चिकित्सा और कानूनी लेवल पर उसके बाद आपको किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा? क्या अधिकारी सहयोगी थे, क्या प्रक्रिया कुशल थी?...


user

Dr Ramswaroop Babele

Astrologer Doctor Ayurveda Hypnotherepist

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चिकित्सा और कॉलोनी लेवल पर उसके बाद आपको किन किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा कि अधिकारी सहयोग से क्या प्रक्रिया कुशल थी देखिए यह नया मनुष्य के जीवन में अनेकानेक प्रकार के उतार-चढ़ाव आते हैं बहुत सारे प्रकार के लोगों का सामना होता है कई अधिकारी सहयोग भी करते कई अधिकारी असहयोग भी करते हैं कैसे कई अधिकारी जो है वह आपको परेशान भी करते हैं तो कुल मिलाकर यह है कि आपको हर एक पहलू पर बुद्धिमता के साथ काम करना चाहिए और सभी लोग जो है सहयोग करें सहयोग करें यदि आप अपनी बात को ठीक तरीके से प्रस्तुत करते हैं तो सबको स्वीकार करनी होती है

chikitsa aur colony level par uske baad aapko kin kin chunautiyon ka samana karna pada ki adhikari sahyog se kya prakriya kushal thi dekhiye yah naya manushya ke jeevan mein anekanek prakar ke utar chadhav aate hain bahut saare prakar ke logo ka samana hota hai kai adhikari sahyog bhi karte kai adhikari asahayog bhi karte hain kaise kai adhikari jo hai vaah aapko pareshan bhi karte hain toh kul milakar yah hai ki aapko har ek pahaloo par buddhimata ke saath kaam karna chahiye aur sabhi log jo hai sahyog kare sahyog kare yadi aap apni baat ko theek tarike se prastut karte hain toh sabko sweekar karni hoti hai

चिकित्सा और कॉलोनी लेवल पर उसके बाद आपको किन किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा कि अधिकारी स

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  537
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pragya Prasun

Founder of atijeevanfoundation.org

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब देखिए जब मेरा हुआ था 2 साल से लगातार मतलब और उसके बाद साल की सजा हुई थी 4 साल में मतलब मेरे पापा को बार-बार अपना होती तू तो जाना होता था वहां पर दूध में कितनी बार ऐसा होता तभी लाइट की तबीयत खराब है कभी सोच है तो ऐसा वह लगभग 2 साल तक चलता रहा था दिल्ली छागल करती थी फिर वहां से गाड़ी से इटावा जाती थी जो कहा है मेरे और मेरे परिवार ने तो मतलब जो मैं तो हॉस्पिटल में रहती थी और हमेशा मतलब बहुत-बहुत बिछड़ गया था परिवार पूरे उसके घर घर से हॉस्पिटल में करते रहते थे

ab dekhiye jab mera hua tha 2 saal se lagatar matlab aur uske baad saal ki saza hui thi 4 saal mein matlab mere papa ko baar baar apna hoti tu toh jana hota tha wahan par doodh mein kitni baar aisa hota tabhi light ki tabiyat kharab hai kabhi soch hai toh aisa vaah lagbhag 2 saal tak chalta raha tha delhi chagal karti thi phir wahan se gaadi se itawa jaati thi jo kaha hai mere aur mere parivar ne toh matlab jo main toh hospital mein rehti thi aur hamesha matlab bahut bahut bichhad gaya tha parivar poore uske ghar ghar se hospital mein karte rehte the

अब देखिए जब मेरा हुआ था 2 साल से लगातार मतलब और उसके बाद साल की सजा हुई थी 4 साल में मतलब

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
user

Siyaram Dubey

YouTuber/Spiritual Person/Thinker/Social-media Activist

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्रीमन्नारायण आपने पूछा है कि चिकित्सा और कानूनी लेबल पर उसके बाद आपको किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा कि अधिकारी सहयोगी थे क्या प्रक्रिया स्पेशल थी देखिए जो भी मध्यम वर्ग के व्यक्ति हैं जिनके पास ना तो कोई पहुंच है ना ही इतना धनी है ना उसके पास पैसा है उतना तो कठिनाइयां तो दोनों जगह होती है चाहे वह आप कोर्ट कचहरी की बात कर ले चाहे हॉस्पिटल से बात कर ले हर जगह कठिनाइयां उनको झेलनी पड़ती है यह किसी से छिपी हुई बात नहीं है वहीं अगर कोई बड़ा लोग जाएंगे तो उनका काम तुरंत हो जाएगा ऐसा मैं अपने इर्द-गिर्द यह व्यक्ति अपने युद्धवीर क्योंकि प्रक्रिया ही इतनी जटिल है खासकर कानूनी लड़ाई में इतनी प्रक्रिया जटिल है बरसों उलझा कर रखा जाता है और सिर्फ और सिर्फ पैसों के लिए उसे इधर से उधर दौड़ आओ पैसा उसे आई तो यही काम है कानूनी तौर पर और अब तो हॉस्पिटल वाले भी जो प्राइवेट हॉस्पिटल वाले हैं वह भी मरे हुए व्यक्ति तक के दो-चार दिन रखकर लाशों से पैसा कमाते हैं यह बहुत ही घिनौनी बात है और इसे सरकार को भी और समाज के हर व्यक्ति को इसका विरोध करना चाहिए यह नहीं होना चाहिए जो भी जटिल प्रक्रिया है इसको खत्म करना आने वाले भविष्य के लिए अच्छा होगा

jai shrimannarayan aapne poocha hai ki chikitsa aur kanooni lebal par uske baad aapko kin chunautiyon ka samana karna pada ki adhikari sahyogi the kya prakriya special thi dekhiye jo bhi madhyam varg ke vyakti hai jinke paas na toh koi pohch hai na hi itna dhani hai na uske paas paisa hai utana toh kathinaiyaan toh dono jagah hoti hai chahen vaah aap court kachahari ki baat kar le chahen hospital se baat kar le har jagah kathinaiyaan unko jhelani padti hai yah kisi se chipi hui baat nahi hai wahi agar koi bada log jaenge toh unka kaam turant ho jaega aisa main apne ird gird yah vyakti apne yuddhavir kyonki prakriya hi itni jatil hai khaskar kanooni ladai mein itni prakriya jatil hai barson uljha kar rakha jata hai aur sirf aur sirf paison ke liye use idhar se udhar daudh aao paisa use I toh yahi kaam hai kanooni taur par aur ab toh hospital waale bhi jo private hospital waale hai vaah bhi mare hue vyakti tak ke do char din rakhakar lashon se paisa kamate hai yah bahut hi ghinauni baat hai aur ise sarkar ko bhi aur samaj ke har vyakti ko iska virodh karna chahiye yah nahi hona chahiye jo bhi jatil prakriya hai isko khatam karna aane waale bhavishya ke liye accha hoga

जय श्रीमन्नारायण आपने पूछा है कि चिकित्सा और कानूनी लेबल पर उसके बाद आपको किन चुनौतियों का

Romanized Version
Likes  91  Dislikes    views  1317
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!