kare normal aise baat karne lag jaoge apni 1 din wahan par ghoomne gaye the wahan par apne phir photo khinchavai thi kitna maza aaya tha life ki dukh khushi waale movement hai unke bare mein baat karna shuru kar de aur agar saamne waale prashn gussa kar bhi de toh bhi aap ja kar ke khud baat kar lo agar aapko Relationship nibhana hi hai toh khud jaakar ki baat kar lo koi dikkat nahi hai thoda sa bhojan par dhyan de bhojan bahut important cheez hota hai accha accha bhojan bana karke khilaye kyonki kisi ke dil ka rasta uske pet se hokar ke guzarta hai agar patni zyada ladai karti hai wife agar bahut jhadna karti hai toh 1 din usko idli saambhar apne hath se banakar khila do khush ho jayegi usko bolo ki aaj khana main banata hoon tu aaj rest kar chala jab ghoomne chalte hai khush rakho usko apne partner ko khush rakho vaah kya chahta hai uski demand puri kar lo aur ek cheez important aur hoti hai ki aisa aadmi ke paas agar paisa nahi hota hai na toh yah saree gyaan ki batein bekar hai saree gyaan ki batein bekar hai kitne pravachan de lo kitni achi achi batein kar lo kar jeb mein paisa nahi hai toh uska koi ilaj nahi toh sansar mein aaj ke time mein jhagde toh badh rahe hai aisa nahi kaha ki sansar bahut accha ho gaya hai din bhar din ke jhagde badhte ja rahe hai aur aage bhi badhenge isme kya kar sakte hai agar aap ki condition aisi ho gayi hai ki ek dusre ko marne maarne par tule hue ho agar aisi situation agra gayi hai toh phir bhaiya is Relationship se aapko katoch karna padega 10 saal ho gaye pati roj maarta hai toh aisi condition hai phir pati ko chhodna hi behtar hai lekin ab patni kaise chode udhar dependent hai vaah dekhenge baad mein kuch kar lenge kuch na kuch intajam ho jaega kuch na kuch ho jaega lekin jab tak nibha sakte ho nibhao lekin agar paani sir ke upar se nikal jaaye aapke hathon mein tod ke rakh di hai toh phir chodo bhai jitna samjha sakta tha is topic ke upar maine samjha diya yah jhagde vala jo topi kahin aisa hai ki iske upar baithkar ke kaunsaling hoti hai koi aisa vyakti samajhdar vyakti dono ki baat sune dono ki baat sunkar ke dono ko samjhayen madhyasthata kare koi kaafi samay tak unko direction de toh aisa insaan aapko duniya mein kahin nahi milega jo aapko regular direction kaun faltu baitha hai jo aapke Relationship ko sambhalega kitna ho sakta hai toh bata diya aur iske bare mein aur kuch nahi kar sakta pehle ka time badhiya tha ki koi jhagde vagera hote the toh ghar ghar mein bade budhe hote the unka dar rehta tha lekin aajkal kya ki separate ho gaya sab badon ka dar hai nahi swacchandata gayi hai shikhar ji ok

हमारे रिलेशनशिप में बहुत झगड़े होते हैं हम क्या करें पहली बात कि झगड़ा आपकी वजह से है या

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!