आप भारत में कौन सी सकारात्मक पहल देखने की उम्मीद करते हैं जो इस समस्या से निपटेगी?...


user

Pragya Prasun

Founder of atijeevanfoundation.org

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बातें ही बातें हैं इनकी तो नहीं हूं इंप्लीमेंटेशन भी हो अब हम बात बहुत करते हैं डाइवर्सिटी हैं इनका क्या हम हर जगह ऐसी इंक्लूसिव किफायती बना रहे हैं जहां सब लोग एक्सेप्टेड हैं क्या हम हर जगह असहाय लोगों को बुलाते हैं मिलते हैं बातें करते हैं हम क्यों ऐसी कैटेगरी के लोगों को पीछे छोड़ देते हैं या अपने साथ इनक्रीस नहीं करते हैं या किसी ने किसी पार्टी में संस्कृत में हम क्यों नहीं बुलाते हैं और क्यों नहीं क्लिक करते हैं तो सिर्फ बातें नहीं इंप्लीमेंटेशन करके और इनक्रीस कम्युनिटी सोसाइटी बनाना बहुत जरूरी है जहां सब लोग बहुत खुशी से हर तरह के लोग बहुत खुशी से रह सकें

batein hi batein hain inki toh nahi hoon implementation bhi ho ab hum baat bahut karte hain diversity hain inka kya hum har jagah aisi inclusive kifayati bana rahe hain jaha sab log eksepted kya hum har jagah asahay logo ko bulate hain milte hain batein karte hain hum kyon aisi category ke logo ko peeche chod dete hain ya apne saath increase nahi karte hain ya kisi ne kisi party mein sanskrit mein hum kyon nahi bulate hain aur kyon nahi click karte hain toh sirf batein nahi implementation karke aur increase community society banana bahut zaroori hai jaha sab log bahut khushi se har tarah ke log bahut khushi se reh sakein

बातें ही बातें हैं इनकी तो नहीं हूं इंप्लीमेंटेशन भी हो अब हम बात बहुत करते हैं डाइवर्सिटी

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Ramswaroop Babele

Astrologer Doctor Ayurveda Hypnotherepist

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है भारत में कौन सी सकारात्मक पहल देखने की उम्मीद करते हैं जो इस समस्या से निपटा की कौन सी समस्या से लिपटे की समस्या का पता ही नहीं चल रहा है कौन देश से क्या बात कर रहे हैं परंतु इस समय जो भी भारत में हो रहा है वह सभी सकारात्मक पहल है और निश्चय ही भविष्य में अच्छे लाभ भारत की जनता को प्राप्त हुए

aapka prashna hai bharat mein kaun si sakaratmak pahal dekhne ki ummid karte hain jo is samasya se nipta ki kaun si samasya se lipte ki samasya ka pata hi nahi chal raha hai kaun desh se kya baat kar rahe hain parantu is samay jo bhi bharat mein ho raha hai vaah sabhi sakaratmak pahal hai aur nishchay hi bhavishya mein acche labh bharat ki janta ko prapt hue

आपका प्रश्न है भारत में कौन सी सकारात्मक पहल देखने की उम्मीद करते हैं जो इस समस्या से निपट

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  474
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम चाहते हैं कि भारत में दुर्ग बेरोजगारी की समस्या दूर हो भारत में समरसता हो सांप्रदायिक सद्भाव बना रहे लोग एक दूसरे से प्यार करें भाईचारे की भावना को देश की उन्नति हो और शिक्षा के सबसे ऊंचा हो भारत में शिक्षा गिरा जिस दिन 90 से 100 परसेंट हो जाएगी मुझे बहुत खुशी होगी

hum chahte hain ki bharat mein durg berojgari ki samasya dur ho bharat mein samarsata ho sampradayik sadbhav bana rahe log ek dusre se pyar kare bhaichare ki bhavna ko desh ki unnati ho aur shiksha ke sabse uncha ho bharat mein shiksha gira jis din 90 se 100 percent ho jayegi mujhe bahut khushi hogi

हम चाहते हैं कि भारत में दुर्ग बेरोजगारी की समस्या दूर हो भारत में समरसता हो सांप्रदायिक स

Romanized Version
Likes  49  Dislikes    views  694
WhatsApp_icon
user

Manku

Video Creator

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम भारत में अगर कहे तो एक तरह से है यह चीजें तापस करेंगे क्योंकि जो लोग पढ़ लिखकर कुछ करते हैं उनको कहीं न कहीं सरकार मान्यता नहीं देती है सरकार उस को आगे नहीं बढ़ने देती है कहीं ना कहीं भ्रष्टाचार की जो जड़ है सरकार की गलत नीतियां ही है यानी कि अब जो कहे उसको दल ब्रोकर को दलाल को या कुछ भी कहो लेकिन लोग पढ़ लिखकर तैयारी करते हैं प्रॉपर तरीके सोनम को सरकारी जॉब नहीं होता जबकि क्षेत्र का जो कि पहले से सेट किया रहता है नौकरी का दाम आजकल हो गया है कि यह दरोगा बनना है तो 15 लाख 30 लाख और कोई सिविल जॉब 1000000 बोला कि यह लोग अगर आपको देंगे तो आपको जॉब लगवा देंगे और हरा की कुछ चैट लोग बहुत ऐसे अच्छे होते हैं जो कि अच्छे बुलबुल ब्लॉक कर पैसा लेकर जॉब दिलवा देते चीज बिल्कुल गलत है और इसको हटना चाहिए क्योंकि इससे वह लोग का माइंड डाइवर्ट हो जाता है जो क्योंकि पढ़ने में ध्यान लगाए हुए होते हैं और वह लोग पढ़ाई छोड़कर गलत रास्ता जैसे कि यह बोल रख लेते हैं कि पैसा ही सब कुछ है पैसे से ही सारे कुछ में थे हालांकि यह भ्रष्टाचार आप और हम कहीं ना कि इसके जिम्मेदार जरूर है तो सबसे पहले खुद सुधर यह दिन उसके बाद दुनिया को सुधारने की कोशिश कीजिए

hum bharat mein agar kahe toh ek tarah se hai yah cheezen tapas karenge kyonki jo log padh likhkar kuch karte hain unko kahin na kahin sarkar manyata nahi deti hai sarkar us ko aage nahi badhne deti hai kahin na kahin bhrashtachar ki jo jad hai sarkar ki galat nitiyan hi hai yani ki ab jo kahe usko dal broker ko dalaal ko ya kuch bhi kaho lekin log padh likhkar taiyari karte hain proper tarike sonam ko sarkari job nahi hota jabki kshetra ka jo ki pehle se set kiya rehta hai naukri ka daam aajkal ho gaya hai ki yah daroga bana hai toh 15 lakh 30 lakh aur koi civil job 1000000 bola ki yah log agar aapko denge toh aapko job lagwa denge aur hara ki kuch chat log bahut aise acche hote hain jo ki acche bulbul block kar paisa lekar job dilwa dete cheez bilkul galat hai aur isko hatna chahiye kyonki isse vaah log ka mind Divert ho jata hai jo kyonki padhne mein dhyan lagaye hue hote hain aur vaah log padhai chhodkar galat rasta jaise ki yah bol rakh lete hain ki paisa hi sab kuch hai paise se hi saare kuch mein the halaki yah bhrashtachar aap aur hum kahin na ki iske zimmedar zaroor hai toh sabse pehle khud sudhar yah din uske baad duniya ko sudhaarne ki koshish kijiye

हम भारत में अगर कहे तो एक तरह से है यह चीजें तापस करेंगे क्योंकि जो लोग पढ़ लिखकर कुछ करते

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!