क्या हमारे देश में राष्ट्रपति साशन लागू होना चाहिए, आपकी राय क्या है?...


user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए राष्ट्रपति शासन तो नहीं लेकिन मुझे लगता है इस देश की स्थिति ऐसी हो चुकी है कि मार्शल लॉ लगना चाहिए कार में रुलाना चाहिए और हर व्यक्ति के लिए समान अधिकार होने चाहिए जिस प्रकार हमारे देश में केवल धर्म की राजनीति है धर्म की लड़ाई चल रही है उस लड़ाई से अगर कोई छुटकारा दे सकता है तो मुझे बताओ मार्शल लॉ है क्योंकि हर राजनीतिक दल की पर राजनीति करते धर्म की कोई भी व्यक्ति हो चाहे वह व्यक्ति दोषी हो तो उसको धर्म की आड़ लेकर उसके दोस्तों का पर्दा डाला जाता है इस देश की स्थिति मुझे नहीं लगता कि आने आने वाले 40 सालों में कुछ खास होगी मुझे लगता है आने वाले 40 50 सालों में इस देश की स्थिति जो आज है उसे भी बदतर हो जाएगी तो राष्ट्रपति शासन ने लेकिन हां आर्मी रूल जरुर लगना चाहिए अगर हम अपने सुनहरे भविष्य को सोचते हैं

dekhiye rashtrapati shasan toh nahi lekin mujhe lagta hai is desh ki sthiti aisi ho chuki hai ki marshall law lagna chahiye car mein rulana chahiye aur har vyakti ke liye saman adhikaar hone chahiye jis prakar hamare desh mein keval dharm ki raajneeti hai dharm ki ladai chal rahi hai us ladai se agar koi chhutkara de sakta hai toh mujhe batao marshall law hai kyonki har raajnitik dal ki par raajneeti karte dharm ki koi bhi vyakti ho chahen vaah vyakti doshi ho toh usko dharm ki aad lekar uske doston ka parda dala jata hai is desh ki sthiti mujhe nahi lagta ki aane aane waale 40 salon mein kuch khaas hogi mujhe lagta hai aane waale 40 50 salon mein is desh ki sthiti jo aaj hai use bhi badataar ho jayegi toh rashtrapati shasan ne lekin haan army rule zaroor lagna chahiye agar hum apne sunahre bhavishya ko sochte hain

देखिए राष्ट्रपति शासन तो नहीं लेकिन मुझे लगता है इस देश की स्थिति ऐसी हो चुकी है कि मार्शल

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Raj Kumar

Journalist

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रजेंट प्रेसिडेंट कि अगर प्रकार उड़ चल रहा होगा चलेगा जब तक तो मैं कह रहा हूं कि आने वाले टाइम में हमारा हिंदुस्तान चौक पर होगा इन वर्ल्ड बहुत सुधार है अभी तक ही इतने कम टाइम में और इनको हो टाइम मिल जाए और यह रूल लागू हो जाए हंड्रेड परसेंट तो डेफिनेटली में जवानों की दूसरे कंट्री से हम कहीं ऊपर होंगे

present president ki agar prakar ud chal raha hoga chalega jab tak toh main keh raha hoon ki aane waale time mein hamara Hindustan chauk par hoga in world bahut sudhaar hai abhi tak hi itne kam time mein aur inko ho time mil jaaye aur yah rule laagu ho jaaye hundred percent toh definetli mein jawano ki dusre country se hum kahin upar honge

प्रजेंट प्रेसिडेंट कि अगर प्रकार उड़ चल रहा होगा चलेगा जब तक तो मैं कह रहा हूं कि आने वाले

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  38
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में राष्ट्रपति शासन लागू नहीं होना चाहिए और राष्ट्रपति शासन लागू होने की कोई आवश्यकता भी नहीं है कि ऐसी परिस्थिति नहीं रखी राष्ट्रपति शासन तब लगता है जब हालात बहुत ज्यादा हद से काबू से निकलकर फाइनली को इमरजेंसी हो तो इस तरीके के तमाम तरीकों में जो है सदियों में लगता है हमारे कॉन्स्टिट्यूशन में डिफाइंड राष्ट्रपति शासन लगना जो है वह चीजों का हल नहीं हो सकता क्योंकि जब राष्ट्रपति शासन लगेगा तो जाहिर तौर पर राष्ट्रपति नहीं चलाएंगे वह सही है चीजों को रोल करने कि आप इमेजिन करके चलिए जब हर राज हर शहर हर जिले में कोई रूल करने वाला ऑलरेडी है उसके बावजूद यदि नहीं चल पा रहा है देश तो कैसे राष्ट्रपति शासन एक जना देश को चला सकता है यहां पर जरूरत है हमने ही समझदार होने की क्या मैं ऐसे लोगों को चुनकर ना भेजे उनके लुभावने वादों में ना आए उनकी केवल बातों में बह कि ना करें अच्छे दिन के बातों में यकीन ना करें कि वह हमें 4 साल 5 साल में चल सके और हमारे संग जो है अन्याय कर सके तो यहां पर जरूरत आप को समझदार होने की है कि ऐसे जनों को चुनें जो ईमानदार हो जरूरत है आरक्षण का विरोध करने की जरूरत है भ्रष्टाचार का विरोध करने की जरूरत है ऐसी रेप की घटनाएं होने से पहले इनका विरोध करने की बजाय की रेप होने के बाद जो है वह दो-तीन दिन तक शोर शराबा करके बाद में चुप हो जाने की यह सब स्थिति हमारे देश में है कि रेप होता है 1 महीने तक शोर मचाता है कि अब ऐसी हो गई उसके बाद तमाम रेप दिन भर में होते हैं जिनमें से 12 के सवर के आते हैं बाकी ऐसी दब जाते हैं तो जरूरत है कि अपने लेवल पर हमें यहां पर कुछ काम करना है बजाएं की सरकार पर भरोसा करने के इस सरकार तो आप किसी को चुन लीजिए वह केवल रोटियां सीख रही है अपनी पैसा कमा रही है जेब में बढ़ रही है नेता का माप के लिए कोई नहीं करेगा

hamare desh mein rashtrapati shasan laagu nahi hona chahiye aur rashtrapati shasan laagu hone ki koi avashyakta bhi nahi hai ki aisi paristithi nahi rakhi rashtrapati shasan tab lagta hai jab haalaat bahut zyada had se kabu se nikalkar finally ko emergency ho toh is tarike ke tamaam trikon mein jo hai sadiyon mein lagta hai hamare Constitution mein defined rashtrapati shasan lagna jo hai vaah chijon ka hal nahi ho sakta kyonki jab rashtrapati shasan lagega toh jaahir taur par rashtrapati nahi chalayenge vaah sahi hai chijon ko roll karne ki aap imejin karke chaliye jab har raj har shehar har jile mein koi rule karne vala already hai uske bawajud yadi nahi chal paa raha hai desh toh kaise rashtrapati shasan ek pariyojna desh ko chala sakta hai yahan par zarurat hai humne hi samajhdar hone ki kya main aise logo ko chunkar na bheje unke lubhawane vaado mein na aaye unki keval baaton mein wah ki na kare acche din ke baaton mein yakin na kare ki vaah hamein 4 saal 5 saal mein chal sake aur hamare sang jo hai anyay kar sake toh yahan par zarurat aap ko samajhdar hone ki hai ki aise jano ko chune jo imaandaar ho zarurat hai aarakshan ka virodh karne ki zarurat hai bhrashtachar ka virodh karne ki zarurat hai aisi rape ki ghatnaye hone se pehle inka virodh karne ki bajay ki rape hone ke baad jo hai vaah do teen din tak shor sharaba karke baad mein chup ho jaane ki yah sab sthiti hamare desh mein hai ki rape hota hai 1 mahine tak shor machata hai ki ab aisi ho gayi uske baad tamaam rape din bhar mein hote hain jinmein se 12 ke savar ke aate hain baki aisi dab jaate hain toh zarurat hai ki apne level par hamein yahan par kuch kaam karna hai bajaye ki sarkar par bharosa karne ke is sarkar toh aap kisi ko chun lijiye vaah keval rotiyan seekh rahi hai apni paisa kama rahi hai jeb mein badh rahi hai neta ka map ke liye koi nahi karega

हमारे देश में राष्ट्रपति शासन लागू नहीं होना चाहिए और राष्ट्रपति शासन लागू होने की कोई आवश

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
play
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में राष्ट्रपति शासन की बात करें अभी लागू होना चाहिए तो नहीं ऐसा नहीं होना चाहिए भारत में राष्ट्रपति शासन कब लागू होता है या की जटा शंकर के अधीन हो जाता है तब यह लागू होता तो मैं भी भारत में जो गिनती चल रही है और भारत में काफी विकास हुआ भाई जवाब तो भारत अभी गवर्नमेंट के अंतर्गत अच्छा चल रहा है अजय देवगन के अंतर्गत जो इलेक्शन है

hamare desh mein rashtrapati shasan ki baat kare abhi laagu hona chahiye toh nahi aisa nahi hona chahiye bharat mein rashtrapati shasan kab laagu hota hai ya ki xatta shankar ke adheen ho jata hai tab yah laagu hota toh main bhi bharat mein jo ginti chal rahi hai aur bharat mein kaafi vikas hua bhai jawab toh bharat abhi government ke antargat accha chal raha hai ajay devgan ke antargat jo election hai

हमारे देश में राष्ट्रपति शासन की बात करें अभी लागू होना चाहिए तो नहीं ऐसा नहीं होना चाहिए

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!