यूपीएससी के लिए कोचिंग जरूरी है या फिर घर पर स्टडी कर सकते हैं तो कैसे करें?...


user

Mr. Mukesh Kumar

Youtuber, https://youtu.be/lxwi7CXLHSQ

3:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जहां तक मेरा विचार है कि किसी भी पथ पर चलने के लिए मार्गदर्शक की आवश्यकता होती हरिवंश राय बच्चन ने एक कविता लिखिए जिसमें उन्होंने पहले पंक्तियां लिखी हैं कि पूर्व चलने के बटोही बाट की पहचान कर ले उसको में है नहीं छपी हाल इसका ज्ञात करना कभी भी किसी ने रास्ते पर चलते हैं तो आपको मार्गदर्शन ले लेना चाहिए उसका विश्लेषण करना चाहिए उसमें किस किस तरह की कठिनाई आएगी में क्या-क्या चीज की आवश्यकता होगी किस तरह की परिस्थिति होगी हम आपको किस तरह का सामना करना और इन्हीं सब के लिए मार्गदर्शक की आवश्यकता यूपीएससी एग्जाम एग्जाम होता है जो कंट्री लेवल पर होता है बहुत हार्ड एग्जाम होता है जिसे अच्छी रखने वाले भी लोग नहीं क्वालिफाइड करता है ऐसे में यदि आप घर पर रहते हैं तो आपको काट कर ले तू कैसी है सामने वाले को अपनी बातों से इंप्रेस करें यह शैली कहां से है क्योंकि जो जनरल नॉलेज के एक सीमित दायरे में आज किस समय में इतना विस्तृत रूप धारण कर लिया है कि कब कहां कैसे प्रश्न किए जा सकते हैं इसका हम जान नहीं रख पाते और नहीं पकड़ पाते ऐसे में कोचिंग संस्थान वाले चुकी बहुत दिनों से अपना कोचिंग चलाते हैं बहुत अनुभव रखते हैं तो उनको कुछ कुछ ज्ञात हो जाता है कि इस समय में जो देश की परिस्थिति चल रही है उस परिस्थिति के अनुसार कौन सा क्वेश्चन उठाया जाएगा और वह आपको बताते हैं अपना के साथ ही साथ जो भी सवाल किए जाएं मैथमेटिक्स उसको कैसे हल किया जाए कम से कम समय में कौन सा तरीका अपनाया जाए इसका आपको ज्ञान दे तू इससे होता क्या है कि आप कम से कम समय में अधिक से अधिक तैयारी कर लेते हैं और जब आप जारी अच्छी सी कर लेते हैं तो आपके अंदर आत्मविश्वास भी आती साथ इस तरह के बच्चे वाहक होते हैं कोचिंग संस्थान में चूत में उनकी भावनाओं को समझते हैं उनको देखते हैं किस प्रकार तैयारी कर रहे हैं किस प्रकार अपने आपको इस लायक बना रहे हैं तो ऐसे में उनकी कुछ अक्ल आएगी कुछ कुशल अपने अंदर लाएंगे जिससे आपको एक अलग ही ऊर्जा मिलेगी आत्मविश्वास मिलेगा और यह आपकी स्टडी को और भी ज्यादा मजबूत बनाएगा इसलिए मैं चाहूंगा कि आप घर ना रहकर आप स्टडी की सलाह दे यह भी में पूर्ण रुप से नहीं करूंगा परंतु आप दोनों की सहायता लें तो हमको चाहिए कि कोचिंग कोचिंग के साथ-साथ घर पर भी तैयारी करें परंतु कोचिंग का मार्गदर्शन जरूर लेना चाहते हैं ऐसे व्यक्ति जो कि इसमें अच्छी ज्ञान रखता है अच्छी पकड़ रखते हैं उसकी भी मार्गदर्शन ले सकते हैं यह आपके लिए एक अच्छा पथ पर चलने के लिए रूट देखेगा तो ऐसे नहीं आप विचार करें सोचे समझे आपको क्या करना चाहिए क्योंकि मैंने सारी की सारी अब आप को सुनना है क्या आप क्या करना चाहते हो धन्यवाद

dekhiye jaha tak mera vichar hai ki kisi bhi path par chalne ke liye margadarshak ki avashyakta hoti harivansh rai bachchan ne ek kavita likhiye jisme unhone pehle panktiyan likhi hain ki purv chalne ke batohi Baat ki pehchaan kar le usko mein hai nahi chhapi haal iska gyaat karna kabhi bhi kisi ne raste par chalte hain toh aapko margdarshan le lena chahiye uska vishleshan karna chahiye usme kis kis tarah ki kathinai aayegi mein kya kya cheez ki avashyakta hogi kis tarah ki paristithi hogi hum aapko kis tarah ka samana karna aur inhin sab ke liye margadarshak ki avashyakta upsc exam exam hota hai jo country level par hota hai bahut hard exam hota hai jise achi rakhne waale bhi log nahi qualified karta hai aise mein yadi aap ghar par rehte hain toh aapko kaat kar le tu kaisi hai saamne waale ko apni baaton se impress kare yah shaili kahaan se hai kyonki jo general knowledge ke ek simit daayre mein aaj kis samay mein itna vistrit roop dharan kar liya hai ki kab kahaan kaise prashna kiye ja sakte hain iska hum jaan nahi rakh paate aur nahi pakad paate aise mein coaching sansthan waale chuki bahut dino se apna coaching chalte hain bahut anubhav rakhte hain toh unko kuch kuch gyaat ho jata hai ki is samay mein jo desh ki paristithi chal rahi hai us paristithi ke anusaar kaun sa question uthaya jaega aur vaah aapko batatey hain apna ke saath hi saath jo bhi sawaal kiye jayen mathematics usko kaise hal kiya jaaye kam se kam samay mein kaun sa tarika apnaya jaaye iska aapko gyaan de tu isse hota kya hai ki aap kam se kam samay mein adhik se adhik taiyari kar lete hain aur jab aap jaari achi si kar lete hain toh aapke andar aatmvishvaas bhi aati saath is tarah ke bacche vahak hote hain coaching sansthan mein chut mein unki bhavnao ko samajhte hain unko dekhte hain kis prakar taiyari kar rahe hain kis prakar apne aapko is layak bana rahe hain toh aise mein unki kuch akal aayegi kuch kushal apne andar layenge jisse aapko ek alag hi urja milegi aatmvishvaas milega aur yah aapki study ko aur bhi zyada majboot banayega isliye main chahunga ki aap ghar na rahkar aap study ki salah de yah bhi mein purn roop se nahi karunga parantu aap dono ki sahayta le toh hamko chahiye ki coaching coaching ke saath saath ghar par bhi taiyari kare parantu coaching ka margdarshan zaroor lena chahte hain aise vyakti jo ki isme achi gyaan rakhta hai achi pakad rakhte hain uski bhi margdarshan le sakte hain yah aapke liye ek accha path par chalne ke liye root dekhega toh aise nahi aap vichar kare soche samjhe aapko kya karna chahiye kyonki maine saree ki saree ab aap ko sunana hai kya aap kya karna chahte ho dhanyavad

देखिए जहां तक मेरा विचार है कि किसी भी पथ पर चलने के लिए मार्गदर्शक की आवश्यकता होती हरिवं

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  881
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!