वेद क्या है,  विस्तार से बताएं?...


user

Suraj Shaw

Entrepreneur, Career Counsellor

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अवैध दिखी हिंदू धर्म के सबसे पुराने ग्रंथ है जब आरएनसी थे औरा रेंस की जो सभा बड़े ब्राह्मण और ऋषि मुनि थे उन्होंने वेद लिखे थे और उस वेद में ही हिंदू धर्म को के बारे में सब कुछ बताया गया था और सिर्फ हिंदू धर्म के बारे में ही नहीं ना पूजा करने की विधि काला जादू आयुर्वेदी सारी चीजें हमारे वेदों में बताई गई थी मैथमेटिक्स के बहुत सारे तरीके सर्जरी के सुबोध जी से 30 हमारे वेदों में लिखी गई थी और यही वह ग्रंथ है जिस को आधार मानकर हिंदू धर्म को आगे बढ़ाएं

awaidh dikhi hindu dharm ke sabse purane granth hai jab RNC the aura reigns ki jo sabha bade brahman aur rishi muni the unhone ved likhe the aur us ved mein hi hindu dharm ko ke bare mein sab kuch bataya gaya tha aur sirf hindu dharm ke bare mein hi nahi na puja karne ki vidhi kaala jadu ayurvedi saree cheezen hamare vedo mein batai gayi thi mathematics ke bahut saare tarike surgery ke subodh ji se 30 hamare vedo mein likhi gayi thi aur yahi vaah granth hai jis ko aadhar maankar hindu dharm ko aage badhayen

अवैध दिखी हिंदू धर्म के सबसे पुराने ग्रंथ है जब आरएनसी थे औरा रेंस की जो सभा बड़े ब्राह्मण

Romanized Version
Likes  102  Dislikes    views  1284
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि वेद क्या है विस्तार से बताइए जब भारत में 5 सीसी में 5 पंडित पीसी में जब आर्यों ने आगमन किया था उस समय भारत में ज्ञान और शिक्षा का विस्तार जो है उस ने जन्म लिया था और इस जन्म के साथ ही हमारे वेदों का ज्ञान का गुरु का वास्तव में वेद ज्ञान प्रदान करने का और समाज को संतुलित करने का और समझ शिक्षा का एक संकलित प्रचार करने का और लोगों को धन्यवाद या मानवतावाद में वंचित करने का एक माध्यम था और वेट हमारे बहुत पुरानी कंचे हमारी भारतीय संस्कृति के और वेदों को चार रूपों में बांटा गया और उन चार वेदों में हमारे ऋग्वेद और सामवेद यजुर्वेद इत्यादि वेद आते ही सभी वीडियो है हमारे विभिन्न प्रकार की प्रक्रियाओं पेंशन के विषय में हमें स्पष्ट निर्देश देते हैं उनसे में ज्ञान की प्राप्ति होती है प्लीज हमारे लिए एक तरह से ज्ञान का भंडार है और विज्ञान के रूप में हमें भेजूं के माध्यम से हमारी इतिहास हमारी संस्कृति हमारी आर्यों के आगमन की चीज हमारे ज्ञान की प्रथम रिसेंट टीचर बेटा और बिजी हो कि हमें जानकारी मिलती

aapka prashna hai ki ved kya hai vistaar se bataye jab bharat mein 5 cc mein 5 pandit pc mein jab aaryon ne aagaman kiya tha us samay bharat mein gyaan aur shiksha ka vistaar jo hai us ne janam liya tha aur is janam ke saath hi hamare vedo ka gyaan ka guru ka vaastav mein ved gyaan pradan karne ka aur samaj ko santulit karne ka aur samajh shiksha ka ek sankalit prachar karne ka aur logo ko dhanyavad ya manavatavad mein vanchit karne ka ek madhyam tha aur wait hamare bahut purani kanche hamari bharatiya sanskriti ke aur vedo ko char roopon mein baata gaya aur un char vedo mein hamare rigved aur samved yajurved ityadi ved aate hi sabhi video hai hamare vibhinn prakar ki prakriyaon pension ke vishay mein hamein spasht nirdesh dete hain unse mein gyaan ki prapti hoti hai please hamare liye ek tarah se gyaan ka bhandar hai aur vigyan ke roop mein hamein bheju ke madhyam se hamari itihas hamari sanskriti hamari aaryon ke aagaman ki cheez hamare gyaan ki pratham risent teacher beta aur busy ho ki hamein jaankari milti

आपका प्रश्न है कि वेद क्या है विस्तार से बताइए जब भारत में 5 सीसी में 5 पंडित पीसी में जब

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  1402
WhatsApp_icon
user

अमित चौधरी

Yoga Instructor & Therapist www.Acuved.Com

2:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेद क्या है विस्तार से बताएं कि मनुष्य का जो ज्ञान है वह स्वभाविक नहीं होता वह नैमित्तिक जान होता है अर्थात मनुष्य जो ज्ञान प्राप्त करता है वह दूसरों को देखकर या दूसरों से सुनकर ही प्राप्त कर सकता है उसके पास ऐसा कोई स्वाभाविक या नहीं होता जिससे वह अपने जीवन यापन कर सके तो मनुष्य जो है वह अपने बड़ों से देखकर ज्ञान प्राप्त करता है जब आपने देखा होगा छोटा बच्चा घर में होता है तो कैसे खाना है कैसे चलना है कैसे बात करनी है वह सब अपने माता-पिता से सीखता है उसके माता पिता है उन्होंने अपने माता-पिता से सीखा था तो इसी तरह जाऊं सृष्टि के प्रारंभ में जाते हैं तो वहां पर सवाल आता है कि सृष्टि के आरंभ में मनुष्य को ज्ञान कैसे मिला तो उसका जो निवारण है वह यह है कि परमात्मा ने उनके लिए वेद का ज्ञान दिया है और यह पूरी सृष्टि के लिए है सृष्टि को में कैसे इस्तेमाल करना है किस वस्तु को कैसे उपयोग करना है अपने जीवन में यह सारी चीजें परमात्मा ने वेद के अंदर दी है आपने देखा होगा जब आप कोई नया प्रोडक्ट खरीदते हैं जैसे मोबाइल तो उसके साथ एक बुकलेट आती है इसमें लिखा होता है उस मोबाइल के बारे में क्या कोई कैसे कैसे इस्तेमाल करना है इसी तरह परमात्मा ने सृष्टि का पूरा ज्ञान वेदों के अंदर दिया है जो कि चार है ऋग्वेद यजुर्वेद सामवेद अथर्ववेद चारों वेद परमात्मा ने सृष्टि के आरंभ में चार रिसीव की जो कि उस इस सृष्टि के सबसे श्रेष्ठ की बात माय थी उनके अंदर दिया था क्योंकि पहले लिखने का और कागज का कोई प्रावधान नहीं था तो यह जो ज्ञान है यह श्रुति के माध्यम से चला है श्रुति एक दूसरे से सुनकर इसीलिए वेद को श्रुति भी कहा गया है एक गुरु ने अपने शिष्यों को बताया उन्होंने फिर अपने शिष्यों को बताया उन्होंने इसी तरह से क्रमबद्ध होते हुए यह आज के हालात में आया है और जब कागज और पेन का आविष्कार हुआ तो उसके बाद वेदों को लिपिबद्ध किया गया पुस्तक के रूप में दिया गया और प्रेत संस्कृत भाषा में है संस्कृत किसे देव भाषा भी कहा जाता है फिर काफी विद्वानों ने अपने बुद्धि के बल पर अपनी जान के बल पर उन बेटों को संस्कृत से हिंदी में बदला है या कुछ विद्वानों ने दूसरी अन्य भाषाओं में पुतला है

ved kya hai vistaar se bataye ki manushya ka jo gyaan hai vaah swabhavik nahi hota vaah naimittik jaan hota hai arthat manushya jo gyaan prapt karta hai vaah dusro ko dekhkar ya dusro se sunkar hi prapt kar sakta hai uske paas aisa koi swabhavik ya nahi hota jisse vaah apne jeevan yaapan kar sake toh manushya jo hai vaah apne badon se dekhkar gyaan prapt karta hai jab aapne dekha hoga chota baccha ghar mein hota hai toh kaise khana hai kaise chalna hai kaise baat karni hai vaah sab apne mata pita se sikhata hai uske mata pita hai unhone apne mata pita se seekha tha toh isi tarah jaaun shrishti ke prarambh mein jaate hain toh wahan par sawaal aata hai ki shrishti ke aarambh mein manushya ko gyaan kaise mila toh uska jo nivaran hai vaah yah hai ki paramatma ne unke liye ved ka gyaan diya hai aur yah puri shrishti ke liye hai shrishti ko mein kaise istemal karna hai kis vastu ko kaise upyog karna hai apne jeevan mein yah saree cheezen paramatma ne ved ke andar di hai aapne dekha hoga jab aap koi naya product kharidte hain jaise mobile toh uske saath ek booklet aati hai isme likha hota hai us mobile ke bare mein kya koi kaise kaise istemal karna hai isi tarah paramatma ne shrishti ka pura gyaan vedo ke andar diya hai jo ki char hai rigved yajurved samved atharvaved charo ved paramatma ne shrishti ke aarambh mein char receive ki jo ki us is shrishti ke sabse shreshtha ki baat my thi unke andar diya tha kyonki pehle likhne ka aur kagaz ka koi pravadhan nahi tha toh yah jo gyaan hai yah shruti ke madhyam se chala hai shruti ek dusre se sunkar isliye ved ko shruti bhi kaha gaya hai ek guru ne apne shishyon ko bataya unhone phir apne shishyon ko bataya unhone isi tarah se krambaddh hote hue yah aaj ke haalaat mein aaya hai aur jab kagaz aur pen ka avishkar hua toh uske baad vedo ko lipibddh kiya gaya pustak ke roop mein diya gaya aur pret sanskrit bhasha mein hai sanskrit kise dev bhasha bhi kaha jata hai phir kaafi vidvaano ne apne buddhi ke bal par apni jaan ke bal par un beto ko sanskrit se hindi mein badla hai ya kuch vidvaano ne dusri anya bhashaon mein putalaa hai

वेद क्या है विस्तार से बताएं कि मनुष्य का जो ज्ञान है वह स्वभाविक नहीं होता वह नैमित्तिक ज

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  626
WhatsApp_icon
user

swati gup9

Student

0:32
Play

Likes  6  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!