क्या भारत की किताबों में और मध्य प्रदेश की किताब एक जैसी रहती हैं अगर नहीं तो हमें पूर्ण किताबी ज्ञान नहीं मिलता है क्या और अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग किताबें क्यों, भारत में एक ही प्रकार की किताबें क्यों नहीं पढ़ाई जाती?...


user

Suman Saurav

Government Teacher & Carrear Counsultent

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चुकी हमारे देश में शिक्षा समवर्ती सूची में आती है और समवर्ती सूची में रहने के कारण इस पर केंद्र सरकार के द्वारा पुण्य आधिपत्य है और उन्हीं का नियम कानून लगता है लेकिन के राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2005 के तहत यह प्रावधान किया गया था कि राज्यों को यह स्वच्छता दी जाएगी कि वह अपने अस्तर से अर्थात अपने भौगोलिक और पर्यावरणीय प्रवेश के हिसाब से वह पाठ्यक्रम और पुस्तकें डिसाइड कर पाएंगे इसीलिए हर राज्य की अपनी जो बोर्ड है या अपना जो बोर्ड वहां पर उसकी अलग पाठ्यक्रम है और भिन्न-भिन्न पाठ्यक्रम है जो कि वर्तमान में यह चर्चा चल रही है कि पूरे देश में एक पाठ्यक्रम लागू किया जाएगा जिस तरह एनसीईआरटी सीबीएसई बोर्ड की पाठ्यक्रम पूरे देश में एक समान होती है उसी तरह राज्यों के लिए भी जो बोर्ड है उनके लिए भी एक पाठ्यक्रम की चर्चा चल रही है लेकिन वर्तमान में उसे लागू होने में अभी काफी समय लगेगा

chuki hamare desh mein shiksha samvarti suchi mein aati hai aur samvarti suchi mein rehne ke karan is par kendra sarkar ke dwara punya aadhipatya hai aur unhi ka niyam kanoon lagta hai lekin ke rashtriya shiksha niti 2005 ke tahat yah pravadhan kiya gaya tha ki rajyo ko yah swachhta di jayegi ki vaah apne aster se arthat apne bhaugolik aur paryavaraniye pravesh ke hisab se vaah pathyakram aur pustakein decide kar payenge isliye har rajya ki apni jo board hai ya apna jo board wahan par uski alag pathyakram hai aur bhinn bhinn pathyakram hai jo ki vartaman mein yah charcha chal rahi hai ki poore desh mein ek pathyakram laagu kiya jaega jis tarah ncert cbse board ki pathyakram poore desh mein ek saman hoti hai usi tarah rajyo ke liye bhi jo board hai unke liye bhi ek pathyakram ki charcha chal rahi hai lekin vartaman mein use laagu hone mein abhi kaafi samay lagega

चुकी हमारे देश में शिक्षा समवर्ती सूची में आती है और समवर्ती सूची में रहने के कारण इस पर क

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  382
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!